Server क्या है और कैसे काम करता है?

क्या आपको मालुम है की Server क्या है(What is server in Hindi)? भले ही आप नहीं जानते होंगे की Server क्या होता है लेकिन आपने इसके बारे में जरूर सुना होगा. अगर अभी भी याद नहीं आ रहा है तो चलिये मैं याद दिला दूँ. आप स्टूडेंट्स होंगे तो जब भी आप एग्जाम देते होंगे और उसका रिजल्ट देखने जाते होंगे तो देखा होगा की आपकी रिजल्ट देखने वाली साइट खुल नहीं रही होती है. ऐसा में मैसेज आता है की server too busy. इससे आपको भी पता चल जाता है की इस पर लोड बढ़ गया है इसलिए रिजल्ट पेज खुल नहीं  रहा है.

हम जो वेबसाइट खोलते हैं रिजल्ट देखने के लिए वो इंटरनेट में स्टोर रहता है. रिजल्ट वाले दिन एक साथ ढेर सारे लोग एक ही वक़्त पर उस पेज में ऑनलाइन आते हैं और इस वजह से इतनी ट्रैफिक आने से रिजल्ट वाली वेबसाइट बहुत slow हो जाती है जिस्से result page बहुत ही धीरे धीरे लोड होता है. मेरे ख्याल से अब आपको समझ में आ गया होगा की आखिर आपने ये नाम पहले ही सुना हुआ तो मैं इसे एक और उदाहरण देकर समझाता हूँ आप अक्सर बैंक जाते होंगे.

कभी कभी बैंक जाने पर ये भी सुना होगा की लिंक फेल हैं.और आप उस दिन बैंक से जुड़ा कुछ भी काम नहीं करा पाते. ये भी ओवरलोड होने की वजह से ही होती है. दोस्तों अब तो आप अच्छे से समझ गए होंगे की आखिर हम किस बारे में बात करने वाले हैं. आज हम जानेंगे की ये कैसे काम करता है और ये कितने प्रकार के होते हैं(टाइप्स ऑफ़ सर्वर इन हिंदी)। इससे पहले चलिए जानते हैं की सर्वर क्या होता है(What is Server in Hindi)?

Server क्या है? (What is Server in Hindi)

Server kya hai hindi

सर्वर एक कम्पूटर, कंप्यूटर प्रोग्राम या डिवाइस होता है जो दूसरे कम्प्यूटर्स को इनफार्मेशन और डाटा भेजते है, जिसे हम आम भाषा में clients बोलते हैं. इस का मुख्य काम होता है इंटरनेट में जितने भी users होते हैं उन्हें सेवा देना. एक सिंगल सर्वर एक बार में बहुत सारे clients को डाटा और resource शेयर करती है और सेवा देती है.चलिए इसे अब एक उदाहरण के द्वारा समझते हैं.
 
उदाहरण:

आप हर रोज़ फेसबुक और यूट्यूब जरूर इस्तेमाल करते होंगे. क्या आपने कभी ये जानने की कोशिश की है की आप जो इतने फेसबुक Profile, वीडियो और फोटोज देखते हो वो सारे आपके फ़ोन में एक दम झट से कैसे आ जाते हैं. या फिर यूट्यूब में इतनी सारी मूवीज और वीडियोस कैसे तुरंत प्ले होकर चलने लगती है. ये सारा डाटा कहीं न कहीं स्टोर कर के रखा जाता है. तो जब हम किसी वीडियो को देखना चाहते हैं और उसे प्ले कर देते हैं या फिर किसी फेसबुक पेज को ओपन करते हैं तो यही सर्वर उस स्टोर किया हुआ डाटा को उसके लोकेशन से लेकर हमें हमारे App या फिर ब्राउज़र में तुरंत दिखा देता है. जब ये बहुत स्ट्रांग होता है तो वो जल्दी डाटा ट्रांसफर कर देता है. इस तरह हम कहीं से भी किसी वेबपेज और ऑनलाइन वीडियोस देख पाते हैं.

सर्वर एक तरह से कंप्यूटर ही होते हैं जो दुनिया के हर कोने में कहीं भी हो सकते हैं. वेब होस्टिंग कंपनियां अपनी सुविधा के अनुसार उन्हें इनस्टॉल करती है. इन की कैपेसिटी अलग अलग हो सकती है. जिस वेबसाइट में हर रोज़ बहुत ज्यादा ट्रैफिक होती है वो Dedicated Server का इस्तेमाल करते हैं.

आप अगर चाहे तो अपने कंप्यूटर को भी सर्वर बना सकते हैं. लेकिन आप ने देखा होगा की इंटरनेट में 24 घन्टे में किसी भी वक़्त अगर हम गूगल, फसबूक, यूट्यूब खोलते हैं तो ये हर वक़्त खुलता है. इस का मतलब ये कभी ऑफ नहीं होते. अब आप बताये की क्या आप अपने लैपटॉप और कंप्यूटर को 24*7 चालू रख सकते हैं? आपका जवाब होगा नही.  इंडसट्रिज, स्कूल, कॉलेज में हम इस का इस्तेमाल कर सकते हैं इसे नॉन-Dedicated या फिर LAN भी बोलते हैं.

Server कैसे काम करता है?

सर्वर कैसे काम करता है ये समझने के लिए हम एक example का इस्तेमाल करेंगे. मान लीजिये की आपने गूगल ओपन किया उसमे आप wtechni टाइप कर के सर्च करेंगे तो आपने जो भी लिखा है उस पर आधारित एक request generate हो जायेगा जो इंटरनेट के जरिये फेसबुक के सर्वर पर चला जाएगा. वहां पर आये हुए request यानि wtechni को सर्वर ढूंढ कर उसका डाटा आपके मोबाइल या कंप्यूटर में पहुंचा देगा. इस तरह आप wtechni का पेज अपने फ़ोन में देख सकेंगे.

ये इंटरनेट में होने वाले सभी कामों में हमारी मदद करता है. चाहे वो मूवी डाउनलोड करना हो या फॉर ऑनलाइन मूवी देखना हो. इस के अलावा ईमेल से मैसेज ओएहुँचना, ऑनलाइन voice call, video call इन सभी कामों को भी यही करता है. सारे डाटा को यही हम तक पहुंचाता है.

सर्वर जो काम करता है उस बीच बहुत से ऐसे फैक्टर्स हैं जो इस पुरे प्रोसेस से जुड़े होते हैं जैसे ip address, clients, domain name, ports और protocols.

Server कितने प्रकार के होते हैं (types of Server in Hindi)

काम के अनुसार अलग अलग सर्वर का इस्तेमाल किया जाता है. कुछ तो डेडिकेटेड होते हैं जो सिर्फ एक काम को करने के लिए होते हैं. या फिर बहुत सारे servers भी मिलकर सिर्फ एक task को करते हैं. चलिए अब जान लेते हैं की इस के कितने प्रकार होते हैं.

Web Servers

इंटरनेट पर जितने भी वेबसाइट हैं उनके सभी डाटा वेब servers में स्टोर किये होते है. वेब सर्वर वेब ब्राउज़र के माध्यम से वेब पेजेज को हमे दिखाती हैं. जब भी कोई यूजर वेब ब्राउज़र जैसे chrome, mozilla, internet explorer, ओपन कर के किसी वेबसाइट के address को डालते है तो वेब सर्वर्स के पास उसका रिक्वेस्ट जाता है और ये यूजर को वेब ब्राउज़र के माध्यम से डिवाइस में डाटा भेज देता है.

Email Server

इस तरह के सर्वर ईमेल के द्वारा मेसेजस को send और receive करने की सेवा देता है. इस में यूजर डाटा को स्टोर कर के रखा जाता है. साथ ही इस में बहुत स्पेस भी देती है जिसमे सभी मैसेज सेव रहते हैं. इस SMTP प्रोटोकॉल का इस्तेमाल किया जाता है.

Identity Server

Identity server , रजिस्टर्ड users लोगिन के लिए safety और सिक्योरिटी सेवा प्रदान करते हैं.

FTP Server

अक्सर वेबमास्टर अपने वेबसाइट में फाइल को कंप्यूटर से अपलोड करने के लिए FTP का इस्तेमाल करते हैं. इसके अलावा अपने वेबसाइट के फाइल को हम अपने कंप्यूटर में भी डाउनलोड कर के store भी कर सकते हैं. FTP या file transfer protocol tool के माध्यम से हर तरह के फाइल को ट्रांसफर करने के काम आता है.

FAQ – Frequently Asked Questions (अक्सर पूछे जाने वाले सवाल)

1. Server क्या होता है?

A. Server एक तरह से कंप्यूटर होता है जो दूसरे कम्प्यूटर्स और उपयोगकर्ता को सेवा प्रदान करता है. Server एक कंप्यूटर प्रोग्राम या फिर डिवाइस भी होते हैं जो सेवा देती हैं.

2. FTP क्या है?

A. FTP एक client प्रोग्राम या internet protocol होता है, जिसमे TCP/IP कनेक्शन के माध्यम से दो अलग अलग कम्प्यूटर्स के बीच फाइल्स या डाटा का आदान प्रदान होता है.

3. FTP का फुल फॉर्म क्या है?

A. FTP का फुल फॉर्म File Transfer Protocol होता है.

4.  FTP client को server से कैसे कनेक्ट करते हैं?

A. किसी वेबसाइट से डाटा को ट्रांसफर करने के लिए FTP client का प्रयोग करते हैं. इंटरनेट में फ्री में बहुत सारे FTP client सॉफ्टवेयर उपलब्ध हैं. सर्वर के IP address के जरिये server से कनेक्शन करने के बाद इसका इस्तेमाल कर के डाटा आदान प्रदान कर सकते हैं.

कुछ FTP client सॉफ्टवेयर के उदाहरण

  • Cyberduck
  • Filezilla
  • FireFTP
  • WinSCP
  • Transmit

5. SMTP  क्या है ?

A SMTP एक इंटरनेट स्टैण्डर्ड होता है जिसका इस्तेमाल ईमेल ट्रांसमिशन के लिए किया जाता है. Mail server ईमेल मैसेज को भेजने रिसीव करने के लिए SMTP का इस्तेमाल करते हैं.

6. SMTP का फुल फॉर्म क्या है?

A. SMTP का फुल फॉर्म Simple mail Transfer Protocol है.

संक्षेप में 

दोस्तों आपको ये पोस्ट सर्वर क्या है (What is Server in Hindi) कैसी लगी ? अक्सर हम इस शब्द को अपने आस पास जरूर सुनते रहते हैं लेकिन कभी नोटिस नहीं करते. वैसे जो स्टूडेंट्स कंप्यूटर से जुड़े कोर्स करते हैं वो इस के बारे में जानना चाहते हैं और विस्तार से इसकी जानकारी लेना चाहते हैं. और पढाई के दौरान जान भी जाते हैं.
 
इस पोस्ट में आपने जाना की सर्वर क्या होता है और कैसे काम करता है? इसके अलावा ये भी जान चुके हैं की ये कितने तरह के होते हैं (types of server in Hindi).आजकल organisation, company, colleges , Industries में सबका अपना नेटवर्क होता है. और सब अपने अनुसार इस का इस्तेमाल करते हैं. मैं उम्मीद करता हूँ की आपको ये पोस्ट हेल्पफुल लगी होगी. अगर आपको ये पोस्ट पसंद आयी है तो इसे फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्रम, गूगल प्लस में अपने दोस्तों के साथ शेयर करे.
 

13 COMMENTS

  1. hey, Wasim you have written a great article about the server and its role. The very clear-cut information you have given…keep sharing…thanks…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here