SP कैसे बने और इसके लिए जरुरी योग्यता, आयु सीमा की पूरी जानकारी

कहा जाता है ना कि इंतजार करने वाले को उतना ही मिलता है जितना कोशिश करने वाले छोड़ देते हैं. ठीक उसी तरह कोशिश जरूर करनी चाहिए और अगर आप भी उन लोगों में से एक हैं जो पुलिस डिपार्टमेंट ज्वाइन करके अपने देश की सेवा करना चाहते हैं और यह जानने की इच्छा रखते हैं कि एसपी कैसे बने तो फिर इस पोस्ट में आपको हर प्रकार की जानकारी मिल जाएगी.

कामयाबी कौन नहीं चाहता है, हर किसी के मन में एक लक्ष्य बना हुआ होता है जिसे उसे अपनी जिंदगी में पूरी करने की ख्वाहिश होती है. इसके लिए वह अपने स्कूल के समय से ही जी तोड़ मेहनत करते हैं. बहुत सारे लोगों को मेहनत का फल अच्छा मिलता है जबकि कुछ लोग ही ऐसे होते हैं जो हार मान जाते हैं.

इसके अलावा जो अपना करियर एसपी के रूप में एसपी बनाना चाहते हैं उन्हें यह जानने की भी इच्छा होती है कि आखिर एक एसपी की सैलरी क्या होती है. इस पद पर जाने के लिए कितनी क्वालिफिकेशन होनी चाहिए.

एसपी बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता क्या रहनी चाहिए इसके बारे में भी हम आपको आगे बताएंगे. इस तरह के कई सवाल स्टूडेंट के मन में घूमते हैं जिसका जवाब उनके लिए जरूरी होता है ताकि वह अपने भविष्य बनाने में इनसे मदद ले सके. तो फिर देर किस बात की चलिए शुरू करते हैं और जानते हैं कि एसपी बनने के लिए क्या करे?

एसपी क्या है – What is SP in Hindi?

sp kaise bane hindi

पुलिस अधीक्षक (एसपी) एक पूरे जिले के पुलिस बल का प्रमुख होते हैं. जिन जिलों में सीनियर सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस जिले के प्रमुख होते हैं उन जिलों में सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस एक बड़े शहरी या फिर ग्रामीण क्षेत्र के प्रमुख होते हैं.

हमारे देश भारत के प्रत्येक जिले में एक सुपरिंटेंडेंट ऑफ़ पुलिस की नियुक्ति की जाती है. ये एक छोटे जिले के साथ-साथ एक बड़े या ग्रामीण क्षेत्र का प्रमुख भी होते हैं.

पुलिस कमिश्नर सिस्टम जैसा कि दिल्ली पुलिस और मुंबई पुलिस इत्यादि में होते हैं जिला पुलिस के प्रमुख को पुलिस उपायुक्त या डेप्युटी कमिश्नर ऑफ पुलिस (डीसीपी) कहा जाता है और ऐसे शहरों में वही एसपी के पद की जिम्मेदारी भी उठाते हैं.

अक्सर हम इस प्रकार के पदों के बारे में फिल्मों के जरिए ही जानते हैं. जहां पर उस पद की गरिमा को बतलाया जाता है और बताया जाता है कि यह पद लोगों के बीच में काफी महत्व रखता है और काफी इज्जत भी प्राप्त करता है.

लेकिन इस पद पर काम करने के लिए काफी मेहनत और मशक्कत भी करनी पड़ती है. लोगों के बीच शांति व्यवस्था को बनाए रखने के लिए उन्हें दिन-रात कड़ी मेहनत करनी पड़ती है.

यही वजह है कि एक एसपी के रूप में काम करने वाले व्यक्ति की पहचान सभी जगहों में होती है.

यही वजह है कि स्टूडेंट इस पद को लेकर काफी उत्साहित होते हैं. वह इस पद के गरिमा को समझते हैं तभी इसके लिए तैयारी करना चाहते हैं और वह भी अपने भविष्य में एक एसपी के रूप में काम करने की इच्छा जाहिर करते हैं.

खैर यह तो रही बात की हमने अब जान लिया है कि एसपी क्या होता है और राज्य भर में इसकी क्या प्रतिष्ठा है तो चलिए अब हम आगे जानते हैं कि एक एसपी कैसे बनते हैं और इसके लिए किस प्रकार की योग्यता का होना जरूरी है.

अधिकतर समय हम बात करते वक्त सिर्फ एसपी का ही नाम लेते हैं लेकिन बहुत कम ऐसे लोग होते हैं जिन्हें मालूम होता है कि एसपी का फुल फॉर्म क्या है (full form of SP). खैर कोई बात नहीं इस पोस्ट में आपको हम आगे बताएंगे कि एसपी का फुल फॉर्म क्या होता है.

एसपी का फुल फॉर्म – Full form of SP

Full form of SP in English

Superintendent of Police

Full Form of SP in Hindi

पुलिस अधीक्षक

पुलिस डिपार्टमेंट ज्वाइन करना और देश की सेवा करना एक गर्व की बात है. जिस तरह जवान सीमा पर खड़ा होकर देश की रक्षा करते हैं और अपने आप को भाग्यशाली समझते हैं तथा गौरव महसूस करते हैं.

ठीक उसी प्रकार देश के अंदर की समस्याओं से जूझने के लिए पुलिस डिपार्टमेंट होती है जो समाज में संतुलन बनाने का काम करती है.

यही वजह है कि बहुत सारे स्टूडेंट ऐसे होते हैं जिन्हें पुलिस में भर्ती होना काफी पसंद है और खासतौर पर हो सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस बनकर इज्जत के साथ जिंदगी बिताना चाहते हैं.

इसलिए उनके मन में यह जानने की इच्छा होती है कि एसपी के लिए क्वालिफिकेशन क्या होनी चाहिए (sp police exam qualification). इसके अलावा यह भी जानने की इच्छा रखते हैं कि एसपी बनने के लिए कितनी उम्र होनी चाहिए.

एसपी कैसे बने?

एसपी बनने के वैसे तो दो तरीके हैं पहला तरीका है आपको यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन के एग्जामिनेशन को क्लियर करके, दूसरा तरीका है कि आप स्टेट सिविल सर्विस एग्जाम को लिखकर भी इस पद को प्राप्त कर सकते हैं.

यूपीएससी के बारे में हमने अलग से एक आर्टिकल लिखा है जिसमें हमने इसकी तैयारी करने के तरीके के बारे में भी बताया है. सभी को पता होता है कि यूपीएससी एक सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक परीक्षा है.

क्योंकि इसमें प्राप्त होने वाला पद भी बहुत महत्वाकांक्षी होता है इसीलिए इस परीक्षा को इतना कठिन रखा गया है ताकि जो उम्मीदवार हो वह इसके लायक हो.

जब आप UPSC की परीक्षा पास कर लेते हैं तो आपको IAS के रूप में काम करने का अवसर मिलता है. वहीं अगर हम बात करें तो अगर आप स्टेट सिविल सर्विस एग्जाम लिखते हैं तो आपको DSP के पद पर काम करने का मौका मिलता है.

जब आप इस पद पर कुछ सालों तक लगातार पूरी निष्ठा के साथ काम करते हैं तो फिर आप प्रमोट करके एसपी के पद पर जा सकते हैं.

सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस के पद में काम करके अपने भविष्य को उज्जवल बनाने के लिए कई स्टूडेंट हर साल इसके लिए कड़ी मेहनत करते हैं.

इस पद में काम करने के लिए अप्लाई करने के पहले यह सुनिश्चित करना जरूरी है कि जो उम्मीदवार एसपी बनना चाहते हैं उन्हें कम से कम मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन पास करना जरूरी है. बिना ग्रेजुएशन किए हुए एसपी के लिए अप्लाई नहीं कर सकते हैं.

ये जो पोस्ट होता है वह काफी पावरफुल होता है जिसकी वजह से लोग इस पद को हासिल करने के लिए काफी मेहनत करते हैं. इस पोस्ट के लिए स्टूडेंट के बीच में जुनून और बढ़ जाता है जब उन्हें इस पोस्ट के महत्व के बारे में पता चलता है.

तो चलिए जानते हैं कि एक एसपी बनने के लिए किस प्रकार की योग्यता का होना जरूरी है. शैक्षणिक योग्यता कितनी होनी चाहिए आयु सीमा क्या है और सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस की सैलरी क्या होती है.

एसपी बनने के लिए शैक्षणिक योग्यता

जो भी उम्मीदवार इस पद के लिए अप्लाई करना चाहते हैं उन्हें किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन पास हुआ होना चाहिए.

उम्मीदवार भले ही किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन पास किया हो, चाहे वह साइंस, कॉमर्स, या फिर आर्ट से ग्रेजुएशन कंप्लीट किया हो वह इस पद के लिए अप्लाई कर सकते हैं.

एसपी बनने की आयु सीमा

सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस पद के आवेदन करने वाले उम्मीदवारों की उम्र 21 से 30 साल के बीच में होना जरूरी है.

इसके अलावा ओबीसी से बिलॉन्ग करने वाले उम्मीदवार के लिए 21 से 33 साल के बीच में उम्र होनी चाहिए. जो उम्मीदवार SC/ST वर्ग में आते हैं उनकी उम्र 21 से 35 साल के बीच में होना जरूरी है.

Category Age
General 21-30
OBC 21-33
SC/ST 21-35

एसपी बनने के लिए शारीरिक योग्यता

एसपी बनने के लिए जो उम्मीदवार उत्सुक होते हैं उनके शारीरिक शारीरिक योग्यता भी नीचे बताए गए मापदंडों के अनुसार होनी चाहिए.

Category  Height (in cm.) Chest (in cm.) Eyesight
General & OBC Male – 165 Female-150 Male – 84 Female-79, विस्तार 5 सेंटीमीटर आंखों के लिए 6/6

6/9 दूरदर्शी दृष्टि होनी चाहिए.

SC/ST Male – 160 Female- 145 Male – 84 Female-79, विस्तार 5 सेंटीमीटर आंखों के लिए 6/6

6/9 दूरदर्शी दृष्टि होनी चाहिए.

एसपी के चयन के लिए एक्जाम पैटर्न

भारत में सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस के चयन के लिए यूपीएससी Uninon Public Service Commission एक्जाम का आवेदन करना जरूरी है.

इसके अलावा इस पद की चयन प्रक्रिया के लिए State Civil Service Examination भी लिया जाता है. इन परीक्षाओं का पैटर्न ऐसा होता है जिसमें परीक्षा 3 स्टेज में कराया जाता है.

प्रारम्भिक परीक्षा – Preliminary Exam

सबसे पहले तो आप को प्रारंभिक परीक्षा में बैठना होता है इसमें पास करने के बाद ही आपको मुख्य परीक्षा में बैठने का अवसर मिलता है.

जब आप Preliminary Exam पास कर लेते हैं तो इसके बाद भी आपको Main Exam और इंटरव्यू पास करना जरूरी है.

इस परीक्षा के अंतर्गत आपसे General Studies I और General Studies II (CSAT) से कुल मिलाकर 180 सवाल पूछे जाते हैं जो कुल मिलाकर 400 नंबर के होते हैं.

इसमें प्रत्येक पेपर के लिए आपको 2 घंटे का समय दिया जाता है. इस में पूछे जाने वाले सवाल ऑब्जेक्टिव होते हैं और इसके अलावा गलत जवाब देने पर नेगेटिव मार्किंग भी की जाती है.

मुख्य परीक्षा – Mains Exam

इस परीक्षा के अंतर्गत 9 पेपर से सवाल पूछे जाते हैं जो करीब 5 से 7 दिनों तक होता है.

जो कैंडिडेट General Studies I में कटऑफ प्राप्त कर लेते हैं और General Studies II में 33 परसेंट ले आते हैं वैसे ही उम्मीदवार को Mains Exam में बैठने का मौका दिया जाता है.

इस एग्जाम में पूछे जाने वाले सवाल डिस्क्रिप्टिव होते हैं.

इसके अंतर्गत पूछे जाने वाले विषयों में पेपर A और पेपर B लैंग्वेज पेपर होते हैं.

  1. Compulsory Indian language
  2. English
  3. Essay
  4. General Studies I (Indian Heritage and Culture, History, and Geography of the World, Society इत्यादि)
  5. General Studies II (Governance, Constitution, Polity, Social Justice, International relations)
  6. General Studies III (Technology, Economic Development, Bio-diversity, Environment, Security and Disaster Management)
  7. General Studies IV (Ethics, Integrity, Aptitude)
  8. Optional I
  9. Optional II

Optional 1 और Optional 2 के अंतर्गत कई प्रकार के सब्जेक्ट होते हैं जिनमें से अब किसी को भी अपने पेपर के रूप में चुन सकते हैं.

हम यहां पर आपको कुछ उदाहरण के रूप में दे रहे हैं जैसे Civil Engineering,Geology, History, Economics इत्यादि. यहां पर लैंग्वेज में पर को छोड़कर बाकी सभी पेपर को इंग्लिश में लिखना होता है.

साक्षात्कार – Interview

यह यूपीएससी एग्जाम का फाइनल स्टेज होता है और इसी के बाद जो रिजल्ट होता है वह डिक्लेअर कर दिया जाता है.

इसे पर्सनल इंटरव्यू टेस्ट के नाम से जाना जाता है और यह Mains Examination के एक भाग के रूप में जाना जाता है जिसे merit ranking उद्देश्य के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

वैसे तो रिटन एग्जामिनेशन और इंटरव्यू को अलग अलग ही माना जाता है. एक बोर्ड होता है.

जो कैंडिडेट के मेंटल और सोशल सोच को ऊपर नज़र रखते हैं और इसके लिए सामान्य इंटरेस्ट के आधार पर उसे क्वेश्चन पूछते हैं.

इसके अंतर्गत पूछे जाने वाले सवाल दिमाग की चालाकी, कठिन परिस्थितियों में निर्णय लेने की क्षमता, क्लियर लॉजिकल फॉर इंटरव्यू, जजमेंट लेने की क्षमता, विभिन्न विषयों की रुचि, नेतृत्व करने की क्षमता साथ ही साथ मोरल इंटीग्रिटी इत्यादि. इसमें अधिकतम 275 नंबर के सवाल पूछे जाते हैं.

एसपी की सैलरी

हर इंसान की ख्वाहिश होती है कि वह अच्छे पद पर काम करें उसको इज्जत मिली लेकिन साथ ही साथ उसकी ख्वाहिश भी होती है कि उसे उतनी सैलरी मिल सके जिससे वह आरामदायक जिंदगी अपने और अपने परिवार को दे सके.

यही वजह है कि सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस शिकायत सा पद है जिस पर इज्जत बहुत है साथ ही साथ अच्छी सैलरी भी मिलती है.

एक सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस को 15600 से ₹39000 मासिक वेतन दिया जाता है. इसके अलावा दूसरे एलाउंसेस भी दिए जाते हैं.

एसपी के कर्तव्य क्या है?

जैसा कि आप अच्छे से समझ गए होंगे कि सुपरिटेंडेंट ऑफ पुलिस जिला का एक प्रमुख होता है. जिसके ऊपर पूरे जिले में होने वाली गतिविधियों की जिम्मेदारी होती है. उनका कर्तव्य होता है कि वह जिले में शांति कायम करके रखे और किसी भी प्रकार की अनहोनी को होने से रोके.

भीड़भाड़ वाली जगहों में होने वाली घटनाओं को काबू में रखें और लोगों की सुरक्षा करें.

चलिए जानते हैं कि इस पद पर काम करने वाले व्यक्ति के लिए और कौन सी जिम्मेदारी होती है जो महत्वपूर्ण होती है.

  • जिले के सभी थानों के संपर्क में रहना और वहां से हो रही गतिविधियों और दर्ज होने वाले केस की निगरानी करना.
  • सड़क पर बढ़ते यातायात ट्रैफिक को कंट्रोल में रखना और इसके लिए लोगों को जागरूक करना ताकि वह भी यातायात के नियमों को पालन कर सके.
  • जिले के अंतर्गत होने वाली समारोह, रैली, मीटिंग की देखरेख करना और किसी प्रकार के नियमों का उल्लंघन करने पर उन पर कार्रवाई करना.
  • किसी भी एरिया में हो रहे गैर कानूनी गतिविधियों पर रोक लगाना.
  • सभी सरकारी वाहनों का ऑडिट करना और उनके रखरखाव की जांच करना.

एसपी बनने के लिए एग्जाम की तैयारी कैसे करें?

किसी प्रकार के एग्जाम को पास करने के लिए तैयारी करना जरूरी है. तैयारी करने के लिए एक टाइम टेबल की भी जरूरत होती है जो हमें खुद बनानी पड़ती है. जब आप किसी परीक्षा की तैयारी करते हैं.

भले वह एक्जाम बोर्ड का हो या फिर कॉम्पिटेटिव हो उसके लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ती है और कुछ करना पड़ता है तो चलिए जानते हैं कि इस एग्जाम के लिए तैयारी कैसे करें.

  • पढ़ाई करने के लिए उचित टाइम टेबल बनाएं
  • अपने सिलेबस की जानकारी रखें
  • लगातार पढ़ाई करें और गैप ना करें
  • रिवीजन जरूर करें
  • अपनी एकाग्रता को बढ़ाएं
  • हर दिन भरपूर नींद लें

संक्षेप में

हर किसी को अपने भविष्य में कुछ बनने की इच्छा होती है. कोई अधिक से अधिक पढ़ाई करके ऊंचा पद प्राप्त करना चाहता है वहीं कुछ ऐसे लोग होते हैं जो 12th  या फिर ग्रेजुएशन के बाद ही अपने करियर पर रूप में किसी नौकरी को प्राप्त करना चाहते हैं आप पर आगे बढ़ना चाहते हैं.

यही वजह है कि हमने आज आपको यह बताया कि एसपी कैसे बने और इसके लिए शैक्षणिक और शारीरिक योग्यता क्या होनी चाहिए? ताकि जो स्टूडेंट पुलिस में भर्ती होना चाहते हैं और एक ऊंचे पद को ग्रहण करके देश की सेवा करना चाहते हैं उनके लिए यह महत्वपूर्ण अवसर दे सकते हैं.

हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा बताई गई जानकारी आपके लिए बहुत ही फायदेमंद साबित होगी. अगर आपको यह पोस्ट किसी भी प्रकार से फायदेमंद लगता है तो इसे फेसबुक, टि्वटर, इंस्टाग्राम अधिक से अधिक शेयर करें.

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here