साइंस में टॉपर कैसे बने?

जितने भी विद्यार्थी 12वीं क्लास में पढ़ रहे होते हैं उनके मन में टॉप करने की विचार घूमती रहती है, वे सोचते रहते हैं कि हम ऐसा कौन सा ट्रिक से पढ़ाई करें कि हम टॉपर बने. इसीलिए ऐसे विसयार्थियों विद्यार्थियों के लिए इस पोस्ट तैयार कर के लाये हैं जिसमे आपके बाटेंगे बताएँगे की साइंस में टॉपर कैसे बने?

वैसे तो 12वीं वर्ग में पढाई जब करते हैं तो उसमे हमे तीन तरह के कोर्स कर सकते हैं. लेकिन हम यहाँ पर आज आपको 12th साइंस में टॉपर बनने का तरीका बताने जा रहे हैं.

12th साइंस में टॉपर बनने का तरीका

हर एक विद्यार्थी जिन्होंने अपने 12वीं की पढ़ाई साइंस लेकर कर रहे होते हैं उनके मन में एक ही विचार विमर्श होते रहता है की हम टॉपर कैसे बने?

हर एक विद्यार्थी साइंस के हर एक सब्जेक्ट स्कोर कड़ी मेहनत के अनुसार पढ़ाई करते हैं लेकिन इतना करने के बावजूद भी उनकी सिलेबस पूर्ण रूप से खत्म नहीं हो पाती.

इसके साथ उनकी पढ़ाई भी आधी अधूरी रह जाती है इसलिए टॉप करने के लिए नियमित रूप से अपने सिलेबस की स्टडी करना बहुत ही अनिवार्य है.

12 बोर्ड सभी विद्यार्थियों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है क्योंकि यदि कोई किसी जॉब के लिए जाए या फिर कहीं एडमिशन के लिए जाए तो वहां उन्हें ट्वेल्थ बोर्ड का परसेंटेज पूछा जाता है.

ना कि 10th बोर्ड का इसलिए हमें ट्वेल्थ की पढ़ाई बहुत ही मेहनत और लगन से करनी चाहिए ताकि इस एग्जाम में हमारा अच्छा से अच्छा परसेंटेज आ सके.

इस कंपटीशन युग में सभी बच्चे एक-दूसरे से आगे रहने का प्रयास करते हैं इसके लिए वे कड़ी मेहनत कर पढ़ाई को करते हैं, लेकिन मेहनत करनी अच्छी बात है और मेहनत के साथ रूटिंग फॉलो कर पढ़ाई करनी बहुत अच्छी बात है इससे आपको सफलता हासिल होगी.

हर एक विद्यार्थी जो साइंस लेकर 12th की पढ़ाई कर रहे हैं उन्हें अपनी पढ़ाई को लेकर अपने मन में सफल विद्यार्थी होने की शिद्दत रहना बहुत जरूरी है.

यदि वे यह सोचकर अपनी पढ़ाई को करते हैं कि वह एक टॉप स्टूडेंट है और टॉपर स्टूडेंट किस तरह की पढ़ाई करता है उस चीज को अगर वे फॉलो कर रहे हैं तो सच में वह 1 दिन टॉपर बन सकते हैं.

1. साइंस सिलेबस को समझें

हर एक विद्यार्थी जो साइंस लेकर ट्वेल्थ की पढ़ाई कर रहे होते हैं उन्हें सबसे पहले अपने सिलेबस ओं की जानकारी होना बहुत ही आवश्यक है.

यदि आप अपने सिलेबस को अच्छे से समझ लिया उसमें कौन-कौन से सब्जेक्ट है और उन सभी सब्जेक्ट में कौन कौन से टॉपिक है इन सभी चीजों को समझना बहुत ही आवश्यक है, तभी आप एग्जाम में अव्वल आने में सक्षम हो पाएंगे.

साइंस के विद्यार्थियों को साइंस के सिलेबस की पूर्ण जानकारी होना अनिवार्य है उसने आप को ध्यान में रखना है की फिजिक्स केमिस्ट्री बायोलॉजी मैथ्स कंप्यूटर साइंस इन सभी सब्जेक्ट में हमें कौन-कौन से लेसन को अध्ययन करना है.

इन सभी टॉपिक्स को हम किस तरह इमानदारी पूर्वक पढ़ सकते हैं क्योंकि पढ़ाई में ईमानदारी रखना एक सफल विद्यार्थी का सोच होता है.

यदि वे इमानदारी पूर्वक हर सब्जेक्ट को पढ़ते हैं तो उन्हें कोई टॉपिक्स में कोई डाउट नहीं रहती इसलिए हर एक विद्यार्थी को अपनी पढ़ाई में इमानदारी सोच रखना चाहिए.

अपने सिलेबस ओ को जानने के लिए आपको अपने सिलेबस अपने कॉलेज के द्वारा भी मिल सकता है और यदि आप चाहें तो अपने फोन से भी सिलेबस देख सकते हैं .

2. टाइम मैनेजमेंट

यदि आप भी साइंस के स्टूडेंट है और आपको साइंस में टॉप करना है तो इसके लिए आपके मन में एक टॉपर का जुनून होना चाहिए जिसमें आपकी सोच एक टॉपर स्टूडेंट की जैसी रहनी चाहिए तभी आप तब बन सकते हैं.

एक टॉपर स्टूडेंट के लिए टाइम मैनेजमेंट होना बहुत ही जरूरी है और टाइम मैनेजमेंट के लिए टाइम टेबल बनाना बहुत ही आवश्यक है.

हर एक स्टूडेंट जो टॉप करना चाहता है उनके लिए टाइम टेबल को फॉलो करना बहुत ही जरूरी है क्योंकि टाइम टेबल को फॉलो करने से आपको पता चलता है कि आप किस सब्जेक्ट में कितना टाइम दे सकते हैं और किस सब्जेक्ट में आपको कम टाइम देना है.

यदि आप टाइम टेबल के अनुसार अपने विषयों के आधार पर टाइम को मैनेज करते हैं तो आपको हर दिन हर विषय में थोड़ी थोड़ी जानकारी मिल जाएगी.

आपको यह भी ध्यान में रखना चाहिए की आपके कमजोर विषय में आप थोड़ा ज्यादा ध्यान दें और अच्छे विषयों में थोड़ा कम ताकि आपका जो कमजोर विषय है वह भी मजबूत बन सके.

यदि आप टाइम टेबल बनाकर साइंस के विषय को पढ़ते हैं तो आपको हर विषय में चाहे वह केमिस्ट्री हो या फिजिक्स हो या बायोलॉजी हो या मैथ हो या कंप्यूटर साइंस इन सभी में हर दिन आपका कमांड बनता जाएगा जिससे आप एग्जाम के लिए तैयार होते जाएंगे.

इसलिए टॉप करने के लिए टाइम टेबल को फॉलो  करना बहुत ही आवश्यक है.

3. सेल्फ स्टडी करना

यदि आप भी साइंस के स्टूडेंट है तो आपको अपने इंस्टिट्यूट के पढ़ाई को ध्यान में रखकर इमानदारी पूर्वक उसको करने के साथ-साथ आपको अपनी सेल्फ स्टडी भी करना बहुत जरूरी है क्योंकि सेल्फ स्टडी वोट टिप्स है जिससे हर एक स्टूडेंट सफल होता है.

इसलिए सभी विद्यार्थियों को अपनी हर विषयों की पढ़ाई के लिए खुद से  इमानदारी पूर्वक उन सभी विषयों का पढ़ाई करनी चाहिए जिसे self-study कहा जाता है.

सेल्फ स्टडी करने से हर एक विद्यार्थी का कमांड अपने विषयों में बहुत ज्यादा बढ़ जाता है और वह उस विषय उन्हें इसी लगने लगता है इसलिए साइंस लेकर पढ़ रहे हर विद्यार्थियों को अपनी सेल्फ स्टडी करना बहुत ही आवश्यक है.

हर एक  टॉपर स्टूडेंट अपनी इंस्टीट्यूट के पढ़ाई के साथ साथ अपनी सेल्फ स्टडी कर टॉप करने में सक्षम हो पाते हैं.

4. एनसीआरटी बुक को पढ़ें

साइंस लेकर पढ़ रहे सभी विद्यार्थी जो टॉपर बनने की चाहत रखते हैं उन्हें अपने इंस्टिट्यूट के पढ़े गए टॉपिक ओं को पढ़ने के साथ-साथ एनसीईआरटी बुक का अध्ययन करना बहुत जरूरी है.

क्योंकि एनसीईआरटी बुक के अंतर्गत जितने भी प्रश्न होते हैं उनके अनुसार एग्जाम में प्रश्न आते हैं कोई ऐसा प्रश्न नहीं होता जो एनसीआरटी से बाहर आते हैं.

इसलिए आपको कोई अन्य बुक को ना पढ़ एनसीईआरटी बुक का अध्ययन करना बहुत ही जरूरी है.

एनसीईआरटी में जितने सारे सवाल होते हैं उन सभी सवालों को हल कर आप को समझना चाहिए और इसके साथ सारे एनसीईआरटी के क्वेश्चन को इमानदारी पूर्वक पढ़कर अपना कमांड बनाना चाहिए तभी आप एग्जाम में अव्वल आ सकेंगे.

इसके दौरान ट्वेल्थ के बाद जितने भी एंट्रेंस एग्जाम होते हैं उनमें भी एनसीईआरटी से भी  सवाल पूछे जाते हैं, तो यदि आप एनसीईआरटी को पढ़ रहे हैं तो आपका ट्वेल्थ के साथ-साथ एंट्रेंस एग्जाम की भी तैयारी हो रही है.

5. पढ़ाई में ब्रेक ले

यदि आप भी एक साइंस स्टूडेंट है तो आपको पढ़ाई करते वक्त ब्रेक लेना बहुत जरूरी है क्योंकि लगातार पढ़ाई करने से कोई अव्वल नहीं आता, अव्वल आने के लिए हर सब्जेक्ट को पढ़ने के दौरान कुछ ब्रेक की आवश्यकता होती है.

ब्रेक लेने से हमारे मस्तिष्क हमारे कंट्रोल में रहते हैं जिससे हम कोई अन्य सब्जेक्ट भी कुछ देर बाद अच्छी पूर्वक पढ़ सकते हैं.

बहुत से विद्यार्थी ऐसे होते हैं जो बिना ब्रेक लिया अपने स्टडी को करते जाते हैं लेकिन इससे कोई सफलता हासिल नहीं होती नहीं बे सारी विषयों की जानकारी अच्छे से हासिल कर पाते हैं इसके लिए ब्रेक की बहुत ही आवश्यकता है.

यदि आप ब्रेक ले ले कर हर विषयों को पढ़ रहे हैं तो आपका कमांड हर विषय में अच्छा बन रहा है.

आपको यदि केमिस्ट्री की स्टडी करनी है तो आधा घंटा या एक घंटा आप केमिस्ट्री की पढ़ाई करें फिर 15 मिनट का ब्रेक ले उसके बाद आप अपने फिजिक्स के स्टडी करें उसके बाद आधे घंटे का ब्रेक ले फिर आप मैथ की पढ़ाई करें.

फिर थोड़ा सा देख ले फिर आगे की विषयों की पढ़ाई करें इस तरह करने के दौरान आपको पढ़ने में जनाब और लगेगा और ना ही पढ़ने से मन हटे गा इसलिए ब्रेक ले ले कर पढ़ना बहुत जरूरी है.

6. मॉर्निंग में पढ़ाई करें

हर एक विद्यार्थी को सुबह के समय कुछ विषयों को पढ़ना चाहिए क्योंकि सुबह यदि आप 5:00 बजे उठते हो.

पहला तो आपके नींद पूरे हुए होते हैं और नींद  पूरे होने से फ्रेशनेस महसूस होता है और दूसरा उगते हुए सूर्य को उस समय देख एक पॉजिटिव एनर्जी मिलती है जिससे आपका ध्यान स्टडी में बना रहे और अपने स्टडी को आप अच्छे तरीके से कर सके.

सुबह उठकर पढ़ाई करने से सभी टॉपिक दिमाग में रहती है जिस विषय को अब सुबह पढ़ रहे होते हैं उस विषय की टॉपिक्स को आप जल्दी भूल भी नहीं सकते दिमाग में एक तरह से वह बैठ जाता है इसलिए हर एक विद्यार्थी को सुबह स्टडी करनी चाहिए.

7. जहां तक संभव हो सिलेबस को जल्द खत्म करे

आपको जहां तक संभव हो या प्रयास करनी चाहिए कि आपका सिलेबस जल्दी खत्म हो.

इसके साथ आप अपने सिलेबस की सभी विषयों को अच्छे से पढ़ कर जल्दी खत्म करने का प्रयास करें ताकि आपके पास एग्जाम के लिए बहुत सारा टाइम बचा रहे और उन टाइम में आप पढ़े हुए टॉपिक्स को फिर से दोबारा पढ़ें.

इससे आप उन टॉपिक्स को जल्दी नहीं भूल पाएंगे जिससे आपका कमांड आपके स्टडी में बढ़िया होगा.

सिलेबस खत्म करने के दौरान टॉपिक्स को दोबारा पढ़ना, इससे आपका पढ़ाई बहुत ही अच्छे ढंग से पूरी होती जाएगी और हर विषयों के हर टॉपिक्स में अच्छा कमांड बना रहेगा जिससे आप अपने एग्जाम में बिना घबराए आसानी से अपने क्वेश्चंस को हल कर सकते हैं.

8. विषयों को समझे फिर पढ़े

हर एक विद्यार्थी को जो अपने विषयों की पढ़ाई कर रहे होते हैं उन्हें हर विषय में हर टॉपिक स्कोर समझनी चाहिए फिर उसे पढ़ना चाहिए तब जाकर उन्हें व टॉपिक्स की जानकारी याद रहेगी.

यदि मैं बिना समझे सिर्फ टॉपिक्स को रट्टा मारते हैं तो वह टॉपिक उनके दिमाग में कुछ देर तक रहेगी फिर वह उनका पिक्स को भूल जाएंगे जिससे उनका एग्जाम अच्छे से क्लियर नहीं हो पाएगा.

इसलिए हर विद्यार्थी को अपने विषयों के सारे टॉपिक्स को समझने के अनुसार उन्हें याद करना चाहिए ताकि वह टॉपिक उनके दिमाग में सेट हो जाए.

हर विषयों को समझने के बाद पढ़ने से हमें एग्जाम में कोई प्रॉब्लम नहीं होती क्योंकि कोई विद्यार्थी सिर्फ उसे रट्टा मार लेते हैं फिर उन्हें एग्जाम देते टाइम भूल जाते हैं.

यह इसलिए होता है क्योंकि वे उसे समझकर नहीं पढ़े होते हैं इसलिए हर एक विद्यार्थी को अपने सारे विषयों को समझने के अनुसार ही पढ़ना चाहिए जिससे उन्हें काफी देर तक व टॉपिक्स याद रहे इससे उनका एग्जाम भी अच्छे से हो जाता है.

9. रिवीजन नोट्स बनाएं

जो विद्यार्थी साइंस विषय को लेकर टॉप करना चाहते हैं तो उन्हें अपने एग्जाम के लिए एक रिवीजन नोट्स बनाना चाहिए जिसमें आपको उन सभी प्रश्नों को लिखना चाहिए जो आपके एग्जाम में आ सकते हैं.

इससे एग्जाम टाइम में आपको रिवीजन करने में तनिक भी देर नहीं लगेगी और आपका रिवीजन आसानी पूर्वक हो जाएगा.

रिवीजन नोट्स बनाने से विद्यार्थियों को रिवीजन करने में प्रॉब्लम नहीं होती है वे आसानी पूर्वक डिवीजन नोट्स को खोलकर अपने उन सभी प्रश्नों को पढ़ सकते हैं और इससे उनका एग्जाम भी अच्छे से होता है इसलिए हर स्टूडेंट को रिवीजन नोट्स बनाना जरूरी है.

10. डेली रिवीजन करें

जो विद्यार्थी एग्जाम की तैयारी कर रहे होते हैं उन्हें अपने सभी विषयों को हर दिन पढ़ना चाहिए और इसके साथ साथ जो विषय पहले पढ़ चुके हैं उन विषयों के टॉपिक को हर दिन थोड़ा थोड़ा पढ़ना चाहिए जिससे वे उसे भूल नहीं पाएंगे.

कई बार ऐसा होता है कि जो टॉपिक्स को आप पहले पढ़े हुए होते हैं और कुछ दिन उसे रिवीजन नहीं करते हैं तो पता चलता है कि वह टॉपिक से दिमाग से डिलीट हो गई है.

इन सभी को ध्यान में रखते हुए हर विषयों के टॉपिक्स जो आप पढ़ रहे होते हैं उसे प्रतिदिन थोड़ा-थोड़ा रिवीजन करें जिससे उन सभी टॉपिक्स की जानकारी आपके दिमाग में याद रहे.

सबसे खास बात की जो भी टॉपिक आप को पढ़ाया जाता है या फिर आप उसे पढ़ते हैं तो आपको एक चीज जरूर करनी है जो आप 1 दिन पढ़े हुए होते हैं उसी टॉपिक को 24 घंटे के अंदर एक बार और देख लीजिए.

इससे वह टॉपिक को आप भूल नहीं पाएंगे यह साइंटिफिक रीजन है जिसे टॉपर स्टूडेंट को फॉलो करना बहुत जरूरी है.

11. पिछले सालों के क्वेश्चंस को सॉल्व करें

यदि आपको साइंस एग्जाम में टॉप करना तो इसके लिए आपको पिछले सालों में जो क्वेश्चन पूछे गए हैं उनको इस चीज को हल करना बहुत जरूरी है.

इसके लिए आपको सैंपल पेपर की आवश्यकता होगी. आपको सैंपल पेपर खरीद नहीं होगी जिससे आपको यह पता चलेगा कि किस विषय में कौन से टॉपिक से क्वेश्चन किस पर आधारित आता है? किस तरह से सवालों को पूछा जाता है?

कौन-कौन से सवाल किस सब्जेक्ट से ज्यादा पूछे जाते हैं? इन सभी चीजों की जानकारी होना एक टॉपर स्टूडेंट के लिए बहुत जरूरी है जिसके लिए आपको सैंपल पेपर से रिवीजन करना चाहिए. 

इससे आप एग्जाम देते टाइम पूरा कॉन्फिडेंस रहेंगे क्योंकि आपको पता रहेगा कि किस टाइप का क्वेश्चन एग्जाम में पूछे जाते हैं.

12. एग्जाम के एक दिन पहले

एग्जाम को लेकर सभी विद्यार्थियों के मन में एक डर सा लगा होता है कि इनका एग्जाम कैसा जाएगा लेकिन इन सभी चीजों को अगर हम एग्जाम के 1 दिन पहले दिमाग में लाते हैं तो हमारा पढ़ा हुआ टॉपिक्स भी दिमाग से हटने लगता.

इसलिए हमें एग्जाम के 1 दिन पहले पॉजिटिव थिंकिंग रखना चाहिए और जो विषय की एग्जाम होगी उसे एक बार पढ़ लेना चाहिए और दिमाग को शांत रखना चाहिए इसके साथ जल्द ही सो जाना चाहिए जिससे आपकी नींद पूरी हो.

क्योंकि नींद पूरी होने के बाद फ्रेशनेस महसूस होता है और इससे आपका एग्जाम भी अच्छा जाएगा.

जब धरती के मन में टॉपर बनने की इच्छा होती है उन्हें तो  घबराना बिल्कुल भी नहीं चाहिए, उन्हें अपने आप में एक कॉन्फिडेंस बनाना चाहिए ताकि उनका एग्जाम अच्छे से क्लियर हो सके.

13. एग्जाम के दिन

एग्जाम के दिन में विद्यार्थियों को जरा सा भी टेंशन लेने की जरूरत नहीं है अपने आप पर भरोसा कर एग्जाम सेंटर की ओर अपना कदम बढ़ा देना चाहिए.

उस दिन अपने दिमाग में सिर्फ अच्छे विचारों को लाएं और खुद पर विश्वास रखें इससे आपका कॉन्फिडेंस बढ़ेगा और आपके एग्जाम अच्छी जाएगी.

यदि आप कोई टॉपिक को पढ़ना भूल गए हो या कोई टॉपिक में थोड़ी कंफ्यूजन है तो आपको वह टॉपिक को नहीं देखना चाहिए यदि आप उस टॉपिक को देखने गया है तो आप प्राइवेट ऑफिस को भी बोल सकते हैं इसलिए या खास बात ध्यान में रखकर पहला दिन अच्छे से गुजारे.

टॉपर बनने के इच्छुक स्टूडेंट को सबसे पहला दिन ही कॉन्फिडेंस रखकर अपने एग्जाम को देना चाहिए खुद पर भरोसा कर पहले दिन एग्जाम देना चाहिए इससे आपका एग्जाम अच्छे से हो सकेगा.

14. एग्जाम के समय

एग्जाम के समय जब विद्यार्थियों को पेपर मिलता है तो उस समय अपने दिमाग को शांत रख खुद पर विश्वास करके अपने क्वेश्चंस को लगभग 15 मिनट तक देखें उसके द्वारा ज्यादा अंक वाले प्रश्नों को स्टार्टिंग में ही लिखने का प्रयास करें.

क्योंकि अंतिम में टाइम उतना नहीं बचता है इसलिए स्टार्टिंग में ही ज्यादा अंक वाले प्रश्न कंप्लीट हो जाए तो अंतिम में छोटे-छोटे अंकों के प्रश्न कंप्लीट होने में टाइम ज्यादा नहीं लगता है.

इससे आपका एग्जाम अच्छे से हो पाएगा और आपका सारा प्रश्न सॉल्व हो जाएगा इसके साथ आप एग्जाम देने में सक्षम भी हो पाएंगे.

FAQ – अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

टॉपर लोग कैसे पढ़ाई करते हैं?

टॉपर लोग एक टाइम टेबल बनाकर अच्छे ढंग से नियमित रूप से पढाई करते हैं: इसमें निम्नलिखित चीज़े शामिल हैं.
1. हर दिन पढ़ना
2. स्टडी टाइम टेबल बनाना
3. स्मार्ट ढंग से पढाई करना
4. छोटे नोट्स तैयार करना
5. नियमित रूप से रिवीजन करना
6. यूट्यूब वीडियोस से भी टॉपिक को समझना

टॉपर बनने के लिए कितना पढ़ना चाहिए?

अगर आप एक टॉपर बनना चाहते हैं तो प्रतिदिन काम से काम अपनी क्षमता के अनुसार 10 -12 घंटे पढ़ना जरुरी है.

1 महीने में टॉपर कैसे बने?

एक महीने में टॉपर बनने के मतलब है की आपको पुरे साल अपने वर्ग में थोड़ा बहुत पढाई करना और टॉपिक को समझना जरुरी है. ऐसा नहीं है की आप एक सामान्य छात्र हो और एक महीना पढ़कर आप टॉप कर जाएँ.

कम समय में ज्यादा कैसे पढ़े?

कम समय में ज्यादा पढाई करने से आपको कुछ याद नहीं होता इसीलिए जरुरी ये हैं की आपको अच्छे से नींद लेना है और रिवीजन करना है.

निष्कर्ष 

साइंस में टॉपर बनने के लिए एग्जाम के समय खुद पर भरोसा रखना चाहिए और पॉजिटिव थिंकिंग को अपने अंदर लाना चाहिए जिससे आपका एग्जाम अच्छे से हो सकेगा.

हम इस आर्टिकल के माध्यम से 12th साइंस में टॉपर कैसे बने? इससे संबंधित सभी जानकारी शेयर की है.

आशा है आपको सारी टिप्स समझ में आए हो यदि आपको या आर्टिकल पसंद आया हो तो आप अपने दोस्तों में जरूर शेयर करें.

Wasim Akram

वसीम अकरम WTechni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है.

Leave a Comment

×