जानिए अब कब और किसको मिलेगा पैसा रसोई गैस (LPG) सब्सिडी को लेकर सरकार 

रसोई गैस (LPG) सिलेंडर पर सब्सिडी को लेकर सरकार ग्राहकों को बड़ी और रहत भरी खबर दे सकती है। सरकार रसोई गैस पर सब्सिडी वापस शुरू करने की योजना बना सकती है। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वित्त वर्ष 2022 में तरल पेट्रोलियम गैस (LPG) पर बजटीय सब्सिडी खत्म होने के बाद अब केंद्र सरकार इसे वित्तीय वर्ष 2023 में वापस शुरू कर सकती है। 

अगर सरकार ऐसा करती है तो करीब 9 करोड़ लोग महंगी रसोई गैस से देश को कुछ राहत मिल सकती है गौरतलब है कि घरेलू गैस सिलेंडर की सब्सिडी दो साल पहले से बंद है।

हालांकि इस बीच लोगों के खाते में सब्सिडी का पैसा आया है, लेकिन सभी के खाते में नहीं आया। दरअसल, सरकार ने 2020 में कोरोना महामारी की पहली लहर के बाद से ही गैस सिलेंडर पर मिलने वाली सब्सिडी पर रोक लगा दी है। हालांकि, 

जिन लोगों को उज्ज्वला योजना के तहत गैस सिलेंडर दिया गया था, उन्हें ही 200 रुपये की सब्सिडी दी जा रही है। ताजा आंकड़ों के मुताबिक सरकार ने साल 2021-22 में एलपीजी सब्सिडी बंद कर 11,654 करोड़ रुपये की बचत की है।

सरकार ने इस दौरान उज्ज्वला योजना के तहत एलपीजी सब्सिडी के रूप में केवल 242 करोड़ रुपये की सब्सिडी दी है। यानी सरकार ने बड़ी रकम बचाई है। 

पेट्रोलियम मंत्रालय ने वैश्विक स्तर पर ईंधन की बढ़ती कीमतों का हवाला देते हुए, H2FY22 और चालू वित्त वर्ष में OMCs की LPG अंडर-रिकवरी को कवर करने के लिए लगभग 40,000 करोड़ रुपये की आवश्यकता का अनुमान लगाया है

इतना ही नहीं, नोमुरा ने अकेले वित्त वर्ष 23 की पहली तिमाही में एलपीजी पर तेल विपणन कंपनियों की 9,000 करोड़ रुपये की अंडर-रिकवरी का अनुमान लगाया है। आपको बता दें कि पिछले साल H2 में अंडर-रिकवरी 6,500-7,500 करोड़ रुपये थी।