चालाक कैसे बने ?

हमारे दोस्तों के बीच में ही चाहिए ऐसे दोस्त होते हैं जो बहुत ही चालाक और होशियार होते हैं लेकिन उनके जैसा चालाक कैसे बने यह हम कई बार सोचते हैं और हमें लगता है कि शायद उन्हें जन्म से ही ऐसा दिमाग मिला है जिससे वह इस प्रकार से निर्णय लेते हैं और अपनी होशियारी लोगों को दिखा देते हैं.

लेकिन इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको वह तरीके बताएंगे जिससे आप एक सामान्य व्यक्ति होते हुए भी अपने दिमाग को सही से इस्तेमाल करना सीख जाएंगे. इससे पहले हमने एक आर्टिकल लिखा है जिसमें हमने बताया है कि स्मार्ट कैसे बने? उसे जरूर पढ़ें क्योंकि उसमें भी हमने स्मार्ट के तरीके बताएं हैं.

आजकल जमाना भोलेपन का नहीं है क्योंकि अगर आप ज्यादा बोला बनकर रहोगे तो आपको लोग धोखा देकर चले जाएंगे. तो अगर आप जानना चाहते हैं कि अपने भोलापन को कैसे दूर करें तो हमारा यह आर्टिकल पूरा पढ़ें.

चालाक बनने के बेहतरीन तरीके और टेक्निक

चालाक कैसे बने ?


आखिर कैसे कुछ लोग हमेशा सही निर्णय लेते हैं? कुछ लोग कैसे इतने सफल हो जाते हैं? यह कुछ सवाल है की कैसे कुछ लोग सही समय पर सही काम करते हैं ? ऐसे ही लोगों को हमारी आम भाषा में ‘चालाक’ कहा जाता है।

होशियार लोग हमेशा सही समय पर सही निर्णय लेते है और अपनी होशियारी का लोहा मनवाते हैं, ऐसे लोग हमेशा दूसरों से इज्जत पाते हैं लोग ऐसे लोगों से राय लेना पसंद करते हैं।

वैसे सच कहूँ तो चालाक और भोलापन कुछ नहीं होता है अगर इंसान में आत्मविश्वास है तो उस इंसान को होशियार या सफल बनने से कोई नहीं रोक सकता। एक सत्य यह भी है की अगर इंसान चतुर नहीं है तो वह इंसान अपने जीवनकाल में हर बार धोखा खायेगा।

क्योंकि जो लोग भोले होते है ऐसे लोगों के भोलेपन का फायदा उठाने वाले अनेक चालाक लोग इस दुनिया में मौजूद है। अगर आपके भोलेपन का फायदा कुछ लोग उठाते है और आप चाहते हैं की आप भी औरों की तरह इंटेलीजेंट और स्मार्ट बने तो इस आर्टिकल को पूरा जरुर पढ़ें।

हम यहाँ पर चालाक बनने के कुछ ऐसे तरीके और कुछ ऐसी टेक्निक बताने जा रहे हैं, अगर आप इन्हें फॉलो करोगे तो यक़ीनन आप चालाक बन जाओगे।

1. आत्मविश्वास बढायें

अगर आपको लगता है की आप मंदबुद्धि या भोलपन के शिकार हो तो इसमें कोई डरने वाली बात नहीं है। जब हम बार-बार किसी को समझाने या फिर किसी कार्य को करने की कोशिश करते है और असफल होते है, तब हमें ऐसा जरुर लगता है की कहीं ना कहीं हमारे अंदर ही कोई कमी है।

तभी हम इस कार्य में सफल नहीं हो रहे है। ऐसे में कुछ लोगों को लगता है की वो मंदबुद्धि है असल में उन लोगों के अंदर आत्मविश्वास की कमी होती है आत्मविश्वास की कमी के कारण ही वो असफल होते है और लोगों को वो मंदबुद्धि या फिर भोलेपन के शिकार लगते है।

अगर आप चालाक बनना चाहते हैं तो सबसे पहले अपने आत्मविश्वास को बढायें और खुद से ही वादा करें की आप कुछ भी कर सकते हो, आपको सब कुछ आता है क्योंकि जो कोई और कर सकता है वो हम भी कर सकते हैं।

2. दूसरों पर निर्भर ना रहें

अगर आप सच में चालाक बनना चाहते हैं तो दूसरों पर निर्भर होना छोड़ दो, क्योंकि अगर आप दूसरों पर निर्भर रहोगे तो आप अपने आप को कभी जान भी नहीं पाओगे।

कभी आपको खुदको समझने का मौका ही नहीं मिलेगा और एक समय ऐसा आएगा जब आपको भोलेपन का शिकार समझकर लोग खुदसे अलग कर देंगे। ऐसी स्थिति आये इससे पहले खुद को संभाल लो। आज अगर सही समय पर संभल गये तो आपको चालाक बनने से कोई नहीं रोक पायेगा।

3. किताबें पढ़ें

कुछ लोगों की शिकायत रहती है कि उन्होंने बहुत सारी किताबें पढ़ी है फिर भी वे चालाक नहीं बन पा रहे हैं। उन्हें सही समय पर सही निर्णय लेने में प्रॉब्लम होती है। ऐसे लोगों को मैं कहना चाहूँगा की किताबें पढने का मतलब यह नहीं है की आप हमेशा पढ़ते ही रहे।

आप ऐसी केटेगरी की किताबें पढ़े जो हमें इंसानों को समझने में मदद करें। हमें जीवन का ज्ञान करवाएं, हमें कुछ ऐसा सीखाये जो इस दुनिया में जीवनयापन करने में जरूरी है।

जैसे आप चाणक्य नीति पढ़ सकते हो या फिर चाणक्य नीति की तरह अनेक किताबें है वो पढ़ सकते हो। ऐसी किताबें पढ़ने से हमें सही समय पर सही निर्णय लेने और किसी से वक्तव्य करने में मदद मिलती है।

4. सही समय पर नींद लें

दोस्तों डॉक्टर भी मानते हैं की अगर किसी इंसान की नींद पूरी नहीं होती है तो उनकी सोचने और समझने की शक्ति क्षीण होने लगती है। आपने अपने आस-पास बूढ़े लोगों को देखा होगा। उन लोगों को सोचने और समझने में प्रॉब्लम होती है।

ऐसे लोगों को नींद कम आती है और आमतौर पर नींद ही इसका कारण होती है। ऐसे में अगर आप होशियार बनना चाहते है और चाहते हैं की सामने वाले के सोचने से पहले अपना तर्क देंवे तो हमेशा सही समय पर नींद लेंवे और कम से कम 8 घंटे नींद जरुर लेंवे।

सामने वाले को सुने और उसके बाद उसकी बात का जवाब देंवे बहुत से लोग जल्दबाजी कर देते हैं, वे सामने वाले की बात नहीं सुनते है और अपनी बात कहने लग जाते हैं। ऐसे लोगो के साथ अक्सर हास्यपद घटना घट जाती है जब सभी लोग उन्हें देखने लगते है और उनपर हंसने लग जाते है।

इसका कारण यही है की वो लोग सामने वाले की पूरी बात नहीं सुनते है। ऐसे में एक चालाक इंसान हमेशा सामने वाले की पूरी बात सुनते है और आपको पता होगा की जब हम सामने वाले की पूरी बात सुनते है तो हमारे दिमाग में अनेकआईडिया आते हैं।

अब हम उसकी बात के अनुसार तर्क दे सकते हैं। इसलिए अगर आप चालाक बनना चाहते है तो सामने वाले को सुनना शुरू कर दो।

5. अकेले में अपनी गलतियों के बारें में विचार करें

अगर आप इस आर्टिकल को पढ़ रहे है तो आपने जिंदगी में कभी ना कभी ऐसी गलती जरुर की होगी, जिसकी वजह से आपको लगा होगा की शायद आपके दिमाग में ही कोई कमी है। या शायद सामने वाला आपसे बहुत ज्यादा चालाक था।

अगर आप भी चतुर बनना चाहते है तो अपने जीवन की उन गलतियों के बारें में सोचे जिनकी वजह से आपको सबसे ज्यादा परेशान होना पड़ा। जब आप अपनी गलतियों के बारें में सोचोगे तो आपका दिमाग अपने आप संकेत देगा की आपको यह गलती नहीं करनी चाहिए थी।

ऐसे में आप भविष्य में कभी भी ऐसी गलती नहीं करेंगे और ना ही किसी को करने देंगे। अपनी ऐसी ही छोटी-बड़ी गलतियों पर विचार करें और लोगों को ऐसी गलती करने से बचाएं आप यकीन नहीं करोगे लोग आपसे राय लेने के लिए आने लग जायेंगे और आपको एक चालाक इंसान समझेंगे।

चालाक बनने के लिए चीजों को समझना जरूरी है. यदि आप होशियार बनना चाहते है तो एक साधारण सी थ्योरी है की आप चीजों को उसके गुणों से समझें ना की उसकी शक्ल, उसकी बनावट या उसके रंग से अगर आप चीजों को रंग, बनावट या फिर खूबसूरती से समझते है तो आप कभी चालाक नहीं बन पायेंगे।

अगर आप सच में ऐसा बनना चाहते है तो आप किसी के भी गुणों को समझें और उसके बाद उसके गुणों की तुलना करें, आप अपने आप में ही चालाक इंसान बन जाओगे।

क्योंकि होशियार उसे ही माना जाता है जो ‘किताब को उसके कवर से नहीं, उसमे लिखी स्टोरी/जानकारी जज करता है’। ऐसे लोग चालाक होते है।

चालाक बनने के फायदे क्या-क्या है ?

दोस्तों अगर आप चालाक है तो चालाक बनने के अनेक फायदे हैं, क्योंकि चालाक इंसान कभी किसी से मात नहीं खाता है। वह हर प्रॉब्लम में हर समय अपने दिमाग और अपने अलग तरीके से लोगों को अंचभित करता रहता है। ऐसे लोगों को चंट/ज्ञानी/महाज्ञानी/चतुर इत्यादि कहा जाता है। चालाक बनने के यह फायदे हैं जैसे –

  • चालाक इंसान अपने पैसों को बचाने में सफल होता है।
  • होशियार इंसान अपने काम को निकालने यानि किसी से भी काम करवाने में सक्षम होता है। ऐसे लोग बहुत कम समय में अपना बड़े से बड़ा काम पूरा करवा लेते हैं।
  • चतुर लोगों को समय की अहमियत का पता होता है और वो अपना समय कभी बर्बाद नहीं करते हैं। ऐसे लोग हमेशा समय से एक कदम आगे चलते हैं।
  • ऐसे लोगों के पास कभी पैसों की कमी नहीं होती है और वह अपने दिमाग और अपनी चालाकी से पैसा कमाने के अनेक तरीके निकालते रहते हैं।
  • ऐसे लोग हमेशा अपने आप को अपडेट रहते है यानि इनके पास हमेशा नई जानकारियां होती है। ऐसे लोग अख़बार इत्यादि से ऐसी खबरों का आंकलन करते है जिनपर अनेक लोगों का ध्यान नहीं जाता है।
  • ऐसे लोग बहुत जल्द चीजों को समझ जाते है और अगर किसी भी तरह की प्रॉब्लम है तो उनका हल निकाल लेते हैं।
  • परिवार में इनकी उम्र भले ही कम हो, पर लोग इनसे राय लेने आते हैं।
  • ऐसे व्यक्ति किसी भी कार्य में असफल नहीं होते हैं, वह अपनी सफलता की राह खुद बनाते है।

निष्कर्ष

दोस्तों चालाक बनने के लिए एक स्वस्थ दिमाग और आत्मविश्वास की जरूरत होती है। आज इस आर्टिकल में हमने चालाक कैसे बनें इसके बारें में पढ़ा। यदि आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगा तो हमें कमेंट्स में जरुर बताएं। और हाँ दोस्तों अपना दिल साफ़ रखें और लोगों का अच्छा सोचते रहें पर किसी को भी खुदपर हावी ना होने दें। अगर आप इतना भी करते हो तो आप एक चालाक इंसान हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here