CCC क्या है और इसका फुल फॉर्म क्या है?

आज आपके हाथ में एक स्मार्टफोन तो जरूर होगा जिसे आप दिन भर में कई कामों के लिए इस्तेमाल करते होंगे लेकिन क्या आपको कंप्यूटर में होने वाले कामों के बारे में पता है जैसे की माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में रिज्यूमे बनाना, माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल में कोई शीट तैयार करना और किसी मीटिंग के लिए माइक्रोसॉफ्ट पॉवरपॉइंट में प्रेजेंटेशन बनाना अगर इन कामों के बारे में जानकारी चाहिए होती है तो लोग अक्सर किसी कंप्यूटर से जुड़े कोर्स को करने की सलाह देते हैं. यही वजह है की आज के पोस्ट में हम बात करेंगे की CCC क्या है (What is CCC in Hindi). इसके अलावा हम ये भी जानेंगे की CCC की फीस कितनी है और इसका फुल फॉर्म क्या है.  आज के ज़माने में जिसे भी कंप्यूटर चलना नहीं आता है उसके लिए काम करना बहुत मुश्किल है क्यों कैसी भी जॉब हो चाहे प्राइवेट सेक्टर हो या फिर पब्लिक सेक्टर हो हर जगह अब काम करने के लिए कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जाता है.

अगर आप जानना चाहते हैं की CCC कोर्स कैसे करे तो इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप बहुत अच्छे से समझ जायेंगे की इस कोर्स को करने का तरीका क्या है. हम यहाँ पर ccc tips in hindi आपको बहुत ही आसान शब्दों में बताएँगे जो आपके दिमाग में उठ रहे सभी सवालों का जवाब दे देगा. जो लोग सरकारी या फिर प्राइवेट नौकरियों में हैं यहाँ तक की जो पुराने लोग होते हैं जिन्हे कंप्यूटर की जानकारी बिलकुल भी नहीं होती है उन्हें भी बेसिक कोर्स करना पड़ता है. हर जगह अब डाक्यूमेंट्स और पेपर से जुड़े कामों को कंप्यूटर में किया जाता है फिर चाहे वो कोई कैलकुलेशन करना हो या शीट तैयार करना हो. सभी कामों के लिए अब कंप्यूटर का ही इस्तेमाल होता है.

आज भी कई लोग ऐसे हैं जिन्होंने CCC का नाम नहीं सुना है खैर आपलोगों के इसी तरह के confusion को आज हम इस पोस्ट के माध्यम से क्लियर करने की कोशिश करेंगे.  जिन्हे कंप्यूटर में काम करना नहीं करना नहीं आता ये भी नहीं जानते की कंप्यूटर में इंटरनेट का कनेक्शन कैसे करते हैं तो ये सभी हम यहीं पर जानेंगे. तो चलिए जानते हैं (CCC क्या होता है What is CCC in hindi) और इसका फुल फॉर्म क्या होता है.

CCC क्या है – What is CCC in Hindi

ccc kya hai hindi

CCC एक कंप्यूटर डिप्लोमा कोर्स है जो एक सरकारी संस्था द्वारा चलायी जाती है. इसका सञ्चालन NEILIT (National Institute of Electronics and Information Technology) करती है.  भारतीय सरकार  चाहती है की भारत का हर नागरिक कंप्यूटर सिख सके और ज़माने के साथ अपना विकास भी कर सके. ये कंप्यूटर साक्षरता प्रोग्राम National Task Force on Information Technology and software development की पहल की वजह से ही निकला हुआ परिणाम है.  इस कोर्स को आम आदमी की बुनियादी स्तर के आईटी शिक्षा के प्रोग्राम को लागू करने के लिए बनाया गया है. इस प्रोग्राम को बढ़ावा देने के पीछे का उद्देश्य ये था की हर इंसान ठोस रूप से PC का इस्तेमाल करे. ताकि हर व्यक्ति को बेहतर अवसर की प्राप्ति हो.

इस कोर्स के पूरा होने के बाद कोई भी खुद के डाक्यूमेंट्स तैयार कर सके, इंटरनेट में वेबपेजेस में जाकर जानकारी पढ़ सके और जानकारी दूसरों के साथ शेयर कर सके, प्रसेनटेशन तैयार कर सके, छोटे डेटाबेस तैयार कर सके साथ ही इसी तरह के कामों को आसानी से कर सके. ये कोर्स छोटे कारोबार और हाउसवाइफ को इससे अपने एकाउंट्स को कंप्यूटर की मदद से मेन्टेन करने में सक्षम बनाता है साथ ही इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी की दुनिया में मनोरंजन करने में भी मदद करता है. ये कोर्स पूरी तरह से कामों को प्रक्टिकली करने में मदद करता है. राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सुचना प्रौद्योगिकी संसथान द्वारा संचालित ये संसथान इस कोर्स के अलावा कुछ अन्य कोर्स भी करवाती है जिनमे से ACC, BCC, CCC+ , और ECC प्रमुख हैं.

CCC का फुल फॉर्म – Full Form of CCC in Hindi and English

Course on Computer Concepts

कंप्यूटर अवधारणाओं पर पाठ्यक्रम

सीसीसी कोर्स कैसे करे

इस कोर्स को ज्वाइन करने के लिए आप के पास दो विकल्प है.

Online:  आप NIELIT के ऑफिसियल वेबसाइट पर जा सकते हैं और वहां पर इस कोर्स को ऑनलाइन ही कर सकते हैं. छात्र self learning mode के माध्यम से भी ये कोर्स कर सकते हैं. इसके लिए आप https://student.nielit.gov.in/ पर  जा सकते हैं और वहां से कोर्स के लिए डायरेक्टली अप्लाई कर सकते हैं. फिर कोर्स कर लेने के बाद एग्जाम देने के लिए ऑनलाइन ही रजिस्ट्रेशन करना होता है जहाँ पर परीक्षा लिख कर पास होने पर CCC का सर्टिफिकेट प्राप्त करते हैं.

Offline: वैसे संसथान जिन्हे CCC कोर्स का सिलेबस चलाने के लिए NIELIT की तरफ से authorization मिला हुआ है. ये संस्थाएं इस कोर्स के बाद परीक्षा  लेने के लिए NIELIT द्वारा दिए गए परीक्षा schedule को फॉलो करती हैं.

  •  इस कोर्स को करने के लिए आपके पास कोई खास योग्यता न हो तो भी आप इस कोर्स के प्रोग्राम को ज्वाइन कर सकते हैं. बल्कि अगर आप बस 10th मैट्रिकुलेशन पास कर चुके हैं तो भी आप इस कोर्स को कर सकते हैं.
  •  इसकी परीक्षा हर महीने के पहले शनिवार को ली जाती है.
  • परीक्षा के लिए फीस के तोर पर 500+ सर्विस टैक्स भी लगते हैं.
  • कोर्स करने में कुल समय 80 घंटे लगते हैं.
  • परीक्षा की जगह – इसका चुनाव NIELIT द्वारा किया जाता है.

सीसीसी का सिलेबस – CCC computer course syllabus in Hindi

अगर आप सच में कंप्यूटर सीखना चाहते हैं तो CCC कोर्स करना आपके लिए बेहतर अवसर है लेकिन आपके अंदर ये जरूर जानने की इच्छा हुई होगी की आखिर CCC कोर्स के अंदर क्या क्या पढ़ाया जाता है. इसके लिए हमे इसके सिलेबस के बारे में जानना होगा की परीक्षा में क्या क्या सवाल पूछा जाता है तो चलिए जान लेते हैं की सीसीसी की सिलेबस क्या है (CCC computer course syllabus in Hindi).

Topic
1. कंप्यूटर का परिचय – Introduction to computer
2. GUI आधारित ऑपरेशन सिस्टम का परिचय
3. स्प्रेडशीट – Spreadsheet
4. वर्ड प्रोसेसिंग के तत्व – Elements of Word Processing
5. इंटरनेट, WWW और वेब ब्राउज़र का परिचय
6. प्रेजेंटेशन के एप्लीकेशन
7. संचार और सहयोग – Communication and Collaboration
8. डिजिटल वित्तीय सेवाओं के एप्लीकेशन

इस में कुल 80 घंटे की पढाई कराई जाती है जिसके अंतर्गत Theory – 25 घंटे, Practical – 50 घंटे और Tutorial – 5 घंटे का होता है. इस कोर्स को 10 दिनों के लिए फुल टाइम कोर्स के रूप में भी कराई जा सकती है. ऊपर जो सिलेबस की लिस्ट हमने यहाँ पर दिया है उसी के आधार पर सारे सवाल पूछे जाते हैं.

सीसीसी कोर्स परीक्षा पैटर्न

  • इस परीक्षा में पूछे जाने वाले सवाल Multiple Choice Objective type के होते हैं.
  • इस में टोटल 100 objective type के सवाल पूछे जाते हैं  जो डेढ़ घंटे यानी 100 सवालों के जवाब 90 मिनट में पुरे करने होते हैं.
  • गलत जवाब लिखने पर इस में  नेगेटिव मार्किंग नहीं की जाती है.
  • उसी कैंडिडेट को इस कोर्स के सर्टिफिकेट से सम्मानित किया जाता है जो इस परीक्षा में कम से कम 50 परसेंट मार्क लाने में सफल हो पाते हैं.
  • इस कोर्स के लिए जो सर्टिफिकेट कैंडिडेट को दिया जाता है उसमे परीक्षा में प्राप्त नंबर या मार्क्स % नहीं लिखे होते हैं बल्कि परसेंटेज के आधार ग्रेड लिखा हुआ होता है.
  • ग्रेड सिस्टम आप यहाँ निचे दिए गए टेबल से समझ सकते हैं.
PercentageGrade
50 – 54 %A
75 – 84 %B
65 – 74 %C
55 -64 %D
=85 %S

सीसीसी एडमिट कार्ड कैसे मिलेगा

इस कोर्स के लिए आवेदन करने का तरीका और माध्यम ऑनलाइन होती है. इस परीक्षा को कंडक्ट करने के लिए कई शहरों में इसके लिए सेंटर चुने जाते हैं जहाँ पर परीक्षा के लिए तैयारी कर के रखी जाती है. परीक्षा केंद्र में प्रवेश करने के लिए एडमिट कार्ड यानि प्रवेश पत्र की जरुरत पड़ती है. प्रवेश पत्र में नाम, फोटो इत्यादि होता है और इसका होना बहुत जरुरी होता है. अगर ये न हो तो आपको परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं दी जाएगी.

परीक्षा हाल में किसी भी प्रकार का मोबाइल, स्मार्टफोन या टैब ले जाने की अनुमति नहीं दी जाती है इनका प्रयोग पूरी तरह से वर्जित होता है. इस परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र आप NIELIT की वेबसाइट में जाकर डाउनलोड कर सकते हैं. डाउनलोड करने के बाद उसका प्रिंट निकाल रख ले और परीक्षा के दिन उस एडमिट कार्ड (प्रवेश पत्र) को साथ में लेते जाना है.

सीसीसी की फीस कितनी है?

सीसीसी कोर्स करने के लिए पहले तो एग्जामिनेशन देना होता है जिसकी फीस 500+ टैक्स है. इस कोर्स को करने के लिए टूशन फीस के रूप में 3000 रूपये तक लगती है.

सीसीसी कोर्स के फायदे

अब जब आप इस कोर्स को करने का सोच रहे हैं तो आपने इसके बारे में कुछ तो फायदा सुना ही होगा तभी आपकी रूचि इसके लिए जगी है और आप इस पोस्ट को पढ़ कर इसकी जानकारी इकठ्ठा कर रहे हैं. हम यहाँ आपको इससे होने फायदे बताएँगे जिससे आप इसकी विशेषता को और बेहतर तरीके से समझ सकते हैं.

कंप्यूटर का बेसिक ज्ञान : अगर आपके पास कंप्यूटर के बारे में किसी तरह का ज्ञान नहीं है तो इस कोर्स को करने के बाद आप की इसकी बेसिक नॉलेज हो जायेगा.  पढाई करने का सबसे बड़ा फायदा यही है. आज के वक़्त में अगर कंप्यूटर की थोड़ी जानकारी तो होनी ही चाहिए क्यों की हर जगह सेवाओं का इस्तेमाल करने के लिए digitization किया जा रहा है और उनका इस्तेमाल करने के लिए इतने ज्ञान का होना बहुत ही जरुरी है. इस के अलावा आप साधारण कैलकुलेशन से जुड़े काम और स्प्रेडशीट बनाने में सक्षम हो जायेंगे , आप खुद ही अपना रिज्यूमे भी बना सकेंगे साथ ही इंटरनेट चला कर  जानकारी हासिल कर सकेंगे.

जॉब के मौके : हर जगह कंप्यूटर में काम करने वाले लोगों की जरुरत पड़ती है. जब आप इस पढाई को सफलता से पूरा कर के सर्टिफिकेट हासिल कर के सरकारी नौकरियों के लिए अप्लाई कर सकते हैं. बहुत सारे  और प्राइवेट जॉब हैं जिन्हे ज्वाइन  कर ने के लिए कंप्यूटर कोर्स का किया हुआ होना जरुरी है अगर कोर्स नहीं किया है तो फिर आपको उस में अप्लाई करने से कोई फायदा नहीं है.

ऑनलाइन शॉपिंग, आर्डर करना आसान : सीसीसी कर लेने के बाद आप खुद ही इंटरनेट का इस्तेमाल कर के ऑनलाइन खरीददारी कर सकते हैं. घर बैठे ही अपनी पसंद  को आर्डर कर के मंगवा सकते हैं. आजकल तो ऑनलाइन हर काम हो जाता है जिसमे ऑनलाइन शॉपिंग की जरुरत लगभग हर किसी को पड़ ही जाती है.

स्टूडेंट्स की पढाई में उपयोग : अब वो ज़माना नहीं रहा की छात्र बस अपनी किताबों में ही पढाई के लिए टॉपिक पर ध्यान देते हैं. आज यूट्यूब में किसी भी टॉपिक को समझना आसान हो जाता है. सिर्फ थ्योरी पढ़ने में कई छात्र बोर हो जाते हैं लेकिन वीडियो के माध्यम से पढाई करना काफी इंटरेस्टिंग लगता है और मज़ा भी आता है. जहाँ पढाई करने में बोझ न ही और शौक बन जाये तो सिखने में आसानी होती है.

हाउसवाइफ के लिए उपयोगी : स्त्रियां कला के क्षेत्र में काफी शौक रखती हैं. उन्हें घर में कई तरह के हस्तकला रखने का शौक होता है जो घर की सजावट में काफी महत्वपूर्ण होते हैं. खाना बनाने के लिए नयी नयी रेसेपी इंटरनेट में मिल जाता है और इस तरह अपना शौक पूरा करती हैं.

सीसीसी  से जुड़े पूछे अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

CCC कोर्स करने के लिए कितनी शिक्षा का होना अनिवार्य है?

इसके लिए किसी तरह का कोई योग्यता का होना अनिवार्य नहीं है. कोई भी व्यक्ति जो इसकी पढाई करना चाहते हैं वो इसके लिए आवेदन कर सकते हैं और पढाई पूरा कर सकते हैं.

ये कोर्स कितने दिनों का होता है?

इसकी पढाई कुल मिलकर 80 घंटों की होती है. जिसे 10 दिनों में फुल टाइम कोर्स के रूप में कर सकते हैं.

इस कोर्स को करने के लिए कम से कम कितनी उम्र होनी चाहिए?

इस की पढाई सभी को एक तरह से एक्स्ट्रा नॉलेज देने के लिए कराया जाता है इसीलिए इस में किसी तरह की आयु सीमा नहीं राखी गयी है. बल्कि किसी भी उम्र का इंसान इस की पढाई कर सकते हैं.

इस की परीक्षा के लिए कैसे अप्लाई करें?

इसकी परीक्षा देने के लिए सिर्फ ऑनलाइन तरीके से ही अप्लाई कर सकते हैं. ऑनलाइन फॉर्म भर के परीक्षा शुल्क दे सकते है और फिर एडमिट कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं.

इस कोर्स की परीक्षा फीस क्या है?

इसकी परीक्षा शुल्क 500+ सर्विस टैक्स लगता है.

संक्षेप में

आज की पोस्ट में हमने बात की एक ऐसे कोर्स के बारे में जिसकी पढाई करने से कई फायदे उठाये जा सकते हैं और साथ ही कई ऐसे सरकारी पदों के लिए आवेदन कर सकते हैं जिनके लिए आप हमेशा सोचते होंगे.

आपलोगो के फायदे को ध्यान में ही रखकर हमने आज जाना की CCC क्या है (What is CCC in Hindi).  क्या फायदे हैं साथ ही हमने ये भी जाना की सीसीसी की फीस कितनी है और इसका फुल फॉर्म क्या होता है. इस पोस्ट को पढ़कर आप समझ गए होंगे की सीसीसी का सिलेबस क्या है और इसकी पढाई के लिए कैसे आवेदन करें? इस पोस्ट को पढ़कर आप ये भी समझ गए होंगे की इस कोर्स को कैसे करें?

मैं उम्मीद करता हूँ की ccc tips in hindi से आप समझ ही गए होंगे की इसमें क्या होता है और इस की पढाई को करने के क्या फायदे हैं और अगर आपको ये पोस्ट अच्छा लगा होगा तो इसे अधिक से अधिक फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम में शेयर करें.

2 COMMENTS

  1. अगर मेरा सीसीसी का एग्जाम अच्छा न रह हो तो क्या मैं दोबारा वो एग्जाम दे सकता हूँ??

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here