आर्मी ऑफिसर कैसे बने?

भारत देश की सेना जो मुख्य रूप से 3 प्रकार होती है वायु सेना, थल सेना, और जल सेना जिसमे जाने का आज हर युवा का सपना होता है. इसीलिए आज की पोस्ट में हम आपको बताएँगे की आर्मी ऑफिसर कैसे बने?

लेकिन आज आर्मी सोल्जर बनना किसी भी युवा के लिए इतना आसान नही होता है क्योंकि इसके लिए एक उच्च शिक्षा के साथ-साथ शारीरिक रूप से मजबूत होना बेहद जरूरी होता है.

साथ ही आर्मी ऑफिसर बनने के लिए युवाओं को यूपीएसी के अंतर्गत विभिन्न परीक्षाओं से गुजरना होता है जिसके लिए काफी मेहनत से पढ़ाई करनी होती है.

लेकिन अगर आप इसकी शुरू से तैयारी करके चलते है होने वाली परीक्षाओं के बारे में उचित जानकारी प्राप्त करके परीक्षा की तैयारी करते है तो आप निश्चित ही इन परीक्षाओं को पास करके अपने इस सपने को पूरा कर सकते है.

इसके कुछ महत्वपूर्ण पहलुओं के बारे में अपने इस आर्टिकल में बताया है जो आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण साबित हो सकते है.

अगर आप आर्मी में सोल्जर बनना चाहते है तो हमारे इस आर्टिकल में नीचे दिए गए पॉइंट को अवश्य पढ़ ले.

आर्मी ऑफिसर क्या है?

भारतीय सेना दुनिया कि दूसरी सबसे बड़ी सेना है जिसकी स्थापना 1 अप्रैल 1849 में हुई थी जिसका मुख्यालय दिल्ली में मौजूद है. भारतीय सेना की देख रेख देश के राष्ट्रपति की अध्यक्षता में की जाती है.

सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण बात तो ये है की आर्मी अफसर एक लीडर होता है.

जो एक अधिकारी के रूप में फ़ौज में काम की योजना बनाता है. अपने जवानों को कार्य सौंपता है, और देखता है कि कार्यअच्छी तरह से पूरा हो रहा है या नहीं।

देखा जाए तो आर्मी अफसर एक निगम में मैनेजर के समान होता है. लेकिन यही वह जगह है जहां कॉर्पोरेट जगत की कोई भी तुलना करना बिना मतलब का है.

ये जवान अपने जानो की परवाह किये बिना 24 घंटे सीमा की रक्षा करते हैं जिससे देश के लोग सुरक्षित अपने घरों में रहते हैं.

इन्हे हर प्रकार के मौसम में रहना पड़ता है चाहे ठंडी हो, गर्मी या भरी बरसात इन्हे अपना काम पूरी ईमानदारी से करनी होती है और वे अपने कर्तव्य में कभी पीछे नहीं हटते हैं.

एक आर्मी अफसर के पास नियमित रूप से चालीस या अधिक सैनिक हैं जो सीधे उसके नियंत्रण में काम करते हैं.

आर्मी अफसर होने का महत्व इन तीन शब्द से पता चलता है जो इसके पहचान बन गए हैं.

ये तीन शब्द निम्नलिखित हैं.

  • ड्यूटी,
  • ऑनर और
  • कंट्री

कोई फर्क नहीं पड़ता कि उनके विशिष्ट कर्तव्य क्या हैं, या वे कहाँ सेवा करते हैं, ये तीन शब्द एक सेना अधिकारी के निष्ठां को वर्णन करते हैं.

12th के बाद आर्मी ऑफिसर कैसे बने?

12th के पास करने के बाद आप इस पद के लिए तैयारी कर सकते है इसके लिए भारत में वायु सेना, थल सेना, जल सेना 3 प्रकार की सेनाएँ है.

सभी की अलग-अलग परीक्षाएं होती है जिन्हें आप अपनी 12th को पढ़ाई पूरी करने के बाद से सकते है. आप अपने आर्मी ऑफिसर बनने के सपने को सच कर सकते है.

12th कब बाद आपको इसके लिए किन परीक्षाओं को पास करना होगा उसके बारे में आप नीचे पढ़ सकते है.

एनडीए का एग्जाम लिखें

12th पास करने के बाद आपको इस पद के लिये यूपीएसी एनडीए की परीक्षा में शामिल होना होगा.

एमडीए जिसका पूरा नाम नेशनल डिफेंस अकादमी होता है जिसके द्वारा तीनों सेनाओं वायु सेना, जल सेना, थल सेना का छात्रों प्रशिक्षण दिया जाता है.

हर साल 2 बार परीक्षाओं का आयोजन किया जाता है.

परीक्षा में पास होने वाले छात्रों को आगे इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है और अंत मे कुछ दिन की ट्रेनिंग पूरी कराने के बाद आर्मी ऑफिसर नियुक्त किया जाता है.

एनडीए परीक्षा के बारे में कुछ महत्वपूर्ण पॉइंट को नीचे बताया गया है जो कि इस प्रकार है:

एनडीए के बारे में और अधिक जानने के लिये आप इस लिंक से क्लिक करके इसके बारे में अधिक जानकारी हासिल कर सकते है.

एनडीए के लिए शैक्षिक योग्यता

एनडीए की परीक्षा साल में दो बार आयोजित की जाती है जिसमे गणित, फिजिक्स से 12th पास करने के बाद स्टूडेंट भाग ले सकते है.

आयु सीमा

एनडीए की परीक्षा में आयु सीमा की बात करे तो क्योंकि यह भारतीय सेना से जुड़े परीक्षाओं का आयोजन करता है जिसमे युवा को शामिल किया जाता है.

इसलिए इस परीक्षा में 16.5 से 19 बर्ष के युवाओं को शामिल किया जाता है.

एनडीए की परीक्षा पैटर्न

इस परीक्षा में मुख्य रूप से 2 लिखित पेपर कराए जाते है.

  • Mathematics
  • General Ability

दोनों पेपर कुल 900 अंक के होते हैजिसमे गणित 300 अंक और जनरल एबिलिटी टेस्ट 600 अंकों का होता है.

एग्जाम की अवधि 2 घंटे और 30 मिनट को होती है.

इसमें ऑब्जेक्टिव सलव पूछे जाते हैं.

उम्मीदवार के पास परीक्षा लिखने के लिए काले रंग का बाल पेन होना चाहिए.

इस परीक्षा में प्रत्येक गलत जवाब के लिए 0.33 नंबर काट लिए जाते हैं.

यह परीक्षा 2 भाषा में ली जाती है जो अंग्रेजी और हिंदी दोनों में ली जाती है.

इंटरव्यू

लिखित परीक्षा पास करने कब बाद अभ्यर्थी को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है.

यह इंटरव्यू SSB (स्टाफ सिलेक्शन बोर्ड) के तहत कराया जाता है इंटरव्यू के छात्र अब बेसिक नॉलेज के बारे में प्रश्न पूछ जाते है.

मेडिकल परीक्षण

इंटरव्यू पास करने ले के बाद अभ्यार्थी को मेडिकल के लिए बुलाया जाता है जिसमे शारीरिक परीक्षण किया जाता है.

शारीरिक परीक्षा पास करने के बाद योग्य उम्मीदवार को ट्रेनिंग के लिए भेज दिया जाता है और निर्धारित ट्रेनिंग पूरी करने के बाद इसके आर्मी ऑफिसर बना दिया जाता है.

आर्मी ऑफिसर की सैलरी

भारतीय सेना का वेतन पे-बैंड के आधार पर निर्धारित किया जाता है जिसके आधार पर चयनित व्यक्ति को 56,000 से लेकर 1000000 लाख तक प्रतिमाह वेतन दिया जाता है.

साथ ही अन्य कई सरकारी सेवाओं को लाभ प्रदान किया जाता है.

ग्रेजुएशन करने के बाद आर्मी ऑफिसर कैसे बने ?

अगर आप 12th पास कर चुके हैं और अब अपना ग्रेजुएशन भी पूरा कर चुके है तब भी आप इस सपने को पूरा कर सकते है.

ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद आपको किस प्रकार की परीक्षा को पास करना होगा इसके बारे में आप नीचे डिटेल में पढ़ सकते है.

सीडीएस (संयुक्त रक्षा सेवा) परीक्षा पास करे?

अगर आप ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद आपको आर्मी ऑफिसर के सपने को पूरा करना चाहते है तो इसके लिए आपको यूपीएसी (यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन) के अंतर्गत कराई जाने वाली सीडीएस (संयुक्त रक्षा सेवा) की परीक्षा में शामिल होगा.

बाकी इसके लिए निर्धारित योग्यताओं के बारे मे आप नीचे जान सकते है.

शैक्षिक योग्यता

इस परीक्षा में शामिल होने के लिए कैंडिटेड को ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी करनी होती है जैसे फिजिक्स, मैथ, केमिस्ट्री के साथ बीएससी, या इंजीनिरिंग को डिग्री होनी चाहिए.

इस परीक्षा में ग्रेजुएशन कर रहे अंतिम बर्ष के छात्र भी शामिल हो सकते है.

आयु सीमा

इस परीक्षा में 20 साल से 24 बर्ष की आयु के अभ्यर्थी शामिल हो सकते है.

परीक्षा पैटर्न

सीडीएस परीक्षा में मुख्य रूप से साल में दो बार कराई जाती है और इस परीक्षा में अगर आप IMA, INA, AFA की परीक्षा दे रहे है तो यहां आपको लिखित 3 पेपर देने होंगे.

पहला इंग्लिश दूसरा GS का और तीसरा मैथ का पेपर देना होगा यह तीनों पेपर 900 अंकों पर आधारित होते है.

इंटरव्यू

लिखित परीक्षा को पास करने के बाद कैंडिटेट को इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है जिसमे उससे बुद्धि से जुड़ी तर्क शक्ति प्रश्नों के बारे में पूछा जाता है.

इंटरव्यू पास करने के बाद कैंडिटेड को का शारीरिक परीक्षण होता है और ट्रेनिंग के लिए भेज दिया जाता है.

एक निर्धारित समय की ट्रेनिंग को पूरा करने के बाद कैंडिटेड को इस पद के लिए नियुक्त कर लिया जाता है.

आर्मी ऑफिसर के लिए तैयारी कैसे करें?

भारतीय सेना में शामिल होना तो आज हर युवा का सपना होता है लेकिन यह आसान नही होता है क्योंकि जैसा कि हमने बताया है कि इस पद के लिए अच्छी पढ़ाई के साथ-साथ शारीरिक मजबूती होना भी काफी महत्वपूर्ण होता है.

नीचे हमने आर्मी की तैयारी कैसे करे इससे जुड़े कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं के बारे में बताया है इन्हें अवश्य पढ़े.

इस पद के लिए शारीरिक मज़बूती, जैसे लंबाई, छाती, दौड़ आदि की तरफ विशेष ध्यान दिया जाता है इसलिए अगर आप इस पद को हासिल करना चाहते है तो अभी से अपनी शारीरिक फिटनेस के लिए वर्कआउट करना शुरू कर दे.

इस पद से जुड़े परीक्षा में इंग्लिश सब्जेक्ट पर सबसे ज्यादा जोर दिया जाता है तो आप इस परीक्षा में अच्छे नंबर लाने के इंग्लिश पर विशेष ध्यान दे आप चाहे तो इंग्लिश न्यूज़ पेपर पढ़ सकते है. वहां आपको काफी कुछ सीखने को मिल सकता है.

गणित किसी भी परीक्षा के लिए आसान नही होता है इसके लिए आपको अभी से तैयारी करते हुए चलना होगा तभी आप एनडीए, या सीडीएस जैसी परीक्षाओं को पास करके आर्मी ऑफिसर बनने के इस सपने को पूरा कर सकते है.

इस पद जुड़ी परीक्षाओं को तैयारी के लिए आप किसी अच्छे संस्थान में कोचिंग सेंटर को जॉइन कर सकते है.

आप इंटरनेट की मदद से भी इस परीक्षा की तैयारी के लिए सहायता ले सकते है.

आज इंटरनेट किसी भी परीक्षा की तैयारी के लिए काफी उपयोगी साबित हो रहा है. तो आप इस परीक्षा के लिए भी इंटरनेट की मदद से तैयारी कर सकते है. 

निष्कर्ष 

भारतीय सेना में अगर आप शामिल होना चाहते है तो आपके लिए हमारे दिए गए ऊपर पॉइंट बहुत महत्वपूर्ण साबित हो सकते है.

अगर आप ऊपर दिए गए को फॉलो करते हुए इस पद के लिए तैयारी करते है तो आप निश्चित ही पद से जुडी परीक्षाओ को पास करके इस मुकाम को हासिल कर सकते है. 

मुझे उम्मीद है की आपको हमारे इस लेख में आर्मी सोल्जर कैसे बने?

इसके लिए योग्यता और इसकी तैयारी कैसे करे? जैसी दी गयी जानकारी आपके लिए महत्वपूर्ण रही होगी.

आपको दी गयी जानकारी कैसी लगी हमे कमेंट करके ज़रूर बताये। साथ ही अगर आपको दी गयी जानकारी महत्वपूर्ण रही हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ इसे सोशल मीडिया पर शेयर ज़रूर करे. 

About Mukesh Chandra

मुझे लिखने का काफी शौक है और मैं हर प्रकार की जानकारी दो अपने देश के हिंदी पाठकों को पहुंचाना चाहता हूं ताकि वह आधुनिक युग में भी अपडेटेड रहे.

Leave a Comment