Refrigerator क्या है और कैसे काम करता है?

फ्रिज (Refrigerator) क्या है (What is Refrigerator in Hindi) कौन नहीं जानता ? हर किसी के घर में फ्रिज जरूर होता है. लेकिन क्या आप जानते हैं की है ये  फ्रिज कैसे काम करता है? कैसे ये खाने वाली चीज़ों जैसे हमारे सब्जियों, फलों और पानी को ठंडा रखता है. कैसे ये कम तापमान बनाये रखता है और सभी को लम्बे समय तक बचाये रखता है. अगर नहीं मालूम तो टेंशन लेने की बात नहीं है क्यों की आप इस पोस्ट के माध्यम से फ्रिज से जुडी हर जानकारी आपको मिल जाएगी। फ्रिज का इस्तेमाल आजकल हर घर में किया जाता है. इसके अलावा आप कहीं भी चले जाए जैसे रेस्टॉरेंट , होटल, जनरल स्टोर हर जगह आप इसका प्रयोग देख सकते हैं. खाने पीने वाली चीज़ों को खासकर इसी में सुरक्षित करने के लिए रखा जाता है.

आज के समय में फ्रिज हमारे लिए महत्वपूर्ण हो चूका है. आप अक्सर cold drink और juice पीने जाते होंगे और shopkeeper से बोलते भी होंगे की भाई cold drink देना अगर वो ठंडा ना  हो तो आप उसे पीते भी नहीं होंगे। आप इसी से समझ गए होंगे की cold drink के लिए फ्रिज का इस्तेमाल कितना जरुरी है. आप पानी तो नार्मल पी लेते होंगे लेकिन cold drink ठंडा ही होना चाहिए। इसके अलावा हम सभी ice cream बहुत पसंद करते हैं. बच्चे क्या और बूढ़े क्या हर कोई icecream के शौक़ीन होते हैं. Ice cream हमेशा ठंडा रहता है तो इसका जवाब भी refrigerator ही है. क्या आपने कभी भी जानने की कोशिश की आखिर ये कैसे काम करता है.कोई बात नहीं हम इस पोस्ट में सभी बातों के बारे जानकारी हासिल करेंगे तो चलिए सबसे पहले ये जान लेते हैं आखिर ये फ्रिज Refrigerator क्या होता है(What is refrigerator in hindi).

फ्रिज (Refrigerator) क्या है – What is refrigerator in hindi

एक फ्रिज Refrigerator लोकप्रिय घरेलु मशीन है जिसमे एक thermal insulated compartment और heat pump होता है जो की फ्रिज के अंदर से heat को external environment में transfer करता है ताकि फ्रिज के अंदर का temperature कमरे के ambient temperature से कम हो जाये. आजकल लगभग सभी देशों में खाना को संरक्षित करने के लिए refrigerator का इस्तेमाल किया जाता है. Refrigerator बैक्टीरिया के प्रजनन दर को कम कर देता है. ऐसा इसीलिए होता है क्यों की बैक्टीरिया कम temperature में प्रजनन नहीं क्र पाते. यानि की जिन कीटाणुओं की वजह से खाना सड़ता है जब वो बढ़ेंगे नहीं तो खाना सड़ेगा नहीं तो इस तरह हमारा खाना फ्रिज में रखने से सड़ता नहीं और इसे हम लम्बे समय तक  रख कर बाद में इस्तेमाल कर सकते हैं.

फ्रिज का तापमान freezing point से थोड़ा ऊपर maintain कर के रखता है. खाने को सुरक्षित रखने के लिए temperature  3-5 डिग्री (37 से 41 डिग्री फारेनहाइट) तक रखा जाता है. कोई भी मशीन जिसका तापमान freezing point से कम रहता हो उसे Freezer बोला जाता है. फ्रिज से पहले भी ठंडा रखने के लिए एक मशीन इस्तेमाल किया जाता था जिसे icebox बोलते थे लेकिन refrigerator ने इसकी जगह ले ली.

अक्सर हमे ये सोचते हैं की पहले लोग क्या करते होंगे जब बिजली नहीं थी. फ्रिज का आविष्कार भी बिजली के आने बाद ही हुआ है. तो उससे पहले लोग कैसे अपने खाने को सुरक्षित थे. तो चलिए इसकी जानकारी भी मैं आपको दे ही देता हूँ. तो दुनिया का जो पहला cooling system वो था बर्फ, जी हाँ खाने को बर्फ के साथ रखा करते थे. ये natural तरीका हुआ करता था. लेकिन पहले मानव निर्मित फ्रिज का इस्तेमाल 1750 ईस्वीं में शुरू किया गया था. चलिए अब जान लेते हैं की आखिर ये फ्रिज काम  की इसके नादर का तापमान बहुत कम हो जाता है.

fridge kya hai what is refrigerator in hindi

ये भी पढ़ें:

फ्रिज(Refrigerator) कैसे काम करता है?

ये तो हमे पता चल चूका है की पुराने समय में भी लोग कुछ techniques का इस्तेमाल कर पानी को ठंडा और खाने को सुरक्षित रखा करते थे लेकिन ये इतना भी आसान नहीं था जितना की हमारे लिए है, ऐसा नहीं था की फ्रिज का दरवाज़ा खोला और ठंडा पानी निकाल कर पी लिया या फिर खाना निकाल के खा लिया. उन्हें पानी तो मिल जाता था लेकिन फ्रिज के जैसा लम्बे समय तक खाने को सुरक्षित रखने के लिए कुछ नहीं था. लेकिन यहाँ पर हम अब ये जानेंगे की आखिर फ्रिज में ऐसा क्या है की इतनी गर्मी होते हुए भी इसके अंदर का मौसम ठंडा होता है जिसमे पानी या खाना ठंडा हो जाता है. तो चलिए अब देखते हैं की आखिर ये फर्ज कैसे काम करता है.

Working Principle of Refrigerator

Refrigerator का working principle  है. इसका मुख्य process है heat को एक area से दूसरे area में transfer कर के हटाना. जब आप कम तापमान वाले liquid को ठंडी रखने वाली object  के पास ले जाते हैं तो उस object का heat liquid में transfer हो जाता है. liquid भाप बनकर उस object के heat को कम कर देता है.

ये आपको जरूर मालूम होगा की जब आप गैस को compress करेंगे तो ये गर्म हो जाता है और जब इसे रिलीज़ करेंगे तो ये ठंडा हो जाता है. चलिए इसे मैं एक उदाहरण देकर आपको समझाता हूँ. आपने बचपन में तो cycle चलायी होगी तो जब आप कभी cycle की टायर में pump से  हवा भरते होंगे तो उस वक़्त वो pump गर्म हो जाता है और जब भी आप परफ्यूम का इस्तेमाल करने के लिए spray करते हैं तो आपने spray की bottle में ये जरूर महसूस किया होगा की spray की bottle ठंडी हो जाती है. इसके अलावा भी aerosole जो की room freshner होते हैं जब भी गैस बहार फैलता है तो वो ठंडा कर देता है क्यों की इसका temperature कम हो जाता है.

गैस के इसी सिद्धांत का इस्तेमाल कर के refrigerator को बनाया जाता है. अब चलिए देखते हैं regrigerator (फ्रिज) के पार्ट्स के बारे में.

Working Process of Refrigerator

Refrigerant जो की liquid state में होता है वो expansion valve से pass होता है और अचानक pressure गिरने की वजह से ठन्डे gas में बदल जाता है. जब यही ठंडा refrigerant gas chiller cabinet में बेहता है तो ये फ्रिज के अंदर रखे खाने और दूसरी चीज़ों का heat absorb कर लेता है. refrigerant जो की अब एक गैस बन चूका है compressor से होकर flow करता है तो इसे compressor खिंच कर compress कर के hot और highpressure gas बना देता है. अब इस गर्म gas को transport कर के condenser coil (thin radiator pipes )में भेज दिया जाता है जो की फ्रिज के पीछे भाग में होता है,जहाँ की coils इस heat को release करने में मदद करते हैं. और ये ठंडा होकर फिर से वापस liquid form में बदलकर काम करना शुरू कर देता है. चूँकि अंदर रखे खाने की चीज़ों का heat इसी condenser के माध्यम से बाहर निकलता है इसीलिए इन condenser को जब आप छुएंगे तो आपको ये गर्म लगेगे.

Liquid condenser से होते हुए वापस expansion valve में चले जाते हैं. जहाँ फिर से इनका pressure कम हो जाता है और ये ठन्डे gas में बदल जाते हैं. ये फिर फ्रिज में रखे खाने की चीज़ों का heat absorb करते हैं और ये cycle ऐसे ही चलता रहता है.

फ्रिज के Parts – Parts of Refrigerator in Hindi

फ्रिज (Refrigerator) बहुत सरे महत्वपूर्ण पार्ट्स से मिलकर बना हुआ होता है. जो की refrigeration के प्रोसेस में प्रमुख काम करते हैं. तो चलिए इनके बारे में भी जान लेते है.

Expansion Valve

इसे flow control device के नाम से भी जाना जाता है. एक expansion valve liquid refrigerant के evaporator तक के  flow को नियंत्रण करने का काम करता है. Liquid refrigerant को हम coolant नाम से भी जानते हैं. Expansion valve वास्तव में  छोटा device होता है और ये बहुत sensitive होता है. ये  refrigerant के temperature  में बदलाव को आसानी से sense कर लेता है.

Compressor

compressor में एक motor लगा हुआ होता है जो refrigerant को evaporator से खींचता है और cylinder के अंदर गर्म high pressure gas बनाने के लिए compress कर के डालता है.

Evaporator

यही वो मुख्य पार्ट है जो वास्तव में फ्रिज के अंदर रखी चीज़ों को ठंडा करता है. इसमें finned tubes होते हैं. ये metals के बने हुए होते हैं जिनकी thermal conductivity बहुत ही high होती है ताकि वो heat transfer को बढ़ा सके. ये coil से निकलने वाले heat को fan के द्वारा blow करने पर absorb कर लेता है. इस तरह evaporator फ्रिज के अन्दर रखे सामान का heat absorb कर लेता है और इस heat की वजह से liquid refrigerant भाप में बदल जाता है.

Condenser

Condenser फ्रिज के पीछे लगा हुआ होता है जो एक तारों की जाली जैसा दिखाई देता है. ये Condenser  coil जैसे बने हुए tubes होते हैं जिनमे बाहर की तरफ fin बानी हुई होती है. ये gaseous refrigerantके heat कोप absorb कर के उससे वातावरण में फैला देता है जिससे gaseous refrigerant को liquify करने में मदद मिलती है. जब refrigerant की heat को हटा दिया जाता है तब इसका temperature कम हो जाता है और condensation टेम्पेरटुरेतक पहुँच जाता है और फिर इसका रूप भाप  का हो जाता है.

Refrigerant

Refrigerant को हम coolant के नाम से भी जानते हैं. ये ऐसा liquid है जो refrigeration cycle को लगातार चलाता रहता है. यह एक बहुत ही ख़ास तरह का डिज़ाइन किया हुआ chemical होता है जो hot gas और cool liquid की अवस्थाओं को बदलने में माहिर होता है.

20वीं शताब्दी में fluorocarbons, खासकर CFC’s ही refrigerant के रूप में उपयोग में लाये जाते थे. लेकिन समय के  जगह पर्यावरण के हिसाब से refrigerant ने जगह ले ली जैसे ammonia, R-290, R-600A etc.

Refrigerator के फायदे – Advantages of Refrigerator

  • फ्रिज में हम खाने को लम्बे समय तक सुरक्षित कर के रख सकते हैं और कीटाणुओं से बचाकर भी रख सकते हैं.
  • कुछ खाने की चीज़ें ऐसी होती हैं जो बाहर के वातावरण में आने से जल्दी ख़राब हो जाते हैं उन्हें भी हम फ्रिज में रख कर कुछ दिनों बाद इस्तेमाल कर सकते हैं.
  • बाहर भले खाना ख़राब न हो लेकिन कीड़े मकोड़े लगने का खतरा होता है लेकिन फ्रिज के अंदर कीड़े मकोड़े से भी खाना को बचाया जाता है.
  • इसमें हम पीने का पानी ठंडा रखते हैं साथ ही cold drinks तो बिना ठंडा किये पीने का कोई फायदा नहीं, इस लिहाज से ये इस में भी बहुत फायदेमंद है हमारे लिए.

Refrigerator के नुक्सान – Disdvantages of Refrigerator

  • फ्रिज को हमे लगातार 24*7 बिजली से लगाकर रखना पड़ता है और इसमें काफी बिजली खर्च होती है. इसीलिए हमे इसमें पैसे खर्च करने पड़ते हैं.

Conclusion

मुझे उम्मीद है की आपको ये पोस्ट फ्रिज(Refrigerator) क्या है What is refrigerator in hindi अच्छी लगी होगी. वैसे तो हम हर रोज़ फ्रिज का इस्तेमाल करते हैं लेकिन इस पर बहुत कम ही ध्यान देते हैं लेकिन सबसे ज्यादा इसकी याद हमे गर्मी के मौसम में आती है  ठन्डे पानी और cold drink की जरुरत होती है. हम अपने घरों में icecream भी बना लेते हैं इसकी मदद से. तो इस तरह ये हमारे बहुत से काम आता है. इसीलिए हमने इस पोस्ट में ये भी जाना की फ्रिज कैसे काम करता है और इसके अलावा ये भी जाना फ्रिज से क्या फायदा और नुक्सान है.

तो दोस्तों आप कमेंट कर के जरूर बताएं की आपको ये पोस्ट कैसी लगी अगर अच्छी लगी हो तो इस पोस्ट को अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को भी जरूर शेयर करें. हो सकता है की वो भी फ्रिज के बारे में जानकारी लेने में interest रखते हों. और इस पोस्ट को सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, twitter , instagram google plus में भी जरूर शेयर करे. इस ब्लॉग से नए पोस्ट के अपडेटलेने के लिए आप email द्वारा newsletter सब्सक्राइब कर लें.

Refrigerator क्या है और कैसे काम करता है?
5 (100%) 2 votes

Leave a Reply

%d bloggers like this: