ब्लॉगिंग क्या है और एक शानदार ब्लॉग कैसे बनाएं?

आज हर रोज़ कई लोग इंटरनेट में ढूंढते हैं की ब्लॉग्गिंग क्या है (What is blogging in hindi) साथ ही ये भी जानने को बहुत इंटरेस्टेड होते हैं की ब्लॉग्गिंग कैसे करे इसे कैसे सीखे. बहुत से युवा हर रोज़ यूट्यूब में कई वीडियोस देखते हैं जिनके साथ उन्हें ब्लॉग्गिंग, यूट्यूब चैनल इत्यादि के बारे में पता चलता है और इससे पैसे कमाने और इस पर करियर बनाने के बारे में भी जानकारी है जाती है. जब बात पैसे कमाने और जिंदगी सवारने की हो तो कोई भला कैसे पीछे रहे इसीलिए वो भी इस नए फील्ड के बारे में जानकारी लेने में उत्सुक हो जाते हैं और इंटरेस्ट लेने लग जाते हैं लेकिन उनके मन में फिर भी ये सवाल कई बार तो आता है की आखिर ब्लॉग क्या होता है और इससे पैसे कैसे कमाते हैं?

जहाँ पैसा आता है तो वो इतनी आसानी से नहीं आता है जितना पहली बार में लोग अक्सर सोच लिया करते हैं. ये फील्ड भी कुछ ऐसा ही है जहाँ देखने और सुनने में तो काफी आसान लगता है लेकिन इस में भी दूसरे जॉब और काम की तरह ही बहुत कठिन मेहनत करना पड़ता है. कुछ लोग जिनके पास किसी खास विषय में अच्छा ज्ञान होता है और साथ ही जिन्हे बोलना और लोगों के सामने खुद को प्रेजेंट करना अच्छा लगता है वो यूटूबर बन कर करियर बना रहे हैं और जो इस में संकोच करते हैं और कुछ दूसरा उपाय ढूंढते हैं जिससे की अपने हुनर को लिखकर लोगों तक पहुंचा सके वो ब्लॉग्गिंग करना पसंद करते हैं.

इंटरनेट का इस्तेमाल काफी तेज़ी से बढ़ रहा है जिससे इंटरनेट यूजर की तादाद में काफी तेज़ी से बढ़ोतरी हुई है ऐसे में लोगों का इंटरेस्ट किताबों से ज्ञान लेने की बजाय इंटरनेट से ज्ञान लेने में बदला है. यही वजह है की जहाँ पहले लोग अपने बुजुर्गों, शिक्षकों और पेरेंट्स से जानकारी हासिल करते थे वहीँ आज इनकी भी लोगों को जरुरत महसूस नहीं होती क्यूंकि इनकी जगह अब ये काम इंटरनेट ही कर देता हैं. ऑनलाइन जानकारी हासिल करने के लिए इंटरनेट में कई तरह की सुविधाएँ हैं जिन में गूगल सर्च इंजन लोगों के दिल और दिमाग में इस कदर बैठा हुआ की सबका मानना है की इंटरनेट मतलब गूगल.

मुझे ये बहुत अच्छे से पता है की आप भी ब्लॉग्गिंग के क्षेत्र रूचि लेने लगे हैं और इसके बारे में जल्दी से जल्दी जानकर इस फील्ड में काम शुरू करना चाहते हैं लेकिन मैं आपको पहले ही बता दूँ की इस के लिए आपको काफी कड़ी मेहनत  पड़ेगी लेकिन एक फायदा ये भी है की आपके ऊपर कोई बॉस नहीं रहेगा और आप बिलकुल फ्री माइंड से काम कर सकेंगे है लेकिन इसके पहले आपको अच्छे से समझना होगा की ब्लॉग्गिंग क्या होता है और ब्लॉग कैसे बनाएं? (What is blogging in hindi).

Contents show

ब्लॉग्गिंग क्या है – What is blogging in Hindi

blogging kya hai hindi

जब कोई इंसान अपने ज्ञान या टैलेंट को शब्दों और तस्वीरों के माध्यम से ऑनलइन वेब लोग के रूप में लिखता है और दूसरे लोगों को इसे पढ़कर जानकारी मिलती है तो इस प्रोसेस को ही हम ब्लॉग्गिंग के नाम से जानते हैं. ये ठीक उसी तरह होता है की हम अपने पास एक डायरी रखते हों और हर दिन या फिर जब भी वक़्त मिलता हो तो हम उसमे अपनी इच्छा और इंटरेस्ट वाली बातें लिख लेते हों.

वैसे शुरुआत में ब्लॉग्गिंग का मकसद ऑनलाइन पर्सनल Weblog क के रूप में किया गया था जहाँ लोग journal के रूप में अपने तथ्य लिखा करते थे. और यही से ब्लॉग्गिंग शब्द सभी के सामने आया. इंटरनेट में और इनोवेशन के जैसे ही कुछ व्यवसाइयों को ये एहसास हो गया की एक ब्लॉग में मार्केटिंग की बहुत सी क्षमताएं छुपी हुई हैं और इस तरह ब्लॉग्गिंग ने रफ़्तार पकड़ी  ब्लॉग्गिंग का इस्तेमाल सिर्फ मार्केटिंग के लिए ही नहीं बल्कि होम बिज़नेस के लिए भी हो सकता है इसका एहसास भी हुआ और यही वजह है की आज भी आप इसके बारे में जानकारी हासिल करने के लिए इस पोस्ट को पढ़ रहे हैं. और आप थोड़ा बहुत समझ ही गए होंगे की ब्लॉग्गिंग क्या चीज़ है और इस में कितनी क्षमता है.

ब्लॉग क्या है – What is blog in Hindi

एक ब्लॉग एक प्रकार की वेबसाइट होती है जहाँ पर नए पोस्ट पहले आते हैं यानि पहले पेज पर दिखाई देते है और पुराने क्रमानुसार पीछे होते हैं. ब्लॉग में लिखे जाने वाले अलग अलग टॉपिक के कंटेंट को blog post कहा जाता है.  ब्लॉग मुख्य रूप से एक व्यक्ति या एक छोटे से ग्रुप द्वारा जानकारी मुहैया करने का माध्यम होता है जहाँ वो अपने अनुभव को बात चित करने के लहज़े में लोगों को बताते हैं. वैसे अब बहुत सारे कॉर्पोरेट ब्लॉग हैं जो बहुत अधिक सूचनात्मक और लोगों के काम के कंटेंट उपलब्ध करते हैं.

चाहे किसी भी प्रकार का ब्लॉग हो भले ही कुकिंग रिलेटेड हो, हेल्थ से जुड़ा या फिर खेलकूद के बारे में हो ब्लॉग को लगातार रूप से अपडेट किया जाता है. इन में हर हफ्ते कई तरह की नयी जानकारी लिखी जाती है. बहुत सारे ऐसे भी वेबसाइट आपने देखें होंगे जिन में बहुत लम्बे समय तक कोई बदलाव देखने को नहीं मिलता है लेकि ब्लॉग के साथ ऐसा बिलकुल भी नहीं है इस में यूजर को भरपूर जानकारी देने के लिए साप्ताहिक रूप से कंटेंट दिए जाते हैं. इसके अलावा इसमें सोशल वेबसाइट भी जोड़ा रहता है यानि आप जिस जानकारी को चाहे अपने सोशल अकाउंट में जुड़े लोगों को शेयर कर सकते हैं.

इस में एक और ख़ास बात ये होती है की आपको इस में किसी टॉपिक के ऊपर आप अपने विचार भी लिख सकते हैं और अगर कहीं कोई doubt है तो उसे भी ऑथर या लेखक से पूछ कर क्लियर कर सकते हैं. अभी भी बहुत सारे लोगों के मन में इस बात को लेकर confusion बना होता है की ब्लॉग और वेबसाइट में क्या फर्क होता है तो चलिए इसे भी जान ही लेते हैं.

ब्लॉग और वेबसाइट में क्या अंतर है?

  • ब्लॉग एक प्रकार की वेबसाइट होती है. लेकिन हर वेबसाइट ब्लॉग नहीं होता है.
  • ब्लॉग और वेबसाइट के बीच सबसे मुख्य अंतर् ये होता है की ब्लॉग में कंटेंट रेगुलर तरीके से अपडेट की जाती है और पुराने कंटेंट पीछे चलते जाते हैं और नए सबसे ऊपर होते हैं और ये क्रमबद्ध तरीके से होता है.
  • अधिकतर वेबसाइट static पेज के रूप में बनाये जाते हैं. जहाँ सब कुछ हर रोज़ एक जैसा ही दिखाई देता है इसमें कंटेंट को पेजेज के अंदर ओर्गनइजे कर के रखा जाता है और इन्हे फ्रीक्वेंटली अपडेट नहीं किया जाता है. जबकि ब्लॉगर हर दिन कुछ अपडेट करते रहते हैं और पुराने कंटेंट को समय के साथ अपडेट कर के लोगों तक पहुंचते हैं. एक दिन में कई नए आर्टिकल भी पब्लिश कर लेते हैं.
  • ब्लॉग एक बड़ी वेबसाइट का हिस्सा हो सकता है जो लोगों को प्रोडक्ट या कोई सेवा देती हो. बहुत सारे ऑनलाइन बड़े वेबसाइट में ब्लॉग एक छोटा सा वेबसाइट का ही भाग होता है. जहाँ से ये अपनी सेवाओं के बारे में लोगों को लिख कर और टुटोरिअल के माध्यम से भी बताते हैं.
  • आप एक वेबसाइट और ब्लॉग दोनों को ही बनाने के लिए वर्डप्रेस का इस्तेमाल कर सकते हैं. इसीलिए बहुत सारि कंपनियों के मालिक वेबसाइट बनाने के लिए वर्डप्रेस का इस्तेमाल करते हैं.
  • इसमें आर्टिकल्स को केटेगरी के रूप में अलग अलग कर के रखा जाता है ताकि जरुरत पड़ने पर उसे आसानी से ढूंढा जा सके.
  • अपने लिखे आर्टिकल की उपयोगिता और उन तक आने वाले विजिटर के अनुभव को समझने के लिए एक कमेंट फॉर्म दिया हुआ रहता हैं जिससे कोई भी अपना फीडबैक लिखकर उस लेखक को बता सकता है.
  • तो अगर हम सरल शब्दों में बात करें तो सभी ब्लॉग वेबसाइट या वेबसाइट का एक हिस्सा हो सकते हैं लेकिन हर वेबसाइट ब्लॉग नहीं हो सकता है.

उदाहरण के लिए wtechni एक ब्लॉग है और इसे वेबसाइट भी बोल सकते हैं जहाँ हर साप्ताहिक रूप से हम आपके लिए कई आर्टिकल्स लिख कर आपके लिए पब्लिश करते हैं.

ब्लॉग्गिंग कैसे करे?

विस्वास करिये आप भी ब्लॉग्गिंग कर सकते हैं हर वो इंसान इस में काम शुरू कर सकता है जिसे ये लगता है की उससे एक सेंटेंस भी नहीं लिखा जाता है. मैं भी ऐसे  ही केटेगरी के इंसानो में से एक था जो एक वाक्य लिखने से भी कतराता था. लेकिन आज मैंने 100 से भी अधिक आर्टिकल्स लिख लिया है तो जब मेरे जैसा इंसान ब्लॉग्गिंग कर सकता है तो आप क्यों नहीं कर सकते. अब हम यहाँ बात करेंगे की वो कौन स्टेप्स हैं जिससे ब्लॉग्गिंग के क्षेत्र में जाने के लिए जरुरी हैं.

अपने इंटरेस्ट वाले niche का चुनाव करे

ये बात शायद आपको अजीब लगे ये सच्चाई है की आपसे बेहतर ये कोई आपको कोई नहीं बता सकता है की आपको क्या पसंद है, आप किस niche में बहुत रूचि रखते हैं या फिर वो कौन सा niche है जिसमे आप हर रोज़ कुछ नया लिख सकते हैं. काम वो नहीं करना चाहिए जिस में आप कुछ दिन के  लिए ही संतुष्ट हों बल्कि अपने शौक और हुनर को ही अपना काम बना लीजिये फिर आपको 24 घंटे भी लगेंगे की कम समय मिला है काम करने के लिए.

उदाहरण के लिए अगर आपको खाना बनाना पसंद है और आप टेक्नोलॉजी के ऊपर ब्लॉग्गिंग करते हैं तो फिर आप इस में मुश्किल से कुछ समय तक ही इंटरेस्ट लेंगे उसके बाद आपको वो बोर लगने लगेगा इसीलिए मैं यही कहूंगा की अगर खाना, कुकिंग इत्यादि पसंद करते हैं तो कुकिंग से जुड़ा ब्लॉग बनाइये और फिर देखिये आपको ये काम, काम जैसा लगेगा ही नहीं बस हर वक़्त आनंद ही आएगा.

ब्लॉग्गिंग की शुरुआत शौक पूरा करने के लिए करे

ये मेरे ख्याल से एक बहुत ही महत्वपूर्ण पॉइंट है क्यूंकि अक्सर लोग ज्यादा की उम्मीद करते हैं और वो भी बिना 100% दिए हुए. एक बिगिनर को ब्लॉग्गिंग सिखने में बहुत लम्बा समय भी लग जाता है यहां तक एक से दो साल भी हो जाते हैं और कई लोगों को इसका बेसिक ज्ञान भी नहीं  हो पाता. इसका मुख्य कारण है की लोगों के मन में बस एक भूत सवार होता है वो होता ब्लॉग से पैसे कमाने का जो की 6 महीने के अंदर ही उतर जाता है. ऐसे लोग किसी तरह 6 महीने से एक साल ब्लॉग्गिंग में लगे रहते हैं और रिजल्ट कुछ नहीं मिलता तो वही अपना ब्लॉग बंद कर देते हैं.

बिगिनर को करना ये चाहिए की ब्लॉग्गिंग से जुडी हर छोटी से छोटी जानकारी ले और एक साल तक बस ज्ञान हासिल करे इसके बारे में और SEO के साथ बेहतरीन कंटेंट लिखे और एक साल तक कुछ भी उम्मीद न करे बस अपने काम को एन्जॉय करे अपने चुने पसंदीदा niche के साथ. मैं आपको गारंटी देता हूँ की आपको सफल होने से कोई नहीं रोक सकेगा.

इसके अलावा जो महत्वपूर्ण बातें ब्लॉग्गिंग करने के लिए वो हम निचे बता रहे हैं.

अपने ब्लॉग का नाम और डोमेन का चुनाव करें

ब्लॉग्गिंग शुरू करने से पहले सबसे जरुरी काम आपको जो करना है वो ये है की अपने ब्लॉग के लिए अच्छा नाम  का चुनाव करना और साथ उसके अनुसार डोमेन खरीदना.

एक अच्छी होस्टिंग कंपनी का चुनाव करें

आज के समय में कम्पेटेशन काफी बढ़ चूका है आप जिस भी niche का चुनाव करेंगे आपको पहले से उसमे कई आर्टिकल लिखे हुए मिल जायेंगे. इसीलिए ऐसे समय में अगर आपको सफलता चाहिए तो तेज़ गति और 100 % uptime वाले होस्टिंग का चुनाव करना होगा. इसके अलावा आपको वैसे होस्टिंग का चुनाव करना चाहिए जो बेहतरीन कस्टमर सेवा देते हैं.

अच्छे CMS का चुनाव करेंलोगों तक पहुँचाने

आर्टिकल्स लिखना और उन्हें पब्लिश करना साथ ही अपने विचारों को लिखने  में आसानी हो और किसी तरह की समस्या का सामना किये बिना अपने शब्दों को लोगो तक पहुँचाने के लिए एक यूजर फ्रेंडली कंटेंट मैनेजमेंट सिस्टम का चुनाव करना बहुत जरुरी है. अभी वर्डप्रेस CMS माना जाता है जिसमे कई plugins और themes उपलब्ध होते हैं और अधिकतर का इस्तेमाल भी बिलकुल फ्री है.

सबसे तेज़ और सुन्दर डिज़ाइन की थीम का उपयोग करें

जब कोई यूजर किसी ब्लॉग में प्रवेश करते हैं तो सबसे पहला आकर्षण उसका डिज़ाइन होता है. थीम की डिज़ाइन अच्छी होनी तो चाहिए साथ ही साथ थीम की स्पीड भी अच्छी होनी चाहिए. ब्लॉग की स्पीड होस्टिंग के साथ साथ थीम पर भी निर्भर होता है.

महत्वपूर्ण पेज का निर्माण करें (About us, contact us इत्यादि)

हर वेबसाइट और ब्लॉग में कुछ पेजेज बहुत जरुरी होते है (about us, contact us, disclaimer, privacy policy) पेजेज का निर्माण करना होता है जिससे की विजिटर के रूप में आने वाले हर यूजर को अपने नियम और शर्तें बता सकें.

रेगुलर पोस्ट पब्लिश और अपडेट करें

एक महत्वपूर्ण बात ब्लॉग्गिंग में जो मायने रखता है वो ये भी है की आपको रेगुलर तोर पर पोस्ट पब्लिश करना चाहिए और समय समय के साथ पुराने पोस्ट को रिफ्रेश करें और अच्छे कंटेंट के साथ अपडेट भी करते रहें.

Copyright कंटेंट का इस्तेमाल कभी न करें

अपने कंटेंट में कभी भी कॉपीराइट मटेरिल का इस्तेमाल न करे.

Infographic का इस्तेमाल करे

वैसे पिक्चर बनाये जिसमे डायग्राम के साथ साथ आप शब्दों की मदद से अपने टॉपिक को आसानी से समझा सके.

FAQ का इस्तेमाल करें

पोस्ट के अंत में अपने टॉपिक से जुड़े सामान्य पूछे जाने वाले सवालों का कलेक्शन बनायें और साथ ही उनका सरल जवाब भी लिखें.

ब्लॉग कैसे बनाएं?

ब्लॉगिंग करने के लिए आपको एक अपना ब्लॉग बनाना जरूरी है. लेकिन इसके लिए जो सबसे महत्वपूर्ण चीजें हैं वह दो चीजें होती हैं पहला होता है डोमेन जो आप अपनी पसंद से किसी भी प्रकार का खरीद सकते हैं. जैसे आपने google.com खुला होगा तो उस पर google एक डोमेन नेम है और इसका एक्सटेंशन डॉट कॉम है.

दूसरा जो सबसे महत्वपूर्ण चीज है वह है होस्टिंग. साइट अच्छी तरह से ग्रोथ करें इसके लिए आपको बेहतरीन होस्टिंग कंपनी का चुनाव करना जरूरी है जो आपको बेहतर अब टाइम देता हो. वेबसाइट कैसे बनाएं इसके बारे में हमने पूरी डिटेल में आर्टिकल लिखा है जिससे आप यहां से पढ़ कर समझ सकते हैं. साइट को होस्ट करने के लिए आपको हर महीने होस्टिंग कंपनी को कुछ पैसे देने होते हैं. जितनी अच्छी कंपनी होगी इतनी अच्छी सेवा दी जाएगी.

ब्लॉग्गिंग कैसे सीखे?

वैसे तो डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों ही माध्यम में उपलब्ध है जहां से आप ब्लॉग्गिंग सीख सकते हैं. लेकिन जो बिगिनर होते हैं और हमारे देश की जो युवा पीढ़ी हैं वो कहीं भी पैसे नहीं लगाना चाहते हैं क्या पता सिखने पर लगने वाला पैसा बेकार न चला जाये. आप बिलकुल भी ना घबराये क्यूंकि इंटरनेट में फ्री में ऐसे कई आर्टिकल्स और वीडियो उपलब्ध हैं जिसकी मदद से आप आसानी से इसे सीख सकते हैं.

ब्लॉग्गिंग सिखने के लिए महत्वपूर्ण कुछ पॉइंट्स हैं जिसे जानना आपके लिए बहुत जरुरी हैं.

  • बहुत सारे यूट्यूब चैनल्स हैं जहाँ आपको ब्लॉग्गिंग के ऊपर बनाये गए बहुत सारे वीडियोस मिलेंगे जिन्हे फॉलो कर के आप आसानी से इसमें माहिर हो सकते हैं.
  • ऐसे बहुत सारे ब्लॉग भी हैं जहाँ पर आपको सिर्फ ब्लॉग्गिंग के ऊपर हिंदी में आर्टिकल्स पढ़ने को मिलेंगे. इस फील्ड में आपको अगर माहिर होना है तो आपको हर रोज़ इससे जुड़े आर्टिकल्स पढ़ने चाहिए और वीडियोस देखना चाहिए.
  • अपने ब्लॉग के लिए टॉप लेवल डोमेन ख़रीदे जिससे की आपके ब्लॉग के पोस्ट को रैंक होने में परेशानी न हो.
  • सोशल मीडिया में भी एक्टिव रहें ताकि वहां से भी गूगल को सोशल सिग्नल मिले.
  • अपने पसंदीदा niche में ही ब्लॉग्गिंग करें ताकि आपका काम काम न लगे बल्कि आपकी शौक बन जाये.
  • पहले से लिखे आर्टिकल्स से भी अच्छा  और बेहतर कंटेंट तैयार करें ताकि यूजर आपके इनफार्मेशन से इम्प्रेस हो.

संक्षेप में

आज के इस पोस्ट में आपने जाना की ब्लॉग्गिंग क्या है (What is blogging in hindi). इसके साथ हमने अपने बिगिनर के लिए ये जानकारी भी दी है की ब्लॉग्गिंग कैसे करे, लेकिन इसके लिए इसकी जानकारी का होना बहुत ही जरुरी है. कई लोग शुरुआत में तो बहुत उत्साह के साथ आते हैं लेकिन जब उन्हें कुछ रिजल्ट नहीं दीखता तो फिर तुरंत ही इस फील्ड को छोड़ देते हैं. ब्लॉग्गिंग कैसे करते हैं ये जानने के पहले लोगों को ये सवाल का जवाब ढूँढना चाहिए की ब्लॉग्गिंग कैसे सीखे?

यही वजह है की हमने आपको इस पोस्ट में ब्लॉग्गिंग क्या होता है इसके बारे में विस्तार से जानकारी दी है. उम्मीद करता हूँ की आपको ये पोस्ट जरूर अच्छा लगा होगा और अगर आपको ये पोस्ट मददगार लगा हो तो इसे फेसबुक,ट्विटर,इंस्टाग्राम में अधिक से अधिक शेयर करें.

8 COMMENTS

  1. आपकी वेबसाइट बहुत अच्छी है मुझे बहुत पसंद आयी.. क्या आप मुझे कुछ फ्री के keyword research tools के बारे में बता सकते है जिससे में keyword research कर सकूं। धन्यवाद!

  2. ब्लॉग्गिंग Skill एक अच्छे ब्लॉगर की निशानी है , और आपका यह आर्टिकल देख कर यही अनुमान लगाया जा सकता है के आप निश्चय ही बहुत अच्छे ब्लॉगर है , आपका ब्लॉग बहुत अच्छा है , इसपर बहुत सी सामग्री ऐसी है जिस से नए ब्लोग्गेर्स को मदद मिलेगी , और उनकी ब्लॉग्गिंग skill बहुत अच्छी हो जाएगी , इस जानकारी को साँझा करने के लिए शुक्रिया , आशा करता हूँ आप निरंतर ऐसी जानकारियाँ हम सभी तक पहुंचाते रहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here