वक्त से पहले खत्म करियर सेलेक्टर्स से दुश्मनी  क्रिकेटर्स को पड़ा महंगा

भारतीय क्रिकेट टीम में सेलेक्शन होना जितना मुश्किल माना जाता है, उससे कई गुना ज्यादा मुश्किल खुद को टीम इंडिया में बरकरार रखना होता है, 

क्योंकि टीम के बाहर भी कई ऐसे खिलाड़ी ऐसे होते हैं, जो अपने बेहतरीन प्रदर्शन के दम पर तगड़ा कॉम्पिटिशन देते हैं.

लेकिन 5 खिलाड़ी ऐसे रहे जिनको सेलेक्टर्स से पंगा लेना भारी पड़ गया और उनका करियर शुरू होने से पहले ही खत्म हो गया. 

टीम इंडिया के इन 5 क्रिकेटर्स को सेलेक्टर्स के फैसले के खिलाफ बोलना भारी पड़ा और उसके बाद दोबारा कभी भी उन्हें टीम इंडिया में मौका नहीं मिला. आइए एक नजर डालते हैं इन 5 खिलाड़ियों पर

1. अंबाती रायडू   भारत के बेहतरीन मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज अंबाती रायडू को सेलेक्टर्स के खिलाफ बयान देना भारी पड़ा था. 

ICC वर्ल्ड कप 2019 के दौरान अंबाती रायडू की जगह विजय शंकर को टीम इंडिया में शामिल करते हुए मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने कहा था 

कि विजय शंकर टीम को 3D ऑप्शन (बैटिंग, बॉलिंग और फील्डिंग) प्रदान करेंगे. इस बयान के बाद अंबाती रायडू ने चयनकर्ताओं पर तंज कसते हुए ट्वीट करते हुए लिखा था,

'मैंने 3D चश्मे का पेयर ऑर्डर किया है वर्ल्ड कप देखने के लिए.' इसके बाद अंबाती रायडू को विजय शंकर व शिखर धवन के इंजर्ड होने के बावजूद टीम में मौका नहीं मिला था. 

2. मुरली विजय 3. वसीम जाफर 4. फैज फजल