इन 4 खिलाड़ियों का चयन न होना बना चर्चा  विषय और बड़ा सवाल यह भी है कि

रविवार को सेलेक्टरों ने भारत की दो टीमें घोषित कीं, लेकिन इन दोनों ही टीमों में ऐसे कई खिलाड़ी जगह नहीं बना सके, जिन्हें लेकर चर्चा थी या जिनके लिए वजहें अलग-अलग रहीं.

नई दिल्ली: चयनकर्ताओं ने करोड़ों भारतीय प्रशंसकों का  इंतजार खत्म करते हुए रविवार को इंग्लैंड दौरे  और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ घरेलू पांच टी20 मैचों की सीरीज के लिए दो टीमों का ऐलान कर दिया है.

विराट, रोहित और जडेजा को टी20 सीरीज के लिए विश्राम दिया गया, तो इंग्लैंड दौरे में खेले जाने वाले इकलौते टेस्ट मैच के लिए घोषित 17 सदस्यीय टीम में चेतेश्वर पुजारा की वापसी हुयी. 

लेकिन यहां कुछ खिलाड़ी ऐसे भी रहे, जिन्हें लेकर सवाल उठ रहे हैं इन खिलाड़ियों ने जारी इंडियन प्रीमियर लीग में बहुत ही शानदार प्रदर्शन किया,

 लेकिन इनके जगह न बना पाने से फैंस निराश हैं. इन खिलाड़ियों को लेकर चर्चा चल रही है. पूर्व क्रिकेटर इनके बारे में बातें कर रहे हैं. चलिए हम बारी-बाारी से आपको इन खिलाड़ियों के बारे में बताते हैं

1. राहुल त्रिपाठी को लेकर सबसे ज्यादा चर्चा सबसे ज्यादा बहस सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेल रहे राहुल त्रिपाठी को लेकर हो रही है. राहुल का बल्ला इस साल से ही नहीं,

बल्कि पिछले आईपीएल से बोल रहा है. राहुल त्रिपाठी इस सीजन में हैदराबाद के उन दो बल्लेबाजों में से हैं, जिन्होंने चार सौ से ज्यादा रन बनाए हैं. उनके अलावा लेफ्टी अभिषेक शर्मा दूसरे बल्लेबाज हैं, जिन्होंने चार सौ से ऊपर के आंकड़े को छुआ है. 

2. मोहसिन खान को जगह क्यों नहीं? लखनऊ सुपर  जॉयंट्स के लिए इस सीजन में बेहतरीन शुरुआत करने वाले लेफ्टी पेसर मोहिसन खान दूसरे ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्हें लेकर चर्चा चल रही है

मोहसिन ने आवेश खान के मुकाबले चार कम 8 मैच खेले हैं, लेकिन इन मैचों मे फेंके इस लेफ्टी पेसर ने 29 ओवरों में 13 विकेट चटकाए हैं.

यूपी के संभल जैसे छोटे शहर से आने वाले मोहसिन ने पंडितों की दिल जीता है, लेकिन ऐसा लगता है कि वह रेस में अर्शदीप सिंह से पिछड़ गए या सवाल यह भी हो सकता है कि क्या मोहसिन का चयन घरेलू पाटा पिचों पर भुवनेश्वर सिंह की जगह किया जा सकता था?

3. क्या संजू सैमसन हो गए प्लानिंग से बाहर? राजस्थान के कप्तान संजू सैमसन का चयन न होना भी हैरानी भरा है. पिछली कुछ सीरीज में सैमसन को एक प्रमुख खिलाड़ी के रूप में बताया गया था,

लेकिन दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जगह न मिलना बताता है कि शायद संजू सैमसन ने बल्लेबाज के रूप में तो प्रभावित नहीं ही किया,

बल्कि दूसरे विकेटकीपर के रूप में दिनेश कार्तिक उनसे रेस में आगे निकल गए. सैमसन ने आईपीएल के लीग चरण में 14 मैचों में 28.76 के औसत से 374 रन बनाए हैं. 2 अर्द्धशतक भी हैं सैमसन के खाते में, लेकिन यह औसत बतौर बल्लेबाज सेलेक्टरों को प्रभावित नहीं कर सका 

4. टी. नटराजन को जगह क्यों नहीं?   लेफ्टी पेसर टी. नटराजन का चयन न होना कुछ हद तक हैरान जरूर करता है. कारण है कि नटराजन पिछली सीरज में चोटिल होने के कारण टीम से बाहर हुए थे.

 ऐसे में उन्हें अपनी फिटनेस और कुछ हद तक फॉर्म साबित करनी थी. लेकिन जारी आईपीएल में नटराजन न केवल कहीं ज्यादा फिट दिखायी पड़े,

बल्कि उन्होंने फॉर्म भी ज्यादा ही साबित की. नटराजन टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में आठवें नंबर पर हैं.

उन्होंने अभी तक 11 मैचों में फेंके 43 ओवरों में 18 विकेट लिए हैं. ऐसे में उनकी जगह स्वाभाविक रूप से बनती थी, लेकिन लगातार देश में बेहतर होते तेज गेंदबाजों के पूल में नटराजन अनलकी साबित हुए

और बड़ा सवाल यह भी है कि... वहीं, पंडियों और पूर्व क्रिकेटरों के बीच चर्चा चल रही है, जो बड़े सवाल का रूप ले चुकी है कि जब जम्मू-एक्सप्रेस को टी20 टीम में जगह दी गयी,

 तो इंग्लैंड दौरे में उन्हें टेस्ट टीम में क्यों नहीं रखा गय? पूर्व कोच रवि शास्त्री सहित गावस्कर तक ने कहा था 

कि उमरान को मुख्य गेंदबाजों के बीच रखकर ज्यादा अनुभव दिलाने की जरूरत है. अब जबकि टी20 टीम के कुछ खिलाड़ी इंग्लैंड की टेस्ट टीम का हिस्सा हैं,

तो सवाल यह है कि उमरान को अच्छे अनुभव से वंचित क्यों किया गया? खासकर तब, जब टी20 विश्व कप ऑस्ट्रेलिया में होना है.