पढाई कैसे करे – पढाई में मन लगाने के तरीके

क्या आप एक स्टूडेंट है या फिर एक अभिभावक हैं जो अपने बच्चे के लिए परेशान हैं जो ठीक से पढ़ाई नहीं कर पाते? आखिर पढ़ाई कैसे करें (How to study tips) जिससे कि मन लगे और बच्चे को इसमें इंटरेस्ट भी पैदा हो. क्योंकि जिस काम में मन नहीं लगता वह काम ठीक से नहीं हो पाता है. पढ़ाई हर इंसान की जिंदगी के लिए बहुत ही जरूरी है. अब यह इतना जरूरी है तो इसको पूरा करने के लिए मन तो लगाना पड़ेगा ना. इसलिए इस पोस्ट में हम आपको पढ़ाई में मन लगाने के टिप्स बताने जा रहे हैं जिससे आपकी परेशानी खत्म हो जाएगी और आप मन लगाकर पढ़ सकेंगे. एक बार जब आप अपने पढ़ाई के रिदम को बना लेते हैं तो फिर आपको इसमें मजा भी आता है और नए-नए टॉपिक पढ़ने में रुचि भी बढ़ती है.

शुरुआत में तो बच्चे जब स्कूल को जाते हैं तो वहां के माहौल में ढलने में भी समय लगता है. लेकिन जिन बच्चों को स्कूल में मन लगता है उन्हें छुट्टियों में घर में भी अच्छा नहीं लगता. तो यह बात होती है आदत की और घर में जब पढ़ाई करते हैं चाहे पूरे साल के लिए हो या फिर एग्जाम की तैयारी करनी हो, तो इसके लिए भी पढ़ने की आदत डालनी जरूरी है. इसीलिए हम आपको स्टडी कैसे करे टिप्स इन हिंदी इस आर्टिकल में आगे बताएंगे जिसे फॉलो करके आप अपने हर विषय की पढ़ाई करने में मन लगा सकते हैं और बहुत ही प्रभावी ढंग से पढ़ाई कर सकते हैं जिसका आपको रिजल्ट आपके एग्जाम में जरूर नजर आएगा.

आज के दौर में पढ़ाई कितना जरूरी है यह हर कोई जानता है. अगर आप एक सफल इंसान बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अच्छे से पढ़ाई करनी होगी. तब जाकर आपको किसी यूनिवर्सिटी से आपके मनपसंद कोर्स की डिग्री मिलती है. फिर आप अपनी मर्जी के अनुसार या तो बिजनेस करते हैं या फिर जॉब करते हैं और इस तरह से सफलता आपके कदम चूमती है. एक अच्छी जिंदगी के लिए लोगों को काफी मेहनत करनी पड़ती है. स्कूल या फिर कॉलेज में पढ़ने वाले बच्चे को दांत की जिंदगी में आने वाली कठिनाइयों के बारे में अंदाजा नहीं होता है. गार्जियंस को पता होता है कि एक आरामदायक जिंदगी के लिए मेहनत करने का सही वक्त कौन सा है. इसीलिए वह अपने बच्चों को हर वक्त पढ़ाई करने की सलाह देते हैं और अपने कोर्स पर ध्यान लगाने को बोलते हैं. तो चलिए हम इस पोस्ट के माध्यम से जानते हैं कि पढ़ाई करने का फार्मूला क्या है.

पढाई कैसे करे – How to study tips

padhai kaise kare

अक्सर हम और आप कई बार यह अनुभव कर चुके हैं कि जब हम पढ़ाई करने के लिए बैठते हैं तो थोड़ी ही देर में हमारा मन ऊब जाता है और फिर पढ़ाई में मन नहीं लगता. इस स्थिति में हम पढ़ाई करने के लिए अपने स्टडी टेबल में बैठे तो रहते हैं लेकिन जो भी पढ़ते हैं वह हमारे दिमाग के ऊपर से बाउंस होता चला जाता है अंदर कुछ भी नहीं जाता. यह स्थिति सिर्फ एक बच्चे या दो बच्चे की नहीं है. इस तरह की स्थिति लगभग हर बच्चे के साथ होती ही है. तो इस स्थिति को पार पाने के लिए एक प्लानिंग के तहत पढ़ाई करना जरूरी है जिससे हम अपने दिमाग को तरोताजा रख सके और जब भी पढ़ने बैठे हैं तो कुछ सीख कर ही उठे या फिर अपने टास्क को पूरा करके ही उठे.

हम यहां पर आपके लिए पढ़ाई करने के 10 बेहतरीन टिप्स लेकर आए हैं. अगर आप इन टिप्स को फॉलो करते हैं तो बेशक आपको पढ़ाई में मन भी लगेगा और आपको इसमें रुचि भी बढ़ती चली जाएगी. जो हमेशा आपके भविष्य को सुधारने में मदद करेगी.

10 बेहतरीन पढ़ाई कैसे करें टिप्स इन हिंदी

हम यहां पर आपको पढ़ाई करने के 10 बेहतरीन टिप्स बताने जा रहे हैं जो हर स्टूडेंट के लिए काम करते हैं. आप भी नीचे बताए गए  तरीकों को फॉलो करें और देखें कि आपके लिए फायदेमंद साबित होता है या नहीं.

1. पढ़ाई के लिए टाइम टेबल बनाएं

जब आपका एग्जाम होता है तो आपको एक्जाम का टाइम टेबल मिलता होगा. यानी कि कौन से दिन यह कौन सी तारीख को कौन से विषय की परीक्षा है. यहां पर भी एक टाइम टेबल को फॉलो किया जाता है जिससे स्कूल या कॉलेज के सारे स्टूडेंट्स और टीचर फॉलो करते हैं.

इसी तरह पढ़ाई करने के लिए भी एक टाइम टेबल का बनाना जरूरी है. जिसमें आप हर विषय को उसके अनुसार टाइम दे सके. अच्छा टाइम टेबल कैसे बनाते हैं अगर आपको यह मालूम नहीं है तो यहां से आप पढ़ सकते हैं इसके बारे में हमने पहले ही एक आर्टिकल लिख चुका है. जिस पर हम ने बताया है कि कैसे आप दिन भर के रूटीन बना सकते हैं और फिर उसे फॉलो करके आप एक तरह से उसे आदत बना लेते हैं. जिसमें आप टाइम मैनेजमेंट करना सीखते हैं. यह आपके जीवन में हमेशा काम आता है.

अपने टाइम टेबल बनाने में इन बातों को फॉलो करें

  • सुबह उठने का वक्त डिसाइड करें और उसके अनुसार अलार्म लगा ले.
  • अपना कुछ समय मेडिटेशन में दें इससे आपकी एकाग्रता बढ़ेगी.
  • पढ़ाई करने के वक्त को डिसाइड करें और उनके बीच में छोटे-छोटे ब्रेक लेने के समय को भी रूटीन में डालें.
  • हार्ड विषय के बाद दूसरा कठिन विषय ना पढ़े बल्कि एक आसान सब्जेक्ट को पढ़ें.
  • शुरुआत के दिनों में ज्यादा से ज्यादा 2 घंटे की पढ़ाई करें. वक्त बीतने के साथ अपने पढ़ाई के टाइम को भी बढ़ाते जाए पढ़ाई के समय को भी बढ़ाते जाए.
  • जो विषय आपको हार्ड लगते हैं उन पर थोड़ा ज्यादा समय दें और जो आसान सब्जेक्ट है उन पर कम समय दें.
  • हर दिन रिवीजन के लिए कम से कम 1 घंटे का समय दें.
  • हर दिन खेलकूद के लिए भी समय निर्धारित कर ले.
  • रोजाना समय पर हर वक्त खाना खाए और अपनी सेहत पर ध्यान दें क्योंकि पढ़ाई करने में सेहत का अच्छा होना भी जरूरी है.

2. पढ़ाई के लिए एक अच्छी जगह का चुनाव करें

हर किसी के पास अपना आइडिया होता है कि उसके लिए बेहतर जगह कौनसी है जहां से वह पढ़ाई कर सकें. यह आपका बैडरूम हो सकता है या फिर आप की लाइब्रेरी. एक अच्छे जगह की जरूरत अब तो हमेशा होती है जहां पर किसी का आना जाना ना होता हो. इसके साथ ही उस जगह पर शोरगुल सुनाई ना देता हो. एक शांत जगह आपकी एकाग्रता को मजबूत बनाने में मदद करती है जिससे आपकी पढ़ाई के स्तर को भी बढ़ाने में फायदा होता है.

3. अच्छे लाइट का इंतजाम करें

आप जिस जगह पढ़ रहे हो वहां पर पर्याप्त मात्रा में रोशनी जरूर आनी चाहिए. चाहे दिन का समय हो या फिर रात का समय है आपके पास रोशनी के लिए अच्छे इंतजाम का होना जरूरी है. जिससे आपके पढ़ाई के रिदम को डिस्टरबेंस भी ना हो और आप लगातार पढ़ाई कर सकें और अपने लिए गए टास्क को पूरा कर सकें.

4. हर दिन पढ़ाई करें

ऐसा देखा जाता है कि कुछ बच्चे पढ़ाई को लेकर बहुत उत्साहित तो होते हैं लेकिन यह सिर्फ शुरुआत में होता है. कुछ दिनों बाद उन्हें पढ़ाई में बोर फील होने लगता है और धीरे-धीरे वह कम पढ़ाई करने लगते हैं और इसके बाद घर में बिल्कुल नहीं पढ़ते. यह काफी चिंता का विषय है. हमें पूरे 1 साल की पढ़ाई करनी होती है जो हम 1 महीने या फिर 1 दिन में नहीं कर सकते हैं इसके लिए हमें पूरा साल चाहिए होता है. ताकि एक एक टॉपिक को हम सही तरीके से पढ़ सके और इसे समझ सके.

जिस तरह इंसान के शरीर को हर दिन तीन वक्त का खाना जरूरी होता है जिससे कि शरीर में एनर्जी जाए और हम अपने कामों को कर सके. क्या हम 1 महीने या फिर 1 साल का खाना एक दिन में खा सकते हैं? आपका जवाब होगा नहीं. तो फिर आप ही बताइए कि 1 साल के कोर्स को हम 1 महीने में कैसे पूरा कर सकते हैं. इतनी पढ़ाई हमारे लिए डाइजेस्ट करना मुश्किल है. इसीलिए शुरुआत से हर दिन थोड़ी थोड़ी पढ़ाई करें. अपने कहावत तो जरूर सुनी होगी कि बूंद बूंद से घड़ा भरता है. अगर आप यह समझ गए तो आप भी समझ जाएंगे कि हर दिन की पढ़ाई कितनी महत्वपूर्ण है.

5. पढ़ाई करते वक्त छोटे नोट्स तैयार करें

जब आप पढ़ाई करने बैठे तो पढ़ाई की जाने वाले टॉपिक के इंपॉर्टेंट पॉइंट को नोट करते जाएं. यह काम अपने हर विषय में करें जिससे आपका एक शॉर्ट नोट तैयार हो जाएगा. यह आपको एग्जामिनेशन के टाइम काफी मदद कर सकता है. जब आप किसी लंबे टॉपिक को पढ़ते हैं तो उसमें बहुत सारे लाइन लिखे हुए होते हैं. इनको हूबहू हम रट कर याद नहीं कर सकते हैं. इसीलिए जो शब्द हमें इंपॉर्टेंट लगता है उसे हम अपने शॉर्ट नोट बुक में लिख लेते हैं. इससे क्या होता है कि हम उस लाइन को एक बार पढ़ कर समझ लेते हैं और बस उस शब्द को याद रखते हैं. तो जब भी हमें वह शब्द दिखाई देगा तो वह लाइन हमें अपने आप याद आ जाएगी जो हमने इसके जरिए समझा था.

बड़े टॉपिक को पॉइंट के रूप में लिखना यह बहुत ही कारगर टेक्निक है. इसका सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि रिवीजन करते वक्त हमें शॉर्ट नोट जो हमने अलग से बना कर रखा है यह देखना होता है और हमें पूरी टॉपिक याद आ जाती है. इससे बेहतर करने के लिए हम उस टॉपिक को एक बार रिवाइज करके पूरी दोहरा लेते हैं जिससे कि यह टॉपिक हमारा कंप्लीट रूप से तैयार हो जाता है.

6. अपने पढ़ाई वाली जगह को स्टडी रफ्रेंडली बनाएं

आप जिस जगह में पढ़ाई करते हो वहां पर पढ़ाई करने के लिए जरूरी सभी चीजों को ध्यान में रखें. आप दीवार पर एक घड़ी लगाएं जिससे कि आप को समय देखने में परेशानी ना हो. पढ़ने वाली जगह पर आप एक कैलेंडर जरूर लगाएं. आप एक बड़े से चार्ट में रोज के एक्टिविटीज के लिए ब्लॉक बना ले. जिस भी टॉपिक को पढ़ें इसे वहां पर लिख दे. इन सभी चीजों को आप अपने टेबल के सामने वाले दीवार पर ही दाएं और बाएं साइड में लगाएं जिसे आप बैठे बैठे देख सकें या फिर उस पर लिख सकें.

इसके अलावा आप गणित के फार्मूले एक बड़े से सीट पर लिखकर उसे भी दीवार पर चिपका दें. इसे लिखने के लिए आप कलर पेन का इस्तेमाल करें और थोड़े बड़े-बड़े अक्षरों के साथ लिखें कि आपको दूर से ही साफ-साफ सारे फार्मूले नजर आ जाए. आप इंटरनेट में जाकर गूगल पर कंसंट्रेशन सीट सर्च करें और फिर उसे कलर प्रिंट निकाल कर अपने स्टडी रूम में लगाएं. इसे हर दिन 10-15 देखें इससे आपकी एकाग्रता बहुत अच्छी हो जाएगी.

7. हर दिन रिवीजन करें

हम जो भी पढ़ाई करते हैं उसे याद रखना बहुत जरूरी है. अक्सर स्टूडेंट के साथ होता ही है कि आज वह जो चीज पढ़ते हैं उसे अगले दिन ही भूल जाते हैं लंबे समय की तो बात छोड़ ही दीजिए. ऐसा भी नहीं है कि हम आज पढ़ते हैं और कल एग्जाम देना होता है. बल्कि हमें पूरे साल जो पढ़ाई करनी होती है उसका एग्जाम देना होता है. इसीलिए हमें सभी विषयों के हर टॉपिक को तैयार करके एग्जाम लिखना होता है. यहीं पर सबसे महत्वपूर्ण चीज जो है वह है रिवीजन करना.

किसी भी पढ़े हुए टॉपिक को रिवाइज करने का यह फायदा है की वह टॉपिक हमें बहुत अच्छे से याद भी हो जाता है और लंबे समय के लिए याद भी रहता है. आज जो भी आप टॉपिक पढ़ रहे हैं उसे 24 घंटे के बाद एक बार जरूर रिवाइज कर ले. इसके बाद इसी टॉपिक को 1 हफ्ते के बाद रिवाइज करें. आप देखेंगे कि यह टॉपिक आपको हमेशा के लिए याद हो जाएगा. तो रिवीजन करने का सबसे अच्छा तरीका यही है कि आप अपने टाइम टेबल में हर दिन 1 घंटा सभी विषयों के टॉपिक को रिवीजन करें. यानी कि आपने कल जो पढ़ा था उसे आज जरूर देख ले जिससे आपकी मेमोरी फ्रेश हो जाएगी.

8. पढ़ाई करने के लिए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करें

आज के समय में चाहे कोई बुढ़ा हो या बच्चा हो सभी स्मार्टफोन का इस्तेमाल करते हैं. अगर आप से कोई कह दे कि आप स्मार्टफोन का इस्तेमाल ना करें और बस किताबों की पढ़ाई करें और स्कूल के सिलेबस पर ध्यान दें. फिर उस बच्चे के लिए यह तो बहुत मुश्किल होने वाला है. समय के साथ पढ़ने के तरीके को भी बदलना जरूरी है. आप यह तो जरूर जानते होंगे कि आजकल स्कूल और कॉलेजों में भी टेक्नोलॉजी की मदद से पढ़ाया जाता है यानी कि लेक्चर वगैरह प्रोजेक्टर की मदद से स्क्रीन के माध्यम से दिया जाता है. इस तरह से पढ़ाई गए टॉपिक याद करने आसान हो जाते हैं क्योंकि यह विजुअल के साथ दिखाए जाते हैं.

जिस तरह एक कमजोर से कमजोर बच्चा भी किसी फिल्म को देखकर उसके डायलॉग और उसकी कहानी को एक बार में आसानी से याद कर लेता है उसी तरीके से अगर आप किसी टॉपिक की वीडियो को उसे दिखाएं तो उसे वह टॉपिक किताब की तुलना में अधिक आसानी से समझ में आ जाएगी. अगर आप भी उन बच्चों में से एक हैं जिन्हें जल्दी याद नहीं होता या फिर पढ़ाई में मन नहीं लगता है तो आपके सामने यूट्यूब उपलब्ध है. इसमें एक ही टॉपिक पर आपको कई तरह के वीडियोस मिल जाएंगे जिसे देख कर आप उस टॉपिक को आसानी से समझ सकते हैं.

मैं कभी भी टेक्नोलॉजी के उपयोग को पढ़ाई में गलत नहीं मानता. बल्कि यह समझता हूं कि बच्चों को जिस माध्यम से पढ़ाई करने में आसानी हो उसका इस्तेमाल करें. क्योंकि एक ही पद्धति से पढ़ाई संभव नहीं है समय के साथ बदलाव करना भी जरूरी है. आप इसे इंप्लीमेंट ना करें जब तक कि आप इस बात से कन्फर्म ना हो जाए कि यह तरीका आपके बच्चे के लिए सही है या नहीं.

9. अपने आप को खुद प्रेरणा दें

जो इंसान खुद को प्रेरित करने में माहिर हो जाता है तो उसे सफलता जरूर मिलती है. स्टूडेंट्स में सबसे अधिक जो कमी होती है वह होती है प्रेरणा की. अगर आप चाहते हैं कि आप अपने जीवन में सफल बने तो इसके लिए आपको प्रेरणा स्रोत की जरूरत पड़ती है. दुनिया में ऐसे कई इंसान हुए जो हमारे लिए प्रेरणा के स्रोत हैं उनकी जिंदगी हमें बताती है कि जिंदगी में कुछ भी हासिल करना मुश्किल नहीं है अगर हम ठान लेते हैं तो हम पा लेते हैं.

जब पढ़ाई करना शुरू करते हैं तो आपके मन में कई तरह के विचार आते रहते हैं. लेकिन जब आप टाइम टेबल और प्लानिंग के तहत पढ़ाई करते हैं तो आपको इसका परिणाम 1 हफ्ते में दिखने लगेगा. आपको यह भी समझ में आ जाएगा कि आपने एक हफ्ते में बहुत कुछ सीखा है. अगर आप किसी प्लान के तहत पूरे 1 साल की पढ़ाई करेंगे तो सोच लीजिए आप क्या-क्या कर सकते हैं. आप एग्जाम में टॉपर भी बन सकते हैं और अपने मां बाप को आप पर गर्व करने का कारण भी दे सकते हैं.

दुनिया में कुछ भी हासिल करना असंभव नहीं है बस जरूरत है एक पक्के इरादे की. जो इंसान खुद से प्रेरित हो सकता है ना वह कुछ भी हासिल कर सकता है. इसलिए आप खुद छोटे-छोटे वीकली टारगेट बनाएं और इसे अचीव करें. अब खुद अपने आप से प्रेरित होने लगेंगे.

10.पढ़ाई का अपना खुद का स्टाइल बनाएं

जिस तरह हर इंसान की अपनी अलग पर्सनालिटी होती है उसी तरीके से हम आपको रास्ता बता सकते हैं लेकिन पढ़ने का स्टाइल आपको खुद ही बनाना पड़ेगा. आप अलग-अलग बताए गए तरीकों को प्रयोग करें और देखें कि कौन सा तरीका आपके लिए बेहतर काम करता है. हर स्टूडेंट की अपनी अपनी अलग काबिलियत होती है. हमने यहां पर सामान्य लेवल को ध्यान में रखकर सारे तरीके शेयर किए हैं. जिसे कमजोर से कमजोर छात्र भी फॉलो करके अच्छा रिजल्ट पा सकता है.

आप इन तरीकों को फॉलो करें और देखें आपके लिए जो बेहतर काम करता है आप उस तरीके से अपनी पढ़ाई को करें.

संक्षेप में

बहुत सारे अच्छे बच्चे हैं जो पढ़ाई में थोड़ा सा भी इंटरेस्ट नहीं लेते हैं लेकिन सभी को पता है कि पढ़ाई हर किसी के जीवन के लिए बहुत महत्वपूर्ण है इसलिए आज के हम पोस्ट में हमने जाना कि मन लगाकर पढ़ाई कैसे करें (How to study tips)? पढ़ाई के बिना आज के समय में दुनिया में रहना काफी मुश्किल हो सकता है. एक आरामदायक जिंदगी हासिल करने के लिए अच्छा करियर बनाना पड़ता है अच्छे करियर के लिए अच्छी डिग्री चाहिए होती है. यही वजह है कि आज हमने सोचा कि क्यों ना हम स्टूडेंट्स को स्टडी कैसे करे टिप्स इन हिंदी समझाएं ताकि जिन्हें पढ़ाई में बिल्कुल इंटरेस्ट नहीं है वह भी इन तरीकों को अपनाकर पढ़ाई कर सकें.

वैसे पढ़ाई में मन लगाने के टिप्स तो बहुत सारे हैं लेकिन हमने यहां पर वही टिप्स शेयर किए हैं जो पहले से इस्तेमाल किए जाते हैं और जिनका फायदा दूसरे विद्यार्थी उठा रहे हैं. मुझे लगता है एक स्टूडेंट होने के नाते आप सभी का यह फर्ज बनता है कि आप अपने माता पिता के सपनों को साकार करने के लिए मन लगाकर पढ़ाई करें और आपको किसी तरह की परेशानी होती है तो ऊपर बताए गए टिप्स को फॉलो करें. आपको इसे फॉलो करने पर फायदा बहुत जल्दी नजर आने लगेगा. हमें कमेंट करके जरूर बताएं कि आपको यह पोस्ट कैसी लगी अगर अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक, टि्वटर, इंस्टाग्राम, और व्हाट्सएप में अधिक से अधिक शेयर करें,

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here