फाइनल मैच में मिली हार  के बाद भड़के कप्तान संजू   फैंस से मांगी  माफ़ी

इंडियन प्रीमियर लीग के 15वें संस्करण में गुजरात टाइटंस (Gujrat Titans) और राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) के बीच टक्कर हुई,

जिसमें गुजरात टाइटंस ने आसानी से मैच अपने पक्ष में जीत कर अपने पहले ही सीजन खिताब अपने नाम कर लिया है। मैच में लीग में अच्छा प्रदर्शन करके फाइनल में पहुंचने वाली राजस्थान रॉयल्स की हार के बाद कप्तान संजू सैमसन का टॉस पर बल्लेबाजी चुनने के फैसले पर लगातार सवाल उठ रहें हैं। 

 इस मैच में राजस्थान रॉयल्स ( Rajasthan Royals) ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने के बाद 9 विकेट खोकर 130 रन बनाए हैं। जबकि गुजरात टाइटंस ने 11 गेंद पहले ही 7 विकेट से मैच अपने नाम कर लिया है।

इस आईपीएल सीजन कैप्टन संजू सैमसन के बल्ले से गेंदबाजों की काफी पिटाई की है। उन्होंने कई मैच में विस्फोटक पारियां खेली हैं।

लेकिन कोई भी पारी मैच जिताऊ पारी नहीं रह सकी है। वहीं फाइनल मैच में कैप्टन संजू सैमसन ने मात्र 14 रन की पारी खेली है। मैच के बाद कप्तान संजू सैमसन ने इस सीजन को काफी अच्छा सीजन बताया है।

दरअसल हुआ ये कि जब बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह (BCCI President Sourav Ganguly and Secretary Jay Shah) ने विजेता ट्रॉफी हार्दिक को थमाई तो गुजरात के कप्तान ने वही काम किया जो धोनी, रोहित शर्मा और विराट कोहली कप्तान रहते करते आए थे.