SEO क्या है – What is SEO in hindi (Search Engine Optimization in Hindi)

SEO क्या है और कैसे करे (What is SEO in Hindi)? ये ऐसा सवाल है जिसका जवाब हर ब्लॉगर को जानना जरुरी है. अगर ब्लॉग्गिंग के फील्ड में आप एक Beginner हैं तो आप ये समझ लें की SEO के बिना ब्लॉग्गिंग में कामयाबी नहीं मिल सकती. जब आप ब्लॉग्गिंग शुरू करते हैं तो ये सवाल आपको बार बार सुनने को मिलेगा? सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन क्या है और ये क्यों जरुरी होता है? आप इस पोस्ट को पढ़ रहे हैं क्यों की ये आप तक SEO की वजह से ही पहुंचा है. तो अब आप निश्चित हो जाएँ क्यों की आप बिलकुल सही जगह पर हैं. मैं आपको सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के बारे में हर जानकारी दूंगा. जिससे आपको हर वो इनफार्मेशन मिल जाएगी जो SEO से जुड़े हर सवाल का जवाब देगी जिसकी आप तलाश कर रहे हैं.

SEO क्या होता है? एक नए ब्लॉगर को इस के बारे में कोई आईडिया नहीं होता है. लेकिन धीरे धीरे नए ब्लॉगर को इस शब्द का महत्त्व पता चल जाता है और समझ में भी आ जाता है की SEO के बिना ब्लॉग्गिंग करने से कोई फायदा है ही नहीं. अगर किसी ब्लॉगर को SEO के बारे में जानकारी नहीं है तो फिर उस ब्लॉगर का वेबसाइट या ब्लॉग इंटरनेट में बस खोया हुआ रहेगा और लोगों तक पहुंचेगा ही नहीं. उदाहरण के तोर पर मान लें की आसमान में बहुत सारे तारें हैं लेकिन हम उसी को पहचानते हैं जो ज्यादा रौशनी देते हैं या हमारे नज़दीक होते हैं. आप समझ लें की जिस तरह आसमान में करोड़ों तारे हैं उसी तरह इंटरनेट में भी करोड़ों वेबसाइट हैं और लोग वैसे वेबसाइट को ही जानते हैं जिनका SEO तगड़ा होता है. क्यों की SEO की वजह से ही वेबसाइट लोगों तक आसानी से पहुँच जाती है.

SEO क्या है (What is SEO in Hindi)

SEO का फुल फॉर्म होता है Search Engine Optimization. हम सभी जानते हैं की Google दुनिया का सबसे ज्यादा उपयोग होने वाला सर्च इंजन है. गूगल के अलावा Bing और Yahoo भी दूसरे सर्च इंजिन्स हैं जो प्रयोग किये जाते हैं. Search Engine Optimization करने के बाद हम अपने वेबसाइट को Search engines में रैंक कराते हैं.

अगर हम SEO को अच्छे से जानते हैं तो हम अपने ब्लॉग या वेबसाइट को 1 No. पर रैंक करा सकते हैं. Search Engine Optimization नहीं करने पर हमारा वेबसाइट या ब्लॉग हमे Search Engine के result page में कहीं नज़र भी नहीं आएगा.

चलिए इसे एक उदाहरण की मदद से समझते हैं. मान लीजिये मुझे Google से Pen के बारे जानकारी  निकलना है तो मैं सर्च करूँगा “Pen क्या है”  अब Google Pen शब्द से जुड़े सभी ब्लॉग को Search result में दिखाएगा.  इसमें हमे अलग अलग बहुत सारी वेबसाइट नज़र आएँगी जिन्होंने Pen के बारे में पोस्ट लिखा होगा. तो हमारा जैसा Human nature है हम उस वेबसाइट या ब्लॉग को ओपन करेंगे जो 1st नंबर पर होगा. और अगर उसमे हमे जानकारी से संतुष्टि नहीं मिलेगी तो 2nd और 3rd नंबर के ब्लॉग को ओपन कर के Pen के बारे information निकाल लेंगे.

इस सर्च रिजल्ट में जो 1st नंबर पर ब्लॉग है उसकी SEO सबसे स्ट्रांग है तभी वो No 1. पे rank कर रहा है. 1st रैंक पर रहने से ज्यादा ट्रैफिक मिलने के chances होते है. और revenue भी बहुत अच्छी होती है.

SEO kya hai What is SEO in hindi

वेबसाइट या ब्लॉग के लिए SEO क्यों जरुरी है?

किसी भी ब्लॉग या वेबसाइट को बनाने का मकसद होता है उसे लोगों तक पहुँचाना. ब्लॉग या वेबसाइट बनाना अलग बात है और उसे लोगों तक पहुँचाना बिलकुल अलग बात है. मान लीजिये हमने बहुत मेहनत कर के वेबसाइट या ब्लॉग बनाया. उसमे हमने ढेर सारे पोस्ट भी लिख दिए. और हमने SEO के लिए कुछ भी नहीं किया. तो फिर हमारे ब्लॉग को सर्च इंजन कभी भी अपने रिजल्ट में show ही नहीं करेगा.

अब आप इतना तो समझ ही गए होंगे की अपने ब्लॉग या वेबसाइट को लोगो को दिखाना है तो उसे सर्च इंजन के रिजल्ट में शो कराना पड़ेगा और सर्च इंजन में show कराने के लिए सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन करना पड़ेगा. SEO के बारे में जितनी अच्छे से नॉलेज होगी हम अपने वेबसाइट या ब्लॉग को उतना ज्यादा लोगों तक पहुंचा सकेंगे. जितने ज्यादा लोग हमारे ब्लॉग या वेबसाइट को देखेंगे हमारी revenue उतनी ज्यादा होगी.

Search engine optimization  बहुत ही आसान तकनीक है अगर इसे हम बढ़िया से समझ लेते हैं. फिर हमे बस systematic तरीके से SEO को follow करते हुए ब्लॉग पर काम करना है. इससे हम बहुत कम दिनों में ही अपने article या Post को Google पर rank करा सकते हैं. हर ब्लॉगर अपने पोस्ट या article को पहले page पर ही rank कराना चाहता है. क्यूंकि आपने ये जरूर नोटिस किया होगा की जब कोई Google में कुछ information सर्च करता है वो 1st page से ही जानकारी ले लेता है. उसे 2nd Page में जाने की जरुरत ही नहीं पड़ती. आप ही बताओ आप कितनी बार Google के दूसरे page में जाते हैं?

SEO को और अच्छे से समझने के लिए हमे एक-एक कर के और भी कुछ फैक्टर्स समझने होंगे, जो सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के हमारे Knowledge को और मज़बूत बना देगी.

Search Engines क्या होते हैं ? Aur ye kaam kaise karte hain?

SEO के नाम में ही यानि “Search engine Optimization” में सर्च इंजन शब्द आता है. तो सबसे पहले तो हमे ये जाना न होगा की सर्च इंजन होता क्या है. ऑनलाइन किसी भी जानकारी को निकालने के लिए हमे एक माध्यम की जरुरत पड़ती है. वैसे तो इंटरनेट में सब कुछ available है लेकिन ये आसमान में करोड़ों के बीच किसी एक स्टार को ढूंढने के जैसा है. तो सर्च इंजन हमारे और उन अनगिनत website के बीच का माध्यम है जो किसी भी जानकारी को सर्च कर के हमारे सामने show करा देती हैं.

सर्च इंजन में Algorithm set किया हुआ होता है. जो इतने websites के बीच से भी अलग अलग information को चुन के निकाल लेता है. तो जिन website में जैसा सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन किया हुआ होता है उन्हें वो वैसी रैंकिंग में show करता है. Google सबसे ज्यादा पॉपुलर सर्च इंजन है. इसके अलावा और भी सर्च इंजन हैं जैसे Bing, yahoo और yandex इत्यादि.

SERP क्या होता है?

SERP यानि Search Engine result Page. जब हम Google या किसी दूसरे सर्च इंजन में किसी keyword को सर्च करते हैं तो वो सारे रिजल्ट्स को अपने पेज में शो करता है. सर्च करने पर ये जो पेज खुल कर आता है उसे ही Search Engine result Page बोलते हैं.

Search Engine result Page पर जो रिजल्ट्स आती है लिस्ट के तोर पर उसमे 2 तरह की Listings होती है.

  1. Organic listing
  2. Inorganic Listing

SEO Kya hai

1. Organic Listing क्या होती है ?

Organic listing वो लिस्टिंग है जिसमे हम बिना पैसे खर्च किये हुए सर्च इंजन के रिजल्ट पेज पर आते हैं. लेकिन इसके लिए हमे सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन करना पड़ता है. Organic listing सबसे बेस्ट होती है क्यों की इससे हमे रेगुलर ट्रैफिक मिलती रहती हैं.

2. Inorganic Listing क्या होती है?

जब हम पैसा खर्च कर के गूगल  के रिजल्ट पेज पर आते हैं तो इस को हम Inorganic listing बोलते हैं. ये लिस्टिंग स्टेबल नहीं होती यानि जब तक हम गूगल को पैसा देते रहेंगे तभी तक हम रिजल्ट पेज पर आ सकते हैं.

SEO कितने प्रकार के होते हैं? SEO कैसे करे?

अभी तक हमने जाना की SEO क्या होता है और ये क्यों जरुरी होता है. इसके बाद हम बात करते हैं की ये कितने तरह से किया जाता है. जब वेबसाइट ब्लॉग बनता है तभी से उसकी SEO की शुरुआत हो जाती है. यानि की पोस्ट पब्लिश करने के पहले से ही SEO की शुरुआत हो जाती है. आजकल वर्डप्रेस में ब्लॉग्गिंग सबसे ज्यादा की जाती है. आप वर्डप्रेस क्या है इसके बारे में भी अच्छे से जानते हैं तो आपको मालूम होगा की इसमें बहुत सारे Plugins हमे फ्री में मिलते हैं जिनमे से बहुत से SEO के लिए भी इस्तेमाल करते हैं. तो चलिए जानते है SEO के प्रकार के बारे में. ये मुख्यत 2 प्रकार के होते हैं  On-Page SEO और Off -Page  SEO.

On-Page SEO

हर वो तरीका जो हम अपने ब्लॉग के अंदर SEO के लिए करते हैं उसे On-Page SEO बोला जाता है. इसका मतलब ये है की हम अपने ब्लॉग के Design और speed optimization से लेकर पोस्ट पब्लिश करने तक जो सारे काम करते हैं जैसे की responsive theme का इस्तेमाल करना जो की Mobile friendly हो. अच्छे content लिखना जो लोगों को पढ़ने में पसंद आये जिसमे हर जरुरी जानकारी हो. Page की speed अच्छी होनी चाहिए कम समय में page खुल जाना चाहिए. अपने ब्लॉग के लिए meta description लिखना. पोस्ट लिखने के पहले कीवर्ड रिसर्च करना ताकि उससे सर्च इंजन में पोस्ट की रैंकिंग हो. कीवर्ड का प्लेसमेंट ज़रूरी जगह पर करना जैसे Title, Permalink और Meta description में. कीवर्ड की Density content  में proper तरीके से रखना. Internal और External linking करना ये सभी On-Page SEO के अंदर आते हैं. इससे गूगल हमारे ब्लॉग को सर्च रिजल्ट में आसानी से रैंक करा देता है और हमे बढ़िया Organic ट्रैफिक मिलती है.

Off-Page SEO

पोस्ट पब्लिश करने के बाद उसे रैंक करने के लिए जो तरीके यानि SEO टेक्निक्स हम प्रयोग करते हैं उसे हम OFF-Page SEO बोलते हैं. OFF-Page SEO में हम Search engine submission, Web Directory Submission, Social media sites, Discussion forums, Blog commenting, Backlinks creation और Guest पोस्ट करते हैं. अब आप Search Engine Optimization के बारे में जान चुके हैं तो इसके महत्व को भी समझ गए होंगे की ये क्यों जरुरी है.

Conclusion

ये पोस्ट अगर आपने पूरा पढ़ लिया है तो आप समझ गए होंगे की SEO क्या है (What is SEO in Hindi). Search engine optimization क्या होता है और किस तरह हर ब्लॉग के लिए महत्वपूर्ण होता है. SEO के बिना ब्लॉग का कोई अस्तित्व ही नहीं है. तो अगर आप Search engine optimization की meaning hindi में  समझ गए हैं तो अपने ब्लॉग में SEO पर काम करना शुरू कर दे. फिर आप जल्दी ही देखेंगे की आपके ब्लॉग पर ट्रैफिक बढ़ जाएगी. और आपके ब्लॉग पर Organic traffic आनी शुरू हो जाएगी.

फ्रेंड्स आपको ये पोस्ट कैसी लगी अगर आपको ये पोस्ट हेल्पफुल लगी है तो इस पोस्ट को फेसबुक,ट्विटर पर ज्यादा से ज्यादा शेयर करे. इस ब्लॉग से नए updates पाते रहने के लिए Newsletter  को Signup जरूर कर ले.

SEO क्या है – What is SEO in hindi (Search Engine Optimization in Hindi)
4.9 (98%) 20 votes

67 Comments

  1. wasim akram July 7, 2018
  2. Veerendra July 7, 2018
  3. vikramjit singh July 17, 2018
  4. wasim akram July 17, 2018
  5. wasim akram July 22, 2018
  6. Mahesh July 25, 2018
  7. Bhupendra Singh Lodhi July 28, 2018
  8. M SHani August 15, 2018
  9. Chandana Roy August 22, 2018
  10. bajrang Lal September 4, 2018
  11. Vishal September 5, 2018
    • wasim akram September 5, 2018
  12. Omprakash September 6, 2018
    • wasim akram September 6, 2018
  13. Tanmoy September 20, 2018
  14. abhi cool September 25, 2018
    • wasim akram September 25, 2018
  15. Akash Yadav September 28, 2018
    • wasim akram September 28, 2018
  16. Mannan memon September 28, 2018
  17. soni September 29, 2018
  18. saeed October 11, 2018
    • wasim akram October 11, 2018
  19. Sagar Rai October 16, 2018
    • wasim akram October 16, 2018
  20. Yashraj October 16, 2018
    • wasim akram October 16, 2018
  21. Umer October 17, 2018
  22. Vijay Singh October 18, 2018
    • wasim akram October 18, 2018
  23. Ashish October 20, 2018
  24. Tahir Abbas October 22, 2018
    • wasim akram October 22, 2018
  25. jahaarra khatoon October 27, 2018
    • wasim akram October 27, 2018
  26. Blogging Time October 27, 2018
    • wasim akram October 27, 2018
  27. Raj October 27, 2018
  28. Ankush Ekapure October 29, 2018
    • wasim akram October 29, 2018
  29. Anup samanta November 3, 2018
  30. Soumen Bairagi November 3, 2018
    • wasim akram November 4, 2018
  31. Amar November 5, 2018
    • wasim akram November 5, 2018
  32. Amar November 12, 2018
    • wasim akram November 12, 2018
  33. Akhilesh November 13, 2018
    • wasim akram November 13, 2018
  34. Gujjar November 13, 2018
  35. Gaurav patyal November 17, 2018
    • wasim akram December 8, 2018
  36. noruttam November 24, 2018
    • wasim akram December 8, 2018
  37. Vikash kumar December 2, 2018
    • wasim akram December 2, 2018
  38. Anurag December 3, 2018
    • wasim akram December 4, 2018
  39. prem kumar December 9, 2018
    • wasim akram December 10, 2018

Leave a Reply

%d bloggers like this: