ज़मीन पर लोन कैसे लें?

किसान लोग जो सिर्फ कृषि पर निर्भर रहते हैं। कई बार आवश्यक कार्यों की वजह से पैसों की जरूरत नहीं होती है और कई बार फसल खराब होने की वजह से भी बहुत ज्यादा नुकसान झेलना पड़ता है। किसानों के कई प्रकार के कार्यों की वजह से पैसों की जरूरत होने पर पैसे का एडजस्टमेंट करना काफी मुश्किल होता है। ऐसे में किसान वर्ग अपनी ज़मीन पर लोन प्राप्त कर सकते हैं।

किसान परिवार से जुड़े हुए कई लोग इधर-उधर से पैसे उधार लेते हैं। लेकिन कई बार उधार पैसों का मैनेजमेंट नहीं हो पाता है। ऐसे में अपनी जमीन पर लोन लेना बेहतर उपाय माना जाता है। क्योंकि लोन लेने के पश्चात धीरे-धीरे मासिक प्रीमियम के तौर पर उस लोन को चुकाने जा सकता है और बैंक द्वारा लिए गए लोन की ब्याज दर भी काफी कम होती है।

हालांकि बैंकों द्वारा लोन लेने पर कई प्रकार के दस्तावेज़ व कानूनी कार्रवाई पूरी करनी होती है और लोन लेते वक्त कुछ प्रोसेसिंग चार्ज भी आप से वसूला जाता है।

आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से ज़मीन पर लोन कैसे लें? जमीन पर लोन लेने के लिए कौन से दस्तावेज़ जरूरी है? ज़मीन पर लोन लेने पर ब्याज दर क्या रहेगी? ज़मीन लोन क्या है? इत्यादि के बारे में जानकारी देंगे।

जमीन लोन क्या होता है?

यदि कोई व्यक्ति किसान है और अपने जमीन को सिक्योरिटी के तौर पर रखकर लोन लेना चाहता है। तो वह किसी भी बैंक से इस लोन के लिए अप्लाई कर सकता है। जिस बैंक में उसका अकाउंट खुला हो। ज़मीन पर लिए गए ऋण को ज़मीन लोन कहते हैं। जिसके दौरान जमीन के कुछ पेपर को सिक्योरिटी के तौर पर बैंक लेती है।

ये भी जाने –

यदि किसी कारण से आप उस लोन का भुगतान नहीं कर पाते हैं। तो बैंक आपकी प्रॉपर्टी सीज कर देती है। जब आप लोन लेते हैं। तो इसकी जानकारी एप्लीकेशन फॉर्म में दी जाती है। यदि किसी कारणवश लोन का भुगतान नहीं किया गया तो बैंक प्रॉपर्टी को सीज करने की हकदार होगी। बैंक बहुत कम ब्याज में किसानों को पैसा उपलब्ध करवाती है। जिनका भुगतान वापस मासिक किस्त के तौर पर करना होता है।

जमीन लोन के तहत किसान को अपने ज़मीन को बैंक के पास गिरवी रखना पड़ता है। इसका मतलब यह नहीं है कि किसान उस ज़मीन में खेती नहीं कर सकता। किसान ज़मीन लोन लेने के पश्चात आसानी से अपनी ज़मीन पर खेती कर सकता है। अगर वह लोन का भुगतान नहीं करता है। तो बैंक द्वारा उस ज़मीन को सीज करने के पश्चात वह किसान उस ज़मीन में खेती नहीं कर सकता है।

ज़मीन पर लोन कैसे लें?

जमीन पर लोन लेने के जरूरी मापदंड?

कोई भी व्यक्ति जब अपने ज़मीन पर लोन लेता है। तो उसके लिए बैंक द्वारा आरबीआई की गाइडलाइन के अनुसार कुछ मापदंड बताए जाते हैं। उन मापदंड के आधार पर व्यक्ति को लोन प्राप्त होता हैं, जो निम्नलिखित है।

  • आरबीआई की गाइडलाइन के अनुसार लोन के लिए आवेदन करने वाला व्यक्ति न्यूनतम 24 वर्ष का होना चाहिए और उस व्यक्ति की उम्र अधिकतम 65 वर्ष से कम होनी चाहिए। तभी व्यक्ति ज़मीन पर लोन लेने के लिए योग्य माना जाएगा।
  • जमीन पर लोन लेने के लिए उस व्यक्ति के पास खुद की प्रॉपर्टी जैसे जमीन प्लॉट इत्यादि होना जरूरी है। क्योंकि बैंक आपके ज़मीन के क़ागज़ात को ही गिरवी के तौर पर रखता है। जमीन के दस्तावेज़ जिनको बैंक अपने पास रखता है, वे दस्तावेज़ कई प्रकार के हो सकते हैं। जैसे ज़मीन की जमाबंदी, प्लॉट का एग्रीमेंट, रजिस्ट्री, म्यूटेशन कॉपी इत्यादि।
  • लोन लेने वाले आवेदन कर्ता की खेती के अलावा कोई अन्य इनकम होना जरूरी है। क्योंकि आरबीआई गाइडलाइन के अनुसार ऐसा बताया गया है कि खेती में कई बार नुकसान भी हो सकता है। ऐसे में आवेदन कर्ता को लोन की भरपाई करने के लिए एक अन्य इनकम होना जरूरी है। खेती के अलावा अन्य कमाई के आधार पर ही लोन अप्रूव किया जाता है।
  • अगर जिस जमीन पर लोन लिया जा रहा है। उस जमीन मैं एक से अधिक व्यक्तियों का नाम शामिल है। तो उन सभी व्यक्तियों के दस्तावेज और आवेदन पत्र पर हस्ताक्षर होने जरूरी है।
  • जमीन पर लोन लेने के लिए अगर कोई व्यक्ति इनकम टैक्स पेयर है। तो लोन लेते वक्त इनकम टैक्स की जानकारी अवश्य प्रदान करें।
  • जमीन पर मिलने वाले लोन के पैसों का उपयोग आप कुछ निश्चित कार्यों के लिए ही कर सकते हैं। जैसे ज़मीन पर कोई मकान वगैरा बनाने में, जमीन पर कोई स्पोर्ट्स स्टेडियम बनाने के लिए इत्यादि।

ज़मीन पर अधिकतम कितना लोन लिया जा सकता है?

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की गाइडलाइन के अनुसार कोई भी बैंक ज़मीन पर ज़मीन की मार्केट वैल्यू से 90% से अधिक लोन नहीं दे सकती है। जमीन की जितनी वैल्यू है।

उसका 90% की लोन के तौर पर दिया जाता है। ज़मीन की वैल्यू उस इलाके के आधार पर निर्भर करती है। जमीन की वैल्यू के आधार पर ही लोन को एप्रोच किया जाता है।

रिजर्व बैंक की गाइडलाइन में 90% से अधिक लोन देना गैरकानूनी है। उदाहरण के तौर पर अगर किसी व्यक्ति के ज़मीन की वैल्यू 10000000 रुपए हैं। तो उसे बैंक द्वारा लोन के तौर पर ₹9000000 की राशि प्राप्त हो सकती है।

ज़मीन पर लोन की ब्याज दर कितनी होती है?

यदि आप जमीन पर लोन लेते हैं। तो एक निश्चित ब्याज दर बैंक द्वारा प्रदान की जाती है। उसी ब्याज दर के आधार पर आपकी लोन राशि पर ब्याज वसूला जाता है। हर बैंक की अपने अपने नियम के अनुसार ब्याज दर में भी अंतर होता है।

इसके साथ ही बैंक लोन की धनराशि और भुगतान की अवधि के आधार पर भी ब्याज दर अलग-अलग प्रकार से निर्धारित होती है। जब आप लोन लेते हैं। तो उसकी अवधि के आधार पर कोई भी बैंक ब्याज दर कौन निर्धारित करता है।

जमीन पर लोन लेने की ब्याज दर का पता करने के लिए आप जिस बैंक से लोन लेना चाहते हैं। उस बैंक की ब्रांच मैं जाकर पता कर सकते हैं। इसके अलावा उस बैंक की हेल्पलाइन नंबर पर भी ब्याज दर की जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

उस बैंक की ऑफिशियल वेबसाइट पर भी जानकारी प्राप्त हो जाती है। इसके अलावा न्यूनतम ब्याज दर की बात की जाए तो स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की ब्याज दर 8.5% की है। जो बाकी बैंकों की तुलना में काफी कम है। और जमीन के लोन की सबसे न्यूनतम ब्याज दर मानी जाती है।

जमीन पर लोन की अवधि अधिकतम कितनी मिल सकती है?

जमीन पर लोन लेने के पश्चात लोन के भुगतान करने की अवधि अलग-अलग बैंकों में अलग-अलग निर्धारित होती है। लेकिन रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की गाइडलाइन के अनुसार सभी मापदंड को पूरा किया जाता है।

तो अधिकतम 20 वर्ष की रोहन के भुगतान की अवधि प्राप्त की जा सकती है। लेकिन इतना लंबा समय सभी आवेदन कर्ताओं को नहीं मिलता है। क्योंकि इनके लिए सभी प्रकार के दस्तावेज जरूरी होते हैं और आपके क्रेडिट स्कोर के आधार पर लोन की अवधि निर्धारित होती है।

जमीन पर लोन लेने के लिए जरूरी दस्तावेज़?

यदि आप ज़मीन पर लोन लेना चाहते हैं। तो उसके लिए आपको कई प्रकार के दस्तावेज़ बैंक द्वारा दिए गए लोन आवेदन फॉर्म के साथ अपलोड करने होते हैं। इसके अलावा कई सिक्योरिटी के तौर पर भी जरूरी होते हैं। जो निम्न प्रकार है।

  • पासपोर्ट साइज़ फोट
  • आप का पहचान पत्र
  • आवेदन कर्ता का एड्रेस प्रूफ
  • जमीन से संबंधित आवश्यक दस्तावेज
  • लोन के लिए आवेदन पत्र

ज़मीन संबंधित आवश्यक दस्तावेज़ों सिक्योरिटी के तौर पर बैंक आपसे लेती है।

जमीन पर लोन लेने के लिए आवेदन कैसे करें?

जमीन पर लोन लेना ज्यादा कठिन नही होता है, बस यहां पर ज़मीन पर लोन लेने के लिए कई प्रकार के स्टेप को फॉलो करना होता है। उस आधार पर आप जमीन पर लोन अप्रूव करा कर अपने बैंक अकाउंट में ट्रांसफर करवा सकते हैं।

अब इस लोन को पाने के लिए किन किन स्टेज को से गुजरना होता है उसके बारे में नीचे हमने स्टेप टू स्टेप बताया है जिसे फॉलो करके आप आसानी से ज़मीन पर लोन प्राप्त कर सकते है और अपनी ज़रूरतों को पूरा कर सकते है तो चलिय जानते है –

  • सबसे पहले आपको ज़मीन पर लोन लेने के लिए अपने सभी जरूरी दस्तावेज़ों को एकत्रित करना होता है। ऊपर बताए दस्तावेज़ों को एकत्र कर ले।
  • जिस जमीन पर लोन ले रहे हैं। उस ज़मीन में जितने भी बच्चों के नाम जुड़े हुए हैं। उन व्यक्तियों के दस्तावेज़ भी एकत्र कर ले।
  • अब अपनी नज़दीकी बैंक शाखा में जाएं जिस बैंक में आपका पहले से अकाउंट है। वहां जाकर लोन के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करें।
  • बैंक कर्मचारी द्वारा लोन के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करने के पश्चात बैंक कर्मचारी आपको एक आवेदन फॉर्म देता है। उस फॉर्म को सही तरीके से पूरा भरना होगा।
  • इसके पश्चात उस एप्लीकेशन फॉर्म के नीचे हस्ताक्षर का चिन्ह होता है। वहां पर उन सभी व्यक्तियों के हस्ताक्षर करें जिनका नाम उस जमीन में है। जिस जमीन पर लोन लिया जा रहा है।
  • एप्लीकेशन फॉर्म को पूरा भरने और हस्ताक्षर होने के पश्चात सभी दस्तावेज़ को एप्लीकेशन फॉर्म के साथ संलग्न करना होता है।
  • दस्तावेज़ तथा एप्लीकेशन फॉर्म को बैंक कर्मचारी के पास जमा करवाए। बैंक कर्मचारी एप्लीकेशन फॉर्म और उन सभी दस्तावेज़ का निरीक्षण करता है।
  • बैंक कर्मचारी द्वारा दस्तावेज़ का निरीक्षण करने के पश्चात वह ऑनलाइन फॉर्म को सबमिट करता है और आपके लोन को अप्रूवल के लिए रिव्यू में लगाता है।
  • लोन एप्लीकेशन फॉर्म को रिव्यू में लगाने के पश्चात रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया और उस बैंक के हेड कर्मचारियों द्वारा उस लोन को पास किया जाता है।
  • एक लोन को पास होने में करीब एक हफ्ता या 10 दिन तक का समय लग सकता है।
  • लोन अप्रूव होने के पश्चात बैंक द्वारा लोन राशि को आपके खाते में डाल दिया जाता है।

संक्षेप में

मुख्य रूप से जो किसान होते है उन्हे उनकी ज़मीन ही सब कुछ होती है क्योंकि उनके पास आय का कोई दूसरा साधन होता है नही बस अपनी ज़मीन पर उगाई गयी फसल से जो भी धन मिलता है उसी से घर का पालन पोषण और अन्य कार्य होते है।

लेकिन किसी भी किसान के लिए घर बनाना या बेटी की शादी करना मुश्किल हो जाता है क्योंकि ज़मीन उगाई फसल से उतना पैसा इक्कठा नही हो पाता है जिससे वह अपने लिए अच्छा घर, बेटी की शादी, या अन्य ज़रूरतों को पूरा नही कर पाता है।

तब उसके सामने बस यही ज़मीन पर लोन लेने का विकल्प रहे जाता है लेकिन ज़मीन पर लोन कैसे ले, इसके लिए क्या योग्यता होनी चाहिये। जैसी जानकारी नही होती है, जिस कारण वह इसका लाभ नही पाते है, बस इसी बात को ध्यान में रखते हुए आज हमने अपनी इस पोस्ट के जरिये इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे विस्तार से बताया।

उम्मीद करता हूँ कि आपको दी गयी जानकारी समझ होगी, और आपको उचित जानकारी मिल गयी होगी, अगर आपको आपको जमीन पर लोन लेने में कही भी कोई परेशानी आती है तो आप हमें कंमेंट करके पूछ सकते है।

Recent Articles

कंप्यूटर के लाभ-हानि

आज के आधुनिक समय में कंप्यूटर का उपयोग एक आम बात हो गया है। आधुनिक समय में डिजिटल तरीके से कामकाज के लिए कंप्यूटर...

ज़मीन पर लोन कैसे लें?

किसान लोग जो सिर्फ कृषि पर निर्भर रहते हैं। कई बार आवश्यक कार्यों की वजह से पैसों की जरूरत नहीं होती है और कई...

कंप्यूटर कितने प्रकार के होते हैं?

आज के आधुनिक जमाने में कंप्यूटर सिस्टम बहुत ही महत्वपूर्ण हो गया है. इस के बिना 80 % काम अधूरे हैं क्योंकि हर कोई...

कीवर्ड रिसर्च क्या है और कैसे करे?

अगर आप एक ब्लॉगर या यूट्यूबर हो तो आपको कीवर्ड रिसर्च क्या है और कैसे करे? ये जानना बहुत जरूरी है क्योंकि कीवर्ड रिसर्च...

कंप्यूटर की विशेषता क्या है?

कंप्यूटर एक ऐसा नाम जो आज दुनिया के लिए नही बल्कि हर व्यक्ति की जिंदगी के लिए के लिए वरदान की तरह साबित होता...

Related Stories

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay on op - Ge the daily news in your inbox