solar panel : घर  के  छत  पर ही बनाएं बिजली अब बिजली भरने की नो टेंशन,

दोस्तों आज-कल भारत सरकार एनर्जी के लिए ट्रेडिशनल सोर्स के बजाय ऑप्शनल सोर्स पर दबाव दे रही है. दरअसल सरकार का ये मकसद है कि डीजल-पेट्रोल की खपत कम कर अपना इम्पोर्ट बिल भी कम करना चाहती है.

इसका सबसे बड़ा कारण है कि बदलती परिस्थितियों के साथ और भी देशों की तरह भारत की ऊर्जा जरूरतें भी बदल रही हैं.हमारी भारत जैसी उभरती इकॉनमी की ऊर्जा जरूरतें तेजी के साथ बढ़ रही हैं,

लेकिन बात जब तेल और गैस की आती है तो इस मामले में आयात पर निर्भरता काफी ज्यादा बढ़ रही है. अब ऐसे में सरकार लोगों को भी प्रोत्साहित कर रही है कि वो अपने घर की छत पर सोलर पैनल लगवा सकते है.

Solar Plant ये योजना आम लोगों के लिए काफी अच्छा साबित होगा.ऐसा इसलिए क्योंकि सबसे पहले तो इस स्कीम के तहत सोलर पैनल लगवाने से खर्च कम आता है, क्योंकि इसका एक हिस्सा सरकार से सब्सिडी के तौर पर आता है. केंद्र सरकार के साथ साथ कई और राज्य सरकारें अपनी ओर से अतिरिक्त सब्सिडी भी दे रहे हैं.

इसको लगवाने से आपका बिजली बिल का झंझट खत्म हो जाएगा. यानी की आपके घर में आपके ही छत पर सोलर पैनल से तैयार हो जाता है.इसका दूसरा फायदा ये है कि इस स्कीम में कमाई करने के भी आपको कई सारे मौके मिलते हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दे अगर आपके घर की छत पर लगे सोलर पैनल जरूरत से ज्यादा बिजली बना रहे हैं,

तो आप अपने बिजली का वितरण बिजली कंपनियां से कर सकते है. इसी तरह देखें तो सोलर रूफटॉप सब्सिडी स्कीम एक साथ कई सारे फायदे देती है. दरअसल ये एक ऐसा इन्वेस्टमेंट है, जो बचत तो कराता ही है, इसके साथ-साथ इनकम की भी व्यवस्था कर देता है. 

बात यही खंत्म नहीं होती. अगर आपकी खपत कम है तो आप छोटा प्लांट लगवा सकते हैं. मान लीजिए अगर आप 2kW का सोलर पैनल लगवाते हैं तो इसका खर्च लगभग 1.20 लाख रुपये आएगा. सरकार की ओर से 3 किलोवाट तक का सोलर रूफटॉप पैनल लगवाने पर आपको 40 % तक की सब्सिडी मिलती है.