Digital Marketing क्या है और इसका कोर्स कैसे करे?

आज का दौर बहुत तेज़ी से बदल रहा है इसीलिए हर किसी के लिए ये जानना जरुरी है की डिजिटल मार्केटिंग क्या है (What is Digital Marketing in Hindi). ज़माना डिजिटल होता जा रहा है और हर किसी को इसकी जरुरत महसूस होने लगी है. कई कंपनियां अब अलग से डिजिटल मार्केटिंग एक्सपर्ट को hire करते हैं ताकि अपना बिज़नस डिजिटल माध्यम से भी फैला सके. लेकिन यहाँ पर ये सवाल भी आता है की डिजिटल मार्केटिंग कैसे सीखे? जिन लोगों को इसकी जानकारी है वो पहले से ही जानते हैं की इससे पैसे कैसे कमाए जा सकते हैं. अभी बहुत सारे लोगों को इसके महत्व के बारे में नहीं मालूम होता है. पढाई लिखी के प्रति तो सभी लोग जागरूक होते हैं हैं लेकिन बहुत सारे पेरेंट्स को आज भी डिजिटल मार्केटिंग के बारे में काफी जानकारी नहीं है और इसीलिए वो अपने बच्चों को ट्रेडिशनल पढाई और उसी तरह के करियर में फोकस करने को बोलते हैं.

डिजिटल मार्केटिंग की पढाई कर के भी लोग अपना करियर बना सकते हैं लेकिन इसका कोर्स कैसे करे ये सवाल आपके मन में भी घूम रहा होगा तो हम इस पोस्ट में इसके बारे में आपको जानकारी देंगे. विज्ञापन के तरीके में समय के साथ काफी बदलाव आ चूका है. लोगों तक पहुँचने के माध्यम भी बदल चुके हैं. आज अगर एक घंटे में 100000 लोगों तक पहुँचने के लिए किसी तरीके की बात करें तो इसका सबसे आसन तरीका डिजिटल माध्यम ही है.

अब वहीँ अगर हम बात करें की पहले ये काम कैसे होता था तो मैं आपको याद दिला देता हूँ की पहले लोग रेडियो, सिनेमा, टीवी, सड़क के किनारे के पोस्टर, बैनर, न्युजपेपर  इत्यादि का उपयोग होता था. इसके अलावा लोग गाड़ियों में लाउडस्पीकर लगाकर भी प्रचार किया करते थे लेकिन क्या आज भी हमे इसी तरीके पर रहना चाहिए या फिर कोई  तरीका अपनाना चाहिए जिससे समय और पैसे दोनों की बचत हो और साथ ही रिजल्ट भी बहुत अच्छा मिले? आपका जवाब होगा की हमे समय के साथ नयी तरीकों पर काम करना चाहिए. यही वजह है की मैंने ये सोचा की आप लोगों को ये बताई जाए की डिजिटल मार्केटिंग क्या होता है (What is Digital Marketing in Hindi) और इसके फायदे क्या है.

Contents show

डिजिटल मार्केटिंग क्या है – What is Digital Marketing in Hindi

Digital marketing kya hai hindi

जब डिजिटल उपकरण जैसे स्मार्टफोन, कंप्यूटर, टेबलेट और इंटरनेट के माध्यम से किसी प्रोडक्ट या सर्विस को पूरी दुनिया में लोगो तक प्रचार करते हैं तो इस तरीके को डिजिटल मार्केटिंग कहा जाता है.

डिजिटल मार्केटिंग और मार्केटिंग दोनों एक दूसरे से कई मायनों में अलग है एचडी में इलेक्ट्रॉनिक कई माध्यमों के जरिए उत्पादों और ब्रांडो का प्रचार किया जाता है. डिजिटल मार्केटिंग में एक अनोखा फायदा होता है हमें मदद मिलती है कि हमारा कौन सा तरीका मैं काफी प्रभावित साबित हो रहा है और कौन सा नहीं और यह हम प्रचार इस चीज को समझ सकते हैं.

डिजिटल मार्केटिंग जो होता है वह हमारे द्वारा उत्पादों के प्रचार के जाने वाली प्रक्रिया को बहुत ही बारीकी से मॉनिटर करता है यह देखता है कि प्रचार कितनी बार देखा गया कब कब देखा गया और कितनी देर तक देखा गया साथ ही कोई उत्पाद कितना सेल हुआ और हमारे द्वारा दिया जाने वाला कंटेंट कौन सा काम कर रहा है और कौन सा नहीं यह सारी बातें हमें पता चल जाती है.

डिजिटल मार्केटिंग दो शब्दों से मिलकर बना हुआ है पहला है डिजिटल और दूसरा है मार्केटिंग.

डिजिटल

यहां डिजिटल कहने का यह मतलब है कि इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस जिसको इंटरनेट से कनेक्ट करके इसके जरिए दुनिया के किसी भी हिस्से के किसी भी व्यक्ति से कनेक्ट कर सकते हैं.

मार्केटिंग

मार्केटिंग का मतलब होता है और सेवा का प्रचार करना. यानी कि कई माध्यमों का इस्तेमाल करके अपने उत्पाद और सेवा को ग्राहक तक पहुंचाना.

तो अगर हम यहां कुल मिलाकर देखे हैं तो समझ सकते हैं डिजिटल मार्केटिंग ऑनलाइन मार्केटिंग बात को इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस और इंटरनेट के जरिए दुनिया के लोगों तक पहुंचाने का एक तरीका है. ठीक उसी तरह न्यूज़पेपर, पोस्टर और बैनर के जरिए दुकानों, उत्पादों का और सेवाओं का प्रचार करते हैं सकते हैं. यह नई पीढ़ी का प्रचार तंत्र है करियर कम से कम समय में अधिक से अधिक लोगों तक प्रचार के बारे में जानकारी दी जा सकती है और इसे पॉपुलर बना कर सफलता हासिल की जा सकती है. यही वजह है कि हम आज टि्वटर, फेसबुक, इंस्टाग्राम, यूट्यूब और वेबसाइट इत्यादि में हर दिन कई तरह के विज्ञापन देखते रहते हैं और यह डिजिटल मार्केटिंग के अंतर्गत ही आता है.

डिजिटल मार्केटिंग के प्रकार – types of digital marketing in hindi 

  1. Search Engine optimization
  2. Search Engine Marketing
  3. Social Media Marketing
  4. Content marketing
  5. Pay Per Click (PPC)
  6. Affiliate Marketing
  7. Influencer Marketing
  8. Email Marketing
  9. Inbound marketing
  10. Marketing automation

Search Engine optimization (SEO)

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के जरिए हम अपनी वेबसाइट को सर्च इंजन के रिजल्ट पेज में रैंक कराते हैं. इस तरह हम जितना ऑर्गेनिक ट्रेफिक करेंगे हमें उतना अधिक फायदा होगा सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन 2 तरीके के होते हैं ऑन पेज एसईओ और ऑफ पेज एसईओ.

Search Engine Marketing

सर्च इंजन मार्केटिंग जिसे हम शॉर्ट में एस ए एम बी बोलते हैं यह एक ऐसा प्रोसेस है जिसके जरिए हम सर्च इंजन के रिजल्ट पेज में विज्ञापन के लिए जगह खरीदते हैं. इसके लिए हम जो सामान्य पेट प्लेटफॉर्म है गूगल एड्स, बिग एड्स इत्यादि का इस्तेमाल करते हैं.

Social Media Marketing

आजकल सोशल मीडिया मार्केटिंग के लिए काफी महत्वपूर्ण बन चुका है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि इंस और आउट क्या है सोशल मीडिया मार्केटिंग आपके एक्स्पोज़र को बढ़ा देता है. यह आपको कंज्यूमर्स तक पहुंचने के लिए बहुत ही आसान रास्ता देता है इसका उपयोग करके आप बहुत ही वैल्युएबल कस्टमर फीडबैक प्राप्त कर सकते हैं और जिसके जरिए आप अपने कस्टमर्स को या तरीके से उत्पाद और सेवा प्रदान कर सकते हैं.

जब आप बढ़िया क्वालिटी वाले कंटेंट को पोस्ट करते हैं तो सोशल मीडिया मार्केटिंग के जरिए आप ज्यादातर लोगों तक पहुंच सकते हैं. इस तरह अब जितने तरीके का उपयोग करके सोशल मीडिया के जरिए अपने ट्रैफिक और बिजनेस को फैलाते हैं उसे सोशल मीडिया मार्केटिंग कहा जाता है. जब भी आप टि्वटर इंस्टाग्राम मैं होते हैं करते हैं तो यह सारा सोशल मीडिया मार्केटिंग ही कहलाता है.

Content marketing

जब हम अपने यूजर्स के लिए बहुत ही अच्छी क्वालिटी के कंटेंट तैयार करते हैं ताकि हमारा अच्छा सेल और लीड जेनरेशन हो. इससे हमारी ब्रांड वैल्यू और ट्रैफिक भी पड़ती है. कंटेंट मार्केटिंग बहुत ही अच्छा काम करता है क्योंकि यह सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन और सोशल मीडिया मार्केटिंग दोनों के ही अंतर्गत आता है.

Pay Per Click (PPC)

पे पर क्लिक वेबसाइट पर ट्रैफिक लाने का एक तरीका है जिसमें पब्लिशर्स को एड पर होने वाले प्रति क्लिक पर पैसे दिए जाते है. इसके लिए ज्यादातर लोग गूगल एड्स का इस्तेमाल करते हैं जिसमें कंपनियां गूगल को साइट पर आने के लिए होने वाले प्रति क्लिक पर पैसे देती है इस तरह के ऐप्स गूगल सर्च इंजन रिजल्ट पेज पर देखे जा सकते हैं.
फेसबुक, इंस्टाग्राम, टि्वटर इत्यादि में भी कैंपेन चलाकर लोगों तक पहुंचा जा सकता है.

Affiliate Marketing

ऐसा प्रोसेस जिसमें कन्वर्जंस के बदले में पैसे मिलते हैं उसे एफिलिएट मार्केटिंग कहा जाता है अरे एक बार सोच कर देखिए कि जब आप किसी प्रोडक्ट व सर्विस को किसी सेल्स पर्सन को बोलते हैं हम दे देते हैं यह उसी तरीके से काम करते हैं. एपलेट होता है उसे कमीशन मिलता है. मतलब यह है कि इसके लिए आपको पैसे देने नहीं पड़ते हैं ब्लॉगर और ई-कॉमर्स वेबसाइट एफिलिएट मार्केटिंग का इस्तेमाल करते हैं जिसे वह अच्छा खासा पैसा कमाते हैं.
जब आपका फ्लीट मार्केटिंग को चुनते हैं तो उससे पहले आप उसके टर्म्स और कंडीशन के बारे में बातचीत कर लें. ए फ्लैट आपके ब्रांड को रिप्रेजेंट करते हैं तब चाहेंगे कि ब्रांड मैसेज को भी तक पहुंचाएं.

Influencer Marketing

इनफ्लुएंसर मार्केटिंग एक नए प्रकार का डिजिटल मार्केटिंग है इसमें ऐसे लोगों का इस्तेमाल किया जाता है जोकि ऑल तक पहुंचने में एक्सपोर्ट माने जाते हैं और अच्छी ट्रैफिक और प्रोडक्ट की सेल कराने में माहिर होते हैं.

इनफ्लुएंसर मार्केटिंग सोशल मीडिया चैनल्स जैसे इंस्टाग्राम और स्नैपचैट में काफी पॉपुलर है. तो जो कंपनी होती है वह इंस्टाग्रामर्स जिनके पास बहुत सारा फॉलोइंग होता है उन्हें हायर करती हैं ताकि वह ब्रांड को फोटोज के जरिए पोस्ट कर सके और लोगों तक इसका प्रचार कर सके.

इसका मतलब आप समझ गए होंगे कि इंस्टाग्राम फेसबुक ऐसे जगहों पर जज इन लोगों के बहुत ज्यादा फॉलोअर्स होते हैं उन लोगों से कंपनियां कांटेक्ट करती हैं और उन्हें अपने प्रोडक्ट और सेवाओं का प्रचार करने के लिए हायर करती हैं.

Email Marketing

ईमेल मार्केटिंग के जरिए जितने भी ईमेल सब्सक्राइबर्स होते हैं आप अपनी कंपनी के बारे में रेगुलर अपडेट देते रहते हैं इससे क्या होता है कि जो हमारा सब्सक्राइबर होता है वह जिससे वह हमारे ब्रांड के प्रति रखता है और ब्रांड की लॉयल्टी भी बढ़ती है तो सबसे अच्छा ईमेल मार्केटिंग उसे माना जाता है जिसमें आप अपने कंटेंट के द्वारा सब्सक्राइबर बढ़ाते हैं नाकी पैसे देकर बढ़ाते हैं.

जब कोई विजिटर आपके साइट पर आकर खुद से ईमेल न्यूज़लेटर को सब्सक्राइब करता है इसका मतलब वह आपके कंटेंट पर बहुत अधिक भरोसा रखता है और उसे आप का कंटेंट बहुत अच्छा लगता है इस रॉयल्टी के कारण वह आपका रेगुलर सब्सक्राइबर बनाएं रेगुलर बेसिस पर आपके ब्लॉग पर विजिट करता रहेगा जब भी आपके ब्लॉग से कोई अपडेट वाला ईमेल उसके पास पहुंचेगा.

Inbound marketing

इनबॉउंड मार्केटिंग एक ऐसी पद्धति है जिसमें अपने कस्टमर के खरीदारी के सफर हर स्टेज मैं उसे अट्रैक्ट करते हैं इंगेज करते हैं और उसको खुश रखते हैं.

आप इसके लिए ऊपर में दिए गए सभी तरह के टैक्टिक्स का इस्तेमाल कर सकते हैं और एक ट्रस्ट बिल्ड कर सकते हैं से आप के कस्टमर के एक्सपीरियंस बहुत ही अच्छा होगा हां हम इनबॉउंड मार्केटिंग के साथ ट्रेडिशनल मार्केटिंग की तुलनात्मक लिस्ट दे रहे हैं

  • ब्लॉगिंग versus Popup एड्स
  • वीडियो मार्केटिंग versus कमर्शियल मार्केटिंग
  • ईमेल कॉन्टैक्ट लिस्ट versus ईमेल स्पैम

Marketing automation

मार्केटिंग ऑटोमेशन का मतलब है जब हम अपनी बेसिक मार्केटिंग ऑपरेशन को करने के लिए किसी सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते हैं आप समय आने पर रिपीट करता हो.
इस तरह के इस तरह के मार्केटिंग को हम कई जगह इस्तेमाल कर सकते हैं
जैसे:

  • e-mail न्यूजलेटर
  • सोशल मीडिया पोस्ट शेड्यूलिंग
  • लीड नर्चरिंग वर्कफ्लो
  • कैंपेन ट्रैकिंग एंड रिर्पोटिंग

 

डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स कैसे करे और कैसे सीखे

अगर आप मार्केटिंग सीखना चाहते हैं तो उसके लिए आपको थोड़ी तैयारी तो करनी पड़ेगी क्योंकि इसमें कंपटीशन बहुत ज्यादा है जब तक आप प्रैक्टिकल तरीके से हर चीज को नहीं जानते तब तक इस एक्सपोर्ट नहीं बन सकता है यानी कि आप को पढ़ना होगा और फिर उसे तुरंत अप्लाई करना पड़ेगा.
तभी आप इसमें अंगत हो सकोगे.
डिजिटल मार्केटिंग बारे में जानकारी हासिल करने के कई तरीके हैं आप किसी संस्थान से जुड़कर एक्सपोर्ट से नॉलेज हासिल कर सकते हैं फिर घर बैठे भी आप इसे सीख सकते हैं.
टेक्स्ट

डिजिटल मार्केटिंग सीखने का एक तरीका यह है की आपको ढेर सारे कंटेंट टेक्स्ट के रूप में पढ़ने होंगे विभिन्न वेबसाइटों मिलेंगे जैसे कोरा वीडियो में और कई सारे ब्लॉक्स जो फ्री डिजिटल मार्केटिंग के ऊपर पिकल्स लिखते हैं पोस्ट पब्लिश करते हैं.

वीडियो

इसे सीखने का एक बेहतरीन तरीका यह है कि आप वीडियो के जरिए इसकी जानकारी हासिल कर सकते हैं. अगर आप यूट्यूब में सर्च करेंगे तो आपको हिंदी इंग्लिश भाषाओं में इसके सारे वीडियो मिलेंगे जो हर पहलुओं के बारे में आप की जानकारी को पूरा करेंगे. इसके अलावा आप लेंडा फेसबुक इंस्टाग्राम इत्यादि में भी वीडियोस देख सकते हैं.

पॉडकास्ट

प्रैक्टिकल यानी आप खुद ही सब कुछ ट्राई कर करके चेक करते हैं

डिजिटल मार्केटिंग से पैसे कैसे कमाए

इसके अंतर्गत कई ऐसे तरीके हैं जिसके माध्यम से पैसे कमाए जा सकते हैं.

ब्लॉग्गिंग :

ब्लॉग्गिंग के माध्यम से लोग अपने ज्ञान को लिखकर लोगों तक पहुंचाते हैं. इसके कई टॉपिक हो सकते हैं.इससे जुड़ने वाले ओगों की संख्या लाखों में होती है और लोग कमेंट कर के अपने विचार भी देते हैं.

अगर आप एक creative writer हैं तो आप किसी भी टॉपिक पर बेहतरीन ब्लॉग बना सकते हैं. आप ब्लॉग को गूगल adsense से मोनेटाइज कर के आचे पैसे भी कमा सकते हैं. लेकिन इस में मेहनत आपको ये करना है की इस में आपको हमेशा एक्टिव रहकर नए टॉपिक लाता रहना पड़ेगा.

SEO :

आज कंपनियों को ऐसे लोगों की तलाश होती है जो सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन में माहिर होते हैं. ऐसे लोगों को काम करने के बदले कम समय में अच्छे पैसे मिल जाते हैं. इनका मुख्य काम किसी भी कंपनी की वेबसाइट या ब्लॉग को सर्च इंजन के माध्यम से ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुँचाना होता है.

वेबसाइट डिजाइनिंग :

जिनको डिजाइनिंग में काम करना पसंद है वो अक्सर वेबसाइट डिजाईन कर ने के शौक़ीन होते हैं और वेबसाइट को बनाकर लोगो को देते हैं. ऐसे लोगों की भी मार्किट में काफी डिमांड होती है.

डिजिटल मार्केटिंग के फायदे – benefits of digital marketing in hindi

इसके जरिये हम अपने ऑनलाइन काम में काफी विस्तार कर सकते हैं तो चलिए देखते हैं इसके कुछ फायदे

बिज़नेस को बढ़ाने में – Business growth

आज अगर आप कोई बिज़नेस शुरू करते हैं और उम्मीद करते हैं की आप के पास कस्टमर खुद आएंगे तो फिर आप जान लें की आप बहुत पीछे रह जायेंगे.

अगर आप कुछ अलग नहीं करेंगे तो दूसरे लोग आपसे ज्यादा स्मार्टनेस से आगे बढ़ जायेंगे इसीलिए जब डिजिटल मार्केटिंग के जरिये आप बिज़नेस में आगे जाते हैं तो ये आपके बिज़नेस को फ़ैलाने में सबसे अधिक रोले निभाते हैं.

नए लोगों से जुड़ने में – Lead Generation

हर बिज़नेस में सही कंटेंट का होना बहुत जरुरी है. नए लोगों से जुड़ने में बहुत मदद मिलती है. हर रोज़ नए लोगों से जुड़ने के लिए बेहतरीन कंटेंट का होना जरुरी है.

विज़िटर्स को कस्टोमर बनाने में – High Conversion rates

डिजिटल मार्केटिंग के अच्छे उपयोग से आने वाले विसिटोर्स को कस्टमर बनाने में एक हद तक काफी सफलता मिलती है.

कम पैसे में अधिक विजिटर – Cost Effective than Traditional Marketing

ट्रेडिशनल मार्केटिंग की तुलना में इस से हम कम पैसे खर्च कर के अधिक से अधिक लोगों तक पहुँच सकते हैं.

ब्रांड नाम का विस्तार – Build Brand Reputation

ये हमारे कंपनी ब्रांड नाम को और मज़बूत बनाने में मदद करती है. लोग जिस कंपनी का विज्ञापन बार बार देखते हैं उसके लिए उनके दिमाग में ट्रस्ट बन जाता है और लोग उसी का इस्तेमाल भी करना चाहते हैं.

Real Time Result Growth

विज्ञापन में होने परिणाम को देखने के लिए इंतज़ार नहीं करना पड़ता है. इसे हम हर दिन analyse कर सकते हैं.

संक्षेप में

आज आपने जाना की डिजिटल मार्केटिंग क्या है (What is Digital Marketing in Hindi) और इससे पैसे कैसे कमाए. आज के दौर में अगर आप आज़माने से पीछे रहेंगे तो फिर सफलता पाना काफी मुश्किल साबित हो जायेगा. समय के साथ परिवर्तन ही प्रकृति का नियम होता है.  अगर आपको इस फील्ड में रूचि है और जानना चाहते हैं की इसका कोर्स कैसे करे और इसे कैसे सीखे तो मैं आपको यही जवाब दूंगा की आप जरुर इस क्षेत्र से जुड़े, किसी अच्छे डिजिटल मार्केटियर से संपर्क करके इस की जानकारी लें. इसमें काफी अवसर मिलेंगे क्यूंकि इस फील्ड में आज भी बहुत कम लोग हैं.

उम्मीद करता हूँ की आपको इस पोस्ट के माध्यम से डिजिटल मार्केटिंग के फायदे (benefits of digital marketing in hindi) अच्छे से समझ में आ गए होंगे और इसकी महत्व भी समझ में आ गई होगी. इस फील्ड को प्रोफेशन बनाने में आज भी कई लोग कतराते हैं लेकिन जो इन्सान सफलता प्राप्त करना चाहता है उसे एक कदम तो हमेशा खुद के लिए उठाना ही पड़ता है. आपको ये पोस्ट कैसी लगी अगर अच्छी लगी होगी तो इस पोस्ट को फेसबुक, ट्विटर, इन्स्ताग्राम में जरुर शेयर करें.

7 COMMENTS

  1. आपने बड़ी सहजता से इस ब्लॉग पोस्ट में डिजिटल मार्केटिंग और उस से जुडी महत्वपूर्ण जानकारियों को हमारे साथ साँजा किया है
    जिसके लिए आप बधाई के पात्र है। आपका कोटि कोटि धन्यवाद

  2. क्या बढ़िया पोस्ट है यह। इस ब्लॉग पोस्ट में डिजिटल मार्केटिंग की बहुत ही सटीक जानकारियां दी गयी है.
    well done

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here