पाकिस्तानी टीम के खिलाफ नहीं खेलेगी भारत की टीम BCCI ने चलाया हथौड़ा,

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने बंगाल क्रिकेट टीम को एक झटका दिया है. ऐसी खबरें आई थीं कि बंगाल की टीम नामीबिया के एक ग्लोबल टी20 टूर्नामेंट में खेलेगी,

लेकिन बीसीसीआई ने उसके इस प्रयास में अडंगा लगा दिया है. खबर है कि बीसीसीआई ने बंगाल की टीम को इस टूर्नामेंट में खेलने की मंजूरी नहीं दी है और इसी कारण बंगाल की टीम ने इस टूर्नामेंट से अपनी नाम वापस ले लिया है. 

बीसीसीआई अपने किसी भी पुरुष खिलाड़ी को विदेशों में टी20 टूर्नामेंट्स में खेलने की मंजूरी नहीं देता है. बंगाल की टीम को मंजूरी न देने के पीछे भी यह वजह मानी जा रही है.

बाकी देशों के क्रिकेट बोर्ड ने अपने क्रिकेटरों को दूसरे देशों की टी20 लीग में खेलने की मंजूरी दे रखी है लेकिन भारतीय क्रिकेटरों के पास ऐसी सुविधा मौजूदा नहीं हैं. इसलिए भारतीय खिलाड़ी सक्रिय रहते हुए किसी दूसरे देश की लीग में नहीं खेल पाते हैं. 

वहीं बंगाल क्रिकेट संघ के एक अधिकारी ने आशंका जताई है कि इस टूर्नामेंट का प्रारूप इसकी वजह है. वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो ने सीएबी के एक अधिकारी के हवाले से लिखा है, 

“यहां प्रारूप को लेकर समस्या लगती है. ऐसा लगता है कि अगर ये टी20 प्रारूप का टूर्नामेंट नहीं होता तो कोई बात नहीं होती.” 

नामीबिया में होने वाले इस टूर्नामेंट की बात करें तो बंगाल की टीम को नामीबिया, पाकिस्तान सुपर लीग की टीम लाहौर कलंदर्स और साउथ अफ्रीका की घरेलू टीम के खिलाफ खेलना था.

ये टूर्नामेंट एक से नौ सितंबर के बीच खेला जाना था. अब बंगाल ने इस टूर्नामेंट से नाम वापस ले लिया है तो इस टूर्नामेंट की समय सीमा कम कर दी जाएगी. 

सीएबी ने हालांकि 22 जुलाई को अपनी टीम का ऐलान कर दिया था. इस टीम में आकाशदीप, मुकेश कुमार, इशान पोरेल, शाहबाज अहमद, रितिक चटर्जी को जगह मिली थी.