टिकट कलेक्टर कैसे बने?

आज की इस चलती फिरती दुनिया मे आपने ट्रैन की यात्रा ज़रूर की होगी। इसमे तो कोई शक नही है कि जब आप ट्रैन की यात्रा कर रहे हो तो अपने TC (टिकट कलेक्टर) ज़रूर देखा होगा। जो ऐसे यात्रियों पर फ़ाइन लगाने का काम करता है जिन यात्रियों पर ट्रेन की यात्रा के लिए टिकट नही होता है।लेकिन दोस्तों क्या आपने कभी सोचा है कि TT या टिकट कलेक्टर कैसे बने? इसके लिए क्या योग्यता होती है? इन्हें सैलरी कितनी मिलती है?

या फिर आप भी रेलवे में इस नौकरी को पाना चाहते है। लेकिन आपके पास तो इसके बारे उचित जानकारी है हो सकता है आपने इस जानकारी के बारे में जानने की कोशिश की और आपको इससे जुड़ी संपूर्ण जानकारी ना मिल पाई हो।

लेकिन अब आपको इसके लिए बिल्कुल परेशान होने की जरूरत नही है। क्योंकि आज हम आपके अपने इस आर्टिकल में टिकट कलेक्टर कैसे बने? इसके लिए क्या पढ़ाई करनी चाहिए, और इसकी तैयारी कैसे करे? आदि के बारे में हिंदी में पूरी जानकारी देने जा रहे है जो आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण होने वाली है। आज हमने इसलिए आपके साथ इस पोस्ट को आपके साथ शेयर किया है ताकि आपको टिकट कलेक्टर से जुड़ी सभी जानकारी मिल सके।

टिकट कलेक्टर या TC  क्या है?

टिकट कलेक्टर भारतीय रेलवे का हुं एक पद है। जिसे शोर्ट फॉर्म में TC कहते है यह ट्रेन में यात्रियों की मदद के लिए हमेशा उपलब्ध रहते है. जैसे की अगर किसी यात्री को ट्रैन में सीट नहीं मिल रही है या फिर किसी सीट के लिए टिकट बनवाना है तो उस काम के लिए इन्ही से संपर्क किया जाता है।

सभी लोग जानते है कि आज भारत मे बेरोजगारी काफी बढ़ रही है जिस कारण कम्प्टीशन काफी बढ़ता जा रहा है और इसलिए आज युवाओं को चाहे वह प्राइवेट सेक्टर हो या फिर गवरर्नमेंट सेक्टर नौकरी मिलना काफी मुश्किल होता जा रहा है।

हर युवा स्टूडेंट आज सरकारी नौकरी पाने की होड़ में क्योंकि सरकारी नौकरी का महत्व बहुत होता है, ये सभी जानते है। तो अगर आप भी सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे या फिर भारतीय रेलवे में टिकट कलेक्टर बनाना चाहते है, तो आपको हमारा यह आर्टिकल बहुत उपयोगी साबित हो सकता है क्योंकि सभी लोग जानते है कि किसी भी सरकारी नौकरी के लिए सरकार के द्वारा एक कोर्स, योग्यता, सैलरी का निर्धारण किया जाता है

टिकट कलेक्टर कैसे बने?

इस पद पर नौकरीं करने का सपना आज काफी लोगो का होता है। जिसके लिए वह काफी मेहनत भी करते है। क्योंकि रेलवे में वेतन तो अच्छा मिलता ही है इसके साथ ही आपको और आपके परिवार को रहने की व्यवस्था मुफ्त होता है यहां तक कि परिवार के सदस्यों के किये रेलवे की यात्रा फ्री कर दी जाती है।

इसलिए आज लोग रेलवे की नौकरी में जाना काफी पसंद करते है जिसमे टिकट कलेक्टर रेलवे का काफी महत्वपूर्ण पद है।

जब हम किसी क्लास में पड़ते तो उसके लिए सिलेबस, एग्जाम निर्धारित होता है जब आप उस परीक्षा को पास कर लेते है तभी आपको आगे क्लास में पड़ने का मौका दिया जाता है। ऐसे ही टिकट कलेक्टर के लिए बनने के लिए कुछ परीक्षाओं, योग्यताओं को पास करना होता है जो कि आसान काम नहीं होता है. इसके लिए काफी मेहनत करनी होती है तब जाकर आप टिकट कलेक्टर बन सकते है। अधिक जानकारी पाने के लिए लेख को अंत तक पढ़े।

टिकट कलेक्टर के लिए योग्यता?

सभी जानते है कि सरकार की तरफ किसी भी विभाग में जब कोई नौकरी निकाली जाती है उसके लिए एक योग्यता निर्धारित की जाती है, बैसे ही भारतीय रेलवे विभाग ने टिकट कलेक्टर बनने के लिए जैसे अधिकतम आयु सीमा, शैक्षिक योग्यता आदि को निर्धारित किया गया जिसके बारे में आप नीचे पढ़ सकते है- अगर आपके पास नीचे दी योग्यता होगी तभी आओ इसके लिए आवेदन कर सकते है, अन्यथा नही सो इसलिए नीचे दी गयी जानकारी को ध्यानूर्वक पढ़ ले-

आयु सीमा

इसके लिए आवेदनकर्ता उम्मीदवार की आयु 18 बर्ष से 30 बर्ष के बीच होना चाहिए।

शैक्षिक योग्यता

इस पद के लिए वही उम्मीदवार आवेदन कर सकते है जिन्होंने 12th किसी भी सब्जेक्ट से 50% मार्क्स के साथ पास किया हो। इसके साथ ही कंप्यूटर के बारे में जानकारी होना आवश्यक है। मतलब की आपके पास कोई कंप्यूटर डिप्लोमा होना जरूरी है।

नागरिकता

यदि आप इस पद के लिए आवेदन करना चाहते है तो इसके लिए आपके पास भारत की नागरिकता होना आवश्यक है।

वेतन

जब कोई व्यक्ति किसी भी नौकरी के लिए आवेदन करता है तो उसके लिए यह काफी महत्वपूर्ण सवाल बन जाता है कि आख़िर इस जॉब में कितना वेतन मिलेगा। तो अब अगर हम टिकट कलेक्टर पद पर चयनित होने वाले कैंडिटेड की वेतन की बात करे तो यहां जानकारी के मुताबिक 10000 से 30000 तक वेतन हर माह विभाग के द्वारा दिया जाता हिउ।

इसके अलावा सरकार की तरफ से कई सुविधाएँ भी प्रदान की जाती है। इस पद की सबसे अच्छी बात यह है कि अगर आप अपने कर्तव्य के अनुसार अच्छा काम करते है तो आपको प्रोमोशन भी मिल जाता है जिसके बाद आपकी सैलरी में भी इजाफा होता है।

टिकट कलेक्टर बनने के लिए क्या करना होता है?

टिकट कलेक्टर अगर आपके पास ऊपर दी गयी सभी योग्यताये है तो समय समय पर निकाले जाने वाले TTE Recruitment में ऑनलाइन या ऑफ़लाइन किसी भी तरह से आवेदन कर सकते है। आवेदन करने के बाद आप यहां तीन मुख्य परीक्षाओं से गुजरना होगा जिसके बारे में नीचे डेटल में पढ़ सकते है।

आवेदन कैसे करे?

अगर आप टिकट कलेक्टर बनना चाहते है तो आपको रेलवे द्वारा निकाली जाने वाली भर्ती का इंतजार करना होगा। इसके लिए आप प्रतिदिन अखबार, को पढ़ते रहे बाकी रेलवे की भर्ती 20 रेलवे भर्ती बोर्ड के द्वारा निकाली जाती है, तो इसलिए आप 20 रेलवे बोर्ड की वेबसाइट को अक्सर चेक करते रहे और जैसे ही इसके लिए vacancy निकले तुरंत वेबसाइट के माध्यम से अपना ऑनलाइन आवेदन कर दे।

जब आप आवेदन करते है तो अपनी सभी जानकारी के साथ फॉर्म भर दे और इसके अलावा अपने नज़दीक एरिया के हिसाब से परीक्षा केंद्र का चयन करके फॉर्म सबमिट कर दे। और अपने एग्जाम की तैयारी शुरू कर सकते है।

  1. ऑनलाइन परीक्षा
  2. मेडिकल टेस्ट
  3. इंटरव्यू

ऑनलाइन परीक्षा

जब आप इसके लिए आवेदन करते है तो इसके लिए एग्जाम देना होता है जो कि ऑनलाइन कंप्यूटर पर कराया जाता है, इस एग्जाम में विभिन्न तरह के लगभग आपको 100 दिए होते है जिनमे आपको कम से कम 45 प्रश्न सही करने होते है। तभी आप इसमे सेलेक्ट हो सकते है।

मेडिकल टेस्ट

जब आपका नंबर एग्जाम लिस्ट में जाता है मतलब की जब इसके एग्जाम को पास कर लेते है तो इसके बाद आपका एक निर्धारित दिनांक पर मेडिकल टेस्ट होता है। अगर आप पूरी तरह शारीरिक रूप से स्वास्थ्य होंगे तभी आपको इस नौकरी के योग्य माना जायेगा।

इंटरव्यू

टिकट कलेक्टर बनने की यह लॉस्ट स्टेप होती है यहां आपको कुछ लोगो के सामने बैठकर अपना इंटरव्यू देने होता है यहां आपसे कुछ आपके बारे में और कुछ कंप्यूटर से जुड़े प्रश्न के बारे में पूछा जाता है।अगर आप इसे क्लियर कर लेते है तो फाइनली आपको इस पद के लिए चुन लिया जाता है।

ट्रेनिग

सब चरण पास करने के बाद आपको यहां कुछ दिनों की ट्रेनिग कराई जाती है जैसे कि आपको उस पद पर चयनित होने के बाद किस तरह से अपने विभाग को मैनेज करना है।

तैयारी कैसे करे

सरकारी नौकरी पाना आज आसान काम नही है क्योंकि इसमे दिन प्रतिदिन कॉम्पटीशन बढ़ता जा रहा है। और रेलवे तो एक ऐसा विभाग है अगर इसमे 100 पदों के किये नौकरी निकलती है तो 10 लाख फॉर्म भरे जाते है, तो आप समझ सकते है कि अगर आप भारतीय रेलवे में टिकट कलेक्टर बनाना चाहते है तो इसके लिए आपको काफी मेहनत करने की जरूरत है तभी आप इसके एग्जाम को पास कर सकते है। बाकी हमने नीचे इसके लिए कैसे तैयारी करे इसके कुछ टिप्स दिए है उन्हें पढ़ ले-

  • अगर आप इस एग्जाम को पास करना चाहते है सबसे ज़रूरी आप रेलवे के पिछले कुछ बर्ष के प्रश्न पत्र को इकठ्ठा करे और फिर उनके अनुसार अपनी तैयारी शुरू कर दे।
  • रेलवे विभाग में किसी भी पद के किये भर्ती हो सभी में जनरल नॉलेज के प्रश्न ज्यादा पूछे जाते है तो इसलिए जनरल नॉलेज के प्रश्नों को ज्यादा से ज्यादा पड़ने की कोशिश करे।
  • टिकट कलेक्टर एक ऐसा पद है जो कंप्यूटर पर ज्यादा आधारित होता है। इसलिए आपको कंप्यूटर के बारे अच्छी नॉलेज होना बहुत जरूरी है।
  • न्यूज़ पेपर इसमे आपकी सबसे ज्यादा मदद कर सकता है वहां आपको कई तरह की अच्छी नॉलेज मिलती है जो की आपके एग्जाम के लिए काफी महत्वपूर्ण हो सकती है।
  • आज इंटरनेट का जमाना है तो यह आपके टिकट कलेक्टर एग्जाम की तैयारी के लिए काफी अच्छा विकल्प है अगर आपको कुछ समझ नही आ रहा है या फिर किसी प्रश्न को हल करने कोई दिक्कत हो रही है तो गूगल, यूट्यूब किसी की भी मदद ले सकते है।

इसमे कोई शक नही है कि इस बढ़ती कॉम्पटीशन की दुनिया मे किसी परीक्षा को पास करना और उसमे नौकरी पाना आज काफी कठिन हो गया है। लेकिन हां अगर किसी भी सरकारी पद के लिए आवेदन करने और उससे जुड़ी एग्जाम के बारे में थोड़ी जानकारी मिल जाये तो कफ हद तक चीजे आसान हो जाती है।

बस इसीलिए आज हमने क्योंकि आज लोग टिकट कलेक्टर बनने के लिए काफी मेहनत करते है इस बात को ध्यान में रखते हुए आज आपको अपने इस आर्टिकल टिकट कलेक्टर की तैयारी कैसे करे? और इसके किये क्या योग्यता होनी चाहिए आदि के बारे में विस्तार से जाना ताकि आपको इस भारतीय रेलवे पद पर आवेदन करने और उसके एग्जाम की तैयारी करने में आसानी हो।

कर्तव्य

टिकट कलेक्टर के बारे में इतना सब कुछ जानने के बाद लगभग आप समझ ही गए होंगे कि इस पद पर चयन होने वाले व्यक्ति के क्या कर्तव्य होते है। लेकिन फिर भी इसके बारे में थोड़ा संक्षेप में बता देते है-

  • अगर ट्रैन में किसी भी यात्रियों को सीट या किसी अन्य प्रकार की परेशानी आ रही है तो टिकट कलेक्टर का कर्तव्य बनता है कि उसकी पूरी मदद करे।
  • अगर किसी यात्री के पास टिकट नही या फिर जल्द बाजी में वह टिकट लेना भूल गया है तो यात्री अपना टिकट बनवा सकते है।
  • बिना टिकट के अगर कोई यात्री ट्रेन में यात्रा कर रहा है तो टिकट कलेक्टर उस पर फाइन लगा सकता है।

निष्कर्ष

तो दोस्तों ये था हमारा भारतीय रेलवे पद टिकट कलेक्टर कैसे बने? आर्टिकल जिसमे हमने इससे जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में जाना। जो कि अगर आप इस पद के लिए आवेदन करना चाहते है, और इसके एग्जाम को पास करना चाहते है तो आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

उम्मीद करता हूँ कि आपको ऊपर दी गयी जानकारी समझ गयी आ गयी होगी और आपके किये उपयोगी साबित हुई होगा। लेकिन अगर फिर भी आपको इस पोस्ट में कुछ समझ नही आया हो या टिकट कलेक्टर से जुड़ी किसी अन्य जानकारी के बारे में जानना चाहते है तो आप हमें नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके पूछ सकते है, हमारी टीम आपके साथ बहुत जल्द जुड़कर आपके सभी सवालों के जबाब देगी। इसके साथ अगर दोस्तों आपको यह जानकारी पसन्द आयी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ ज़रूर शेयर करे ताकि उनको भी इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे पता चल सके। धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here