Voter ID Ko Aadhar Card Se kaise Link Kare | वोटर आईडी को आधार कार्ड से लिंक करने का आसन तरीका यहां देखें

जैसा कि इस विषय में सभी जानते हैं कि हमारे देश भारत में लोकतांत्रिक सरकार का शासन होता है। लोकतांत्रिक शासन प्रणाली में शासक का चयन जनता के द्वारा किया जाता है। लोकतांत्रिक शासन प्रणाली में यदि शासन प्रणाली जनता को पसंद नहीं आती है तो जनता के पास इतनी ताकत होती है कि वह सत्ताधारी को सत्ता से हटा सके। 

किंतु इतने बड़े देश में इस बात की पुष्टि किस प्रकार से की जाती है कि किन लोगों को सत्ता प्रदान की जाएगी। तो इस प्रश्न का उत्तर संभवत आप सभी पाठकों के पास होगा कि। हमारे देश में सत्ताधारी सरकार का चयन आम जनता के द्वारा किए जाने वाले मतदान के द्वारा किया जाता है। 

हमारे देश में प्रत्येक नागरिक को मतदान देने का अधिकार प्रदान किया गया है। सत्ता में आई कोई भी पार्टी सरकार चला सकती है। लेकिन जितनी यह प्रक्रिया सरल लगती है उतनी है नहीं। अक्सर ऐसी खबरें आती है कि सत्ताधारी सरकार के चयन के समय बेईमानी की गई है। इसी के समाधान हेतु एक बहुत बड़ी पहल को अंजाम दिया गया है। 

जाने क्या है वोटर आईडी कार्ड तथा आधार कार्ड से जुड़ी नई अपडेट:-

जैसा कि आपने ऊपर हेडिंग पढ़कर ही है समझ लिया है कि इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको बताने वाले हैं कि आप किस प्रकार से वोटर आईडी कार्ड को आधार कार्ड से लिंक कर सकते हैं। 

किंतु आप यह बात जरूर सोच रहे होंगे कि भला इसकी आवश्यकता क्यों पड़ी। तो आपको इस से अवगत करा दे कि हमारे देश में चुनाव के समय धांधली होने की संभावना जताई जाती है। इसी धांधली को कम करने हेतु इस महत्वपूर्ण कदम को उठाया गया है। 

इसलिए यदि आप की वोटर आईडी कार्ड आपके आधार कार्ड से लिंक नहीं है तो जल्द से जल्द करवा ले। अब जाहिर सी बात है आप यह बात जरूर पूछेंगे कि आप किस प्रकार से अपने वोटर आईडी कार्ड को आधार कार्ड से लिंक कर सकते हैं। 

तो आपको अपने दिमाग पर ज्यादा जोर देने की आवश्यकता नहीं है हम इसका उत्तर इसी आर्टिकल में आपको प्रदान करेंगे। 

नीचे में हमने कुछ तरीकों का विवरण प्रदान किया है जिसके द्वारा आप वोटर आईडी कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करवाने हेतु सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

युवकों को प्रदान किए जाएंगे 4 मौके जिससे कि वह मतदाता सूची में नाम जुड़वा सके:-

भारत सरकार की ओर से एक बहुत बड़ी घोषणा की गई है कि अब से 1 जनवरी को जिसकी भी 18 वर्ष की आयु पूर्ण होती है। उन युवकों का नाम मतदाता सूची में चढ़ाया जा सकता है। इसके लिए सभी युवक जिसकी उम्र 18 वर्ष हो चुकी है आवेदन कर सकते हैं। 

इसके सभी युवा वोटर आईडी कार्ड में अपना नाम जुड़वाने हेतु वर्ष में कुल 4 बार तक आवेदन कर सकते हैं। प्रारंभ में अव्यवस्था वर्ष में एक बार की निर्धारित की गई थी। 

जिससे कि वोटर आईडी कार्ड में नाम जुड़वाने के वास्ते युवकों को पूरे के पूरे 1 साल तक का इंतजार करना पड़ता था। 

सरकार के इस निर्णय से हमारे देश में वोटर्स की संख्या में बढ़ोतरी देखने को मिलेगी। 

जाने कौन से लाभ प्रदान किए जाएंगे यदि आप आधार कार्ड वोटर कार्ड को लिंक करवा देते हैं:-

यदि आप अपने वोटर आईडी कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करवाते हैं तो इसके बहुत से फायदे प्रदान किए जाएंगे। इनमें से कुछ प्रमुख हमने नीचे में प्रदान किया है। 

  • आधार कार्ड को अब केवल पैन कार्ड से ही नहीं यहां तक कि वोटर आईडी कार्ड से भी लिंग कराया जा सकता है। 
  • यह चुनाव आयोग को मतदाता सूची में डुप्लीकेट एंट्री को खत्म करने हेतु सहायक सिद्ध होगी। 
  • इससे हमारी देश की सरकार को सिस्टम में लीकेज को ठीक करने की भी सहायता प्रदान होगी। 

हम आपको बीएलओ के माध्यम से वोटर आईडी में आधार कार्ड लिंक करवाने की विधि का यहां पर विवरण प्रदान कर रहे हैं। 

  • आपको अपनी नजदीकी बूथ लेवल के ऑफिस से संपर्क करने के पश्चात लिंकिंग के वास्ते आवेदन करना होगा। 
  • आपको जो आवेदन पत्र प्रदान किया जाएगा आपको उसको भर लेना है तत्पश्चात आपको इसे बूथ लेवल के अधिकारी के पास जमा कर देना है। 
  • आपके द्वारा  फॉर्म में प्रदान की गई सभी जानकारियों को पूर्ण रूप से वेरीफाई किया जाएगा। तत्पश्चात आपको फिर ऑफिसर एडिशनल वेरिफिकेशन के वास्ते आपके लोकेशन पर पहुंचेंगे। 
  • एक बार वेरिफिकेशन की प्रक्रिया पूर्ण होने के पश्चात आप के आधार कार्ड तथा वोटर आईडी कार्ड को आपस में लिंक कर दिया जाएगा। 

NVSP के पोर्टल से वोटर आईडी कार्ड को आधार कार्ड से लिंक कर ले:-

  • इसके आधिकारिक पोर्टल voterportal.eci.gov.in पर जाएं। 
  • यहां पर अपना मोबाइल नंबर ईमेल आईडी तथा वोटर आईडी नंबर का प्रयोग करके लॉगिन कर ले। 
  • इसके पश्चात आपको यहां पर अपना राज्य जिला तथा पर्सनल जानकारियां जैसे कि आपका नाम आपका जन्म तिथि आप के पिता का नाम इत्यादि को दर्ज कर देना। 
  • स्क्रीन पर दिखाई गई ‘फीड आधार नंबर’ ऑप्शन को सिलेक्ट कर ले। 
  • इन सब के पश्चात आपको अपना आधार नंबर आधार कार्ड वोटर आईडी कार्ड नंबर रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर तथा रजिस्टर ईमेल आईडी इत्यादि को जोड़ देना है।
  • सबमिट के ऑप्शन के साथ प्रक्रिया को पूर्ण कर ले। 
  • इस प्रकार से आप कि वोटर आईडी तथा आधार कार्ड आपस में लिंक हो जाएगी। 

s.m.s. के माध्यम से वोटर आईडी कार्ड को आधार कार्ड से लिंक कर ले:-

  •  अपने फोन में s.m.s. ऐप को ओपन कर ले। 
  • इस प्रकार से मैसेज को टाइप कर ले <वोटर आईडी नंबर> <आधार नंबर>
  • 166 अथवा 51969 नंबर पर एसएमएस भेज कर आधार कार्ड वोटर आईडी कार्ड को लिंक करने की प्रक्रिया को प्रारंभ कर दें। 

कॉल के द्वारा कर ले वोटर आईडी कार्ड को आधार कार्ड से लिंक:-

  • सर्वप्रथम आपको अपने फोन में जाकर डायल पैड पर 1950 डायल कर ले। 
  • इसके पश्चात आपको यह जानकारी प्रदान करनी होगी कि आपका वोटर आईडी कार्ड आधार कार्ड से लिंक करना है। 
  • इसके पश्चात आपको वोटर आईडी कार्ड तथा आधार कार्ड की संपूर्ण जानकारीयां प्रदान करनी होगी। 
  • इसके पश्चात आपके वोटर आईडी कार्ड को आधार कार्ड से लिंक कर दिया जाएगा। 

निष्कर्ष:-

इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आधार कार्ड से वोटर आईडी कार्ड का लिंक करने की विभिन्न विधियां वर्णित की है। आशा है आपको हमारे आर्टिकल पसंद आया होगा। 

तो दोस्तों यदि आपको इस आर्टिकल संबंधित किसी भी प्रकार का सवाल है तो कृपया कमेंट बाक्स के जरिए हमसे साझा करें.

दूसरे लाभदायक पोस्ट पढ़ें

Important Links

WTechni HomeClick Here
Other postsClick Here
Join Telegram ChannelClick Here

Wasim Akram

वसीम अकरम WTechni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है.

Leave a Comment

×