CSK के नाम के कप्तान थे जडेजा? इस्तीफे के पीछे धोनी का कनेक्शन

Ravindra Jadeja Left CSK Captaincy: ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा ने चेन्नई सुपर किंग्स की कप्तानी छोड़ने का फैसला किया है।

एमएस धोनी से फिर से टीम का नेतृत्व करते दिखाई देंगे। 40 वर्षीय धोनी को एक बार फिर येलो आर्मी का कप्तान घोषित किया गया है। वह हैदराबाद के खिलाफ एक बार फिर कप्तानी करते दिखेंगे।

नई दिल्ली: आईपीएल-2022 के रोमांच के बीच एक सबसे बड़ी खबर आई, जिसने हर किसी को हैरान कर दिया। यह खबर है

रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) के बीच सीजन चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) की कप्तानी छोड़ने की। ऑलराउंडर को इस सीजन के शुरू होने से ठीक पहले चेन्नई ने धोनी की जगह कप्तान बनाया था

लेकिन उन्होंने अचानक ही कप्तानी से इस्तीफा दे दिया। इस तरह CSK को 4 बार चैंपियन बनाने वाले महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) फिर से कप्तान बन गए हैं।

खैर, यह खबर रही। इस बारे में CSK ने अपने ऑफिशल बयान में दो लाइन कहा। उसके अनुसार, जडेजा कप्तानी छोड़कर अपने खेल पर फोकस करना चाहते हैं।

एमएस धोनी ने उनके फैसले को स्वीकार करते हुए कप्तानी संभाल ली है। यह मामला जितना सीधा दिख रहा है क्या वाकई में उतना ही सीधा है? शायद नहीं।

दरअसल, जडेजा को कप्तानी मिल तो गई थी, लेकिन भूमिका में कोई बदलाव नहीं हुआ था। अधिकतर समय महेंद्र सिंह धोनी ही विकेट के पीछे से भूमिका निभाते दिखते थे। इस वजह से कई बार पूर्व क्रिकेटर्स ने धोनी की आलोचना भी की थी।

अजय जडेजा ने खड़ा किया था धोनी पर बड़ा सवाल पूर्व क्रिकेटर अजय जडेजा ने तो उनपर गेम कंट्रोल का आरोप भी लगाया था। उन्होंने कहा था कि इसमें कोई शक नहीं कि धोनी बड़े खिलाड़ी और महान कप्तान हैं।

उनकी इज्जत करता हूं, लेकिन उन्हें गेम नहीं कंट्रोल करना चाहिए। जडेजा अधिकतर समय डीप एरिया में फील्डिंग करते दिखते हैं। उनके और किसी गेंदबाज के बीच चर्चा भी बहुत कम होती दिखती

कप्तानी सबके बस की बात नहीं जडेजा के कप्तानी छोड़ने की जैसे ही खबर आई तुरंत ही मुंबई इंडियंस और राजस्थान रॉयल्स के बीच जारी मैच में कॉमेंट्री कर रहे मोहम्मद कैफ और आकाश चोपड़ा ने चर्चा शुरू कर दी। 

कैफ का सबसे पहला रिएक्शन था- कप्तानी सबके बस की बात नहीं..। इस बात में दम है। चेन्नई ने शुरुआती 4 मैच गंवाए थे तो जडेजा की काफी आलोचना हुई थी, लेकिन उतने ही निशाने पर धोनी भी थे। वजह साफ है कि किसी भी मैच में जडेजा से अधिक धोनी का प्रभाव दिखता था।