Mobile क्या है? इसके फायदे और नुकसान क्या है?

हम सभी जानते हैं की Mobile क्या है (What is Mobile Phone in Hindi).  अगर आपसे आपका मोबाइल ले लिया जाए और कहा जाये की आपको 1 साल तक बिना मोबाइल के ही रहना है तो फिर आप reaction क्या होगा? जी हाँ आप कहेंगे की मोबाइल के बिना आप नहीं रह सकते। यही हाल सबका है. सभी के लिए जिंदगी का एक बहुत जरुरी हिस्सा बन चूका है. लेकिन क्या आप जानते हैं की Mobile के फायदे और नुकसान क्या है (Advantages and disadvantages of Mobile phones in Hindi). हम इस पोस्ट में आगे इन बातों पर भी चर्चा करेंगे.

एक ज़माना हुआ करता था जब हमे अपनी बात दूसरी जगह पहुंचानी होती थी तो एक कबूतर के पैरों में चिट्ठी लिख कर भेजा करते थे. उसके बाद जैसे जैसे जमाना बढ़ा तो ये काम डाकिया करने लगा. लेकिन फिर भी हमारा सन्देश जाने में काफी वक़्त लगा करता था. लेकिन कुछ साल पीछे की ही बात करें तो उस वक़्त भी टेलीफोन ही आया था जो कुछ लोगों के पास ही था, वो भी wireless नहीं था.

लेकिन टेलीफोन के बाद जैसे ही मोबाइल फ़ोन का अविष्कार हुआ और ये लोगों के हाथों में आया वैसे ही सबकुछ बिलकुल बदल गया. अब लोगों को एक जगह से टेलीफोन से चिपक कर बात करने की जरुरत ही नहीं रही. लोग कहीं भी बैठ कर, लेट कर, चलते हुए बात कर सकते हैं. यहाँ तक की मोबाइल फ़ोन अब स्मार्टफोन में तब्दील हो चुके हैं. इंसान की जीने का तरीका ही बदल गया. शुरू में तो कई बार ऐसा होता था की लोग सोचते थे की ये अकेला आदमी अकेला खुद से बातें कर रहा है क्या।  लेकिन ये एक चमत्कार से कम भी नहीं था. चलिए थोड़ा और विस्तार से जानते हैं की Mobile क्या है (What is Mobile Phone in hindi).

mobile kya hai - what is mobile in hindi 1

Mobile क्या है – What is Mobile Phone in Hindi

एक Mobile फ़ोन ऐसा वायरलेस हैंडहेल्ड डिवाइस है, जो users को दूसरों को कॉल लगाने और आये हुए कॉल को receive करने की सुविधा देता है. इसके साथ ही टेक्स्ट मैसेज (सन्देश) भेजने की भी facility देता है.  पुराने मोबाइल फ़ोन में बस कॉल करने और और रिसीव करने की ही सुविधा होती थी लेकिन आज मोबाइल फ़ोन में वेब ब्राउज़र,वीडियो म्यूजिक प्लेयर, कैमरा, गेम्स जैसे अनगिनत features दिए जाते हैं. Mobile को हम बहुत सारे नामों से भी जानते हैं जैसे Cell phone, Handset Cellular phone, Wireless phone.

Mobile में बस 10 digit का नंबर डायल कर के हम किसी से कभी भी वर्तमान समय में बात कर लेते हैं चाहे दूरी कितनी भी हो. ये हमारी आवाज़ को सेकण्ड्स में बहुत तेज़ गति से एक जगह से दूसरी जगह तक transfer कर देता है. और हम एक दूसरे की बातों को सुन लेते हैं. अगर अभी से सिर्फ 15 साल पहले की बात करें तो उस वक़्त कुछ ही लोगों के पास mobile हुआ करता था वो भी बिलकुल Basic मोबाइल थे जैसे Samsung का antenna लगा हुआ फोन और Nokia का 1100. उस वक़्त यही फ़ोन मार्केट में चलते थे.

जब पहला मोबाइल फ़ोन आया था वो बस कॉल करने और कॉल रिसीव करने के ही काम आता था. लेकिन उनकी size इतनी बड़ी थी की उसे pocket में लेकर घूमना नामुमकिन ही था. इसके कुछ समय बाद ही जिस मोबाइल फ़ोन में Global System for Mobile Communication (GSM) होती उससे text message भी भेजने के लिए इस्तेमाल होने लगा. जैसे जैसे वक़्त गुजरता गया इनकी size काम होती गयी और features बढ़ते चले गए. जैसे इसमें एक उस वक़्त काफी famous हुआ था शायद आपने भी सुना होगा MMS के बारे में. जिसका उपयोग फोटो भेजने के लिए किया जाने लगा. इस तरह के मोबाइल कैमरा के साथ आते थे. इस तरह के mobile जिसके पास होते वो same मोबाइल में फोटो भेज सकते थे.

वैसे mobile phone जिनमे computer से मिलते जुलते features होते हैं उसे ही हम आज Smartphone के नाम से जानते हैं. Generally इस्तेमाल होने वाले फ़ोन को हम feature phone बोलते हैं.

Mobile फ़ोन काम कैसे करता है – How does Mobile Phone work

एक अनुमान के अनुसार 2019 तक करीब 4 .8 billion मोबाइल user हो जायेंगे. आज हर कोई मोबाइल फ़ोन की अहमियत समझता है. ये हमे दुनिया के किसी भी कोने में किसी भी इंसान से बात करा सकती है लेकिन क्या आपने ये जानने की कोशिश की है आपका cell phone काम कैसे करता है.

आसान शब्दों में कहें तो mobile phone एक two -way radio है. जिसमे एक transmitter और दूसरा receiver radio होता है. जब आप अपने दोस्त के साथ कर रहे होते हैं तो ये आपकी आवाज़ को electrical signal में convert कर देता है. जिसके बाद इसे radio waves के रूप में नज़दीकी cell tower तक transmitt कर दिया जाता है. अब उस cell tower का network आपके दोस्त cell phone  तक radio wave को भेज देता है.  electrical signal में convert कर के sound में बदल दिया जाता है. मोबाइल फ़ोन walkie-talkie पर ही आधारित होता है.लेकिन ये उससे विकसित होता है. जिसमे मुख्या काम तो call करना और receive करने का होता है लेकिन इसके अलावा इसमें अलग से इंटरनेट, multimedia और कैमरा भी होता है. Smartphone तो अब डेवेलोप हो हो चुके की कंप्यूटर जो काम कर सकता है एक smartphone भी लगभग वो सभी काम कर लेता है बस कुछ कामों को छोड़ दे तो.

Process of working of Mobile Phone

चलिए थोड़ा जान लेते हैं की ये मोबाइल फ़ोन काम कैसे करता है.

Radio Waves

Mobile Phone communication करने के लिए radio waves का इस्तेमाल करते हैं. हम जो बात करते हैं उन आवाज़ों को radio waves electric और magnetic field के रूप में transmit करती है, जिसे हम electromagnetic field कहते है. Radio waves सारे डाटा को लेकर light की speed के साथ चलता है. मोबाइल से जो रेडियो wave निकलता है वो हर direction में फैलता है और tower तक पहुँचते पहुँचते बिच में जो भी चीज़ें मिलती वो भी radio wave को absorb या reflect कर देते  हैं.

चलिए इसे एक उदाहरण के जरिये समझ लेते हैं. जब हम मोबाइल को अपने कान में लगाकर बात कर रहे होते हैं तो लगातार radio waves emf वहां पर फैलता रहता है. आधे radio waves हमारे शरीर और सर के अंदर भी चले जाते हैं इस तरह अधिकतर emf बेकार में बर्बाद हो जाता है. कुछ मोबाइल फ़ोन में सिर्फ एक ही antenna होता है जो transmit और receive करने के दोनों काम अकेला करता है और कुछ मोबाइल फ़ोन में त्रिसके लिए अलग अलग antenna लगे हुए होते हैं.

Connectivity

हैं है की मोबाइल फ़ोन ऐसा डिवाइस है जो 2 way wireless communication डिवाइस होता है.यानि को signal रिसीव करता है और भेजता भी है. Tower जितना signal की मात्रा को receive करता है उसे ही Signal strength कहा जाता है. आप अपने फ़ोन में ये strength बहुत अच्छे से जानते हैं. और कभी कभी इस तरह से बोलते भी हैं की मेरे में full टावर है या sirf एक ही tower है. Signal की ताक़त दूरी होने से कम हो जाता है. कम सिग्नल होने से आप ये जरूर पाएंगे की की आपकी मोबाइल की बैटरी बहुत जल्दी ख़तम हो जाती है. ऐसा इसलिए होता है क्यूंकि मोबाइल कमजोर सिग्नल की वजह से जयदा म्हणत करता हैं tower तक सिग्नल भेजने के लिए. यही वजह है की अच्छा नेटवर्क होने से बात भी अच्छी होती है और बैटरी भी अच्छी चलती है.

Antenna

हर cell फ़ोन में एक antenna जरूर होता है जो radio signal को receive और transmit करता है. Antenna ही electrical signal को radio wave में convert करता है और साथ ही radio wave को electrical signal के रूप में बदल देता है.

Mobile phone का इतिहास – (History of Mobile Phone in Hindi)

अगर हम बात करें की आखिर मोबाइल फ़ोन की कल्पना कब की गई तो जवाब होगा की जब Radio engineering अपने शुरूआती दौर में था तभी से इसके आने की नीव रख दी गई थी. हम में से ज्यादातर लोगों को लगता है की हम मोबाइल के बिना एक पल भी नहीं रह सकते हैं. क्या आप भी उन में से एक हैं जो मोबाइल के बिना एक पल नहीं गुजार सकते? इसे फैलने में बहुत कम समय लगा और अब ये हर हाथ में है.

भले ही एक आम आदमी को मोबाइल फ़ोन हाल ही में मिला है लेकिन इसकी शुरुआत उस वक़्त हुई थी जब 1908 में अमेरिका के Kentucky में wireless mobile के लिए patent जारी किया गया. 1940 दशक के शुरुआत में ही mobile phone का अविष्कार किया गया. AT&T के engineers ने mobile station के लिए mobile phone बनाये. दुनिया को जो पहला mobile phone था वो अगर मने तो एक mobile  phone के जैसा नहीं बल्कि एक 2 – way radio था जैसे की walkie talkie.

Motorola दुनिया की पहली कंपनी थी जिसने 3 April 1973 को mobile phone का mass production किया. उस वक़्त के मोबाइल को 0G phone की केटेगरी में रखा जाता है जिसे zero technology भी बोला जाता है. आजकल तो 4G और ५ग़ mobile का ज़मान चल रहा है. आज हम जो मोबाइल फ़ोन आज इस्तेमाल कर रहे हैं वो शुरुआती रूप में कुछ और ही था. ये हम तक पहुंचा तब तक बिच में इसने कहाँ कहाँ क्या बदलाव किये चलिए जानते हैं.

Milestone in Mobile Phone History – मोबाइल इतिहास की महत्वपूर्ण तिथियां

1926 –  पहली mobile phone की सेवा Berlin और Hamburg के बीच यात्रा करने वाले passenger को सफलतापूर्वक दी गई थी.

1946 – Chicago में car radiotelephone में पहली बार फ़ोन किया गया.

1956 – Sweden में private वाहनों में automated मोबाइल फोन सिस्टम लगाया गया. इसमें कुल 125 उपयोगकर्ता थे.

1669 – Nordic Mobile Telephon Group नामका कंपनी की स्थापना की गई.

1973 – Motorola कंपनी के general manager Martin Cooper ने किसी भी device में पहली बार public मोबाइल फ़ोन call किया. जिसका वजन 1 .1 kg था .

1987  – Digital technology के आधार पर GSM standard के लिए Technical specification को प्रमाणित किया गया.

1992 – United kingdom में पहली बार SMS message भेज कर इसकी शुरुआत की गयी.

1999 – Emoji का अविष्कार किया गया. इसका अविष्कारक जापान के Shigetaka Kurita हैं.

2003 – पहला 3G नेटवर्क कनेक्शन  दुनिया ने अपनाया. दक्षिण एशिया में नेपाल वो देश था जिसने सबसे पहले 3G का इस्तेमाल किया गया. Mount Everest को इन्होने 3G से पूरा कवर किया गया.

2007 – इसी साल iphone लांच किया गया.

2008 – T – Mobile G1 के रूप में पहला Android फ़ोन लाया गया.

2009 – O2 लोगों के सामने अन्नोउंस किया की उन्होंने सफलता से 4G कनेक्शन का प्रयोग LTE के ऊपर किया है.

2010 – Samsung ने पहला Galaxy S स्मार्टफोन लांच किया.

2017 – Nokia 3310 के पुराने version को फिर से डेवेलोप कर के नया कर के लाया गया. जिसमे कैमरा, वेब ब्राउज़र , कलर स्क्रीन के फीचर भी दिए गए.

Mobile Phone के फायदे – Advantages of Mobile phone in Hindi

दोस्तों मोबाइल फ़ोन के आने से हमारी ज़िन्दगी काफी आसान हो चुकी है. ये जैसा हमारे शरीर का ही एक हिस्सा हो जिसके बिना हमारा काम नहीं चल सकता है. चलिए जानते हैं मोबाइल फ़ोन से हमे क्या फायदे हैं.

  1. मोबाइल फ़ोन की वजह से हम अपने सगे सम्बन्धियों से कभी भी बात कर सकते हैं. ऐसा भी नहीं है की इसके लिए कोई ख़ास वक़्त फिक्स किया गया हो. ऐसा नहीं है बल्कि आप दिनभर में कभी भी 24*7 फ़ोन कर सकते हैं. पहले फ़ोन को बड़े होने की वजह से घर में ही रखा जाता था लेकिन अब इसकी size इतनी छोटी है की सभी pocket में रखते हैं.
  2.  जरुरत के अनुसार हम मोबाइल फ़ोन में ही अनगिनत apps का इस्तेमाल कर सकते हैं. चाहे वो app ticket booking से जुड़ा हो. बैंक से जुड़ा हो या फिर कोई वेब ब्राउज़र हो या  गाना सुनना हो सभी के लिए एप्लीकेशन होता है.
  3. Internet का इस्तेमाल करने के लिए पहले हमे cyber cafe जाना पड़ता था. या फिर कंप्यूटर की जरुरत होती थी लेकिन मोबाइल  तब से हर वक़्त इंटरनेट का इस्तेमाल करना आसान हो गया है. मोबाइल में इंटरनेट के लिए 3G और 4G के आने से सुपर स्पीड से इंटरनेट चलता है.
  4. मोबाइल फ़ोन अगर साथ होते हैं तो ये एक तरह से हमे सुरक्षा देते हैं. खासकर लड़कियां जो अकेली होती हैं और बाहर जाती हैं वो कभी भी अपने जान पहचान के लोगों को फ़ोन कर सकती हैं खतरा महसूस होने पर और मदद मांग सकती हैं.

Mobile Phone के नुकसान  – Disdvantages of Mobile phone in Hindi

जैसा की हर सिक्के के 2 पहलु होते हैं.हमने अभी तक जाना है की मोबाइल फ़ोन से सिर्फ फायदे होते  हैं. लेकिन ये भी सच है की मोबाइल  बहुत सारे नुक्सान हैं. जिनकी जानकारी रखना भी जरुरी है.

  • कुछ  लड़के और लड़कियां ऐसे हैं जो मोबाइल फ़ोन हद से ज्यादा इस्तेमाल करते हैं. और दिन रात मोबाइल में लगे रहते हैं. पढाई लिखे पर ध्यान काम होता है. उनको मोबाइल  फ़ोन की ऐसी लत लगी रहती है की real life से उनका कोई लेना देना नहीं होता है. इस तरह वो अपनी पढाई लिखे और करियर पर ध्यान नहीं दे पाते.
  • मोबाइल फ़ोन के लगातार इस्तेमाल से लोगों की सेहत पर बुरा असर होता है. दिनभर ढेर सारा रेडिएशन शरीर के अंदर जाता  बहुत नुक्सान दे होता है. यहाँ तक की लोग सोते वक़्त भी मोबाइल को अपने सर के आसपास ही रखते हैं.
  • अक्सर लोगों को ऐसी आदत होती है की वो driving करते वक़्त भी फ़ोन का उसे करते हैं. जो की बहुत ही खतरनाक है.
  • हमे मोबाइल फ़ोन में इंटरनेट और कॉल के इस्तेमाल करने के लिए पैसे खर्च करने पड़ते हैं और खर्च भी बढ़ जाता है.
  • आजकल मोबाइल में हम अपने हर डाटा यहाँ तक की पर्सनल information  भी रखते हैं. अगर कभी मोबाइल गम या चोरी हो जाये तो लोगों को शरीर से जान निकलने का एहसास हो जाता है.
  • मोबाइल के लगातार उपयोग करने से ऐसा असर  लोगों को नींद न आने की समस्या शुरू हो जाती है.

Conclusion

दोस्तों आज आपको Mobile क्या है (What is Mobile phone in Hindi) की जानकारी कैसी लगी? आज आप ये समझ ही गए होंगे की आखिर Mobile phone के फायदे और नुकसान क्या हैं? mobile phone न हो तो आज जिंदगी जीना मुश्किल है. ये दूसरों के example लेने से बेहतर आप खुद ही एक बार try  करे और देखे की आप बिना mobile phone के कितनी देर रह सकते हैं. शुरुआती mobile  से आज के विकसित mobile तक का सफर काफी लम्बा रहा लेकिन ये सफर कभी रुकने वाला नहीं। समय के साथ नए बदलाव होते रहेंगे. Advantages and Disadvantages of Mobile phones in Hindi के माध्यम से हम अब जान चुके हैं mobile phone बहुत मायनो में हमारे लिए फायदेमंद हैं. लेकिन ये भी जानना जरुरी है की इसके नुकसान क्या हैं. दोस्तों अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो सोशल मीडिया में जरूर शेयर करे.

Mobile क्या है? इसके फायदे और नुकसान क्या है?
5 (100%) 2 votes

5 Comments

  1. ARIF kahn October 25, 2018
    • wasim akram October 25, 2018
      • wasim akram October 25, 2018
  2. rovin singh November 3, 2018
    • wasim akram November 3, 2018

Leave a Reply

%d bloggers like this: