पाटीदार ने लिखी किस्मत अनसोल्ड रहने से लेकर प्लेयर ऑफ द मैच तककी कहानी

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बल्लेबाज रजत पाटीदार को आईपीएल 2022 में कोई खरीदार नहीं मिला था, लेकिन 

वे अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे और उन्होंने जिस तरह का खेल एलिमिनेटर मैच में दिखाया, वो दमदार था।

फरवरी 2022 में हुए आईपीएल 2022 के मेगा ऑक्शन में रजत पाटीदार अनसोल्ड रहे थे। यहां तक कि उनकी पुरानी फ्रेंचाइजी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने भी

उन पर बोली नहीं लगाई थी, जो 20 लाख की बेस प्राइस में नीलामी में शामिल हुए थे। हालांकि, रजत पाटीदार अपनी किस्मत खुद लिखने वाले थे,

क्योंकि उनको करीब आधे टूर्नामेंट के बीच रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर यानी आरसीबी ने रिप्लेसमेंट के तौर पर अपने साथ जोड़ा था। 

आरसीबी ने उस समय सोचा भी नहीं होगा कि वे उनको ऐसा मैच जिताएंगे, जिसकी उम्मीद किसी को नहीं होगी।

आईपीएल 2022 के एलिमिनेटर मैच से पहले उनको इस सीजन में कुछ ही मैच खेलने का मौका मिला, जिसमें वे थोड़ा बहुत सफल हुए,

लेकिन उन्होंने लखनऊ सुपर जाएंट्स यानी एलएसजी के खिलाफ अपने करियर की अब तक की सबसे बेस्ट पारी खेलकर साबित कर दिया कि आरसीबी ने उनको न खरीदकर गलती की थी।

रजत पाटीदार को लुवनिथ सिसोदिया की जगह आरसीबी में शामिल होने का मौका मिला। उन्होंने एलिमिनेटर मैच में 54 गेंदों में 12 चौके और 7 छक्कों की मदद से 112 रन की नाबाद पारी खेली,

 जिसमें उनका स्ट्राइकरेट 207 से ज्यादा का था। इसी पारी के दम पर आरसीबी को जीत मिली और रजत पाटीदार को प्लेयर ऑफ द मैच का खिताब मिला। 

इंदौर के इस 28 वर्षीय खिलाड़ी ने अपनी किस्मत खुद लिख डाली है।