एसडीओ ऑफिसर कैसे बने?

दोस्तों आज की इस पोस्ट में हम आपको बताने बाले है एक ऐसे सरकारी पद के बारे में जिसे पाने का सपना भारत में हर युवा का होता है। क्योंकि इस पोस्ट को पाना एक गर्व की बात है, तो इस  नाम है एसडीओ ।जैसे कि हम जानते है कि आज के युग में जीवन के हर क्षेत्र में पर्तिस्पर्धा है ऐसे में एक अच्छी सरकारी नौकरी पाना अत्यधिक मुश्किल हो गया है इसलिए हमें अपनी शुरुआत सबसे अलग तरीके से करनी होगी जो हमें इस भीड़ से अलग करेगी।

इसलिए इस पोस्ट में हम आपको बताएँगे कि आप इस उच्च पद को कैसे प्राप्त कर सकते है। क्योंकि आज के ज़माने में सभी लोग सरकारी नौकरी करना चाहते है जिसकी वजह से कॉम्पिटिशन बढ़ गया है। इसलिए इस पद को पाने के लिए आपको अत्यधिक मेहनत ,लगन के साथ साथ सही दिशा में मेहनत का होना जरूरी है।

क्योंकि मेहनत तो सभी करते है लेकिन आज के समय में सफलता उसी को मिलती है जो स्मार्ट स्टडी करता है। स्मार्ट स्टडी का तात्पर्य होता है की अपनी स्टडी को उसी प्रकार से करे जैसी एग्जाम के लिए आवयश्क होती है। तो अगर आप एक स्मार्ट स्टडी करके एसडीओ ऑफिसर बनना चाहते है तो हमारे इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़िए।

एसडीओ क्या है?

इसका पूरा नाम सब डिविशनल ऑफिसर होता है। इनका कार्य बेहद जिम्मेदारी से भरा होता है क्योंकि सरकार द्वारा आने वाली योजनाएं या सरकारी काम ठीक से हो रहे है या नहीं यह सब देखना एक एसडीओ की जिम्मेदारी होती है। किसी भी राज्य को जिलों में विभाजित कर दिया जाता है और सभी जिलों को ब्लॉक में बाँट दिया जाता है। किसी ब्लॉक में सरकारी काम को कैसे चलाया जाये और हर नागरिक को इसका फायदा पहुंचे यह सब इन्ही को देखना होता है।

Most Read 

इस पद के लिए एग्जाम सरकार राज्य द्वारा कराया जाता है। एक एसडीओ ऑफिसर हर विभाग में होता है जैसे की बिजली विभाग,पुलिस विभाग इत्यादि। इस पद को प्राप्त करना और काम करना अपने देश की सेवा करने के बराबर होता है क्योंकि इनका काम अपने देश के नागरिकों को सरकारी योजनाओं का लाभ पहुँचाकर उनको खुशियां देना होता है। तो अब तक आप अच्छे से समझ गए होंगे कि एक एसडीओ क्या होता है और उसका क्या काम होता है।

इस पद के लिए योग्यता

जैसे कि हम जानते है कि किसी भी कॉम्पिटिशन के एग्जाम में बैठने के लिए कुछ योग्यता सरकार द्वारा निर्धारित की जाती है। इसलिए इस एग्जाम में बैठने विभाग के द्वारा कुछ योग्यताओ को निर्धारित किया है जो की आवेदन करने वाले उम्मीदवार के पास होना अत्यंत आवश्यक है. अगर जिनके बारे में नीचे हमने विस्तार से बताया है अगर नीचे दी गयी योग्यताये आपके पास होगी तभी आप इस  आवेदन कर ाकते है अन्यथा नहीं कर सकेंगे तो चलिए जानते है –

  • अभ्यर्थी को किसी मान्यता प्राप्त स्कूल से अच्छे मार्क्स के साथ 10 वीं की परीक्षा उत्तीर्ण होनी चाहिए।
  • अभ्यर्थी को किसी मान्यता प्राप्त स्कूल से 12 वीं की परीक्षा अच्छे मार्क्स के साथ उत्तीर्ण होना चाहिए।
  • इसके साथ अभ्यर्थी को किसी सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से स्नातक की डिग्री होनी चाहिए।

इस पद के लिए आयु सीमा

सरकारी विभाग की किसी भी प्रकार की जॉब के लिए कुछ आयु सीमा निर्धारित की जाती है ,इस पद के लिए आयु सीमा इस प्रकार से है।

  • इस पद के लिए अभ्यर्थी की आयु 21 से 30 के बीच होनी चाहिए।
  • एससी और एसटी के अभ्यर्थियों के लिए 5 साल की छूट का प्रवंधन है।

नागरिकता के आधार पर योग्यता

इसके आधार पर अभ्यर्थी को भारत ,नेपाल या भूटान का होना जरूरी होता है।

एसडीओ अफ़सर कैसे बने

इस पद के लिए एग्जाम राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा कंडक्ट कराया जाता है। ये पद राज्य सरकार के अधीन आता है। इस एग्जाम को निकालने के लिए अत्यधिक मेहनत की जरूरत होती है क्योंकि इस पेपर का स्तर उच्च लेवेल का होता है। इस एग्जाम को पास करने के लिए अभ्यर्थी को हर भाग की नॉलेज का होना आवयश्क होता है। इसलिए इस पेपर की तैयारी बहुत अच्छे से की जाती है।

क्योकि अब यह एक कम्पटीशन भरा एग्जाम होता है जिसे पास करना  कठिन हो जाता है लेकिन हा अगर आपके इसके बारे में उचित जानकारी और इसके परीक्षा पैटर्न के बारे में  मार्गदर्शन मिल जाता है तो यह काफी हद तक आसान हो जाता है तो इसी बात को ध्यान में रखते हमने नीचे इस परीक्षा से जुड़े परीक्षा पैटर्न के बारे में भी बताया है जिसके आधार पर आप अपने इस एग्जाम की तैयारी कर सकते है –

इसकी परीक्षा को तीन चरणों में विभाजित किया गया है।

  • प्रारंभिक परीक्षा
  • मुख्य परीक्षा
  • साक्षात्कार

प्रारंभिक परीक्षा 

इस परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए अभ्यर्थी को राज्य सरकार द्वारा निकली गयी भर्ती के लिए फॉर्म को भरना होता है जो कि हर साल भराया जाता है। इस परीक्षा में दो पेपर होते है और दोनों ही पेपर ऑब्जेक्टिव टाइप होते है मतलब चार ऑप्शन में से आपको किसी एक सही विकल्प को चुनना होता है। यह दोनों ही पेपर 200 -200 मार्क्स के होते है।

इस परीक्षा में बैठने के लिए अभयर्थी को सामान्य ज्ञान की नॉलेज बहुत अच्छी होनी चाहिए और साथ ही साथ अपने देश और विदेश में होने वाली घटनाओं के बारे में पता होना चाहिए। अभ्यर्थी जिस राज्य के लिए एग्जाम देने वाला है उस राज्य की कम से कम पिछले 6 महीनें में होने वाली घटनाओं की जानकारी होना बेहद जरूरी होता है क्योंकि हर साल एग्जाम में करंट अफेयर से अधिकतम सवाल पूछे जाते है।

इसके अतिरिक्त इस परीक्षा में गणित ,तर्क शक्ति ,इंग्लिश आदि से ही सवाल पूछे जाते है। इस इसलिए उम्मीदवार को इन सभी विषयों की भी तैयारी अच्छे से करनी चाहिए।

मुख्य परीक्षा 

जो अभ्यर्थी प्ररंभिक परीक्षा में सफल हो जाते है उन्हें मुख्य परीक्षा में बैठने का सुनहरा अवसर प्राप्त होता है। मुख्य परीक्षा को पास करना अभ्यर्थी के लिए पहले से कठिन होता है क्योंकि यह परीक्षा अत्यन्त कठिन होती है। इस पेपर का लेवेल उच्च होता है। यह परीक्षा लिखित होती है जिसमे ऑब्जेक्टिव टाइप पेपर नहीं होते है और अभ्यर्थी को सवालों के जवाब लिखने होते है। इसीलिए इस परीक्षा को कठिन समझा जाता है लेकिन जो अभ्यर्थी ने मेहनत की होती है और लगन से स्टडी की होती है वो इस पेपर को  भी निकाल देते है और अगले राउंड में सेलेक्ट हो जाते है। इसलिए आपको इस पेपर की तैयारी हाई लावेल से करने की आवयश्कता होती है।

साक्षात्कार 

जो अभ्यर्थी प्रारंभिक और मुख्य दोनों परीक्षाएं पास कर लेते है उन्हें साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है। इसमें अभ्यर्थी की कम्युनिकेशन स्किल ,पर्सनालिटी ,डिसिशन मेकिंग कपाबिलिटी आदि कि जाँच की जाती है। कभी कभी कुछ उम्मीदवार इस तीसरे चरण में असफल भी हो जाते है जिसकी वजह से उनको अगले साल दोबारा से नयी शुरुआत करनी पड़ती है। इसलिए अभ्यर्थी को इस परीक्षा की भी बहुत अच्छी तैयारी करनी चाहिए क्योकि इंटरव्यू एक ऐसा सब्जेक्ट होता है जिसमे आपसे कही से और किसी  सवाल पूछा जा सकता है इसलिए इसकी आपको सबसे अच्छी तैयारी करनी होगी। फिनाइली अगर आप इसे पास कर लेते है तो आपको  लिए इस पद के लिए चयनित कर लिया जाता है.

तैयारी कैसे करें ?

जैसा कि आप अभी तक यह जान चुके है कि यह पेपर कितना हाई लेवल का होता है और पास करना किसी भी अभ्यर्थी के लिए अत्यधिक कठिन होता है। हर साल हजारों युवा अपनी किस्मत आजमाने इस एग्जाम में बैठते है पर इनमे से कुछ का ही सिलेक्शन हो पाता है ऐसा इसीलिए होता है कि हमारी तैयारी उस लेवल से नहीं होती है जिससे कि होनी चाहिए।

परीक्षा की तैयारी के लिए मेहनत के साथ साथ इस पेपर को निकलने के लिए हमारे सिर पर जूनून भी होना चाहिए। इन दोनों के साथ में एक चीज बहुत इम्पोर्टेन है कि हमारी मेहनत सही दिशा में होनी चाहिए हमारा हर एक प्रयास ऐसा होना चाहिए कि वो हमें हमारे लक्ष्य के पास जल्द से जल्द ले जाये। इस परीक्षा को पास करने के लिए सही मार्गदर्शन का होना बेहद आवयश्क होता है इसके लिए अभ्यर्थी कोचिंग का भी सहारा ले सकते है और खुद को मोटिवेटेड करके सेल्फ स्टडी भी कर सकते है। इस पद के पेपर को पास करने के लिए आप निम्नलिखित दो टिप्स को अगर आप फॉलो करेंगे तो निश्चित ही आपका सिलेक्शन हो जायेगा।

  • इस परीक्षा में सामान्य ज्ञान और करंट अफेयर से अत्यधिक सवाल पूछे जाते है इसलिए अभ्यर्थी को इनकी बेहतरीन जानकारी होनी चाहिए।
  • पिछले कुछ सालों के पेपर को हल करते रहना चाहिए इससे आपकी समय को इस्तेमाल कैसे करना है यह कैबिलिटी आ जाएगी और साथ ही आपको पेपर में किस प्रकार के सवाल पूछे जाते है यह भी जानकारी प्राप्त हो जाएगी।
  • न्यूज़ पेपर को डेली बेसेस पर पढ़ने की आदत डालनी होगी और टीवी पर सिर्फ न्यूज़ चैनल ही देखने होंगे।
  • अपने मन को नियंत्रित करके एक दिशा में अपनी सारी ताकत से स्टडी करनी है।
  • अपनी बोलने की कैपेसिटी को बढ़ाएं लेकिन ऐसा नहीं कि कुछ भी बोलना शुरू कर दें ,पॉइंट्स को पकड़कर ही बोलना सीखना चाहिए। सभी के सामने बेहिचक बोलने की आदत डालनी होगी जोकि इंटेरिएव में बेहद काम आता है।

एक एसडीओ का वेतन

इस पद को सँभालने वाले अफ़सर का वेतन बेहद आकर्षक होता है। इसीलिए हर युवा का सपना होता है की वह भी एक अफसर बने और अपने देश की सेवा करें। हर साल हजारों युवाओं का इस पेपर में बैठने का औचित्य इसकी सैलरी भी होता है। क्योंकि एक एसडीओ ऑफ़िसर का वेतन 35000 से लेकर 70000 हजार तक होता है जोकि एक बहुत अच्छी सैलरी होती है।  सैलरी के साथ – साथ इस पद पर चयनित होनी वाले व्यक्ति को सरकारी आवास, सरकारी गाड़ी जैसी सुविधाएं सरकार की तरफ से फ्री में दी जाती है.

इसलिए इस पेपर को निकालने के लिए आपको ज्यादा से ज्यादा मेहनत करनी चाहिए और अपने जीवन में सफलता पाने का मकसद बनाना चाहिए।

एक एसडीओ के काम

इस पद को सँभालने के लिए आपको जिम्मेदारी से काम करना होता है। इस ऑफिसर का काम सरकार के द्वारा जिन कामों को ब्लॉक में करना होता है उन सभी कामों को सुचारु रूप से चलाने की जिम्मेदारी होती है। इस पद को सँभालने वाले ऑफिसर को बेहद ईमानदार होना चाहिए क्योंकि यह पद देश के नागरिकों की सेवा के लिए होता है जोकि देशभक्ति की से में आता है। इसलिए इस पद को प्राप्त करना अपने लिए और अपने परिवार के लिए गौरव की बात होती है हर नागरिक के लिए।

निष्कर्ष

सरकारी नौकरी पाना उसके माता – पिता से लेकर से लेकर खुद का अपना सपना होता है और वही एसडीओ जो की एक अधिकारी होता है जिसका रुतवा अलग होता है जिसे पाने के लिए हर साल लाखो छात्र तैयारी करते है लेकिन  ऐसे छात्र होते है सफल होती पाते है.

क्योकि इसका पेपर काफी कठिन होता है और जिसको इस पेपर के एग्जाम  अधिक जानकारी होती है वही  इसको पास करने में सफल हो पाते है, सो फ्रेंड्स अगर आप भी इस पद को पाना चाहते है या फिर इसकी तैयारी कार रहे है तो लेख में दी गयी जानकारी को अच्छे से समझ ले ताकि आपको इसमें आवेदन करने और इसकी  परीक्षा की तैयारी करने में कोई परेशानी ना हो,

बाकि अगर आप इस पद के लिए या इस लेख से जुडी किसी अन्य जानकारी की बारे में जानना साहहते है तो हमे नीचे कमेंट करके पूछ सकती है हम जल्द आपके साथ जुड़कर आपकी पूरी सहायता करने की कोशिश करेंगे। साथ ही दोस्तों अगर आपको दी गयी जानकारी महत्वपूर्ण लगी  तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना बिल्कुल भी ना भूले। धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here