SBI balance check: एसबीआई के ग्राहक अभिन्न आसान तरीकों से चेक करें अपना बैलेंस, जाने चार आसान तरीके

बैंक न केवल हमारे पैसों के संग्रहण का स्थान है, अपीतू समय समय पर हमारी जरूरत के अनुसार यह हमें लोन भी उपलब्ध कराता है। बच्चों के अतिरिक्त शायद ही ऐसा कोई होगा बैंक जिसका बैंक में खाता ना हो। यह एफडी के माध्यम से जमा राशि पर भी ग्राहकों का लाभ करवाती है। न केवल यही एक लाभ पहुंचने वाली सुविधा नहीं है। इसके अतिरिक्त अन्य बहुत ही सुविधाएं हैं जो बैंक अपने ग्राहकों को उपलब्ध करवाता है।

SBI (state Bank of India) हमारे देश का एक प्रतिष्ठित बैंक है। हमारे देश के लगभग सभी देशवासी बैंकों के चुनाव में SBI(STATE BANK OF INDIA) को ही अन्य बैंकों की तुलना में प्राथमिकता देते हैं। SBI (state Bank of India) हमारे देश का जाना माना बैंक है।

यह अपने ग्राहकों को बहुत सी सुविधाएं उपलब्ध कराता है। जिसमें नेट बैंकिंग, इंस्टेंट लोन, होम लोन, इत्यादि शामिल है। यदि आपका बैंक अकाउंटSBI (state Bank of India) में है, तो यह आर्टिकल सिर्फ और सिर्फ आपके लिए ही है। तो अंत तक जुड़े रहिए हमारे साथ। हम आपकोSBI (state Bank of India) से जुडी कुछ महत्वपूर्ण बातों को बताएंगे।

SBI (State Bank of India) का इतिहास:-

SBI (state Bank of India) की स्थापना 1 जुलाई 1955 ईस्वी में हुई थी। SBI (state Bank of India) हमारे देश भारत की सबसे पुरानी और सबसे बड़ी बैंक है। इसका इतिहास भारत में 200 साल से भी अधिक पुराना है। इसकी शुरुआत वर्ष 1806 से होती है उस समय इसका नाम The Bank Of Calcutta था। 1809 में State Bank of Bombay HQ की स्थापना हुई, 1843 में State Bank of Madras HQ की स्थापना हुई।

SBI (state Bank of India) का इतिहास 1806 से प्रारंभ होता है हालांकिSBI (state Bank of India) नाम 1955 में अस्तित्व में आया था।

SBI (state Bank of India) से जुड़े कुछ मुख्य बिंदु:-

  • SBI (state Bank of India) की पहली महिला चेयरमैन अरुंधति भट्टाचार्य रही।
  • SBI (state Bank of India) एसबीआई का मुख्यालय मुंबई पर स्थित है।
  • SBI (state Bank of India) के वर्तमान चेयरमैन श्री दिनेश कुमार खारा है।
  • SBI (state Bank of India) के पहले चेयरमैन श्री जॉन मथाई थे। जिन्होंने 1955 मेंSBI (state Bank of India) की स्थापना की थी। यह देश के पहले रेल मंत्री और अर्थशास्त्री भी थे।
  • 1806 में बैंक ऑफ कोलकाता, 1840 में स्टेट बैंक ऑफ मुंबई , 1843 में स्टेट बैंक ऑफ मद्रास को मिलाकर Imperial Bank of India की स्थापना की गई थी।
  • Imperial Bank of India का 1955 में राष्ट्रीयकरण कर SBI (state Bank of India)की स्थापना हुई।
  • “ऑल इंडिया रूरल क्रेडिट सर्वे बाय एडी गोरे वाला” की सिफारिश पर एसबीआई की स्थापना की गई थी।
  • 1861 में पेपर करेंसी आने के बाद नोटों पर मुद्रण का अधिकार RBI के पास चला गया इससे पूर्व यह अधिकारSBI (state Bank of India) के पास था।
  • 31 मार्च 2017 को भारतीय गवर्नमेंट SBI (state Bank of India) मैं 54.23% का शेर था।
  • SBI (state Bank of India) का पहला अंतरराष्ट्रीय ब्रांच 1963 में लंदन में खोला गया था।

एसोसिएट बैंक:-

एसबीआई का पहला एसोसिएट बैंक स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद था, उसके बाद के बैंक क्रमशः

  1. State Bank of Jaipur
  2. State Bank of Bikaner
  3. State Bank of Travancore
  4. State Bank of Patiala
  5. State Bank of saurashtra
  6. State Bank of Mysore
  7. State Bank of Indore

यह सभी बैंक SBI (state Bank of India) के एसोसिएट बैंक थे। 1 जुलाई 2017 तक सभी बैंक एसबीआई में मर्ज कर दिए गए। 

SBI (State Bank of India) मैं बैलेंस कैसे चेक करें:-

SBI (state Bank of India) के पास 45 करोड से भी अधिक ग्राहक है। SBI (state Bank of India)यह प्रयास करता रहता है कि वह अपने ग्राहकों को यह सुविधा समय समय पर उपलब्ध कराएं।

हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से कुछ उपाय बताएंगे जिसके जरिए आप अपना बैंक बैलेंस आसानी से चेक कर सकते हैं।

  1. पासबुक एंट्री :- आप अपने बैंक में जाकर अपने पासबुक में एंट्री करवा सकते हैं जिससे आप अपने बैंक में मौजूद धनराशि का आसानी से पता लगा सकते हैं।
  2. नेट बैंकिंग :- यदि आप नेट बैंकिंग की सुविधा का लाभ उठा रहे हैं तो आपको बता दें कि बैंक बैलेंस चेक करना आपके लिए कोई खास चुनौती नहीं है। आप आसानी से अपने बैंक बैलेंस को चेक कर सकते हैं। नेट बैंकिंग हमें यह सुविधा उपलब्ध कराती है जिसके जरिए हम आसानी से खाते में मौजूद धनराशि का पता लगा सकते हैं।
  3. YONO के द्वारा बैंकिंग :- SBI (State Bank of India) ने अपना एक ऐप लॉन्च किया है जिसका नाम YONO है। इसके माध्यम से आप आसानी से बैंक स्टेटमेंट प्राप्त कर सकते हैं और बैंक बैलेंस चेक कर सकते हैं।
  4. ATM के द्वारा बैंक बैलेंस चेक करना :- अगर आपके पास आपका एसबीआई ATM कार्ड है तो आप अपने नजदीकी एटीएम मशीन से अपने खाते में मौजूद धनराशि आसानी से चेक कर सकते हैं। इसके लिए आपको अपने नजदीकी एटीएम मशीन के पास जाना होगा उसके बाद आपको एटीएम मशीन में अपना एटीएम कार्ड डालना होगा फिर अपना ATM पिन नंबर डाले फिर बैलेंस इंक्वायरी वाले ऑप्शन पर क्लिक करें आपका बैलेंस आपके स्क्रीन पर होगा।
  5. टोल फ्री नंबर :- अगर आप ऊपर बताएं सभी तरीकों से अपना बैंक बैलेंस चेक करने में सक्षम है तो यह तरीका अत्यंत सरल तरीका है। आप अपने बैंक के टोल फ्री नंबर 09223866666 पर कॉल करके अपने बैंक खाते से लिंक नंबर के द्वारा बैंक बैलेंस चेक कर सकते हैं।

निष्कर्ष:-

इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको एसबीआई से जोड़ी बहुत ही रोचक और अनसुनी बातें को बताया है। साथ ही साथ हमने आपको एसबीआई में बैलेंस चेक करने के विभिन्न तरीकों से भी रूबरू कराया है।

हम आशा करते हैं कि हमारा या आर्टिकल आपको पसंद आया होगा ।यदि हां तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। साथ ही कोई सवाल हो तो हमें कमेंट के द्वारा जरूर पूछें।

लाभदायक पोस्ट पढ़ें:

Important Links

WTechni HomeClick Here
Other postsClick Here
Join Telegram ChannelClick Here

Wasim Akram

वसीम अकरम WTechni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है.

1 thought on “SBI balance check: एसबीआई के ग्राहक अभिन्न आसान तरीकों से चेक करें अपना बैलेंस, जाने चार आसान तरीके”

Leave a Comment

×