प्रधानमंत्री मुद्रा योजना क्या है और इसका लोन इंटरेस्ट रेट

भारत में सरकार द्वारा कई योजना शुरू की गई हैं. उन्ही योजनाओं में से एक योजना के बारे में आज बात करेंगे और जानेंगे की प्रधानमंत्री मुद्रा योजना PMMY क्या है (What is PMMY in Hindi). इस के साथ साथ ये भी जानेंगे की मुद्रा लोन क्या है इन हिंदी और प्रधान मंत्री मुद्रा रोज़गार योजना लोन ऑनलाइन कैसे ले सकते हैं? मुद्रा लोन एलिजिबिलिटी क्या है यानि की कौन सी स्थिति में इस लोन को ले सकते हैं और मुद्रा लोन इंटरेस्ट रेट क्या है?

अगर कभी इसके किसी तथ्य को जानना है तो उसके लिए प्रधान मंत्री मुद्रा योजना हेल्पलाइन नंबर भी उपलब्ध है जहाँ पर बात कर के आप अपनी समस्या से समाधान पा सकते हैं उसके बारे में भी आप आगे जान जायेंगे. मुद्रा लोन के लिए जरुरी डाक्यूमेंट्स कौन से हैं (mudra loan documents details in hindi) इसकी जानकारी भी देंगे.

युवा देश के भविष्य होते हैं. प्रगति तभी होती है जब समय के साथ बदलाव होता है. शिक्षित लोगों के पास बहुत सारे आईडिया जिससे वो कुछ नया करने की चाहत रखते हैं. पढाई करने के बाद भी लोग बेरोज़गार होते हैं इसका कारण ये है की देश की आबादी बहुत अधिक होने के कारण रोज़गार की कमी हो जाती है और सभी लोगों को अच्छी शिक्षा होने के बावजूद नौकरी नहीं मिल पाती है.

इसीलिए आज हमने सोचा की आप सभी सरकार द्वारा चलायी जाने वाली एक योजना के बारे में बताया जाए. जिससे आप भी अगर किसी व्यवसाय को पैसे की तंगी की वजह से शुरू नहीं कर पा रहे हैं तो इस योजना का लाभ उठाकर पूरा कर सकते हैं.

लेकिन इसके बारे में पूरी जानकारी का होना भी जरुरी है तभी आप इसके पुरे प्रोसेस को समझ कर इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं तो चलिए आगे बढ़ते हैं और जानते हैं की प्रधानमंत्री मुद्रा योजना PMMY क्या होता है(What is PMMY in Hindi), मुद्रा लोन क्या है और कैसे ले (Mudra loan in Hindi) एवं इस लोन का इंटरेस्ट क्या है.

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना PMMY क्या है – What is PMMY in Hindi?

pradhan mantri mudra yoajana kya hai hindi

भारत के माननीय प्रधानमंत्री ने प्रधान मंत्री मुद्रा योजना (PMMY) की शुरुआत 8 अप्रैल 2015 को किया. इस योजना की शुरुआत करने का उद्देश्य Non -Corporate, Non-farm लघु या छोटे उद्योगों को बढ़ावा देना था जिसके लिए जिसके लिए 10 लक्ष तक का ऋण ले सकते हैं.

इस तरह के लोन को PMMY के तहत मुद्रा लोन की केटेगरी में रखा गया है. इस तरह के लोन कमर्शियल बैंक, आरआरबी, स्माल फाइनेंस बैंक, कोआपरेटिव बैंक द्वारा प्रदान किये जाते हैं. जिसे भी मुद्रा लोन की जरुरत है और लेना चाहते हैं तो ऊपर दिए गए किसी भी बैंक में जाकर इन संस्थानों में संपर्क कर सकते हैं.

इस स्कीम को पूरी तरह से लागू करने के लिए सरकार ने संस्था का गठन किया है जिसका नाम ही रखा गया है MUDRA (Micro Units Development & Refinery Agency Ltd.).

इसका काम ये है की छोटे यूनिट में विकास हो और प्रगति के लिए किये जाने वाला हर पुनर्वित गतिविधि वहां भी पहुंचे. 

PMMY  के तहत जो भी बैंक छोटे बिज़नेस लोन के Refinance के लिए मांग करते हैं उन्हें PMMY refinance की सुविधा देती है. इस तरह आप समझ सकते हैं की MUDRA सभी तरह के Last mile financiers को refinance करती है.

इन में सहकारी समितियां, सोसाइटी, ट्रस्ट, सेक्शन 8 कंपनियां, कोआपरेटिव सोसाइटी, छोटे बैंक, अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक, और ग्रामीण बैंक शामिल है जो उत्पादन,व्यापर, और सेवाएं देने वाले छोटे व्यवसायी को उधार पैसे देते हैं.

आप अगर छोटा मोटा व्यापार या बिज़नेस के लिए सोच रहे हैं और शुरू कर के अपनी कमाई करना चाहते हैं लेकिन आपके पास इसके लिए पैसे नहीं है तो ये एक सुनहरा मौका है आपके लिए जिसके जरिये आप प्रधानमंत्री द्वारा दिए जा रहे मुद्रा योजना के तहत आवेदन कर के 50 हज़ार से 10 लाख रूपये तक का लोन ले सकते हैं. 

इस तरह उन  मिले हुए पैसों का उपयोग कर के खुद का बिज़नेस शुरू कर सकते हैं. 

लेकिन अब यहाँ सवाल ये उठता है की मुद्रा योजना के तहत लोन किस को दिया जाएगा ? क्या हर व्यक्ति इस लोन को लेने योग्य है या फिर योग्यता के आधार पर ही लोन देने की सुविधा राखी गयी है. तो चलिए अब जान लेते हैं की इस योजना का लाभ उठाने के लिए क्या शर्ते हैं.

मुद्रा योजना लोन किसे मिलेगा या कौन ले सकता है – Mudra Loan Eligibilty

जो भी बैंक मुद्रा लोन देते हैं वो लोन देने के पहले अपने उम्मीदवार को बहुत ध्यान से चुनते हैं. बैंक वैसे बिज़नेस के लिए ही लोन को स्वीकार करते हैं जिन में उन्हें विकास दिखाई देता है और जो भविष्य में दूसरों को रोज़गार के मौके भी दे सकता हो.

अगर सच में कहा जाये तो मुद्रा लोन की शुरुआत  पीछे का मुख्य लक्ष्य था छोटे पैमाने पर व्यवसाय करने वाले व्यापारियों को अच्छी तरह से वित्तीय सहायता देना.

ये सरकार द्वारा चलायी गई ऐसी योजना है जो ये सुनिश्चित करता है की कोई भी छोटा बिजनेसमैन प्राइवेट नेटवर्क या फिर प्राइवेट लोन एजेंसी के चक्कर में ना फंसे जहाँ उनसे अतिरिक्त शुल्क वसूला जाता है और बहुत तरह के बेकार नियम लहगाते हैं.

ये योजना छोटे व्यवसायी करने वाले मालिकों को कम ब्याज दर पर आसानी से संस्थानों से लोन देने की सुविधा देता है जो जो सरकार से मान्यता प्राप्त हैं. इस योजना के तहत एक बड़ा फायदा ये है की जो व्यक्ति उद्धार लेता है उसे गारंटी के लिए किसी व्यक्ति या थर्ड पार्टी की जरुरत नहीं है. 

इस तरह से MSME सेक्टर को स्ट्रांग करेगी जो की GDP growth को बढ़ाने में भी मदद करता है. और साथ ही ये पुरे भारत में रोज़गार के अवसाए भी देने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी.

यहाँ हम कुछ परिस्थितियों के बारे में बात करेंगे के जिसके होने पर ही मुद्रा लोन लिया जा सकता है.

Activities:

PMMY ने इसके लिए Activities की एक अच्छी खासी बड़ी लम्बी लिस्ट दे रखी है जो की मुद्रा लोन के लिए जरुरी है इस क्षेत्र में छोटे बिज़नेस ही इस के जरुरी eligibility को पूरा करते हैं.

सेक्टरमुद्रा लोन के अंतर्गत क्रियाएं
खेतीखेती से जुड़े काम जैसे फसल, पॉल्ट्री फार्म, मछली पालन, डेरी फार्म इत्यादि शुरू करना है, स्थापित करना है या फिर फैलाना है.
फ़ूडजैम और जेली, पापड, बिस्किट और ब्रेड बनाने, फल और सब्जी बेचने आदि में इस्तेमाल होने वाले मशीनरी की खरीदी करनी हो या फिर इनका व्यवसाय करना है.
सेवाबुटीक, केमिस्ट की दूकान, सलून, ड्राई क्लीनिंग, फोटोकॉपी की सुविधा, आदि स्थापना करना हो.
टेक्सटाइलकारीगर जो जारी का काम, कढ़ाई, चिकन का काम, बुनाई आदि का व्यवसाय शुरू करना या उस को फैलाना चाहते हैं.
ट्रांसपोर्टसामान या यात्रियों के सफर के लिए वाहनो की खरीदी जैसे की ई-रिक्शा, छोटे माल परिवहन, वाहन, ऑटोरिक्शा ताज़ी आदि खरीदना हो.

Loan:

बिज़नेस करने के लिए व्यवसाय का मालिक अधिक से अधिक 10 लाख रूपये इस योजना के तहत प्राप्त करने के लिए आवेदन कर सकता हैं.

एक छोटा बिज़नेस शुरू करने के लिए 50 हज़ार की राशि के लिए आवेदन किया जा सकता है. कोई पहले चल रहे छोटे व्यवसाय को स्थापित करने के लिए 50000 से 5 लाख तक का लोन का आवेदन कर सकते हैं.

जबकि एक स्थापित कंपनी खुद को फैलाने के लिए पूंजी की जरुरत होती है वो 5 लाख से 10 लाख की राशि के लिए आवेदन कर सकते हैं. कोई भी व्यवसाय जो इस लोन को लेने की तमाम शर्तें पूरी करता हो फिर भी 10 लाख से ज्यादा की राशि के लिए आवेदन नहीं कर सकते हैं.

Phase:

पहले स्थापित बिज़नेस की तुलना में एक शुरूआती बिज़नेस की फंडिंग की राशि अलग अलग होती है. यही वजह है की बिज़नेस फेज एक मुद्रा लोन लेने वाली कंपनी के लिए काफी है.

एक स्टार्टअप बिज़नेस के लिए शिशु लोन का ही आवेदन किया जा सकता है और वो इस के तहत ही राशि प्राप्त करेगा लेकिन इससे पहले  भी उधार लेने वाले इंसान को अपने बिज़नेस के बारे में पूरा प्लान देना है जो मुद्रा लोन के नियम और शर्तों को पूरा करता हो तभी वो लोन की राशि को प्राप्त कर सकता है.

इसी प्रकार किशोर लोन के आवेदन करने के लिए कंपनी के वर्तमान स्थिति को दर्शाने वाले दस्तावेजों को दिखाना होगा.  इस के तहत दस्तवेज इसकी eligibility criteria बैंक के सामने रखती है क्यूंकि बैंक ऋण पास करने के पहले बिज़नेस के संभावनाओं को सुनिश्चित करना चाहती है.

मुद्रा लोन के प्रकार

शिशु लोन

इस योजना के अंतर्गत ये सबसे छोटी केटेगरी का लोन है और ये छोटे स्टार्टअप के लिए सबसे बेहतर है. एक माइक्रो बिज़नेस करने वाला व्यापारी 50000 तक की राशि के लिए आवेदन कर सकता है.

MSME सेक्टर में शिशु लोन छोटे व्यापारी के लिए बिज़नेस की शुरुआत करने के लिए छोटी पूंजी प्रदान करता है. एक व्यापारी जो इसके आवेदन के लिए प्लान कर चूका है उसे आवेदन फॉर्म के साथ बिज़नेस प्लान को भी बैंक के सामने रखना होगा.

किशोर लोन 

मुद्रा लोन की किशोर कटेगोरी उन छोटे व्यवसाय मालिकों के लिए बहुत बढ़िया है जिनका पहले से ही बिज़नेस चल  रहा है और वो इसे एक बड़े बिज़नेस के रूप में स्थापित करना चाहते हैं  की जरुरत है.

बिज़नेस करने वाले व्यवसायी इस के तहत 50000 से लेकर 5 लाख ताकि की राशि के लिए आवेदन कर सकते हैं.

उधार लेने वाले व्यवसायी को इसके लिए आवेदन फॉर्म भरना होता है और चल रहे बिज़नेस की वर्तमान स्थिति को बताने वाले जरुरी डाक्यूमेंट्स को भी देना होता है जिससे पता चल सके की इसकी नियम के मुताबिक़ बिज़नेस लोन लेने के काबिल है या नहीं.

तरुण लोन

तरुण लोन उन बिज़नेस के लिए बेहतर है जो अपने पहले से स्थापित बिज़नेस को और फैलाना और बड़ा करना चाहते हैं जिसके लिए पूंजी की आवशयकता है और जिन्हे माइक्रो यूनिट्स के लिए पैसे की जरुरत होती है.

व्यवसाय के मालिक अपने बिज़नेस के लिए 5 लाख से 10 लाख तक की राशि के लिए आवेदन कर सकते हैं. इसके लिए बिज़नेसमैन को आईडी प्रमाण पत्र और बिज़नेस अपडेट दिखने के लिए जरुरी डाक्यूमेंट्स देना जरुरी जिससे ये पता चल सके की ये इस लोन को लेने के काबिल है.

मुद्रा लोन इंटरेस्ट रेट

मुद्रा लोन के हर केटेगरी के लिए इसकी राशि फिक्स की गई है. इसके हर केटेगरी में लोन अमाउंट के अनुसार हर बैंक की इंटरेस्ट रेट में थोड़ा थोड़ा वेरिएशन होता है. शिशु, किशोर और तरुण लोन की इंटरेस्ट दर 10-12%, 14-17% और 16% से राशि बढ़ती है.

मुद्रा लोन प्रकारलोन की राशिइंटरेस्ट रेट
शिशु लोन50000 रू तक10-12%
किशोर लोन50000 रू – 5 लाख रु तक14-17%
तरुण लोन5 लाख से लाख रू तक16% +

मुद्रा कार्ड क्या है?

ये एक तरह का डेबिट/क्रेडिट कार्ड ही होता है जो मुद्रा लोन अकाउंट के अगेंस्ट ही इशू किया जाता है और जो लोन के कार्यशील पूंजी हिस्से के लिए होता है. ये एक इनोवेटिव उत्पाद है जो कार्यशील पूंजी को कैश मैनेजमेंट के रूप में देने की सुविधा प्रदान करती है. मुद्रा कार्ड का इस्तेमाल देश के किसी भी हिस्से में स्थित एटीएम से पैसे निकालने  इस्तेमाल किया जा सकता है और किसी भी point of sale मशीन के द्वारा पैमेंट करने के इस्तेमाल किया जाट सकता है.

मुद्रा योजना टोल फ्री नंबर – Mudra Yojana Toll Free Helpline Number

S.Noराष्ट्रीय टोल फ्री नंबर
11800 180 11 11
21800 11 0001

मुद्रा लोन के लिए डाक्यूमेंट्स

  • जाति प्रमाण पत्र
  • बिजनेस का लाइसेंस
  • कोटेशन – सामान या मशीन के लिए
  • मशीन या सामान की डिटेल

मुद्रा लोन के फायदे – Benefit of Mudra Loan in hindi

  • इस योजना के लिए कोई भी minimum लोन राशि नहीं है.
  • इस योजना का लाभ उठाने वाले व्यापारी को बैंक के सामने किसी तरह की गारंटी देने की जरुरत नहीं है.
  • मुद्रा लोन के लिए किसी तरह का प्रोसेसिंग चार्ज नहीं लगता है.
  • सभी गैर खेती व्यापर  यानि की छोटी कंपनियां इस योजना का लाभ उठा सकते हैं.
  • इससे मिलने वाली राशि का उपयोग बहुत सारे कामों के लिए किया जा सकता है. किसी भी fund या non-fund पर आधारित जरूरतों को पूरा करने के लिए PMMY से मिलने वाली राशि को बढ़ाया जा सकता है.

मुद्रा लोन से जुड़े पूछे जाने वाले सवाल

मैं मुद्रा लोन के लिए कैसे अप्लाई करूँ?

मुद्रा लोन के आवेदन का बहुत ही साधारण तरीका है लेकिन हर बैंक के लिए इस में कुछ डिफरेंस हो सकता है. आपको ये जानना जरुरी है सभी बैंक मुद्रा लोन नहीं देते बल्कि आपको इसके पहले ये चेक करना होगा की कौन से नज़दीकी  बैंक मुद्रा लोन की सुविधा प्रदान करते हैं. आप वहां पर जाकर संपर्क करें.
जब आप अपने नज़दीकी मुद्रा लोन की सुविधा देने वाले बैंक को ढूंढ लें तो सबसे पहले उनके आवेदन प्रक्रिया के बारे में जानकारी हासिल कर लें और उनकी शर्तों को समझ लें उसके बाद ही आवेदन पात्र को भरें.

कौन कौन से बैंक मुद्रा लोन की सुविधा देते हैं?

अभी वर्तमान में कुल 27 पब्लिक सेक्टर बैंक के अंतर्गत आने वाले 98 से अधिक फाइनेंसियल संस्थान इसकी सुविधा देते हैं. इसके अलावा 27 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक, 17 निजी क्षेत्र के बैंक, 2 विदेशी बैंक, और 25 माइक्रो फाइनेंसियल संसथान इस में शामिल हैं जो व्यवसाय के लिए मुद्रा लोन प्रदान करती है.
इसके लिए आपको अपने मनज़दीकी बैंक में जाकर ये पता लगाना होगा की वो इस योजना के अंतर्गत मान्यताप्राप्त हैं या नहीं.

क्या मुद्रा लोन लेने के लिए उसी बैंक में अकाउंट होना जरुरी है?

नहीं, कोई जरुरी नहीं है की आप जिस बैंक से मुद्रा लोन लेना चाहते हैं उस में बैंक अकाउंट हो. जबकि अगर आपका एक बैंक में अकाउंट है और उसी में मुद्रा लोन के लिए अप्लाई करते हैं तो इसके अप्रूवल होने और मिलने की सम्भावना बढ़ जाती है.

मैं एक बिज़नेस शुरू करना चाहता हूँ, मुझे कौन से मुद्रा लोन के लिए अप्लाई करना चाहिए?

अगर आप नया बिज़नेस शुरू कर रहे हैं तो आपके लिए शिशु लोन सबसे बढ़िया है. इसके लिए आपको लोन के लिए अपने बिज़नेस का प्लान समझाना होगा और एप्लीकेशन फॉर्म भी भरना होगा साथ ही नियम और शर्तों को पूरा करने के लिए जरुरी डॉक्यूमेंट भी जमा करना होगा.

मुद्रा लोन अप्लाई करने के लिए कौन से डॉक्यूमेंट की जरुरत पड़ती है?

आप को अपने नज़दीकी बैंक में जाना होगा और वहां के प्रक्रिया को वहां से पूछना होगा और आपको वहां से एप्लीकेशन फॉर्म प्राप्त करना होगा. यहाँ हम आपको इस लोन के लिए जो डॉक्यूमेंट लगते हैं उसकी लिस्ट दे रहे हैं.

उधार लेने वाले के पहचान प्रमाण पत्र
उधार लेने वाले का पता का प्रमाण पत्र
जाति प्रमाण पत्र
अगर उपलब्ध हो तो व्यापार का प्रमाण पत्र, एड्रेस प्रूफ, और लाइसेंस
व्यापार के लिए ख़रीदे जाने वाले आइटम का क्वोटेशन
हाल में खींचे हुए 2 पासपोर्ट साइज के फोटो

मुद्रा कार्ड क्या है?

जब आपको मुद्रा लोन का आवेदन अप्प्रूव हो जाता है तो आपको एक डेबिट कार्ड मिलता है जिसे मुद्रा कार्ड के नाम से जाना जाता है. मुद्रा कार्ड को मुद्रा लोन कार्ड भी बोलते हैं.
ये बिलकुल क्रेडिट कार्ड की तरह ही काम करता है जिसमे की एक लिमिट दे दिया जाता है की आप लोन अमाउंट का 10% ही इस्तेमाल किया जाता है. कुछ बैंक ऐसे भी मुद्रा कार्ड इशू करते हैं जिसका इस्तेमाल कर के एटीएम से पैसे भी निकाल सकते हैं. एक दिन में अधिकतम 25,000 रू तक की राशि निकाल सकते हैं.

संक्षेप में

मुद्रा लोन इंटरेस्ट रेट क्या है ये एक ऐसा तथ्य है जसिएक बारे में जानना बहुत जरुरी है. आज की इस पोस्ट में हमने इस लोन के लेने के बाद जो कार्ड मिलता है उसके बारे में भी चर्चा की है जिसे लोग मुद्रा कार्ड कहते हैं.

आज की इस पोस्ट में आपने जाना की प्रधानमंत्री मुद्रा योजना PMMY क्या है (What is PMMY in Hindi). इसके साथ ही हमने ये भी बात किया की इस लोन को लेने के लिए क्या क्राइटेरिया है और इसे कैसे ले सकते हैं यानि की मुद्रा लोन एलिजिबिलिटी क्या है. इस के लिए जरुरी डाक्यूमेंट्स कौन से लगते हैं (mudra loan documents details in hindi). 

Pradhan mantri mudra yojana in hindi के अलावा मुद्रा लोन के प्रकार क्या है (types of mudra loan in hindi) ये भी आप अच्छे से समझ चुके हैं.

हमने यहाँ ये भी बताया की जब हम किसी बैंक से लोन लेने के लिए जाते हैं तो उसके पहले हमे ये पता लगा लेना होता है की ये इसके लिए मान्यता प्राप्त है या नहीं और वो कौन से बैंक है जाना से इसके लिए आवेदन कर सकते हैं.

दोस्तों आपको ये पोस्ट कैसी लगी उम्मीद करता हूँ की ये जानकारी आपको अच्छी लगी होगी और अगर अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप्प में अधिक से अधिक शेयर करें.

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here