स्मार्ट सिटी मिशन योजना क्या है और इसके फायदे?

क्या आपको ये जानकारी है की स्मार्ट सिटी मिशन क्या है (Smart City Mission in Hindi)? शायद आप इसके बारे में पहली बार सुन रहे होंगे या फिर आपको थोड़ा बहुत जरूर पता होगा की ये क्या है? इस की जानकारी आपको आज के पोस्ट में मिल जाएगी.

भारतीय सरकार ने लोगों के कल्याण के अनेकों योजनाएं शुरू की हैं जिन में एक Smart City Yojana in Hindi की जानकारी हम आपको देने वाले हैं.

भारत की जनसंख्या वृद्धि भी काफी तेज़ गति से हुई है और अब सभी शहरों में रहने का सपना भी देखते हैं. आवास के क्षेत्र में भी विकास हुआ है लेकिन आवास को और आधुनिक बनाने के लिए सरकार ने कमर कस ली है और इस कड़ी में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी एक कल्पना को सच साबित करने में जुट गए हैं.  .

स्मार्ट सिटी योजना क्या है – What is Smart City Mission in India?

Smart city yojana mission in hindi

स्मार्ट सिटी मिशन भारत में शुरू की गयी 100 शहरों के निर्माण के लिए एक शहरी विकास कार्यक्रम है. इस योजना को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 25 जून 2015 को भारतीय शहरों को विश्व स्तर की विकास के लिए लॉन्च किया गया था. 

इस मिशन का उद्देश्य देश के 100 शहरों में हर प्रकार की बुनियादी सुविधाओं का विकास करना और शहर के नागरिकों को रहने के लिए साफ़ सुथरा पर्यावरण मिले.

25 जून 2016 को नरेंद्र मोदी ने पुणे में स्मार्ट सिटी मिशन को लांच किया था. इस योजना के अंतर्गत हुए Smart City challenge में 100 शहरों को स्मार्ट सिटी बनाने का लक्ष्य रखा गया है.

ये पूरी योजना का बजट 98000 करोड़ रखा गया है. इस में आधा पैसा राज्य सरकार को भी देना पड़ेगा. भारत में स्मार्ट सिटी के सपने को पूरा करने के लिए श्री नरेंद्र मोदी ने ये निर्णय लिया है की वो 100 शहरों को स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करेंगे.

आज अगर हम बात करें तो स्मार्ट सिटी बनने की सूचि में 99 शहर शामिल किये जा चुके हैं. आज हम स्मार्ट सिटी योजना से जुड़े हर सवाल का जवाब इस पोस्ट के माध्यम से जानने की कोशिश करेंगे लेकिन इसके पहले जानते हैं की स्मार्ट सिटी किसे कहते हैं.

Definition of Smart city in Hindi:

स्मार्ट सिटी ऐसे शहर को बोलते हैं जिसमे सुचना और तकनीक दोनों को शामिल किया जाता है ताकि शहरी जीवन की गुणवत्ता और संसाधनो जैसे ऊर्जा, यातायात और दूसरे श्रोत की क्षमता को बढ़ाया जा सके.

साथ ही इन संसाधनों की खपत को कम से कम रख कर जीवन शैली को उच्च की जा सके. सौ बात की एक बात कहें तो स्मार्ट सिटी का मकसद है स्मार्ट तकनीक का उपयोग कर के लोगों के जीवन स्तर को ऊपर करना है.

स्मार्ट सिटी योजना एक 5 वर्षीय योजना है जिसमे से पश्चिम बंगाल को बाहर रखा गया है. भारत के हर शहर और केंद्र शाषित प्रदेश से कम से कम एक शहर स्मार्ट सिटी चलेंगे में भाग ले सकता है.

चुने गए शहरों को केंद्र और राज्य सरकार के द्वारा वित्तीय सहायता 2017-2022 के बीच में दी जाएगी. इस  योजना का सारा असर 2022 के बाद से दिखने लगेगा.

इस योजना को सफल बनाने के लिए एक फुल टाइम CEO रखा जायेगा जो हमेशा स्मार्ट सिटी मिशन का नेतृत्व करेगा. हर शहर एक Special Purpose Vehicle बनाएगा. इस योजना के लिए केंद्रीय सरकार और राज्य सरकार मिलकर 1000 करोड़ रूपये की राशि देंगे जो दोनों मिलकर आधी आधी देंगे.

जो भी जो भी अतिरिक्त खर्च होगा उसे वित्तीय बाजार से ऋण के रूप में  लिया जायेगा जायेगा.

स्मार्ट सिटी बनाने के आधार व सिद्धांत

भारत बहुत तेज़ गति से विकास की तरफ बढ़ता हुआ देश है. जिसमे लोगों के रहन सहन में भी काफी जटिल बदलाव देखने को मिल रहा है. दूसरे से कोई भी पीछे नहीं रहना चाहता और दूसरे भी जो गाँव में रहते हैं वो भी शहर की तरफ बढ़ने लगे हैं.

2015 में भारत के प्रधानमंत्री ने इस योजना की शुरुआत की. यहाँ हम बात करेंगे इस योजना के मूल सिद्धांतों के बारे में.

जीवन शैली में बदलाव 

इसके अंतर्गत लोगों को सस्ते दाम में घर मिल सके ये सोच हमारे सरकार की है जिससे हर नागरिक को आसानी से बढ़िया घर मिल सके. जिसमे घर की सुंदरता भी बहुत शानदार हो.

इसमें दिन के 24 घंटे बिजली और पानी की व्यवस्था हो जो की इंसान की मुलभुत आवशयकता होती है.

इस के अलावा लोगों के पास इतने विकल्प हो की वो अपनी मर्ज़ी से खुद की मनपसंद स्कूल और कॉलेज में पढ़ सके और इन में शिक्षा की उत्तम सुविधा हो.

अच्छे स्कूल और कॉलेज भी हो जिससे हर नागरिक अच्छी शिक्षा ले सके और भारत का शिक्षा व्यवस्था उच्च स्टार पर जा सके. सुरक्षा जो की इंसानो के लिए सबसे महत्वपूर्ण चीज़ होती है उसके लिए भी अच्छी सुविधा हो.

लोग जीवन में सिर्फ काम करने और अच्छे घर में रहने से संतुष्ट नहीं होते हैं बल्कि मनोरंजन भी जिंदगी का एक अहम् हिस्सा होता है. इंटरनेट जिंदगी की सबसे बड़ी जरुरत बन चुकी है इसीलिए हर रिहायशी इलाके में तेज़ कनेक्टिविटी वाला नेटवर्क हो.

रोजगार में बढ़ोतरी 

Smart city mission में जो भी पैसे लगाए जाये उससे लोगों के लिए रोजगार के भी अवसर पैदा हो. जो लोग स्मार्ट सिटी में रह रहे हो उन्हें अपनी रोज़गार और काम करने के लिए ऑफिस ज्यादा दूर न जाना पड़े.

अर्थव्यवस्था 

जो भी संसाधन अभी हमारे बीच में हैं उनका सही इस्तेमाल हो और साथ ही नए संसाधन के लिए जो पैसे लगाए जाए वो पूरी प्लानिंग के साथ हो ताकि संसाधन का हमेशा सही उपयोग किया जाये, संसाधनों का नष्ट होना हमारे लिए ही नुक्सान है.

जो भी उत्पादन वाली कंपनियां है उन्हें हर वो सुविधा जिससे वो आकर निवेश कर सके. लोगों के ऊपर टैक्स ऐसे लगे जिससे की उन पर ज्यादा प्रेशर न हो और वो सरकार को उचित टैक्स आसानी इ दे सके.

स्मार्ट सिटी योजना के लिए शहरों की क्या योग्यता

  1. कम से कम 15 प्रतिशत इलाका शिक्षण संस्थान के लिए होना चाहिए.
  2. 1.25 लाख जनसँख्या के लिए कम से कम एक कॉलेज का होना जरुरी है.
  3. 10 लाख की आबादी के लिए एक विश्वविद्यालय, एक मेडिकल कॉलेज, एक पैरामेडिकल कॉलेज, एक इंजीनियरिंग कॉलेज का होना अनिवार्य है.
  4. स्मार्ट सिटी में बिजली की सप्लाई और पानी की उपलब्धता 24 घंटे और 7 दिन लगातार रहे.
  5. इसके तहत लोगों के यातायात का उचित प्रबंध होना चाहिए ताकि वो एक स्थान से दूसरे स्थान तक आसानी से जा सके और लोगों के चलने के लिए कम से कम 2 मीटर चौड़े पगडण्डी होने जरुरी हैं.
  6. सड़को की क्वालिटी बहुत अच्छी और समय समय पर इसका नवीनीकरण होनी जरुरी है.
  7. आर्थिक रूप से जो लोग घर बनाने लायक न हो उनके पास भी घर होंगे.
  8. Smart City में एमर्जेन्सी के वक़्त एम्बुलेंस को कहीं भी पहुँचने में आधे घंटे से ज्यादा वक़्त नहीं लगना चाहिए.
  9. ऐसा हॉस्पिटल होना चाहिए जिसमे उचित रूप से हर तरह आधुनिक मशीने और सुविधा उपलब्ध हो और हर नागरिक को उसका लाभ मिल सके.
  10. हाई स्पीड वाली वाई फाई के जरिये इंटरनेट की सुविधा 100% घरों में हो.
  11. घर, ऑफिस, गाडी इंसान कही भी उसे नेटवर्क की उचित सुविधा मिले.
  12. शहर में सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतेज़ाम का भी होना जरुरी है.
  13. शहर में सफाई की उचित व्यवस्था हो और कहीं भी गन्दगी न हो.
  14. किसी भी सेवा को पाने के लिए लोगों को अधिक परेशानी का सामना न करना पड़े.

स्मार्ट सिटी के फायदे – Advantages of Smart City in Hindi

1. E-Governance और नागरिक सेवा:

आज सरकारी काम जितने भी सभी ऑनलाइन किये जा चुके है. इसीलिए अब हर व्यक्ति घर बैठे ही सभी वैसे काम जिसे करने के लिए उसे सरकारी दफ्तर के चक्कर काटने पड़ते थे अब वो घर बैठे ही उन्हें पूरा कर सकेगा.

साथ ही जिन कामों को पूरा होने में देरी लगती थी वो भी एक निश्चित समय के अंदर पूरी हो जाएगी.

Smart City Mission या योजना के तहत ये फायदा है की अगर आप चाहे तो सारी सुविधा के लिए अधिक दूर नहीं जाना पड़ेगा. सरकारी कामो के लिए सिंगल विंडो सिस्टम की उपलब्धता दी जाएगी. 

सिंगल विंडो का मतलब है सरकारी विभाग के लिए जिस तरह से हमे अलग अलग ऑफिस जाना पड़ता है वहां पर सिर्फ एक ही ऑफिस होगा जहाँ से हर विभाग के कामों को पूरा किया जा सकेगा.

लोगों की सुरक्षा के लिए हर वक़्त सरकार की नज़र चारों तरफ होती है इसलिए 24 CCTV कैमरा के जरिये निगरानी की जाती है.

2. ऊर्जा की व्यवस्था:

विश्व बहुत ही तेज़ गति से बदल रहा है और प्राकृतिक संसाधन का भी इस्तमाल बहुत ही धड़ल्ले से हो रहा है.

सरकार ने नए विकल्पों को मद्दे नज़र रखते हुए ऐसे सोर्स का प्रयोग करेगी से जिससे ऊर्जा की आपूर्ति भी होती रहेगी और प्राकृतिक संसाधनों को भी बहुत ही एहतियात के साथ प्रयोग किया जा सकेगा.

लोगों को सौर ऊर्जा और दूसरी अनेक ऊर्जा श्रोतो की तरफ मोड़ा जायेगा ताकि ऊर्जा के प्राकृतिक श्रोतों की बचत की जा सके.

3. जल-आपूर्ति:

जल ही जीवन है. ये अक्सर हम सुनते रहते हैं और बचपन से हम ये स्कूल और कॉलेज में भी पढ़ते आ रहे हैं.

वैसे तो पृथ्वी का 3/4 हिस्सा पानी ही है लेकिन पीने लायक पानी अधिक नहीं है बहुत से ऐसे में एरिया हैं जहाँ पानी की बहुत समस्या होती है लेकिन इस योजना के अंतर्गत लोगों को किसी तरह की पानी की समस्या नहीं होगी. खाने, कपडे धोने, नहाने, सफाई के लिए हर रोज़ प्रति व्यक्ति 135 लीटर पानी दिया जायेगा.

4. शहरी विकास की गति:

विकास के मायने हैं लोगों की ज़िन्दगी को आसान बनाना. Smart City Mission का मकसद ही यही की लोगों के जीवन को सरल कर दिया जा सके. हर रोज़ नए विकास के काम करते रहेगी सरकार और जो समस्या दिखेगी उस पर काम कर के समस्या को ख़तम कर देगी.

ये सभी काम बहुत ही तेज़ी से होगा, शहरों में आज जो गति देखते हैं काम करने की उसकी तुलना में इन शहरों में काफी बदलाव देखने को मिलेगा.

5. सफाई की व्यवस्था:

सुन्दर और अत्याधुनिक शहर तभी बनाया जा सकेगा जब सफाई बहुत ही उच्च स्तर की होगी. इस योजना के अंतर्गत सफाई के लिए काफी ध्यान दिया जायेगा जैसा की आप दूसरे देशों में देखते हैं. 

स्वच्छ भारत अभियान के साथ ही सरकार ने पहले ही सफाई को लेकर पुरे भारतवर्ष को जागरूक कर रखा है.सफाई इंसान की नैतिक जिम्मेदारी है. और सभी को इस में शामिल होना चाहिए.

निष्कर्ष

अच्छी, बेहतर और आरामदायक ज़िन्दगी की कल्पना भला कौन नहीं करता है. हर किसी का खवाब होता है की अच्छा घर हो, गाडी हो, घर में आराम का हर सामान हो.

कुल मिलकर देखा जाए तो भारत भी अब उन देशों में शुमार होने लगेगा जिन्हे हम हाईटेक देशों के नाम से जाना करते हैं. स्मार्ट सिटी योजना (Smart city mission in Hindi) यानी भारतवासियों के जीवन में एक बड़े बदलाव के रूप में हमे देखने को मिलेगा.

हमने इस पोस्ट के माध्यम स्मार्ट सिटी मिशन इन इंडिया से जुडी जानकारी दी है अगर आपको ये जानकारी पढ़ने में अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करे.

Wasim Akram

वसीम अकरम WTechni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है.