वाहन बीमा क्या है और गाड़ी का इंश्योरेंस कैसे करें?

क्या आपके पास कोई वाहन जैसें कार,बाइक आदि है तो और आपके बाइक या कार का इन्सुरेंस खत्म हो गया लेकिन अभी तक आपने अपने वाहन का इन्सुरेंस नही कराया है. तो आपको ये जानना जरुरी है की गाड़ी का इंश्योरेंस क्या है (What is Motor Vehicle insurance in Hindi) और इसके प्रकार क्या हैं? इम्सुरेंस कैसे कराए इसके बारे में जानकारी नही है तो यह पोस्ट आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण होने वाली जी हां दोस्तों क्योंकि आज इस पोस्ट में हम इसी के बारे में विस्तार से जानने वाले है.

सही मायनो में देखें तो आज भी बहुत सारे ऐसे लोग हैं जिन्हे गाडी ड्राइव करनी तो आती है लेकिन एक गाडी के लिए जरूर डाक्यूमेंट्स में से एक जरुरी डॉक्यूमेंट इन्सुरेंस भी है वो ये भी नहीं जानते और कुछ तो ऐसे भी होते हैं जिन्हे ये भी नहीं मालूम की वाहन बीमा क्या है और बाइक या कार का बीमा कैसे कराए? अगर आप जानना चाहते हैं की अपने वाहन बाइक, या कार का बीमा कैसे कराये तो फिर आप इस पोस्ट को पढ़कर अच्छी तरह से समझ जायेंगे.

हम सभी जानते है की भारत में किसी भी वाहन को चलाने से पहले उसका इन्सुरेंस होना अनिवार्य है और यदि कोई भी व्यक्ति बिना इसके वाहन को सड़क पर चलाता है तो उसे सजा होने के साथ- साथ जुर्माना भी देना हो सकता है. इसलिए वाहन का बीमा कराना बहुत जरूरी है.

इन सभी बातों को ध्यान में रखकर हमने इस पोस्ट को तैयार किया है. जिसमे आपको इस के बारे में विस्तार से बताएँगे क्योंकि अक्सर देखा जाता है कि लोग वाहन तो ले लेते है लेकिन लोग वाहन बीमा से अंजान होते हैं जैसे कि गाड़ी का इंश्योरेंस क्या होता है (What is Vehicle insurance in Hindi) और वाहन एक्ट क्या है और बाइक या कार का बीमा कैसे कराए. लेकिन आज आपको बीमा के बारे में सम्पूर्ण और उचित जानकारी मिलने वाली है तो चलिए अब शुरू करते हैं.

वाहन बीमा क्या है – What is Vehicle insurance in Hindi

motor insurance kya hai in Hindi

वाहन बीमा का एक प्रकार का भविष्य में किसी दुर्घटना,आशंका से निपटने का हथियार है मतलब की जब हम कोई नई बाइक लेने जाते है तो कंपनी आपको उसका बीमा देती है. जिसमे कंपनी वाहन में सड़क पर किसी तरह की दुर्घटना होने, चोरी होने पर आपकी उसका मुआवजा देने का वादा करती है.

आपको यह जरूर जाना चाहिए कि कुछ वाहन बीमा में कंपनी पास पार्टी का इंसुरेंस भी किया जाता है. जिसमे गाड़ी चलाने वाले ड्राइवर और सड़क पर चलने वाले व्यक्ति का भी बीमा कर सकते है.आप भी ये जानते ही होंगे कि भारत मे किसी भी वाहन को बिना इन्सुरेंस के रोड पर चलाना कानून अपराध है और यदि बिना इम्सुरेंस के रोड पर कोई भी व्यक्ति चलाता पकड़ा जाता है तो उस पर भारी जुर्माना देना पड़ता है.

अक्सर देखा जाता है यदि आप भी बाइक या कार चलाते है तो जब सड़क पर किसी कारण वाहन से कोई दुर्घटना हो जाती है तो लोग आपस मे झगड़ा करने लगते है और फिर दुर्घटना में हुई हानि के लिए मुआवजा की बातें करने लगते है. इन्ही सब को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार में वाहन इन्सुरेंस अनिवार्य कर दिया है ताकि लोग आपस मे झगड़ा कर दुर्घटना में हुए नुकसान की भरपाई के लिए सीधे किसी प्रोवाइडर कंपनी से ले सके.

वैसे ये तो आप सभी ने सुना ही होगा या फिर टीवी, अख़बार में पढ़ा ही होगा कि भारत सरकार ने भारत के कई राज्य में न वाहन एक्ट के नए नियमो को शुरू किया है. जिसमे पहले के मुताबिक किसी भी वाहन को यदि कोई भी व्यक्ति ट्रैफिक।नियम के अनुसार नही चालाता है तो उसे अब डबल मतलब के पहले की राशि के मुकाबले दुगनी रकम का जुर्माना देना होगा. इसीलिए यदि आपने अपने वाहन का बीमा नही किया है तो अब आपको ज़रूर करा लेना चाहिए.

दोस्तों इस भीड़ भारी ज़िंदगी मे क्या हो जाये इसके बारे में किसी को कुछ भी नही पता होता है. इसलिए भीड़ भाड़ भरी ज़िंदगी मे किसी भी वाहन का बीमा कराना बहुत जरूरी होता है आप जानते ही आज कल सड़क पर अक्सर छोटी मोटी घटनाएँ होती रहती है और यदि दुर्घटना में वाहन में कोई डैमेज हो जाती है तो वाहन में काफी ख़र्चा होता है. जो हमे अपनी जेब से भरना होता है लेकिन यदि आपके वाहन का है तो आपको इसकी कोई चिंता करने की जरूरत नही होती है सड़क दुर्घटना में आपके वाहन में किसी तरह की कोई भी कमी आती है तो आप अपने वाहन इन्सुरेंस का कम्पनी पर क्लेम कर सकते है और उसका मुआवजा आप कंपनी से ले सकते है.

चलिये इसके बारे में विस्तार से एक उदाहरण को लेकर समझते है.

जैसे कि यदि आपके पास कोई वाहन बाइक है तो जब आप उसे रोड पर चालाते है तो ऐसे में यदि अचानक सड़क में कोई एक्सीडेंट या दुर्घटना हो जाती है तो इस स्थिति में बाइक और बाइक को जो व्यक्ति चला रहा है दोनों का नुक़सान होता है. ऐसे में बाइके में होंने वाले या हमारे शरीर मे किसी तरह की चोट के इलाज के लिए खुद के पैसे खर्च करने होते है लेकिन यदि आपको वाहन बाइक या कार का इन्सुरेंस है और अचानक रोड पर किसी तरह की दुर्घटना हो जाती है तो उस दुर्घटना में होने वाले नुकसान चाहे वह आपके वाहन बाइक या कर का हो या फिर आपके शरीर मे लगने वाली चोट का सभी का खर्चा आपको कंपनी देगी.

बस आपको इसके लिए कंपनी को क्लेम कर देना है फिर सड़क दुर्घटना में आपके या आपके वाहन में कोई भी हानि हुई उसका मुआवजा ले सकते है. आपको खुद के पैसे खत्म नही करने होंगे. वाहन बीमा कंपनी वाहन का कई प्रकार के इम्सुरेंस करती है जिसके बारे में नीचे विस्तार से बताया गया है.

वाहन बीमा के प्रकार – types of Vehicle Insurance

वाहन बीमा के बारे में इतना सब कुछ पढ़ने के बाद मुझे यकीन है कि आप समझ ही गए होंगे कि वाहन बीमा कराना आज भारत मे कितना जरूरी हो गया. लेकिन अब इन सबके साथ साथ इसके कितने प्रकार के होते है इसके बारे में जानना बहुत जरूरी है क्योंकि अक्सर देखा जाता है कि वाहन के लिए कौन सा इन्सुरेंस कराना चाहिए इसके बारे में लोगों को नही पता है. जिस कारण अधिकतर लोग अपने वाहन के लिए सही इन्सुरेंस का चयन नही कर पाते है तो इसलिए हमने नीचे ये कितने प्रकार के होते है उनके बारे में बताया है.

  1. Third Party Insurance (थर्ड पार्टी इंश्योरेंस)
  2. Comprehensive And Full Party Insurance (कम्प्रेहेन्सिव इंश्योरेंस अथवा फुल पार्टी बीमा)

Third Party Insurance (थर्ड पार्टी इंश्योरेंस)

इसमें जो बीमा कराने वाला होता है वह फर्स्ट यानी पहली पार्टी होता है. जो कंपनी बीमा करती है वह दूसरी पार्टी होती है. तीसरी यानी थर्ड पार्टी वह होती है, जिसे बीमा कराने वाले इंसान से नुकसान पहुंचता है. जो थर्ड पार्टी होती है वही नुकसान के लिए दावा करती है. यदि कोई अपने वाहन का थर्ड पार्टी बीमा कराता है तो बीमा कंपनी दूसरे लोग के साथ हुए एक्सीडेंट में नुकसान को कवर करती है. और इस प्रकार के बीमा में गाड़ी या ड्राइवर करने वाले के साथ हुई दुर्घटना को कवर नही किया जाता है. सिर्फ उसी व्यक्ति की मदद की जाएगी जिससे आपके वाहन से दुर्घटना हुई है इसीलिए इस इम्सुरेंस को थर्ड पार्टी इन्सुरेंस कहते है.

जैसे कि यदि आप सड़क पर वाहन चला रहे है और सड़क पर दुर्घटना हो जाती है जिसमे किसी अन्य व्यक्ति चोट लगने या उसके वाहन में कोई नुकसान होने पर सामने वाले व्यक्ति को कंपनी की तरफ से मुआवजा दिया जाएगा लेकिन यदि आपको कही चोट आती है या फिर आपकी बाइक में कोई नुकसान होता है तो थर्ड पार्टी बीमा के अनुसार आपको कोई भी मदद बीमा कम्पनी की तरफ से नही दी जाएगी.

Comprehensive And Full Party Insurance (कम्प्रेहेन्सिव इंश्योरेंस अथवा फुल पार्टी बीमा)

इस पॉलिसी में वाहन और बाइक ओनर दोनों को कवर करती है. मतलब की सड़क पर कोई हादसा होता है तो आपके वाहन और जिससे आपके वाहन के साथ दुर्घटना हुई है और जो भी वाहन में सवार थे उन सभी को बीमा इन्सुरेंस कम्पनी की तरफ से आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी.

बाइक का इंश्योरेंस कैसे करें?

अब बात आती है अपने वाहन जैसे बाइक, कार का इन्सुरेंस कैसें कराए यह कई लोगो के मन में सवाल रहता है और लोगो के इसके बारे में पता भी नही होता है. आज लोग बाइक का बीमा कराने बाहर जाते है जहां काफी समय लगता है लेकिन आज हम आपको बता दे की यदि आपके पास लैपटॉप, एंड्रोइड फ़ोन है तो घर बैठे ही अपनी बाइक या कार का इन्सुरेंस कर सकते है. ये करना काफी सरल काम है बस आपको कुछ स्टेप्स को फॉलो करना है जिसके बारे में हमने नीचे स्टेप by स्टेप बताया है.

बाइक का इंश्योरेंस यहाँ करे?

  • सबसे पहले आपको इन्सुरेंस की ऑफिसियल वेबसाइट Digital Seva Portal पर जाना है.
  • यहां आपको इन्सुरेंस का विकल्प मिलेगा उसी पर आपको क्लिक कर देना है.
  • नेक्स्ट आपको मोटर थर्ड पार्टी के विकल्प पर क्लिक करना है.
  • Now यहां आपको इन्सुरेंस कम्पनी की लिस्ट मिलेगी तो यहां आप उस कंपनी को सेलेक्ट करे जिस कंपनी से आपने बाइक निकाली है.
  • अब यहां आपको Login With Digital Seva Connect पर क्लिक करना है.
  • नेक्स्ट यहां आपको मोटर थर्ड पार्टी पॉलिसी का विकल्प मिलेगा जहां आपको क्लिक कर देना है इस पर क्लिक करतें ही आपकी नेक्स्ट पेज में बीमा का एक फॉर्म मिल जाएगा.

बाइक बीमा फॉर्म कैसे भरे?

  • सबसे पहले आपको अपनी बाइक का नंबर भरना है.
  • बाइक का नंबर एंटर करतें ही आपकी बाकी की सभी जानकारी आ जायेगी और यदि नही भी आती तो आपको भरने के कुछ विकल्प मिल जाएगा जो भी पूछा जाए वह आप खुद भी भर सकते है.
  • अब यहां आपको बाइक इन्सुरेंस का कितना पैसा देना होगा इसकी जानकारी मिल जाएगी.
  • इस के लिए पेमेंट अमाउंट भर दे और last में Proceed For पेमेंट पर क्लिक कर दे.
  • जिससे पेमेंट करना चाहते है उसकी डिटेल भर कर फाइनली pay पर क्लिक कर दे.
  • pay पर क्लिक करते है आपकी बाइक का बीमा हो जाएगा और नेक्स्ट पेज में आपको इन्सुरेंस पॉलिसी नंबर मिलेगा उसी के नीचे प्रिंट का ऑप्शन मिलेगा जहां से चाहे आप उसे प्रिंट कर सकते और डाउनलोड भी कर सकते है.

कार इंश्योरेंस कैसे करें?

कार का इन्सुरेंस कराना भी उतना ही आसान है जितना कि बाइक का इन्सुरेंस करना होता है. इसे करने के लिए बस आपको 4 से 5 स्टेप को फॉलो करना है जिसके बारे में हमने नीचे बताया है.

  • सबसे पहले आपको नीचे दी गयी किसी एक वेबसाइट पर जाना है जिस कंपनी से आप इन्सुरेंस करना चाहते है.
  1. ICICI Lombard Car Insurance
  2. Bajaj Allianz Bike Insurance
  3. HDFC Ergo 2 Wheeler Insurance
  4. Tata Aig Two Wheeler Insurance
  5. Bharti Axa 2 Wheeler Insurance
  • Website पर विजिट करते ही यहां आपको Renew Expiring और Buy New Policy के 2 विकल्प मिलेंगे.
  • यहां आपको कार का बीमा करना है इसीलिए Buy New Policy के विकल्प पर क्लिक करना है.
  • अब यहां आपको गाड़ी की डिटेल मांगी जाएगी तो आपको अपनी कार की पूछी गयी डिटेल को सही सही भर देना है.
  • नेक्स्ट यहां आप जितने साल का बीमा करना चाहते है उतनी साल को सेलेक्ट कर ले.
  • अब यहां आपको साल को सेलेक्ट करने के बाद पेमेंट कर देना है.
  • पेमेंट करते ही आपके कार का बीमा हो जाएगा और नेक्स्ट पेज में आपको पॉलिसी नंबर मिलेगा उसी के नीचे प्रिंट का ऑप्शन मिलेगा जहां से चाहे आप उसे प्रिंट कर सकते और डाउनलोड भी कर सकते है.

टू व्हीलर इंश्योरेंस करने वाली कंपनी की लिस्ट

अपने वहां का बीमा कम्पनी के द्वारा करा सकते है उसकी लिस्ट निम्लिखित है.

  • Bajaj Alliance (बजाज एलियांज दोपहिया वाहन बीमा)
  • Oriental India insurance company (ओरिएंटल दोपहिया वाहन बीमा)
  • The new India insurance company (न्यू इंडिया वाहन बीमा)
  • TATA AIG bike insurance (टाटा एआईजी बाइक इन्सुरेंस )
  • United India insurance company (यूनाइटेड वाहन बीमा)

संक्षेप में

अभी हाल ही में भारतीय सरकार द्वारा जब से मोटर एक्ट को कड़ा किया गया है और जुर्माने की राशि को दुगनी कर दी गई है तभी से सभी लोग इसके लिए काफी चौकाने हो गए हैं. इसीलिए जिन लोगों ने अभी तक अपनी गाड़ी का इंश्योरेंस नहीं कराया है जिनका बीमा फेल हो चुका है उन्हें भी रिन्यू कराना जरूरी है. अगर सही समय पर रंजना कराया जाए और वह इसके बिना मिलते हैं तो उनसे जुर्माना वसूला जाएगा और सजा भी हो सकते हैं. इसीलिए आज के पोस्ट में हम ने बताया कि वाहन बीमा क्या है (What is Motor insurance in Hindi) और गाड़ी का इंश्योरेंस कैसे कराएं.

आशा करता हूँ कि आपको ऊपर दी गयी जानकारी उपयोगी रही होगी और सभी जानकरी समझ समझ आ गयी होगी लेकिन फिर यदि आपको इस लेख में कुछ समझ नही आया हो या फिर इससे जुडी कोई भी परेशानी हो या फिर इंश्योरेंस के बारे में और कुछ पूछना हो तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते है. हमारी टीम जल्द आपसे जुड़कर आपकी पूरी सहायता करेगा.

7 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here