सेल्फ स्टडी कैसे करें?

“एक सफल ज़िंदगी के लिए आज चलना पड़ेगा। अगर आज सो गया तो सारी उमर रोना पड़ेगा।” यह वाक्य उन सारे विद्यार्थी के लिए हैं, जो ज़ोर-शोर से अपने परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं। दोस्तों, आज के समय में प्रतियोगिता इतनी बढ़ गयी है की आपको हर वक़्त तैयार रहना होगा और इसके लिए सेल्फ स्टडी सबसे जरूरी होता है। आज इस पोस्ट में जानेंगे की सेल्फ स्टडी कैसे करें जिससे आपको एकदम सही परिणाम मिलेगा।

सबसे जरूरी होता है संयम और एक समान दिनचर्या। चाहे मामा की शादी हो या नानी का बुलावा, या फिर दोस्तों के संग चाय-क्रिकेट का कोई बहाना, आपको अपने दिनचर्या को बदलना नहीं है। अगर इस जीवन में एक सफल इंसान बनना है तो ये सब मोह-माया त्यागने होंगे। आपको इस कलयुग का अर्जुन बनना होगा, तभी अपना लक्ष्य भेद पाओगे।

स्वयं को इतना मजबूत बना लो की फिर तुम्हारे कान बस काम के वक़्त ही खुले, बाक़ी समय कौन क्या बोल रहा हैं या उसके जीवन में क्या चल रहा है, ये सब से सारा नाता तोड़ना होगा। यह सब थी आपको उत्साहित करने वाली बातें, अब जानते है की सेल्फ स्टडी कैसे करते हैं उसके लिए जरुरी टिप्स और ये महत्वपूर्ण क्यों है और उससे जुड़ीं अन्य जानकारियाँ।

सेल्फ स्टडी महत्वपूर्ण क्यों हैं?

हालांकि, स्कूल या कॉलेज/कोचिंग तो हम सब जाते है। सब एक ही जगह,एक ही माहौल में पढ़ाई भी करते हैं। इन सारी समानताओं के बावजूद कोई टॉपर बन जाता हैं तो किसी को पास होने के भी लाले पड़े रहते हैं।

जानना चाहते है की यह अंतर क्यों है? जो टॉपर होते है, वो अपना दिनचर्या एक समान रखते है, आज अगर चार घंटे पढ़ना है तो पढ़ना है, और यही काम वो हमेशा करते है। बस यही चीज़ उन्हें सबसे ऊपर ले जाती है।

सेल्फ स्टडी का अपना ही महत्व है, आप चाहे कितनी भी महंगी फीस देकर पढ़ ले, या किसी सरकारी इंस्टिट्यूशन से, सफलता आपको इनके नाम नहीं, आपकी मेहनत दिलाएंगी।

आप यदि अपने स्कूल/कॉलेज में 7-8 घंटे पढ़ते हो और सेल्फ स्टडी बिलकुल जीरो है, तो लिख के ले लो, सफलता इस जन्म में नामुमकिन है। और अगर वही प्रतिदिन 3-4 घंटे बिना किसी ब्रेक के सेल्फ स्टडी कर ली, तो फ़िर आपको कोई नहीं रोक सकता।

सेल्फ स्टडी से आपको चीज़े अच्छे से समझ आती है क्योंकि उस वक़्त आपका पूरा 100 प्रतिशत ध्यान सिर्फ स्टडी पर होगा।

दूसरी बात है की एक समान रूप से रोज़ पढ़ने पर आपकी आदत हो जाएंगी और जिस तरह आज आपको PUBG की लत लगी हैं कल को आप हिस्ट्री की किताब लिए और गणित के सवाल हल करते फिरोगे।

तीसरी बात है की फ़िर आपको दोबारा पढ़ने की जरूरत नहीं होगी, जैसे किसी को भी बचपन में पढ़े अंग्रेजी के अल्फाबेट याद हैं,वैसे ही एक मजबूत इरादे के साथ सेल्फ स्टडी करने पर हमेशा दिमाग में रहता हैं।

सेल्फ स्टडी से ना सिर्फ आपको पढ़ाई में मदद करती हैं बल्कि ये आपको एक अनुसाशित व्यक्ति भी बनती हैं। एक ही समय पर प्रतिदिन पढ़ने से आपकी समय पाबंदी पर पकड़ बनती हैं और ऐसे जीवन-यापन करने से सिर्फ सफलता ही मिलती हैं।

सेल्फ स्टडी सही हैं या ग्रुप स्टडी?

यह सवाल कई लोग पूछते हैं, सेल्फ स्टडी करूँ या फिर ग्रुप में? यहाँ आपको जानने की जरूरत है की दोनों के अपने महत्व हैं, एक ओर जहाँ आप शांत दिमाग से बिना रुकावट के पढ़ सकते हैं, वही दूसरी तरफ़ अगर कोई शंका हुई तो उसका हल आपस में ही मिल जायेगा।

आपको प्रतिदिन सेल्फ स्टडी के साथ हफ्ता में एक दिन अपनी शंका दूर करने के लिए ग्रुप डिस्कशन या फिर अपने टीचर्स से संपर्क करें।

ग्रुप स्टडी में अक्सर देखा गया हैं की हम सब पढ़ाई से ज्यादा गपशप में व्यस्त हो जाते हैं। यद्यपि यह भी हैं की कुछ लोगों के लिए सही होता हैं। परंतु, 10% मामलों में ही ये सटीक बैठता हैं, अर्थात 90% में सेल्फ स्टडी ही पहली पसंद होती हैं।

सेल्फ स्टडी करने के कारगर 10 तरीके:

self study kaise kare
self study kaise kare

आख़िरकार, उस मुद्दे पर हम लोग आ ही गये। यहां आपको एक-एक करके सारे पहलू बताया जाएगा की सेल्फ स्टडी कैसे करे और ये सारे नियम बिलकुल कारगर है।

आप चाहे तो इतिहास पलट के देख सकते हैं, जितने भी सफल लोग हैं, उनमें से अधिकांश ने सेल्फ स्टडी की थी। तो आगे देखते हैं सारे बिंदुओं को।

1. मानसिक सेहत का ध्यान

सबसे पहले ये ज़रूरी हैं की आप मानसिक रूप से सेहतमंद रहे। ये प्रतियोगिता किसी जंग से कम नहीं हैं, जहाँ कलम और किताबें आपके हथियार हैं।

हर सुबह उठ कर फ्रेश होने के बाद ध्यान लगाए, फिर कुछ व्यायाम करें। थोड़ी देर बाद  फूले हुए चना-बादाम खाएं और तब पढ़ना शुरू करें। यह सब करने से आपका ध्यान नहीं भटकेगा और एकाग्रता बनी रहेगी।

2. अपने विचार साझा करें

जब भी आपके मन में कोई भी पढ़ाई से जुड़ीं बातें हो, उसे अपने आस पास या अपने मित्रों से ज़रूर साझा करें। इससे आप खुद को उन्हीं चीज़ों से घिरा हुए पाएंगे जो आपके लक्ष्य में मददगार होंगे।

जैसे आज आपने क्या पढ़ा, आपने क्या नया सीखा और साथ ही आपके मित्रों ने क्या-क्या किया। यह सब बातें आपको उत्साहित करेंगी की आप और अच्छा करें। आपका मन भी पढ़ने में लगा रहेगा और विचारों के आदान-प्रदान से ज्ञान में विर्द्धि होगी।

3. एक लक्ष्य तय करें

बिना लक्ष्य का जीवन अर्थात बिना मंज़िल के सफ़र। कभी ये कर लिया तो कभी वो, ऐसे करते-करते जीवन के इतने अनमोल समय को गवाँ बैठे।

अब भी वक़्त हैं, एक लक्ष्य बनाएं। हर इंसान का किसी ना किसी कार्य में रूचि होती हैं और यहाँ बात हो रही हैं पढ़ाई की।

आपको हर विषय को समान रूप से समय देना होगा। जैसे आज आपने आधे घंटे हिंदी पढ़ी हैं तो कल भी इतना ही पढ़ना होगा। अगर आपको एक महीने बाद परीक्षा देनी है,तो आपको ऐसा समय निधार्रण करना है की उस समय से पहले या बाद कुछ ना हो। एक महीना मतलब तीस दिन में सब तैयार कर लेना हैं।

4. नावेल पढ़ने की आदत डाले

ऐसा कई बार होता है की अब तक की जीवन में आपने कभी भी गंभीरता से सेल्फ स्टडी नहीं की और अब जब आपको इसका मोल समझ आया हैं, तो मन ही नहीं लग रहा।

दोस्तों, जैसे अचानक पेड़ पर फल नहीं आते, वैसे ही एक दिन में रूचि नहीं जागेगी। निरंतर प्रयास से ही सफलता मिलेगी। उसके लिए आपको विषय से अतिरिक्त किताबों की आदत डालनी होंगी, जैसे कोई नावेल या फ़िर छोटे बच्चों की पुस्तकें।

एक बार मन में पढ़ने की ललक पैदा हो गयी ना, फिर आपको वही बोरियत वाली विषय सबसे अच्छी लगेगी।

5. दिमाग से जुड़े खेल खेले

किसी खिलाड़ी से मिलायेगा, वो अपने आस पास उन चीज़ों को ही रखता हैं जो उसके खेल में काम आए। सेल्फ स्टडी के लिए भी आपको उस ढांचे में ढालना होगा।

आप क्विज़ खेल सकते हैं या ऑनलाइन कोई माइंड गेम जिससे आपको हल करना हो या लॉजिक लगाना पड़े। इससे ना सिर्फ आपका दिमाग तेज़ होगा बल्कि एकाग्रता शक्ति भी बढ़ेगी।

6. प्रतिदिन एक समान तरीके से पढ़े

किसी भी दिन पढ़ाई करना ना भूले। आपको अच्छे से समझ होगी को कैसे एक किसान हर दिन खेतोँ में पानी-खाद देता हैं और तब जाकर उसे समयानुसार फसल मिलते हैं।

ठीक इसी प्रकार, हमें भी लगातार पढ़ना होगा, तभी एक दिन हमें सफलता मिलेगी। अब बात आती हैं की ये करे कैसे? हाँ, आज के युग में ये सबसे मुश्किल काम हैं, पर जैसे छोटे बच्चे को बार-बार मुँह में उंगली देने से मना किया जाए, तो वो आदत छूट जाती हैं।

आपको भी बार-बार पढ़ने में मन लगाना होगा, जिससे एक दिन ये आपके जीवन का अभिन्न अंग बन जायगा।

7. प्रैक्टिस सेट हल करें

सिर्फ लगातार पढ़ने से अच्छा परिणाम नहीं मिलता। आपको अपनी योग्यता समय समय पर जाँच करनी होगी। इससे दो बातें होंगी, पहला ये की आपने अच्छे अंक लाए, तो दुगने जोश से पढ़ेंगेऔर यदि कम अंक आए, तो इससे आपको अधिक मेहनत करनी की सबक मिलेगी।

इस तरह समय के साथ एक ऐसा वक़्त आएगा की पढ़ने के लिए आपको वक़्त कम लगने लगेंगे और फिर भी आप सेल्फ स्टडी करते रहोगे।

8. समाचार पत्र शामिल करें

समाचार पत्र सबसे सही तरीका हैं किसी विषय में मन लगाने का। समाचार पत्र में ना सिर्फ ख़बरे, बल्कि “एडिटोरियल कॉलम” भी होते हैं और साथ ही कई मनोरंजक बातें भी।

एक साथ ये सब पढ़ने से आपको 2-3 घंटे पढ़ने की आदत हो जाएंगी और पढ़ने में कोई भटकाव नहीं लगेगा।

सेल्फ स्टडी का एक अहम हिस्सा समाचार पत्र ही हैं, आज तक जितने भी सफल हुए हैं, सबने समाचार को ही आधार बताया हैं। अगर आज भी आपको समझ नहीं आ रहा की सेल्फ स्टडी कैसे करे, तो लीजिए अख़बार और शुरू कीजिए तैयारी।

9. मोटिवशनल वीडियो देखें

ऐसा अक्सर देखा जाता हैं की हम किसी और की दिनचर्या को फॉलो कर रहे होते हैं। ऐसा जरूरी नहीं है की जो तरीका बाक़ी का हैं, वो आप भी करे।

ख़ुद का तरीका इज़ाद करने के लिए आपको अपनी योजना बनानी होगी। मोटिवशनल वीडियो से आप ऊर्जा वान रहेंगे और दिमाग में कई सारे उपाय भी पनपने लगेंगे।

खुद को आप अंदर से समझ पाएंगे की कैसे क्या करना होगा। दूसरी तरफ ऐसा भी होता हैं की एक के बाद एक असफलता से घबरा जाते हैं, इस वक़्त भी ये वीडियो आपके लिए आरामदेह होंगे। सेल्फ स्टडी कैसे करे, ये भी बिना किसी को फॉलो किये और अपनी क्षमता को पहचान कर अपनी स्टडी कर पाएंगे।

10. वातावरण सकारात्मक रखें

सारी योजना बना ली और उन्हें अमल भी करना शूरू कर दिया। पर ये क्या? मस्तिष्क में कुछ नतरात्मतक उपज रहा और हुआ कैसे ये? आपका वातावरण।

चाहे मछली को कितना भी खिला लो, पर तालाब की सफाई नहीं की ना तो वो एक दिन मर ही जायेगी।मस्तिष्क ख़ाली होगा, तभी कुछ और जायेगा। कोशिश करे की नकारात्मक सोच वाले से दूर रहे, वो कभी भी आपको आगे नही बढ़ने देंगे।

स्वयं को सकारात्मक बनाए रखने के लिए आप ऊपर लिखे गए सारे तरीकों को धैर्य से करे और हो सके तो हफ्ता में किसी एक दिन कहीं घूम आएं। नए मन से पुनः सेल्फ स्टडी शुरू करें।

निष्कर्ष

यह लेख पढ़ कर आपको सेल्फ स्टडी कैसे करे के सारे तरीके मिल गये होंगे। हमने देखा की कैसे अलग-अलग अच्छी आदतों को शामिल करके आप एक साथ सिर्फ पढ़ाई ही नहीं, जीवन के अन्य कामों में भी सफल हो सकते हैं।

यदि आपने एक बार इन सबको धीरे-धीरे अपने जीवन का हिस्सा बना लिया तो सफलता आपके कदम चूमेगी। आपके मित्र या आपके रिश्तेदार, जो भी सेल्फ स्टडी को लेकर परेशान हैं या उन्हें समझ नहीं आ रहा की कैसे क्या करे, तो ये उनसे ज़रूर साझा करें। और हमें भी बताएं की ये आपके लिए कितना लाभदायक हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here