बुमराह चमकी किस्मत; 2 नो बॉल दिला गई दो बड़े विकेट, अंपायर ने दिया साथ

जब भी कोई गेंदबाज नो बॉल फेंकता है तो उसे निराशा जरूर होती है। कई बार किस्मत खराब हो तो नो बॉल पर ही गेंदबाज को विकेट मिल जाती है जिससे टीम को काफी नुकसान उठाना पड़ा है।

यह बात जसप्रीत बुमराह तो अच्छी तरह से जानते हैं। चैंपियंस ट्रॉफी 2017 में फखर जमन के खिलाफ उनको वह नो बॉल तो हमेशा याद रहेगी जिसकी वजह से टीम इंडिया को फाइनल मुकाबला गंवाना पड़ा था।

मगर इंग्लैंड के खिलाफ एजबेस्टन में जारी 5वें रिशेड्यूल मैच में नो बॉल ने ही बुमराह की किस्मत चमका दी। उनको इस गलती की वजह से एक नहीं बल्कि दो विकेट मिले और टीम को काफी फायदा हुआ।

जसप्रीत बुमराह ने सबसे पहले लीज को बनाया अपना शिकार पारी के तीसरे ओवर में ही जसप्रीत बुमराह ने ऐलेक्स लीस को क्लीन बोल्ड कर भारत को पहली सफलता दिलाई। जसप्रीत बुमराह ने ओवर की आखिरी गेंद नो बॉल फेंकी थी। 

व्हाइट बॉल क्रिकेट में तो गेंदबाज के नो बॉल फेंकने पर बल्लेबाज खुश होता है, मगर ऐलेक्स लीस बुमराह की इस नॉ बोल से खुश नहीं होंगे। दरअसल, उस गेंद पर क्रॉली ने एक रन लेकर स्ट्राइकर लीस को दी थी और अगली अतिरिक्त गेंद पर बुमराह ने लीस को क्लीन बोल्ड कर पवेलियन का रास्ता दिखा।

ओली पोप के खिलाफ भी बुमराह को मिला किस्मत का साथ लीस की तरह बुमराह ने ओली पोप को भी नो बॉल की अगली गेंद पर आउट किया। 11वां ओवर लेकर आए बुमराह अपने ओवर से 1 रन देकर जा रहे थे, तभी अंपायर ने उन्हें बताया कि उन्होंने आखिरी गेंद नो बॉल फेंकी है।

नो बॉल होने की वजह से बुमराह अतिरिक्त गेंद करने वापस आए और उन्होंने इस गेंद पर ओली पोप को स्लिप में आउट किया। पोप का विकेट लेने के बाद जसप्रीत बुमराह का रिएक्शन भी देखने लायक था। 

जसप्रीत बुमराह ने अभी तक इंग्लैंड के बल्लेबाजों पर शिकंजा कसा हुआ है। लीज और पोप के अलावा जैक क्रॉली को भी उन्होंने ही पवेलियन का रास्ता दिखाया है। बुमराह ने अभी तक फेंके 7 ओवर में 30 रन देकर तीन विकेट लिए हैं। इस दौरान उन्होंने 4 नो बॉल फेंकी।