'मैं  रोने  वाला  था...,' आयरलैंड  में चमके उमरान मलिक ने दिया ये बयान

नई दिल्ली: भारत और आयरलैंड के बीच खेली गई दो मैचों की टी 20 सीरीज में रफ्तार की सनसनी उमरान मलिक ने टीम इंडिया के लिए डेब्यू किया।

उमरान को हालांकि अपने डेब्यू मैच में सिर्फ एक ओवर फेंकने का मौका मिला, जिसमें उन्होंने 18 रन दिए, लेकिन दूसरे टी 20 में उन्होंने करोड़ो क्रिकेटप्रेमियों का दिल जीत लिया।

कप्तान हार्दिक पांड्या ने खुद के दो ओवर होने के बावजूद उमरान मलिक को आखिरी ओवर डालने की जिम्मेदारी दी। उमरान ने इस जिम्मेदारी को बखूबी निभाया और 4 रन से जीत दिला दी। इस ओवर में आयरलैंड को जीत के लिए 17 रन की जरूरत थी।

मेरा ड्रीम पूरा हुआ उमरान ने बीसीसीआई की ओर से जारी एक वीडियो में अपनी भावनाएं जाहिर की। उन्होंने कहा, जब भुवी भाई ने मुझे डेब्यू कैप दी, तो मैं रोने ही वाला था।

किसी भी क्रिकेटर के लिए अपने देश को रिप्रजेंट करना सबसे बड़ा मौका होता है। मेरे लिए इंडिया के लिए खेलना एक सपना था, मेरा ये ड्रीम पूरा हुआ।

बताई लास्ट ओवर की रणनीति उमरान ने आगे कहा, आज हम सीरीज जीते हैं। लास्ट ओवर में मुझे 17 रन बचाकर टीम इंडिया को जीत दिलाना काफी अच्छा लगा। उमरान ने लास्ट ओवर की रणनीति का खुलासा करते हुए क

पहले तो मैं वाइड लेंथ पर बॉल डालना चाहता था, जिससे बड़े हिट लगाने में मुश्किल हो। फिर दूसरी गेंद पर हार्दिक भाई ने बोला कि नॉर्मल लेंथ पर डालना, लेकिन जब मैंने नॉर्मल लेंथ पर गेंद डाली तो ये नो बॉल हो गई। 

उमरान ने कहा, जब तीन बॉल में 8 रन चाहिए थे तो हार्दिक भाई ने बोला कि दो बॉल डॉट करेगा, तब भी हम जीत जाएंगे। वैसा ही हुआ।

लास्ट तीन बॉल में मैंने तीन रन दिए और हम मैच जीत गए। उमरान ने आगे कहा, हार्दिक भाई ने मुझ पर भरोसा किया और मैंने इस जिम्मेदारी को निभाया। मैं उन्हें धन्यवाद देना चाहता हूं।