योग क्या है?

योगा जो कि किसी भी व्यक्ति के स्वास्थ्य शरीर के लिए काफी जरूरी होता है बेशक आप भी अपने स्वास्थ्य शरीर के लिए प्रतिदिन योगा करते होंगे लेकिन क्या आप इसकी परिभाषा के बारे में जानते है जैसे कि योगा क्या है? कितने प्रकार के होते है? और इसे करने फायदे क्या है? और योगा करने की सही विधि क्या है? योगा के बारे में तो आप जानते है लेकिन शायद योगा से जुड़ी इन सभी बातों के बारे में आप नही जानते होंगे। क्योंकि इस तरह की जानकारी मिलना थोड़ा मुश्किल होता है।

लेकिन आज हम आपको अपने इस आर्टिकल की मदद से योगा के बारे में सम्पूर्ण जानकारी शेयर करने वाले है। जो कि किसी भी व्यक्ति के काफी महत्वपूर्ण होने वाली है। क्योंकि अक्सर देखा जाता है कि लोग अपनी दैनिकचर्या में योगा तो करते है लेकिन उन्हें इसे करने के तरीके, इसके प्रकार आदि की उचित जानकारी नही होती है जिस कारण वह योग तो करते है लेकिन इसका लाभ अच्छे से नही उठा पाते है।

सो अब अगर आप भी योगा करते है तो नीचे दी गयी इससे जुड़ी जानकारी को ध्यानपूर्वक पढ़ ले ताकि आप भी इसे अच्छे ढंग से करके इसके लाभ प्राप्त कर सके और शरीर की बीमारियों को दूर करके स्वस्थ जीवन जी सके। तो चलिय अब जानते है –

योग क्या है?

योग एक विज्ञान पर आधारित ऐसी शारीरिक क्रिया है जिसे करने से मनुष्य स्वस्थ रहता है। इस क्रिया को करने से मनुष्य की भौतिक, मानसिक, आत्मिक, शारीरिक क्रिया आपस मे मिलकर संतुलित होती जिससे व्यक्ति स्वस्थ और तनाव मुक्त रहता है।

बाकी बता दे कि योग शब्द की उत्पत्ति संस्कृत शब्द के यूज से हुई है जिसका मतलब होता है जुड़ना। अब यहां जुड़ना जिसका अर्थ होता है कि जब हम इस शारीरिक क्रिया को करते है तो इससे हमारे मष्तिष्क शरीर, आत्मा का आपस मे मिलन होता है। और मनुष्य और प्रकृति के बीच मे सामंजस्य कायम होता है। जिसे हम योग शारीरिक क्रिया कहते है। जो कि मनुष्य के स्वास्थ्य शरीर के किये सबसे जरूरी होती है।

बैसे भी सभी जानते है कि आज इस भागदौड़, तनाव भारी जिंदगी में स्वास्थ्य रहे पाना काफी मुश्किल हो गया है और अगर आप इस भागदौड़, तनाव भरे जीवन मे स्वास्थ्य जिंदगी जी रहे है तो यह आपके लिए काफी अच्छी बात है वरना आज हर तरफ व्यक्ति अपनी किसी न किसी बीमारी से परेशान है। दोस्तो जैसा को जब हम स्वास्थ्य जीवन की बात करते है तो इसके लिए मनुष्य के जीवन मे योग करना उसकी दिनचर्या का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है।

लेकिन कई बार देखा जाता है कि आज लोग योग पर ज्यादा विस्वाश नही जताते है जबकि डॉक्टर, विज्ञान के अनुसार अगर आप स्वस्थ रहना चाहते है तो योग करना मनुष्य के जीवन का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है। मतलब की अगर आप अपनी प्रतिदिन की दैनिकचर्या में योग को शामिल करते है तो आपका शरीर स्वास्थ्य रहेगा साथ ही आप लबी आयु तक अपना जीवन जी सकते है।

लेकिन अगर आप कही न कही आलस्य करते है और अपनी योग नही करते है तो आपका शरीर अक्सर किसी न किसी बीमारी से घिरा रहता है। क्योकि अब अनेक वैज्ञानिक शोध से भी योग करना स्वस्थ शरीर के लिए सबसे जरूरी होता है इसकी पुष्टि हो चुकी है।

योग दिवस कब मनाया जाता है? 

यह मानव जीवन के स्वास्थ्य के लिए इतना ज्यादा जरूरी हो गया है इसकी उपयोगिता को देखते हुए भारत सरकार ने 2014 में 21 जून को योग दिवस के रूप में घोषित कर दिया। और तब से सिर्फ भारत में नहीं बल्कि पूरी दुनिया भर में कई देशों में 21 जून को योगा दिवस के रूप में मनाया जाता है. 

योग के प्रकार

योग एक विज्ञान पर आधारित शारीरिक क्रिया है लेकिन अब यह क्रिया कितनी प्रकार की होती है ये जान लेना बहुत जरूरी है। तो इसके लिए सबसे जरूरी हम आपको बता दे कि योग कितने प्रकार के होते है या इन्हें कितनी श्रेणी में बांटा गया है इसका वर्णन कर पाना थोड़ा मुश्किल है लेकिन आमतौर पर इस शारीरिक क्रिया के कुछ प्रकार का वर्णन नीचे किया गया है आप इसे जरूर् पढ़ ले –

राज योग

यह योग का सबसे जरूरी और काफी महत्वपूर्ण अंग माना जाता है। यह योग की ऐसी साधना है जिसे कोई भी कर सकता है। क्योंकि इसे हर कोई कर सकता है इसलिये इसे योग राजा माना जाता है।

ज्ञान योग

इस योग को ज्ञान का रास्ता माना जाता है। मतलब की इस योग को करने से मनुष्य के अन्दर छिपे उसके ज्ञान को उससे परिचित कराता है। यह योग काफी कठिन माना जाता है, क्योकि इसके लिए योग के ग्रंथो, और योग के अध्ययन के जरिये बुद्धि को विकसित करने की आवश्यकता होती है जो कि थोड़ा मुश्किल होता है। अगर इसे सीधे सरल।शब्दों में समझे तो ज्ञान योग मनुष्य के अंदर अअज्ञानता को दूर करता है और ज्ञान की प्राप्ति कराता है।

कर्म योग

कर्म योग जो काफी महत्वपूर्ण योग होता है बता दे कि इस योग में व्यक्ति अपनी सभी मोह माया चिजो को छोड़ देता है और खुद को भगवान के चरणों मे समर्पित कर देता है।

भक्ति भोग

व्यक्ति के द्वारा भगवान, पशु, पक्षियों के प्रति प्रेम भाव को भक्ति योग माना जाता है जिसे दुनिया का कोई भी व्यक्ति निस्वार्थ होकर अपने धर्म के ईस्वर जे साथ जुड़कर उनकी पूजा अर्चना कर सकता है व्यक्ति के द्वारा ईस्वर के प्रति पूजा पाठ को योग की भाषा मे भक्ति योग कहाँ जाता है।

योग करने के नियम

योग आज हर मनुष्य के जीवन के लिए उसके स्वास्थ्य शरीर के लिए उसकी दैनिकचर्या का सबसे महत्वपूर्ण पॉर्ट होता है काफी लोग है जो अपनी दैनिकचर्या में खुद को।स्वास्थ्य रखने के लिए इस शारीरिक क्रिया को करते है, लेकिन जरूरी बात की अक्सर देखा जाता है क लोग इस शारीरिक क्रिया को रोज करते है लेकिन उन्हें योग करने के सही नियम नही पता होते है जिस बजह से उन्हें योगासन करने का विशेष लाभ नही मिल पाता है –

योगासन करने के लिये भी विज्ञान स्तर पर कुछ नियम बनाये गए है जिनके फॉलो करना जरूरी होता है अगर आप बनाये गए नियम के आधार पर इसे करते है तभी आपको इसका लाभ प्राप्त होगा अन्यथा नही। अब योगासन करने के कौन से नियम है उसके आप नीचे पढ़ सकते है –

योगासन करने का सबसे अच्छा समय प्रातःकाल में सूर्योउदय से पहले शाम को सूर्योउदय के बाद का होता है। अगर आप प्रातः काल मे योगासन करते है तो यह आपके लिए सबसे ज्यादा फ़ायदेमंद होता है। क्योकि सुबह – सुबह सबसे प्राकृतिक शुद्ध हवा, वातावरण पूरी तरह से साफ होता है। इसलिय ऐसे में योग करना शरीर के लिए सबसे लाभदायक होता है।

  • जब आप अपनी दैनिकचर्या में योग की शुरुआत करे तो कोशिश करे कि योग की शुरुआत ताडाआसन से करें।
  • योग जैसी शारीरिक क्रिया को सुबह हमेशा खाली पेट करना चाहिए।
  • इसे करने के तुरंत बाद बिल्कुल भी न नहाए। बल्कि लगभह 30 से 40 मिनुत बाद ही नहाए।
  • योगसन करते समय ढीले कपड़े पहले ताकि आप आराम से सभी क्रियाओं को सफलतापूर्वक कर सके।
  • योग करने के लिए ऐसी जगज का चुनाव करे जहां साफ सफाई हो और पूरी तरह से शांत जगह हो किसी प्रकार का कोई शोर न हो।
  • योग करते समय अपनी सांस की क्रिया का सबसे जरूरी ध्यान रखे क्योकि आज ज्यादातर योग सांस लेने और छोड़ने पर निर्भर करते है इसलिय कोशिश करे कि पहले इसके बारे में थोड़ा सीख ले।
  • योग करते समय शरीर से जरा भी किसी प्रकार किं जबर्दस्ती न करे। और हर योग को बड़ी सरलता के साथ करे।
  • अगर आपको किसी प्रकार की बीमारी है रो डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करें।

योगासन करने के लिए जरूरी चीज़े

जब आप प्रातःकाल मे योग करते है तो इसके लिए कुछ जरूरी चिजो का होना बहुत आवश्यक है। योग करने के लिए कुछ जरूरी चिजो की लिस्ट आप नीचे देख सकते है –

  • पहले तो सबसे जरूरी है कि आप योग करने के लिए साफ सुधरी जगह का चयन करें.
  • योगआसन के लिए एक डरी या मैट जरूर ले जिस पर आप आसानी से योगा कर सके।
  • लगभग 30 से 40 मिनेट तक करना चाहिए।
  • योग करते समय पानी की बोतल अपने पास रख ले जिसे जरूरत पड़ने पर आप पी सकते है।
  • अगर आप महिला है तो अपने।सर के बालों को अच्छे से बांध लें ताकि बाल योग करते समय समस्या का सबब न बने।

योग कब करे?

शोध के अनुसार सूर्योउदय से लगभग सुबह 4 बजे योग करना सबसे ज्यादा लाभदायक होता है क्योकि इस समय वातावरण शुद्ध होता है और ताजी प्राकृतिक हवा चल रही होती है जो कि हमारे स्वास्थ्य शरीर के लिए काफी लाभ होती है। इसलिय कोशिश करे कि सुबह सूर्योउदय से पहले ही अपनी दिन की।शुरुआत योग से करे। अगर आप चाहे तो इसे शाम को सूर्योअस्त के बाद भी कर सकते है लेकिन सूर्योअस्त के बाद योग करने के लिए जरूरी की आपने 3 से 4 घंटा पहले कुछ खाया हो।

योगासन करने के फायदे

अगर बीमारी मुक्त जिंदगी जीना चाहते है तो योग दैनिकचर्या में को शामिल करना का सबसे अहम हिस्सा होता है। यह विज्ञान भी साबित कर चुका है कि योग करने से शरीर मे आने वाली बीमारियों नष्ट होती है और व्यक्ति अपना अच्छा जीवन व्यतीत कर सकता है, योग करने के बैसे तो तमाम फायदे है लेकिन नीचे हमने योग करने के कुछ फायदों के बारे में बताया है जिन्हें आप एक बार अवश्य पढ़ ले –

नई ऊर्जा का संचार

योग करने से शरीर को नई ऊर्जा मिलती है। जो कि किसी भी व्यक्ति के लिए सकारात्मक तरीके से काम करने के किये बहुत जरूरी होती है

अच्छी नींद

स्वास्थ्य शरीर के लिए 8 घंटे की नींद लेना हर व्यक्ति के लिए काफी जरूरी होता है। ताकि व्यक्ति आराम से दूसरे दिन को अच्छे कार्य कर सके, लेकिन कई बार Pपूरा।दिन कार्य करने के बाद सर में सर्द, तनाव आदि की बजह से नींद नहीं आती है, लेकिन योग एक ऐसी शारीरिक क्रिया जो इन सब से छुटकारा दिलाने में मदद करता है। अगर दिन की शुरुआत योग से करते है तो इससे अप्य तनाव मुक्त और मन शांत होता है जिससे आप पूरा दिन कार्य करके आसानी से शाम को पर्याप्त नींद ले सकते है।

शरीर दर्द से छुटकारा

आज की इस भागदौड़ भरी जिंदगी में व्यक्ति के किये सर्द दर्द, कमर दर्द जैसी समस्याएं बनी रहती है, लेकिन अगर आप प्रतिदिन योग करते है तो सर दर्द कमर दर्द जैसी पीड़ा से आसानी से छुटकारा पा सकते है।

तनाव मुक्त

व्यक्ति अपने दिन भर के काम के चलते किसी न किसी तनाव से ग्रशत हो जाता है जो कि स्वास्थ्य शरीर के लिए नुकसान दायक होता है। लेकिन इस तनाव से निकलने के योग सबसे अच्छा तरीका है। योग करने से व्यक्ति को तनाव से छुटकारा मिलता है और काम करने की नई शक्ति मिलती है।

अच्छी यादाश्त

योग करना मस्तिष्क के लिए बेहद लाभकारी होता है अगर आप अपनी दैनिकचर्या के अंतर्गत प्रतिदिन योग करते है तो इससे आपकी मस्तिष्क शक्ति को विकास होता है और यादास्त बढ़ जाती है।

शारीरिक बीमारियों से छूटकारा

अगर आप जीवन भर स्वास्थ्य रहना चाहते है तो इस बात को वैज्ञानिक भी अपने शोध में सिद्ध कर चुके है कि इसके लिए प्रतिदिन योग करना मात्र सबसे अच्छा उपाय है जी हाँ योगा करने से सिर्फ एक बीमारी नही बल्कि शरीर से जुड़ी सभी बीमारियों से छुटकारा मिलता है।

निष्कर्ष 

योग जो आज हर व्यक्ति के स्वास्थ्य जीवन के लिए सबसे जरूरी है इसलिए आज हमने अपने इस आर्टिकल योगा के बारे में विस्तार से जाना आज हमने अपने इस आर्टिकल में योग क्या है? इसके फायदे और इसके करने  तरीका क्या है आदि के बारे में जाना। 

आशा करता हूँ की आपको हमारे इस आर्टिकल में योग के बारे में दी गयी जानकारी उपयोगी साबित हुई होगी बाकी आपको हमारे पोस्ट कैसी लगी हमे कमेंट करके ज़रूर बताये साथ ही इसे दोस्तों के साथ शेयर ज़रूर करे?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here