सीबीआई ऑफिसर कैसे बने और इसके लिए क्या पढ़े?

सीबीआई किस तरीके से काम करती हैं और उसमें कितने टैलेंटेड लोगों को रखा जाता है और उन्हें ही देखकर हमारे अंदर भी यह इच्छा जगती है कि काश हम भी सीबीआई में भर्ती होते हैं इस तरह की सोच रखने वाले युवाओं के मन में यह सवाल खड़ा होता है कि सीबीआई ऑफिसर कैसे बने और सीबीआई बनने के लिए क्या पढ़े.

बहुत सारे लोग ऐसे आज भी हैं जो सीबीआई नाम तो जानते हैं लेकिन उन्हें यह नहीं पता होता है कि सीबीआई का फुल फॉर्म क्या होता है. खैर कोई नहीं आपको हम यहां पर बताएंगे कि सीबीआई का फुल फॉर्म क्या है.

इसके अलावा इससे जुड़ी और भी महत्वपूर्ण जानकारी आपको यहां पर जानने को मिलेगी तो बिना देरी किए हुए चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं कि सीबीआई ऑफिसर की सैलरी क्या होती है?

इससे पहले कि हम यह जानकारी हासिल करें कि एक सीबीआई ऑफिसर कैसे बनते हैं हमें यह जान लेना बहुत ही जरूरी है कि आखिर यह सीबीआई है क्या. जो लोग इसके पीछे इतने परेशान रहते हैं और इस पर काफी मेहनत भी करते हैं.

सीबीआई क्या है – What is CBI in Hindi?

CBI Officer kaise bane hindi

CBI भारत की सबसे प्रमुख जांच एजेंसी है. Ministry of Personnel, Public Grievances और Pensions के अधिकार क्षेत्र के तहत सीबीआई का लीडरशिप डायरेक्टर द्वारा किया जाता है.

एजेंसी कई प्रकार के मामलों की जांच करती है जिसमें सबसे प्रमुख  financial अपराधों, विशेष अपराध, भ्रष्टाचार के मामलों और दूसरे हाई प्रोफाइल मामले शामिल है.

सीबीआई का हेड क्वार्टर भारत के राजधानी न्यू दिल्ली में स्थित है. अभी के समय में इसके डायरेक्टर ऋषि कुमार शुक्ला है.

सीबीआई ने कई ऐसे जटिल मामलों का भी हल किया है जिससे इसकी प्रतिष्ठा स्थापित हुई है और इसके महत्व का भी पता चला. क्या देश को कई प्रकार के अनैतिक गतिविधियों से बचाने के लिए हमेशा काम करते हैं.

देश में चल रहे जब किसी मामले की जांच अच्छे ढंग से नहीं हो पाती है या फिर कोई केस ऐसा पेचीदा होता है जो सुप्रीम कोर्ट में चला जाता है तो उसे सुप्रीम कोर्ट सीबीआई को जांच करने का फैसला देती है.

ऐसा नहीं है कि यह किसी विशेष राज्य के लिए काम करती है. मामला किसी भी राज्य का हो अगर वहां की एजेंसी उसे हल करने में समर्थ नहीं हो पाती है तो फिर मामले को सीबीआई को सौंप दिया जाता है.

यह सीबीआई की प्रतिष्ठा है कि पूरे देश भर में पेचीदा मामले उसी के सामने आते हैं जिससे उन्हें हल करना होता है.

सीबीआई का फुल फॉर्म – Full Form of CBI

Central Bureau of Investigation

CBI full form in hindi

केंद्रीय जांच ब्यूरो

सीबीआई ऑफिसर कैसे बने?

सीबीआई उम्मीदवारों की सीधी भर्ती, डेपुटेशन, प्रमोशन या लिमिटेड डिपार्टमेंटल कॉम्पिटेटिव एग्जामिनेशन के माध्यम से भर्ती करती है.

सीबीआई जॉइन करने के लिए सब इंस्पेक्टर के रूप में एसएससी कंबाइंड ग्रैजुएट लेवल एग्जामिनेशन CGLE लिखना होगा. जिसके बाद मेडिकल एग्जामिनेशन और पर्सनल इंटरव्यू के द्वारा उम्मीदवारों के चयन किया जाता है.

केंद्रीय जांच ब्यूरो CBI में अधिकारी बनना भारती कई युवाओं का सपना है. गैस एजेंसी है जो लोगों के बीच में भी काफी पॉपुलर है लेकिन फिर भी बहुत सारे ऐसे लोग हैं जिन्हें यह नहीं मालूम होता है कि सीबीआई ऑफिसर बनने के लिए क्या करना पड़ता है इसका तरीका क्या है.

सीबीआई में खाली जगहों को भरने के लिए दो अलग अलग एजेंसियां परीक्षा आयोजित करती हैं. सीबीआई में भर्ती के लिए मुख्य रूप से जो दो एजेंसी काम करती हैं वह है UPSC और SSC.

सीबीआई ने ग्रुप ए अधिकारी बनने के लिए आपको UPSC द्वारा आयोजित सिविल सेवा परीक्षा का चुनाव करना चाहिए और आईपीएस अधिकारी बनना चाहिए.

सीबीआई में सब इंस्पेक्टर के रूप में शामिल होने के लिए आपको SSC CGL परीक्षा पास करना होगा.

Designation Recruitment Agency
Group A Officer UPSC Civil Services Exam
Sub Inspector SSC CGL

अगर अब सीबीआई में अधिकारी बनने का सपना देख रहे हैं तो आपको हर साल स्टाफ सिलेक्शन कमिशन SSC द्वारा आयोजित Combined Graduate Level Examination (CGL) परीक्षा में पास करना पड़ेगा.

अगर आप सच में इस विभाग को ज्वाइन करना चाहते हैं तो आपको अगले साल की तैयारी अभी से शुरू कर देनी चाहिए.

यह एक four-tier एग्जाम होता है जिसमें दो ऑनलाइन ऑब्जेक्टिव टाइप एग्जाम और एक डिस्क्रिप्टिव टाइप एकदम पेन और पेपर से लिखना पड़ता है.

फाइनल स्टेज में दस्तावेज का वेरिफिकेशन किया जाता है. इस परीक्षा का परीक्षा फल प्राप्त करने के लिए आपको SSC CGL वेबसाइट को देखना पड़ता है.

CBI सब इंस्पेक्टर एक्जाम पैटर्न

केंद्रीय जांच ब्यूरो में सब इंस्पेक्टर बनने के लिए आपको एसएससी CGL की परीक्षा पास करनी जरूरी है. स्टाफ सिलेक्शन कमीशन द्वारा आयोजित CGL में 4 चरण होते हैं.

सभी चार चरणों में सफलता पाने के बाद ही अब सीबीआई में सब इंस्पेक्टर के रूप में शामिल हो सकते हैं. सीबीआई सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा का पैटर्न हम नीचे दे रहे हैं.

परीक्षा Mode of Exam
Tier 1 Computer-Based Objective Exam
Tier 2 Computer-Based Objective Exam
Tier 3 Descriptive Written Test
Tier 4 Computer Proficiency Test(CPT)/ Document Verification

जैसा कि हमने आपको पहले ही बता दिया है कि एसएससी द्वारा आयोजित किए गए एग्जाम SSC CGL के चारों टायर को पास करना पड़ेगा उसके बाद ही आपको सीबीआई ऑफिसर के लिए अपॉइंटमेंट लेटेस्ट दिया जाएगा.

सीबीआई ऑफिसर के लिए आयु सीमा

केंद्रीय जांच ब्यूरो में सब इंस्पेक्टर के आवेदन करने की आयु सीमा 20 से 30 वर्ष है.

जनरल कैटेगरी के उम्मीदवारों के लिए सीबीआई में सीनियर इंस्पेक्टर पोस्ट के लिए आवेदन करने के ऊपरी आयु सीमा 27 साल थी लेकिन अब इसे संशोधित करके 30 साल कर दिया गया है.

ओबीसी कैटेगरी के लिए सब इंस्पेक्टर के रूप में सीबीआई में शामिल होने के लिए अधिकतम आयु सीमा 33 साल है. अगर हम एससी-एसटी की बात करें तो यह सीमा 35 वर्ष की है.

CBI Inspector Eligibility Criteria

एक सीबीआई अफसर बनने के लिए आपको SSC CGL की परीक्षा पास करनी जरूरी है उसके अलावा आपके पास यह क्वालिफिकेशन होना भी जरूरी है.

Educational Qualification – शैक्षणिक योग्यता

एक मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए. अगर ग्रेजुएशन के लास्ट ईयर में है तो भी उम्मीदवार आवेदन कर सकते हैं हालांकि उन्हें अधिसूचना के वर्ष के 1 अगस्त से पहले अपना कोर्स पूरा हो जाना चाहिए.

Age Limit – आयु सीमा

General Category – 20 से 30 साल

OBC Category – 20 से 33 साल

SC/ST category – 20 से 35 साल

CBI Officer Salary – सीबीआई ऑफिसर की सैलरी

सीबीआई सब इंस्पेक्टर को 9380 – 34800 भारतीय रुपए हर महीने के रूप में पे स्केल में रखा जाता है. वहीं अगर हम बात करें सीबीआई इंस्पेक्टर की तो उनकी ग्रेड पे 42 सो रुपए होती है और हाथ में उन्हें हर महीने ₹44000 सैलरी मिलती है.

वैसे तो सरकारी नौकरी बहुत तरह की होती हैं. जिसमें अलग-अलग डिपार्टमेंट में अलग-अलग प्रकार के पद दिए जाते हैं.

वैसे भी युवाओं में ज्यादातर डॉक्टर और इंजीनियर बनने की ख्वाहिश होती है वहीं कुछ लोग साइंटिस्ट बनकर देश की सेवा करने का भी विचार रखते हैं.

ज्यादातर जो गार्जियन होते हैं वह अपने बच्चों को डॉक्टर और इंजीनियर ही बनाना चाहते हैं बहुत कम लोग होते हैं जो डिफेंस में भेजना चाहते हैं.

खासकर सीबीआई जैसे क्षेत्र में बहुत कम लोगों की रुचि होती है और सभी लोग चाहते हैं कि उनके बेटे इस विभाग में भर्ती हो. जो बच्चे शुरू से इसे लेकर जुनूनी होते हैं वही इस क्षेत्र में आना पसंद करते हैं.

सीबीआई के तौर पर काम करने के लिए काफी लगन मेहनत और दिमाग की जरूरत पड़ती है. इस पद पर काम करने वाले लोगों का दिमाग आम लोगों के दिमाग से काफी तेज चलता है.

तो दोस्तों अगर आप में भी इस तरह का सोचने की क्षमता है और आप चाहते हैं कि देश के लिए सेवा करें और ऐसे शानदार केस को सॉल्व करें जो बहुत मुश्किल है तो फिर यह जो अब आपके लिए एक सपने से कम नहीं होगा.

सीबीआई का इतिहास – History of CBI in Hindi

केंद्रीय जांच ब्यूरो की शुरुआत सबसे पहले Special Police Establishment (SPE) स्पेशल पुलिस एस्टेब्लिशमेंट के रूप में की गई थी और इसकी जो संरचना स्थापित की गई थी वह 1941 में हुई थी.

उस वक्त यह संस्था दूसरे विश्वयुद्ध के समय WAR आर सप्लाई डिपार्टमेंट के बीच में हो रहे ट्रांजैक्शन में घूसखोरी और भ्रष्टाचार के मामलों की जांच करना था.

दूसरा विश्व युद्ध खत्म होने के बाद भी केंद्रीय सरकार एजेंसी की जरूरत घूसखोरी और करप्शन के मामलों की जांच करने के लिए पढ़ने लगा था, इसीलिए दिल्ली स्पेशल पुलिस स्थापना अधिनियम 1946 में लागू किया गया था.

इस अधिनियम में SPE के सुपरिटेंडेंट को गृह विभाग में ट्रांसफर कर दिया और इसके जो काम थे उस सभी विभागों को कवर करने के लिए बढ़ाया गया था.

इसलिए वहां के अधिकार क्षेत्र को भी सभी केंद्र शासित प्रदेशों तक फैलाया गया और दूसरे राज्यों को राज्य सरकार की सहमति से भी बढ़ाया जा सका.

फिर समय आया जब 1 अप्रैल 1963 को इस संस्था का नाम गृह मंत्रालय के प्रस्ताव के माध्यम से केंद्रीय जांच ब्यूरो यानी कि सीबीआई कर दिया गया.

शुरुआती दौर में केंद्रीय सरकार के अंतर्गत काम करने वाले कर्मचारी के बारे में जो भी करप्शन के मामले आते थे सिर्फ उनके मामलों की जांच करने के लिए सीबीआई काम करते थे.

जैसे-जैसे भारतीय प्राइवेट सेक्टर को पब्लिक सेक्टर में बदलाव ऐसे ही यह पब्लिक सेक्टर 20 सीबीआई के दायरे में आ गए. जब बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया गया तो बैंक और उनके कर्मचारी भी सीबीआई के अंतर्गत आने लगे.

संक्षेप में

बहुत सारे ऐसे स्टूडेंट होते हैं जिन्हें बचपन से ही सीबीआई ऑफिसर बनने की चाहत होती है. अक्सर बच्चे फिल्मों में देखकर जान पाते हैं कि सीबीआई एक ऐसी डिपार्टमेंट है जो जटिल से जटिल मामलों की भी जांच करके उसका हल निकालते हैं.

एक तरह से भारतीय सरकार के जो जटिल काम होते हैं उन पर सीबीआई को ही लगाया जाता है. इस तरह से एक ऐसी छवि हमारे बीच बनती है जो काफी रोमांचक है. यही वजह है कि अधिकतर जो बच्चे इस फील्ड में जाना चाहते हैं वह यह जानना चाहते हैं कि सीबीआई ऑफिसर कैसे बने?

इसके अलावा इस पोस्ट में हमने आपको यह भी बताया कि जिन लोगों की यह नहीं मालूम होता है कि जिस नाम का हम यूं ही लेते हैं यानी कि सीबीआई का फुल फॉर्म क्या है (Full Form of CBI) और एक सीबीआई बनने के लिए क्या पढ़े इसकी जानकारी भी हमने इस पोस्ट के माध्यम से आपको देने की कोशिश की है.

भविष्य सुनहरा हो और आरामदायक जिंदगी हो इसलिए हर कोई चाहता है कि जहां पर भी वह काम करें उनका पे स्केल अच्छा हो इसीलिए बहुत लोगों को यह भी जाने की इच्छा होती है कि सीबीआई ऑफिसर की सैलरी कितनी होती है जिसके बारे में भी हमने यहां पर चर्चा किया है.

हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी और अगर अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक, टि्वटर, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप में अधिक से अधिक शेयर करें.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here