टेस्ट  में  हुआ ऐतिहासिक  एंडरसन-स्टुअर्ट ब्रॉड की जोड़ी ने रचा इतिहास

लॉर्ड्स टेस्ट (Lords test) मैच में जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉर्ड (James Anderson Stuart Broad) ने मिलकर एक खास रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है.

दोनों गेंदबाज अब टेस्ट क्रिकेट में एक साथ खेलते हुए 950 विकेट लेने में सफल हो गए हैं. बता दें कि टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में शेन वार्न और ग्लेन मैक्ग्राथ ने साथ में मिलकर 1001 विकेट लिए हैं, जो एक जोड़ी के तौर पर टेस्ट में सबसे ज्यादा विकेट हासिल करने वाले गेंदबाज हैं. 

वार्न ने इस दौरान 513 विकेट लिए तो वहीं मैकग्रा ने 488 विकेट अपने नाम करने में सफलता पाई थी. दोनों गेंदबाज ऑस्ट्रेलिया के लिए टेस्ट में 1993-2007 तक साथ खेले थे. 

यानि ब्रॉर्ड और एंडरसन टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में ऐसी दूसरी जोड़ी गेंदबाज जिनके नाम साथ खेलते हुए 950 या उससे ज्यादा विकेट दर्ज है. 

ता दें कि जेम्स एंडरसन-स्टुअर्ट ब्रॉड की जोड़ी ऐसी पहली तेज गेंदबाज की जोड़ी हैं जिसने 950 विकेट साथ में खेलकर चटकाए हैं जो अपने आप में एक बड़ी बात है.

वैसे, इस मामले में तीसरे नंबर पर श्रीलंका चमिंडा बास और मुरलीधरन हैं जिन्होंने एक साथ टेस्ट मैच में खेलते हुए कुल 895 विकेट चटकाए थे.

वेस्टइंडीज के कर्टनी वॉल्श और कर्टली एम्ब्रोस ने साथ मिलकर टेस्ट में कुल 762 विकेट लेने का कमाल किया थआ. दोनों 1988 से 2000 के बीच वेस्टइंडीज क्रिकेट में साथ खेले थे.

इसके अलावा पाकिस्तान के दिग्गज गेंदबाज रहे वसीम अकरन और वकार यूनुस ने पाकिस्तान के लिए साथ में कुल 61 टेस्ट खेले जिसमें दोनों ने मिलकर कुल 559 विकेट लेने में सफलता पाई थी. इस दौरान अकरम ने 282 और वकार ने 277 विकेट टेस्ट में हासिल किए थे.

साउथ अफ्रीका के कैलिस और पॉलक ने साथ में कुल 93 टेस्ट खेले और इस दौरान कुल 547 विकेट लेने में सफल रहे हैं. इसके अलावा साउथ अफ्रीका के ही मखाया एंटिनी और कैलिस ने 538 विकेट साथ टेस्ट खेलकर चटकाए थे.

स्टेन और मार्केल जो साउथ अफ्रीका के ही हैं, उन्होंने साथ में कुल 62 टेस्ट खेले और इस दौरान 522 विकेट लेने में सफल रहे, इसके अलावा हरभजन और कुंबले ने साथ में 54 टेस्ट खेलकर कुल 501 विकेट लेने में सफल रहे हैं.

वैसे, लॉर्ड्स टेस्ट मैच के दूसरे दिन का खेल खत्म होने तक न्यूजीलैंड ने दूसरी पारी में 4 विकेट पर 236 रन बना लिए हैं. अबतक कीवी टीम इंग्लैंड की पहली पारी के आधार पर 227 रन की बढ़त बना पाने में सफल हो गई है.