Success Story : 5 बार फेल होने पर टूट गई थी नमिता, घर वालों के सपोर्ट से क्लीयर की UPSC

Success Story : इस आर्टिकल में हम आप सभी प्रिय पाठकों का स्वागत करते हैं। आज के हमारे इस आर्टिकल को पढ़ने के पश्चात हम इस बात की पूरी गारंटी देते हैं कि आपको अपने एम के प्रति ज़िद तथा जुनून की अनुभूति होगी। 

सफलता प्राप्त करना हर किसी के बस की बात नहीं होती है। सफलता प्राप्ति हेतु बहुत ही अधिक संघर्ष करने की आवश्यकता होती है। ना केवल संघर्ष से सफलता मिलती है, अपितु सफलता के लिए समय ,कड़ी मेहनत, एकाग्रता, धैर्य, सकारात्मकता की आवश्यकता होती है। 

तब जाकर कहीं सफलता की प्राप्ति हो पाती है। ऐसे में लोगों को जब एक बार असफलता का मुंह देखना पड़ता है। तब सारी की सारी हिम्मत चकनाचूर हो जाती है। एक बार हार मान लेने के पश्चात दोबारा से उस राह पर चलने की इच्छा होती ही नहीं है।  

किंतु कुछ ऐसे भी लोग होते हैं जो कि असफलता से बार-बार मिलने के पश्चात भी थकते नहीं और सफलता प्राप्ति हेतु निरंतर प्रयास करते चले जाते हैं। आज का हमारा यह आर्टिकल एक ऐसे ही होनहार लड़की की जिद की है। 

यदि आप भी उनकी कहानी विस्तार पूर्वक तथा अच्छे से समझने के इच्छुक है। तो आपके लिए यह बहुत ही ज्यादा जरूरी है कि आप हमारे इस आर्टिकल के साथ अंत तक जुड़े रहे जिससे कि आपको उसके बारे में पूरी जानकारी प्राप्त हो जाए।

इसके साथ साथ ही हम आप सभी प्रिय पाठकों से यह सादर अनुरोध करते हैं, कि आप हमें कमेंट करके या बात भी अवश्य बताएं कि आपका मन किस कार्य में सर्वाधिक लगता है। जिसे आप अपना भविष्य बनाना चाहते हैं। 

सब में नहीं होता है या साहस :-

आज हम जिस के विषय में इस आर्टिकल में आपको बताने वाले हैं। उन्होंने लगातार 5 बार असफलता से सामना किया उसके बाद उन्होंने कुछ ऐसा कर दिखाया, जिसे देखने के पश्चात सभी लोग आश्चर्यचकित हो गए। 

आज इस आर्टिकल में हम नमिता की कहानी जानने वाले हैं। तो चलिए आज के हमारे इस आर्टिकल को प्रारंभ करते हैं और जाने का प्रयास करते हैं कि आखिर नमिता कौन हैं और इनकी सफलता की कहानी इतने अधिक रोचक कैसे हैं। 

नमिता की कहानी शुरू करने से पहले हम आपको बता दें, कि उन्होंने लगातार पांच बार असफलता का सामना किया किंतु उन्होंने हार नहीं मानी और फिर से प्रयास कि आखिरकार उन्होंने अपने सपनों को पूर्ण किया। किंतु हर एक में यह साहस नहीं होता है, कि अपनी असफलता को स्वीकृत करके पुनः प्रयास कर सकें। 

जानिए नमिता की कहानी :-

जिस नमिता कि हम इस आर्टिकल में बात कर रहे हैं, वह 5 बार लगातार UPSC की परीक्षा में असफल रही। किंतु उनके घर वालों ने उन्हें पूरा सपोर्ट किया और आखिरकार उन्होंने अपने सपनों को पूरा करते हुए यूपीएससी का एग्जाम पुनः देकर सफलता प्राप्त कर ली। 

अक्सर यह देखने को मिलता है कि असफलताओं से इंसान कई बार टूट जाता है। किंतु कुछ ऐसे भी लोग मौजूद होते हैं। जो कि वह सफलता से मिलने वाली निराशाओं को पार करके अपने लक्ष्य को हासिल करने हेतु साहस पूर्ण कदम उठाते हैं। ऐसा ही कुछ कर दिखाया है दिल्ली के नमिता शर्मा ने, आपको बता दें कि उन्होंने नौकरी करने के पश्चात यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी की, प्रारंभ में तो असफलता की प्राप्ति हुई किंतु तैयारी जारी रखी एवं आईएएस अधिकारी बनकर ही उन्होंने चैन की सांस ली। 

ये भी अवश्य पढ़ें:

जानिए कहां की है नमिता :-

नमिता हमारे देश की राजधानी नई दिल्ली की निवासी है। नमिता का पूरा नाम नमिता शर्मा है और उनके पिता दिल्ली पुलिस में असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर के पद पर कार्यरत है तथा उनकी मां गृहिणी है। देश की राजधानी में ही उन्होंने स्कूली शिक्षा लेने के पश्चात नमिता ने दिल्ली की ही आईपी यूनिवर्सिटी से बीटेक की डिग्री प्राप्त कर ली। कॉलेज के पश्चात एक कंपनी में उन्होंने नौकरी भी करनी प्रारंभ कर दी थी। 

नौकरी के पश्चात करने लगी प्रिपरेशन :-

2 वर्षों तक नौकरी करने के पश्चात नमिता ने यूपीएससी की तैयारियां करना प्रारंभ कर दी थी। उन्होंने यूपीएससी में करियर बनाने की ठान ली एवं उसी के हिसाब से अपने भविष्य की प्लानिंग भी करने लगी प्रिपरेशन के दौरान ही उनका सिलेक्शन टेक्स असिस्टेंट की पोस्ट पर हो चुका था। किंतु उन्होंने फिर भी अपनी तैयारी को जारी रखा था। 

प्रारंभिक 5 अटेम्प्ट में रही असफल :-

नमिता ने इस बात की पुष्टि की है कि यूपीएससी के पहले दो अर्जेंट में वह सफल नहीं हो सकी। उसके पश्चात उन्होंने तीसरे अटेंड की तैयारी की तथा तीसरा अटेम्प्ट भी दिया। किंतु प्लानिंग में कमी होने के कारण वह एग्जाम क्लियर करने में सक्षम नहीं हो आई।

इसी दौरान उन्होंने एक मेंस क्लियर भी कर लिया था। किंतु इंटरव्यू राउंड में क्वालीफाई नहीं कर पाई। इंटरव्यू राउंड में मिली असफलता के पश्चात वह पूरी तरह से निराश हो गए। किंतु परिवार के हौसले ने उन्हें फिर से प्रयास करने की क्षमता प्रदान की ,उन्होंने अगला अटेम्प्ट भी दिया। इस अटेम्प्ट में उन्होंने एग्जाम क्लियर करके अपना स्वप्न पूर्ण कर लिया। 

नमिता ने बताया कि यूपीएससी की पढ़ाई के वास्ते जरूरी है कि अभ्यार्थी लगातार रिवीजन करते रहे। आंसर राइटिंग की खूब प्रैक्टिस करें एवं मॉक टेस्ट भी देते रहे नमिता ने इस बात को भी बताया कि यूपीएससी जैसे एग्जाम को क्लियर करने के वास्ते आत्मविश्वास होना अति आवश्यक है। आपको कई बार असफलता का भी सामना करना पड़ सकता है। लेकिन अपनी परेशानियों से ऊपर उठकर के आपको फिर से दोगुनी तैयारी से प्रयास करने होंगे। 

निष्कर्ष :-

आज के इस आर्टिकल की सहायता से हमने आप सभी प्रिय पाठंकों के साथ नमिता मैडम के सक्सेस स्टोरी बताई है। हम आशा करते हैं ,कि हमारा यह आर्टिकल आपको बेहद पसंद आया होगा। यदि आप हमसे कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं, अथवा हमें कोई सुझाव देना चाहते हैं तो यह कार्य आप कमेंट के जरिय आसानी से कर सकते हैं।

इसके साथ आप हमें यहां पे कमेंट के जरिए आसानी से बता सकते हैं कि आपको हमारे आर्टिकल कैसा लगा। हमारे आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ जरूर शेयर करें। 

लाभदायक पोस्ट पढ़ें


Important Links

WTechni HomeClick Here
Other postsClick Here
Join Telegram ChannelClick Here

Post navigation

Ahmed Ruhul Amin

हिंदी भाषा के माध्यम से सरकारी योजना, परीक्षा, नौकरी, तकनीक और ट्रेंडिंग जानकारी लिखना मुझे बहुत पसंद है.

Leave a Comment