IPL 2022 सीज़न चेन्नई सुपरकिंग्स  इस सीज़न ईर्ष्या के कारण डूबी चेन्नई की नाव?

IPL 2022 सीज़न चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम के लिए अब तक निराशाजनक रहा है. कप्तान बदले, खिलाड़ी बदले लेकिन जो चीज नहीं बदली वो है इस टीम की किस्मत

टूर्नामेंट की सफलतम टीम्स में से एक, CSK को इस सीजन लगातार कई हार झेलनी पड़ी है. टीम इस वक्त पॉइंट्स टेबल में भी नीचे से दूसरे स्थान पर है.

सीज़न की शुरुआत से पहले ही टीम ने कप्तानी में बदलाव किया.

 साल 2008 से टीम की कप्तानी कर रहे महेंद्र सिंह धोनी इस बार महज एक विकेटकीपर बल्लेबाज़ के तौर पर मैदान पर उतरे

जबकि टीम की कप्तान संभाली रविंद्र जडेजा ने.

हालांकि टीम का यह दांव कामयाब नहीं रहा और ना तो टीम और ना ही कप्तान जडेजा का प्रदर्शन अपेक्षा के अनुरूप रहा.

# Jadeja को No Support इस सीज़न के आठ मैच बाद ही जडेजा ने कप्तानी छोड़ दी. और एक बार फिर से ये जिम्मेदारी धोनी के कंधों पर आ गई.

धोनी के कप्तान बनते ही टीम ने हैदराबाद के खिलाफ 13 रन से जीत भी हासिल की

इस पूरे मामले को लेकर 1983 विश्व कप विजेता टीम के सदस्य सैयद किरमानी ने प्रतिक्रिया दी है. 

किरमानी ने आज तक से बात करते हुए कहा कि जडेजा को टीम का फुल सपोर्ट नहीं मिला. जलन के कारण टूटी टीम

सैयद किरमानी ने कहा कि टीम में धोनी के रहते जडेजा के कप्तान बनाए जाने पर ईर्ष्या की भावना पैदा हुई. उन्होंने कहा,

‘दुनिया की कोई भी टीम ले लो, उसमें ईगो की समस्या होती ही है.