Signal एप्प क्या है – What is Signal App in Hindi?

Signal व्हाट्सएप की ही तरह एक पॉप्युलर मैसेजिंग एप है, जो एंड्रॉइड, विंडोज, आईफोन, आईपैड, लिनक्स और मैक ऑपरेटिंग सिस्टम पर आधारित यंत्रों के लिए डिजाइन किया गया है.

इस ऐप की मदद से आप अपने दोस्त एवं रिलेटिव को टेक्स्ट मैसेज, इमेजेस, वीडियो इत्यादि सेंड कर सकते हैं. इसके अलावा इस ऐप का प्रयोग आप वॉइस कॉल और वीडियो कॉल के लिए भी कर सकते हैं.

मेरे ख्याल से आपको एक अंदाजा लग गया होगा कि सिग्नल एप क्या है और इसका क्या काम है.

अभी हाल ही में जैसे ही यह समाचार मिला कि व्हाट्सएप ने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी में कुछ बदलाव किए हैं तब से लोगों के बीच में इसके अल्टरनेटिव के इस्तेमाल करने की डिमांड भी बढ़ती जा रही है.

न्यूज़ चैनलों के माध्यम से एवं सोशल मीडिया पर भी यह काफी तेजी से फैल चुका है कि व्हाट्सएप को इस्तेमाल करने का मतलब है कि हमें इसकी प्राइवेसी पॉलिसी को स्वीकार करना पड़ेगा.

जिसके तहत हमारे द्वारा भेजे जाने वाले मैसेज और बातों पर भी निगरानी रखी जाएगी इसके अलावा व्हाट्सएप इन डाटा को दूसरों के साथ भी शेयर कर सकता है?

लेकिन इन बातों में कितनी सच्चाई है इससे बहुत कम लोग ही वाकिफ हैं.

वास्तव में देखा जाए तो फेसबुक पहले से ही यह काम कर रहा है लेकिन लोगों को इससे बिल्कुल भी मतलब नहीं है. जबकि फेसबुक पर ही लोग काफी समय बिताते हैं.

जब से फेसबुक ने व्हाट्सएप को खरीदा है तभी से उसने इस बात का एक आश्वासन तो दिया था कि हम व्हाट्सएप पर विज्ञापन नहीं दिखाएंगे लेकिन इस बदलाव को देखते हुए लोगों के मन में यह ख्याल भी आ रहा है कि शायद कुछ समय बाद व्हाट्सएप को भी मॉनिटर कर दिया जाएगा.

इतने सारे कंफ्यूजन के बीच लोगों के मन में बहुत तरह के सवाल है जिनको आप इस आर्टिकल के माध्यम से जानेंगे समझेंगे कि क्या सिगनल ऐप और इसका इस्तेमाल करना हमारे लिए फायदेमंद है या नहीं.

अगर आप जानना चाहते हैं कि सिग्नल एप्प का इस्तेमाल करने से आपकी प्राइवेसी कितनी सुरक्षित रहेगी तो इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें.

तो चलिए समझते हैं इसके बारे में विस्तार से.

Signal एप्प की जानकारी

Signal अन्य मैसेजिंग एप जैसे व्हाट्सएप पर टेलीग्राम की तरह ही एक मैसेजिंग एप है, जो कई तरह के डिवाइस इस पर काम करता है उदाहरण के तौर पर इस एप्लीकेशन का इस्तेमाल आप एंड्रॉयड, आईफोन, आईपैड, विंडोज, इत्यादि में भी कर सकते हैं.

एक मैसेजिंग ऐप में विभिन्न प्रकार की सुविधाएं होती हैं जैसे आप इसका इस्तेमाल करके फोटो वीडियो टेक्स्ट मैसेज इत्यादि शेयर कर सकते हैं जो कि सिग्नल ऐप के साथ भी इस तरह की सुविधाएं दी गई हैं.

टेलीग्राम और व्हाट्सएप की तरह ही आप इस पर वॉइस कॉलिंग और वीडियो कॉल में भी बात कर सकते हैं.

अभी हाल ही में इस एप्लीकेशन में ग्रुप वीडियो कॉलिंग की फीचर भी जोड़ी गई है जिसमें आप एक साथ एक 50 लोगों को वीडियो कॉलिंग में शामिल कर सकते हैं.

Signal एप्प किसने बनाया है?

अगर आपने व्हाट्सएप की इतिहास के बारे में पढ़ा होगा तो यह भी जानते होंगे कि इसको पीछे के इसको बनाने के पीछे कौन से लोग थे.

जिन लोगों ने व्हाट्सएप को डिवेलप किया था उसी में से एक मेंबर ब्रायन एक्टन थे और उन्होंने मार्लिंसपाइक के साथ मिलकर सिगनल मैसेंजर ऐप को डेवलप करना शुरू किया.

ऑफिशियल ही बात करें तो इस एप्लीकेशन को Signal Foundation and Signal Messenger के द्वारा डेवलप किया गया है. यह कंपनी एक नॉन-प्रॉफिट कंपनी के रूप में काम करती है.

ब्रायन एक्टन ने व्हाट्सएप को 2017 में छोड़ा था और सिग्नल को डिवेलप करने के लिए इसमें लगभग 50 मिलियन डॉलर का इन्वेस्टमेंट किया था.

सिग्नल एप्प व्हाट्सप्प से किस तरह अलग है?

अगर देखा जाये तो आज के समय में सिग्नल दुनिया में सबसे सुरक्षित एप्लीकेशन में से एक एप्प है.

यह एक बहुत ही सुरक्षित ऐप है जिसमें प्राइवेसी का पूरा ध्यान दिया गया है इसे इस्तेमाल करने वाला पूरी तरह से निश्चिंत रह सकता है कि उसका डाटा किसी के साथ भी शेयर नहीं किया जा सकता.

इस एप्लीकेशन को बनाने के लिए इसी उद्देश्य का उपयोग किया गया है कि इसमें लोगों की प्राइवेसी को खासा ध्यान दिया जाएगा और कभी भी इसमें कोई बदलाव नहीं किया जाएगा इसमें यूजर के डाटा को बिल्कुल भी शेयर नहीं किया जाएगा

इस एप्लीकेशन के द्वारा यूजर से कभी भी पर्सनल डाटा नहीं मांगा जाता जो कि अभी व्हाट्सएप को देख सकते हैं कि वह कर रहा है.

एक और जरूरी बात यह है कि व्हाट्सएप आपके चैटिंग को एक ऑनलाइन स्टोरेज जैसे कि क्लाउड इत्यादि पर स्टोर करता है जिस से डाटा लीक होने का खतरा होता है.

लेकिन सिग्नल एप के द्वारा किसी भी चैट बैकअप को क्लाउड स्टोरेज पर नहीं रखा जाता.

यह डाटा आपके फोन में ही स्टोर किया हुआ रहता है.

एक सबसे खास बात इस एप्लीकेशन में यह है कि इसमें ऐसा फीचर दिया हुआ है जिसका नाम है Data Linked to You जिसके द्वारा आप को यह फायदा मिलेगा कि अगर आपके चैट मैसेजेस का कोई स्क्रीनशॉट लेना चाहेगा तो नहीं ले सकेगा.

आपके पुराने किए हुए चैट मैसेजेस अपने आप ही डिलीट होते चले जाएंगे.

अगर कोई इंसान कोई ग्रुप बनाता है तो वह व्हाट्सएप की तरह आपको उस ग्रुप में नहीं जुड़ सकता.

आप उसमें तभी जुड़ेंगे जब आपको इनवाइट भेजेगा और आप उसे स्वीकार करेंगे.

इसमें एक और बेहतरीन फीचर यह है कि आप जब किसी को कॉल करते हैं तो वह सिगनल ऐप के सर्वर द्वारा होता है जो कि Relay Calls के द्वारा काम करता है.

इस तरह आपका आईपी एड्रेस किसी के पास भी नहीं जाएगा और ना ही वह आपका पता लगा सकेंगे.

यही वजह है कि व्हाट्सएप द्वारा नई प्राइवेसी पॉलिसी के कारण लोगों का रुझान सिगनल एप की तरफ बढ़ता जा रहा है.

सिग्नल एप्प के फीचर्स

चलिए अब एक-एक करके जा मौजूद है जिसकी मदद से आप इस एप्लीकेशन का इस्तेमाल भली-भांति कर सक की जगह इसका इस्तेमाल करना आपके लिए कितना सही है.

Group Link or QR-code

सिगनल ऐप में आप अपने ग्रुप में लोगों को ज्वाइन कराने के लिए एक ग्रुप लिंक जनरेट कर सकते हैं फिर उससे शेयर कर सकते हैं.

इसके अलावा अब qr-code का भी इस्तेमाल करके अपने ग्रुप में ज्वाइन करने के लिए लोगों को आमंत्रित कर सकते हैं.

Delete for everyone

कई ऐसे मैसेज होते हैं जो ना चाहते हुए भी गलती से चले जाते हैं तो ऐसी सिचुएशन में एक फीचर का इस्तेमाल कर सकते हैं जो अभी हाल ही में सिग्नल ऐप के साथ जोड़ा गया है.

इस फीचर का नाम है delete for everyone जिसकी मदद से आप एक्सीडेंट लिखे हुए मैसेज को खुद के लिए और जिसे भेजा है उसके लिए भी डिलीट कर सकते हैं.

इस पिक्चर को अभी फिलहाल इस वर्जन में आप इस्तेमाल कर सकते हैं एवं डिवाइसेज के नाम हम नीचे आपको दे रहे हैं.

  • Signal Android v4.73 and above
  • Signal Desktop v1.37.1 and above
  • Signal iOS v3.19 and above

Storage Management

इस एप्लीकेशन में आप जो भी मैसेज करते हैं उसे आप खुद अपने डिवाइस में डिलीट कर सकते हैं.

व्हाट्सएप में आप चाहे तो अपने सारे चैट को गूगल ड्राइव में स्टोर करके रख सकते हैं.

लेकिन इसमें क्लाउड स्टोरेज की बजाय आप के जो भी मैसेज होते हैं वह आपके डिवाइस में इंस्टॉल होते हैं जिसे चाहते हुए इसे खुद डिलीट कर सकते हैं.

इसके अलावा कुछ दिनों में मैसेज अपने आप ही डिलीट होते चले जाते हैं.

इस फीचर की मदद से आप अपने चार्ट एवं मीडिया फाइल्स को जितने दिन चाहे उतने दिन के लिए स्टोर करके रख सकते हैं और चाहे तो डिलीट भी कर सकते हैं एवं जीतने मैसेज की संख्या आप स्टोर करना चाहते हैं वह भी आप इसमें सेट कर सकते हैं

View-once Media

एक बेहतरीन फीचर है जिसकी मदद से आप अपने एंड्राइड में इस्तेमाल की जाने वाली सिगनल ऐप के जरिए किसी फोटोस और वीडियो को भेजते हैं जो भेजे जाने के बाद एक बार व्यू होने के बाद वह खुद डिलीट हो जाते हैं

Set and manage disappearing messages

यह भी एक शानदार फीचर है जो सिगनल ऐप की तरफ से दिया जाता है इसकी मदद से आप एक ऐसे मैसेज का निर्माण कर सकते हैं जो टाइम सेट होने तक ही पढ़ा जा सकता है.

इसका समय पूरा होते ही यह मैसेज गायब हो जाता है

Link Previews

कई बार हम अपने चाट के दौरान लिंक को भी शेयर करते हैं जो कि सिर्फ एक लिंक की तरह दिखा देता है.

लेकिन इस फीचर की मदद से आप चाहे तो उसके अंदर जो भी कंटेंट हो उसे वह प्रीव्यू के रूप में भी दिखा देता है.

इस ऑप्शन की मदद से आप चाहे तो इसे चालू कर सकते हैं या फिर बंद कर सकते हैं

Screen Security

अगर आप चाहें तो अपने सिग्नल में आने वाले मैसेज को दूसरे ऐप का इस्तेमाल करते वक्त प्रीव्यू को रोक सकते हैं.

यह जो ऑप्शन होता है वह मोबाइल के स्क्रीन लॉक से अलग तरीके का फीचर है जिसमें की आपको एप्लीकेशन को ही इस्तेमाल करने से ही रोका जाता है.

इस ऑप्शन को जब आप इनेबल कर लेते हैं तो जब भी आप के सिग्नल एप्लीकेशन पर कोई महत्व जाता है तो एक ब्लू स्क्रीन आता है जिसमें सिग्नल का लोगो होता है.

इसके अलावा एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम वाले स्मार्ट फोन में फैशन के चैट की स्क्रीनशॉट भी नहीं लिया जा सकता है.

Signal PIN

जब कभी आप अपने हैंडसेट को चेंज करते हैं या फिर आपका मोबाइल गुम हो जाता है तो अपने प्रोफाइल को वापस लाने के लिए आप सिग्नल पिन का इस्तेमाल कर सकते हैं.

अगर आप अपना नंबर भी बदलते हैं तो जब कोई आपके इस नंबर से सिग्नल पर रजिस्ट्रेशन करता है तो भी इस पिन की जरूरत पड़ेगी तभी उस नंबर से आपके प्रोफाइल खोला जा सकता है.

अन्यथा आपका प्रोफाइल उस नंबर से लिंक नहीं होगा

Backup and Restore Messages

यह एप्लीकेशन आपके द्वारा शेयर किए गए मैसेज फोटो फाइल इत्यादि को क्लाउड स्टोरेज में नहीं बल्कि आपके फोन पर ही स्टोर करके रखता है

Screen Lock

अब अपने सिग्नल आईडी को फोन के पिन कोड पैटर्न लॉक या फिर बायोमेट्रिक लॉक से भी स्क्रीन लॉक कर सकते हैं.

Signal एप्प कैसे डाउनलोड करें?

अब अपने एंड्राइड मोबाइल फोन के गूगल प्ले स्टोर में जाकर डाउनलोड करके इंस्टॉल कर सकते हैं इस प्रोसेस को समझने के लिए स्टेप बाय स्टेप हमारे बताए हुए तरीके को फॉलो करें.

  1. गूगल प्ले स्टोर को ओपन करें
  2. सर्च बार में जाकर सिग्नल टाइप करें
  3. जहां पर आपको सिगनल प्राइवेट मैसेंजर दिखाई देगा आपको उसमें इंस्टॉल पर क्लिक कर लेना है.
  4. आपका एप्लीकेशन डाउनलोड होना शुरू हो जाएगा
  5. उसके बाद आप पर कोई स्कोर इंस्टॉल कर लेना है.
  6. इंस्टॉल करने के बाद इस एप्लीकेशन को ओपन करें यहां पर आपको आप से मोबाइल नंबर पूछा जाएगा जिसे डालने के बाद आपका नंबर वेरीफाई हो जाएगा
  7. इसके बाद आपको अपना PIN बनाना होगा जिससे आपका प्रोफाइल उस दिन के जरिए कभी भी वेरीफाई करना आसान हो जाएगा.

आपका अकाउंट चैटिंग के लिए तैयार हो जाएगा.

निष्कर्ष

जब से व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी की अपडेट आई है तब से लोगों के बीच में इस बात का कन्फ्यूजन हो चुका है कि इसका इस्तेमाल किया जाए या नहीं किया जाए.

क्या व्हाट्सएप से बेहतर भी कोई एप्लीकेशन है इस बात की भी खोज लोगों द्वारा की जा रही है.

इसीलिए इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको व्हाट्सएप की ही तरह लेकिन उससे भी ज्यादा सुरक्षित एप्लीकेशन की जानकारी दी और बताया कि सिग्नल एप क्या है और इसे कैसे डाउनलोड करें.

इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको सिगनल ऐप की विशेषताओं के बारे में भी बताया.

अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करें.

About Wasim Akram

वसीम अकरम WTechni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है. लोगों को उनके जीवन में कैरियर बनाने में सही निर्देश देना और हर प्रकार के नौकरी के बारे में जानकारी देना काफी पसंद है ताकि उनका भविष्य बन सके.

Leave a Comment