Brush Stroke

IPS Success Story: कम अंक की वजह से स्कूल से निकाला गया था, बना आईपीएस

Brush Stroke

दोस्तों! कहते हैं ना कि कोशिश करने वालों की हार नहीं होती, ऐसे ही हैं देश के एक आईपीएस ऑफिसर जिन को कम नंबर लाने की वजह से उनके स्कूल वालों ने उन्हें स्कूल से निकाल दिया था।

Brush Stroke

आज मैं बात कर रहा हूं आईपीएस ऑफिसर आकाश के बारे में, एक समय था जब कम नंबरों की वजह से स्कूल से वह निकाले गए थे लेकिन आज अपनी मेहनत के दम पर आईपीएस ऑफिसर हैं।

Brush Stroke

जब आप जीवन में कोई सफलता हासिल करने का लक्ष्य उठा लें, और लोग यह कहें कि तुमसे यह नहीं हो पाएगा, और जब आप उसमे सफलता प्राप्त करते हैं तो सबसे ज्यादा खुशी होती है।

Brush Stroke

हर वह विद्यार्थी जो जीवन में आईपीएस ऑफिसर बनना चाहते हैं, उनका एक ही लक्ष्य होता है यूपीएससी एग्जाम क्लियर करना और इसके लिए वह कड़ी मेहनत करते हैं।

Brush Stroke

UPSC EXAM के बारे में लोगों में मशहूर है कि जो बचपन में पढ़ने लिखने में ज्यादा ब्रिलियंट होगा वही विद्यार्थी यूपीएससी का एग्जाम क्लियर कर सकता है।

Brush Stroke

लेकिन IPS Officer आकाश कुलहरी बचपन में कम नंबर लाने के बावजूद भी वह अपनी कड़ी मेहनत से आईपीएस ऑफिसर  बने हैं।

Brush Stroke

IPS Officer आकाश कुलहरी कहते हैं कि  10th का रिजल्ट आउट होने के बाद स्कूल वालों ने मुझे इसलिए निकाल दिया क्योंकि 10th में 57 परसेंट नंबर आए थे।

Brush Stroke

वह कहते हैं कि मैं अपने आत्मविश्वास और कड़ी मेहनत की बदौलत आईपीएस ऑफिसर बन पाया, IPS Officer आकाश कुलहरी बीकानेर, राजस्थान के रहने वाले हैं।

Brush Stroke

उन्होंने सन 1996 में 10th का एग्जाम दिया था और 57 परसेंट उनके नंबर आए थे, लेकिन 12वीं में अपनी कड़ी मेहनत की बदौलत 85 परसेंट अंक प्राप्त किया।

उसके बाद उन्होंने कदम पीछे नहीं हटाया और सन 2006 में यूपीएससी एग्जाम क्लियर किया, वह अपनी मेहनत की वजह से Success हासिल की है।