SSC क्या है और इसका फुल फॉर्म इन हिंदी

आज हर कोई चाहता है की उसकी सरकारी नौकरी हो. सभी बचपन से यही सोच कर पढाई करते हैं की भविष्य अच्छा और बेहतर हो. ज़िंदगी अच्छी गुजरे और किसी चीज़ की कमी न हो इसीलिए अधिकतर लोग अच्छी नौकरी पाना चाहते हैं. कई लोग जिन्हे नौकरी नहीं पसंद है तो वो बिज़नेस की प्लानिंग कर लेते हैं. लेकिन आप मेरी इस बात से तो जरूर सहमत होंगे की सबसे ज्यादा लोगों की खवाहिश नौकरी पाने की ही होती है और वो भी अगर सरकारी नौकरी हो तो फिर तो सोने पर सुहागा की तरह हो जायेगा. इसीलिए जो लोग सरकारी नौकरी पाना चाहते हैं और जानना चाहते हैं की SSC क्या है (What is SSC in hindi) और इसका एग्जाम कब होता है तो इस पोस्ट के माध्यम से हम आपकी इसके बारे में अधूरी जानकारी को पूरी कर देंगे. SSC के लिए क्वालिफिकेशन क्या होना चाहिए ये भी आपको हम यहाँ बताने जा रहे हैं.

हमारा भारत देश काफी विशाल देश है और अधिकाँश जनसँख्या गाँव में रहती है. गाँव में सबके पास हर जानकारी लेने की सुविधा नहीं रहती है और हर नए जानकारी की अपडेट जानने के लिए दूसरों पर निर्भर रहना पड़ता है या फिर शहर जाना पड़ता है. कई बार तो ऐसा होता है की छात्रों को एग्जाम की डेट ख़तम होने के बाद पता चलता है की SSC की परीक्षा हो चुकी है. फॉर्म सेंटर जहाँ पर हर तरह के एग्जाम के ऑफलाइन फॉर्म मिलते हैं वहां छात्रों का अक्सर जाना होता ही है ताकि जब भी मौका मिले अच्छी नौकरी का आवेदन कर सके. तो आज मैं आपको बता दूँ की अगर आप SSC की पूरी जानकारी हिंदी में (ssc full information in hindi) जानना चाहते हैं तो इस पोस्ट में आपको हम आसान और सरल भाषा में इसके बारे में बताएँगे. कई छात्र सिर्फ जानकारी के आभाव में पीछे रह जाते हैं और अपनी काबिलियत नहीं दिखा पाते हैं. इसीलिए अब कोई बात नहीं आप इस पोस्ट में जान जायेंगे की SSC क्या होता है (What is SSC in hindi).

SSC क्या है – What is SSC in Hindi

SSC kya hai hindi

SSC भारत सरकार के अंतर्गत एक स्थापित संगठन है जो विभिन्न मंत्रालयों और विभागों और इसके अंतर्गत आने वाले सरकारी संस्थानों के लिए कर्मचारी की भर्ती करने के लिए काम करती है. मतलब हमारे देश के हर कोने में सरकारी कार्यालय स्थित है और जहाँ पर काम करने के लिए कर्मचारियों की जरुरत पड़ती है इसीलिए इन पदों को भरने के लिए केंद्र सरकार द्वारा हर साल एक परीक्षा का आयोजन किया जाता है जिसे सभी SSC के नाम से जानते हैं.  इस के अंतर्गत Group ‘B’ और Group ‘C’ के लिए नॉन टेक्निकल पदों के लिए लोगों को नौकरी परीक्षा लेकर नौकरी दी जाती है. SSC की स्थापना सन 1977  में की गई थी.

SSC का हेडक्वार्टर दिल्ली में स्थित है. यह आयोग Deparment of Personnal and Training (DoPT) से जुड़ा हुआ जिस में एक चेयरमैन,  दो सदस्य और एक सेक्रेटरी सह परीक्षा नियंत्रक शामिल हैं. केंद्र सरकार के अंतर्गत अनेक तरह के जॉब आते हैं. जब भी केंद्र सरकार के अंतर्गत किसी नए जॉब की vacancy आती है उसके लिए पदों को भरने का SSC ही परीक्षा द्वारा चयनित लोगों के द्वारा करती है.

SSC का फुल फॉर्म – SSC full form in Hindi and English

SSC का फुल फॉर्म हिंदी और इंग्लिश में

Staff Selection Commission – कर्मचारी चयन आयोग

SSC के लिए क्वालिफिकेशन

कर्मचारी चयन आयोग के द्वारा कई तरह की परीक्षाएं ली जाती हैं. हर पद के अनुसार शैक्षणिक योग्यता और स्किल भी अलग अलग होती हैं. इस में खासकर 10+ 2 से लेकर ग्रेजुएशन किये हुए विद्यार्थियों के लिए कई तरह के पद उपलब्ध होते हैं जिसे आप अपनी उम्र सीमा के अनुसार भी चुन कर उसका एग्जाम लिख सकते हैं.

SSC का एग्जाम कब होता है

कर्मचारियों के पदों को भरने के लिए भारत सरकार हर साल इसकी परीक्षा का आयोजन ऑनलाइन वेबसाइट के द्वारा आवेदन को पूरा कर के करती है. आवेदन के लिए इसके ऑफिसियल वेबसाइट में जाकर सभी तरह की जानकारी भरना होता है. उसके बाद एडमिट कार्ड डाउनलोड कर के एग्जाम दिया जाता है.

2019 में एग्जाम कैलेंडर के मुताबिक CGL एग्जाम 4 जून से 19 जून 2019 के बीच होगा जो की टियर-1 के रूप में होगा और वही टियर-2 का एग्जाम सितम्बर में हो सकता है. इन सभी परीक्षाओं का रिजल्ट साल के अंत में आता है. बाकी दूसरे परीक्षाओं के लिए एग्जाम कैलेंडर देख सकते हैं.

SSC द्वारा लिए जाने वाली परीक्षाएं

हम ये पहले ही जान चुके हैं की SSC एक केंद्र सरकार द्वारा निर्मित बहुत सारे अलग अलग सरकारी विभागों में रिक्त स्थानों यानि vacancy को भरने के लिए लिए जाने वाली परीक्षाओं का आयोजन करती है और उस में पास होने वाले उम्मीदवारों को चयन कर के पदों को दिया जाता है. लेकिन अब बात ये आती है की इसमें क्या क्या होता है यानि इसमें परीक्षाएं कितनी तरह से ली जाती हैं. तो आप अच्छे से समझ लें की शिक्षा और योग्यता के आधार पर बहुत सारे पद हैं और उन्ही के अनुसार कई परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं. जिनमे पास होने वाले लोगों को फिर चयनित कर के पद दे दिया जाता है.

हम आपको यहाँ पर इस आयोग द्वारा ली जाने वाली विभिन्न परीक्षाओं की सूचि देने जा रहे हैं.

SSC CGL (Combined Graduate Level Examination)

SSC CHSL (Combined HigherSecondary Level Exam)

JE (Junior Engineer Civil & Elect)

GD Constable

IMD Scientific Assistant Exam

Stenographer

Multitasking (Non-technical) Staff Examination

JHT (Junior Hindi Translator)

CAPF (Central Armed Police Forces)

SSC CGL क्या है – What is SSC CGL in Hindi

ये SSC द्वारा ली जाने वाली परीक्षा है और इसके लिए वो सभी लोग आवेदन कर सकते हैं जो अपना ग्रेजुएशन कम्पलीट कर चुके हैं. इस आयोग द्वारा CGL की परीक्षा हर साल ली जाती है और जिसमे बहुत सारे छात्र बैठते हैं और परीक्षा देते हैं. इसके आवेदन करने के कैंडिडेट की उम्र कम से कम 18 साल जरूर होनी चाहिए.  इसमें  अधिकतम उम्र 32 साल होना चाहिए.

इस में परीक्षा तीन चरणों में ली जाती है. ये इस प्रकार से हैं. इसमें पर्सनल इंटरव्यू नहीं लिया जाता है. इन तीन चरणों के अलावा Skill test भी लिया जाता है जिसमे कंप्यूटर के ज्ञान और टाइपिंग स्पीड भी देखी जाती है. वैसे इस परीक्षा को सिर्फ कुछ ख़ास पदों के लिए ही लिया जाता है.

Tier – 1

इस के अंतर्गत General Intelligence & Reasoning, General Awareness, Quantitative Aptitude, English Comprehension की परीक्षा ली जाती जिनमे से प्रत्येक से 25 सवाल पूछे जाते हैं जो तो हर केटेगरी 50 अंक का होता है और कुल 200 अंक के 100 सवाल पूछे जाए हैं. इसके लिए कुल 1 घंटे का समय मिलता है.

Tier – 2 

इस के अंतर्गत Quantitative Ability और General English केटेगरी से सवाल पूछे जाते हैं. दोनों ही केटेगरी से 100-100 सवाल पूछे जाते हैं जिनके लिए कुल अंक 200 होते हैं. इस परीक्षा में पूछे जाने वाले सवालों का जवाब देने के लिए कुल 2 घंटे का समय दिया जा है.

Tier – 3

तीसरे टियर में essay और letter लिखने का टेस्ट रखा जाता है. ये आपको खुद से लिखकर देना होता है. इस के लिए भी 100 नंबर का अंक निर्धारित रहता है. इसका जवाब दो भाषा में दिया जा सकता है यानि हिंदी और इंग्लिश में किसी भी भाषा में अपना उत्तर लिख सकते हैं.

Skill Test

इस के तहत CGL के अंदर में कुछ ऐसे पद होते हैं जिनके लिए कंप्यूटर का ज्ञान होना अनिवार्य है और साथ ही साथ कपूर की टाइपिंग स्पीड भी अच्छी होनी जरुरी है इसीलिए इसी विषय में परीक्षा लेकर कंप्यूटर का ज्ञान और टाइपिंग स्पीड देखी जाती है.

SSC CHSL क्या है – What is SSC CHSL in Hindi

SSC CHSL की परीक्षा के द्वारा चार पदों के लिए कर्मचारी का चयन किया जाता है. इसके लिए कम से कम क्वालिफिकेशन योग्यता 10+2 होना चाहिए. इसीलिए इसे CHSL के अलावा 10+2 के नाम से भी जाना जाता है. तो बारहवीं पास कोई भी इंसान इस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकता है. इसके लिए अभ्यर्थी की अम्र 18 साल से 27 साल के बीच होना चाहिए. इसके अंतर्ग डाटा एंट्री का पद CHSL में सबसे अधिक पसंद किया जाता है.

  1. Court Clerk
  2. Junior Secreteriate Assistant/ Lower Division Clerk
  3. Postal Assistant
  4. Data Entry Operator

JE (Junior Engineer Civil & Elect)

Staff selection commission द्वारा लिया जाने वाला ये एग्जाम सेंट्रल वाटर कमिशन और डाक विभाग जैसे विभागों में जूनियर इंजीनियर का चयन किया जाता है. इसके अंतर्गत इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल, सिविल आदि शखाओं के लिए इंजीनियरका चयन भी किया जाता है. ये एक प्रतिष्ठित नौकरी है जो हर तरह के लोगों को प्रेरित करता इसकी परीक्षा स्टाफ सेलेक्शन कमीशन पुरे देश में आयोजित की जाती है.

GD Constable

कर्मचारी चयन आयोग BSF (Bordor Security Force), CISF (Central Industrial Security Force), CRPF (Central Reserve Police Force), NIA(National Intelligence Agency), ITBP (Indo Tibetan Border Police), SSB, इत्यादि सुरक्षा बलों के रूप में GD कांस्टेबल के लिए परीक्षा का आयोजन करती है.

IMD Scientific Assistant Exam

कर्मचारी चयन आयोग भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (Indian Meterological Department) वैज्ञानिक सहायकों की भर्ती के लिए परीक्षा का आयोजन करती है. इसकी परीक्षा दो भागों में ली जाती है. जब आप इस परीक्षा में पास हो जाते हैं तो आपको IMD में SSC सहायक वैद्यानिक के रूप में नियुक्त कर दिया जाता है.

Stenographer

कर्मचारी चयन आयोग द्वारा स्टेनोग्राफर की भर्ती के लिए परीक्षा लेती है जिससे केंद्र सरकार के संगठनों में ग्रेड C और ग्रेड D स्टेनोग्राफर पद के लिए योग्य उम्मीदवारों का चयन कर के भर्ती की जाती है. स्टेनोग्राफर के चयन के लिए ली जाने वाली परीक्षा ऑनलाइन ली जाती है. इस में लिखित परीक्षा में पास हो जाने के बाद ऑफलाइन मोड में आयोजित एक स्किल टेस्ट लिया जाता है यानि टाइपिंग स्पीड की जांच की जाती है.

Multitasking (Non-technical) Staff Examination

जो लोग SSC Multitasking Non Technical परीक्षा में रूचि है वो किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से कक्षा10 वीं पास होने चाहिए तो वो इस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं. इस परीक्षा में भाग लेने के लिए उम्मीदवार की उम्र 18 से 25 साल के बीच उम्र होनी जरुरी है.

JHT (Junior Hindi Translator)

JHT यानि Junior Hindi Translator इसकी परीक्षा पास कर के उम्मीदवार केंद्र सर्कार के अंतर्गत हिंदी ट्रांसलेटर के पद पर नौकरी प्राप्त कर के काम कर सकते हैं. इसके लिए  हिंदी और अंग्रेजी भाषा का भी ज्ञान होना काफी जरुरी है.

CAPF (Central Armed Police Forces)

केंद्रीय सशक्त पुलिस बल स्टाफ सिलेक्शन कमीशन द्वारा लिया जाने वाल एग्जाम है जिसके तहत उम्मीदवा पुलिस की नौकरी के लिए आवेदन करते हैं. बहुत से लोगों का ख्वाब होता है की वो पुलिस में भर्ती होकर देश की सेवा कर सके. तो इस परीक्षा को पास करके अपने इस सपने को पूरा करते हैं.

SSC की तैयारी कैसे करे

हमारे देश की आबादी बहुत अधिक है और उस के हिसाब से नौकरियों की काफी कमी का सामना सर्कार को करना पड़ता है. प्राइवेट नौकरियां भी उतनी नहीं की इसकी पूरी कर सके तो सरकारी नौकरिया तो वैसे ही कम है और हर एक पद के लिए लाखों लोगो द्वारा नौकरी पाने के लिए आवेदन डाला जाता है. कर्मचारी चयन आयोग ऐसे ही एक आयोग है जो केंद्र सरकार द्वारा नियंत्रित है और इसके तहत ऊपर बताये गए कई तरह की परीक्षा का आयोजन करके कर्मचारियों का चयन किया जाता है।  हम यहाँ पर आपको बताएँगे की कैसे आप इस परीक्षा के लिए तैयारी कर के अपने लिए बेहतर भविष्य का निर्माण कर सकते हैं.

पढाई के लिए जरुरी सामग्री तैयार रखें

कर्मचारी चयन आयोग मूल रूप से बहुत ही सामान्य विषयों से प्रश्न पूछते हैं. अगर आप मैथमेटिक्स और इंग्लिश में अच्छे हैं तो पढाई के लिए जरुरी सिलेबस का इकठ्ठा करना आपके लिए कोई मुश्किल काम नहीं होना चाहिए. परीक्षा में पास होने के  लिए आपके पास सिलेबस में पूछे जाने वाले हर क्षेत्र की सामग्री का होना बहुत जरुरी है. ये सलाह दी जाती है की कुछ अच्छे लखकों की किताबों का इस्तेमाल जरूर करे.

Daily Routine फॉलो करें

बिना प्लानिंग के पढाई करने से सफलता मिलना काफी मुश्किल है. हर छात्र को चाहिए की वो अपने घर में और पढाई के बीच संतुलन को बनायें ताकि पढाई करने के समय उन्हें किसी प्रकार की दिक्कत का सामना न करना पड़े. जो लोग बाहर पढ़ते हैं उन्हें भी एक रूटीन को फॉलो कर के ही पढाई करनी चाहिए. जो घर में रहकर पढाई करते हैं उनके लिए घर में अनेक तरह के काम करने भी होते हैं इसीलिए ऐसे में एक प्लानिंग के तहत हर विषय के लिए बराबर समय देना जरुरी है साथ ही अगर किसी विषय में कमज़ोर हैं तो उसके लिए एक्स्ट्रा समय बना लें.

ऑनलाइन हेल्प लें

तैयारी करने में कभी भी ये न सोचे की ऑनलाइन मदद लेना गलत है. आपको ऑनलाइन बहुत कुछ लाभदायक जानकारी मिल सकती है. यहाँ तक की आपको पढाई से लेकर इसकी तैयारी से जुड़े हर तरह की मदद बहुत ही आसानी से मिल सकती है. इसीलिए कभी इसका फायदा उठाने में पीछे न रहे.

Time टेबल के अनुसार पढाई करे

जिस विषय में आपको लगता है की कमज़ोर हैं उस पर अधिक ध्यान दें और जिसमे आपकी पकड़ मज़बूत है उस पर अगर कम समय में मांगे कर सकते हैं उसी के अनुसार उस पर समय दें. सुबह से लेकर सोने तक के हर समय को यानि 24 घंटों में आपको क्या क्या करना है सभी को एक चार्ट बनाकर लिख लें और कितने बजे से कितने बजे तक कौन से विषय की पढाई करनी है उसे भी लिखे लें इस तरह आपके लिए पढाई करना काफी आसान हो जायेगा जिससे सफलता मिलें में आपको कोई नहीं रोक सकता.

पिछले साल के पेपर भी देखें

पीछे हुए परीक्षा में पूछे जाने वाले सवाल भी काफी हेल्पफुल साबित होते हैं. आपको पैटर्न समझने में काफी मदद मिलती है और आपको कम समय में ये समझ में आ जाता है की पढाई कैसे करनी है और पास करने के लिए जरुरी बातें क्या हैं.

छोटे नोट्स तैयार करें

बड़े बड़े टॉपिक को पढ़ने के बाद उसे पॉइंट के रूप में लिख लें इस तरह हर टॉपिक को पॉइंट्स में लिखने से आपका छोटा नोट्स तैयार हो जायेगा जिससे आपको रेवेशन करते वक़्त टॉपिक याद भी आसानी से होगा और समय की भी बचत होगी.

लगातार प्रक्टिसे करें

जिस तरह एक क्रिकेटर अगर बिना प्रक्टिस के मैदान में उतरता है तो उसके लिए क्रिकेट खेलना काफी मुश्किल साबित होता है और न तो वो बैटिंग बोलिंग करने में सक्षम होता है और न ही उससे फील्डिंग हो पाती है ठीक उसी तरह से आप जितनी अधिक अपने विषय की प्रक्टिसे करेंगे आप उसमे उतना अधिक एक्सपर्ट होते जायेंगे.

खुद की टेस्ट लें

आप पढाई के दौरान हर छोटे अंतराल में अपनी खुद की टेस्ट लें और देखें की अभी तक जो आपने पढाई की है उसमे आप कितने अच्छे हैं ये आपके रिजल्ट को आंकने का एक बहुत ही अच्छा तरीका है जिससे आप पता लगा सकते हैं की आप अभी कितने पानी में हैं.

संक्षेप में

दोस्तों आप ने आज के इस पोस्ट में जाना की SSC क्या है (What is SSC in hindi) और SSC के लिए क्वालिफिकेशन क्या होना चाहिए? इसके अलावा आज आपने ये भी जाना की इसका एग्जाम कब होता है? लोगों के बीच हमेशा ये दुविधा होती है की SSC और CGL क्या है तो इसके बारे में भी हमने इस पोस्ट में आपको आसान शब्दों में सबकुछ समझाने की कोशिश की है. अब आप समझ ही गए होंगे की इसके अंतर्गत कई तरह की परीक्षाएं होती हैं जिनकी तारीख अलग अलग होती है और इनकी जानकारी एग्जाम कैलेंडर में इसके ऑफिसियल वेबसाइट में दी हुई होती है जिसे वहां जाकर देख सकते हैं तो आपको पूछने की जरुरत नहीं पड़ेगी की SSC का एग्जाम कब होता है.

हम उम्मीद करते हैं की आपको इस पोस्ट में SSC की पूरी जानकारी हिंदी में (ssc full information in hindi) मिल गई होगी तो आप हमे कमेंट कर के जरूर बताएं की आपके लिए ये पोस्ट किस तरह उपयोगी है अगर आपको ये पोस्ट सच में अच्छी लगी हो तो इसे फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम में अधिक से अधिक शेयर करे.

17 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here