जानें प्लेइंग XI क्लीन स्वीप करने के लिए दो बदलाव के साथ मैदान  उतरेगी

भारत और वेस्टइंडीज क्रिकेट टीम के बीच जारी तीन मैचों की वनडे सीरीज का तीसरा एवं आखिरी मुकाबला आगामी बुधवार को त्रिनिदाद स्थित क्‍वींस पार्क ओवल मैदान में खेला जाएगा. 

इस औपचारिक मुकाबले में टॉस के लिए दोनों टीमों के कप्तान 6.30 बजे मैदान में उतरेंगे. वहीं मैच का असल रोमांच आधे घंटे बाद यानि शाम 7.00 बजे से शुरू होगा.

तीसरे वनडे मुकाबले में जब भारतीय टीम मैदान में उतरेगी तो उसकी मंशा एक और जीत हासिल कर सीरीज को 3-0 से अपने नाम करने पर होगी. 

वहीं कैरेबियन टीम आखिरी मुकाबले में किसी भी हाल में जीत हासिल करना चाहेगी. जिससे वह टी20 सीरीज में एक नई उत्साह के साथ मैदान में उतर सके.

ऐसे में बात करें भारतीय कप्तान शिखर धवन तीसरे वनडे मुकाबले में विपक्षी टीम के खिलाफ किस मजबूत प्लेइंग इलेवन के साथ मैदान में उतर सकते हैं, तो उन खिलाड़ियों के नाम इस प्रकार हैं- 

वेस्टइंडीज दौरे पर गई भारतीय टीम के लिए वनडे प्रारूप में शिखर धवन और शुभमन गिल की जोड़ी हिट साबित हुई है. धवन ने पहले वनडे मुकाबले में जहां 97 रनों की बेहतरीन अर्द्धशतकीय पारी खेली थी. 

वहीं गिल ने पहले वनडे में 64 और दूसरे वनडे मुकाबले में 43 रन बनाए. यही नहीं इन दोनों खिलाड़ियों के बीच पहले वनडे मुकाबले में शतकीय साझेदारी भी हुई थी. 

वहीं दूसरे वनडे मुकाबले में भी इस जोड़ी ने पहले विकेट के लिए 48 रन जोड़े थे. ऐसे में शायद ही टीम मैनेजमेंट तीसरे वनडे के लिए इस सलामी जोड़ी के साथ कोई छेड़छाड़ करे.

मध्यक्रम की जिम्मेदारी प्रचंड फॉर्म में चल रहे श्रेयस अय्यर के साथ-साथ सूर्यकुमार यादव, संजू सैमसन और दीपक हुडा के कंधो पर रहेगी. अय्यर ने कोहली की गैरमौजूदगी में तीसरे स्थान पर बखूबी उनकी कमी को पूरा किया है. 

इसके अलावा यादव से भी फैंस को उम्मीद रहेगी कि वह तीसरे वनडे मुकाबले में अपने बल्ले का जौहर बिखेरें. इसके अलावा सैमसन ने पिछले मुकाबले में अर्द्धशतकीय पारी खेलकर फॉर्म में लौटने का संदेश दिया है. वहीं हुडा ने दुसरे वनडे में ऑलराउंड प्रदर्शन से सबका दिल जीता है. 

तीसरे वनडे मुकाबले में ऑलराउंडर खिलाड़ी के रूप में हमें एक बार फिर शार्दुल ठाकुर और अक्षर पटेल की जोड़ी मैदान में दिख सकती है. 

इन दोनों ही खिलाड़ियों ने अबतक अपने ऑलराउंड प्रदर्शन से सबका दिल जीता है. खासकर पटेल ने दूसरे वनडे में जिस तरह से खेल को भारतीय पाले में मोड़ा था. उसे देख हर कोई हैरान है.