धोनी ने  6  दिग्गज  क्रिकेटर्स  दिया धोखा! ख़त्म कर दिया क्रिकेट करियर 

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन से हर किसी को प्रभावित किया है। 

उन्होंने अपने खेल से देश-दुनिया में पहचान कायम की है। उन्होंने खेल के तीनों फ़ॉर्मेंट्स में शानदारा रिकॉर्ड्स कायम किए हैं। 

धोनी ने अपने टेस्ट करियर में अब तक कुल 90 मैच खेले हैं। इनमें 38.09 के स्ट्राइक रेट से उन्होंने कुल 4876 रन बनाए हैं। वहीं, 

उन्होंने ओडीआई में 350 मैच खेले हैं। इनमें 50.58 के स्ट्राइक रेट से उन्होंने 10,773 रन बनाए हैं। इसके अलावा धोनी ने टी20 करियर में 98 मैच खेले हैं। इनमें 37.6 के स्ट्राइक रेट से उन्होंने 1617 रन बनाए हैं।

इंटरनेशनल क्रिकेट से सन्यास ले चुके धोनी कुशल एवं सफल विकेटकीपर और बल्लेबाज़ के तौर पर विख्यात हैं। उनके नाम तमाम रिक़ॉर्ड्स कायम हैं।

आज हम आपको 6 ऐसे खिलाड़ियों के नाम बताएंगे जिनके साथ एक ज़माने में धोनी की दोस्ती खूब सुर्खियां बटोरती थीं। हालांकि, इन्हीं खिलाड़ियों ने धोनी पर उनका साथ न देने जैसे गंभीर आरोप भी लगाए हैं।

युवराज सिंह भारतीय क्रिकेट टीम के ऑलराउंडर प्लेयर युवराज सिंह और कप्तान धोनी की दोस्ती किसी से छिपी नहीं है। दोनों के बीच सगे भाईयों से बढ़कर रिश्ता था। हालांकि,

बाद में इस रिश्ते में खटास आ गई थी। माना जाता है जब युवराज कैंसर से जंग जीतकर वापिस लौटे तो उनके पिता योगराज सिंह और युवराज ने खुद धोनी पर उन्हें टीम में जगह दिलाने का दवाब बनाया था। 

मगर उस वक्त टीम में नए युवा क्रिकेटरों की भरमार थी जिसकी वजह से धोनी उनकी मदद नहीं कर सके थे।

इसके अलावा दोनों के बीच विवाद की वजह इंडियन टीम की कप्तानी को भी माना जाता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक,

साल 2007 में जिस वक्त धोनी को टीम इंडिया की कमान सौंपी गई थी उस वक्त कैंप्टेंसी की रेस में प्रबल दावेदार युवराज सिंह थे।

गौतम गंभीर साल 2007 और 2011 विश्वकप के दौरान भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज बल्लेबाज़ गौतम गंभीर ने सबसे अधिक रन बनाए थे। धोनी की कप्तानी में भारतीय टीम की विजेता बनी थी।

ऐसे में जीत का सारा क्रेडिट धोनी को ही मिला था।साल 2011 में एक प्रेस कॉन्फ्रैंस के दौरान धोनी ने टीम के सीनियर खिलाड़ियों को आलसी कहकर पुकारा था। कप्तान ने वीरेंद्र सहवाग,

सचिन तेंदुलकर और गौंतम गंभीर को आलसी कहकर संबोधित किया था। धोनी के इस बयान पर काफी विवाद छिड़ा था।

वीरेंद्र सहवाग भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज़ वीरेंद्र सहवाग और टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के बीच रिश्ते तल्ख रहे हैं।

क्रिकेटर ने धोनी के उस बयान से नाराज़गी जताई थी जिसमें कप्तान ने उन्हें और टीम के अन्य सीनियर खिलाड़ियों को आलसी कहकर पुकारा था। सहवाग ने एक शो के दौरान कहा था 

कि उन्हें टीम मीटिंग के दौरान आज तक नहीं बताया गया था कि वे आलसी हैं। उन्हें मीडिया के माध्यम से पता चला कि वे आलसी हैं। 

टर्बनेटर के नाम से मशहूर भारतीय ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट्स से सन्यास ले चुके हैं। साल 2016 में आखिरी बार उन्हें भारत के लिए खेलते हुए देखा गया था। 

इस दौरान वे कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाए थे जिसके बाद टीम से उन्हें ड्रॉप कर दिया गया था। इसके बाद भज्जी ने भी क्रिकेट से सन्यास की घोषणा कर दी थी। हरभजन सिंह सुरेश रैना रविंद्र जडेजा