Ration Card News: जाने क्यों उपभोक्ताओं को अब दो बार लगाना पड़ेगा अंगूठा 

आज के इस आर्टिकल में हम सभी लोग सरकार के द्वारा राशन कार्ड को लेकर के आई नई अपडेट पर विचार विमर्श करने वाले हैं.

अगर आप भी एक राशन कार्ड धारक है तो निसंदेह रूप से आपके लिए हमारे आर्टिकल आवश्यक है, तो अपने इस आवश्यकता की पूर्ति हेतु हमारे इस आर्टिकल के साथ आखिर तक जुड़े रहे.

सरकार ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली के अंतर्गत प्रदान किए जाने वाले राशन के वास्ते कानून में परिवर्तन कर दिए हैं.

अब उपभोक्ताओं को राशन की दुकान से अनाज प्राप्ति हेतु दो बार अंगूठा लगाने की आवश्यकता होगी.

उपभोक्ताओं को केंद्र तथा राज्य सरकारों की ओर से प्रदान किए जाने वाले राशन के वास्ते यह व्यवस्था लागू की जा चुकी है.

इस महीने से नए नियम होंगे लागू:

अभी तक सार्वजनिक वितरण प्रणाली केंद्र पर एक बार अंगूठा लगाने के पश्चात ही उपभोक्ता को आसानी से राशन प्रदान कर दिया जाता था किंतु इस महीने से व्यवस्था को पूरी तरह से बदल दिया जाएगा.

अब हम आपको बता दें कि केंद्र तथा राज्य सरकार की तरफ से मिलने वाले अलग-अलग राशन के वास्ते दो बार अंगूठा लगाने की आवश्यकता होगी.

इससे राशन दुकान संचालकों के साथ-साथ उपभोक्ताओं को भी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा.

यह नियम मध्य प्रदेश के सभी जिलों में लागू किए जा चुके हैं. जिसका पालन रूप से इसी महीने से किया जाना प्रारंभ कर दिया जाएगा.

इसलिए आप सभी लोगों का इस विषय से पूरी तरह से अवगत होना बहुत ही ज्यादा जरूरी है जिससे कि आपको शासन प्राप्ति करते समय कोई भी दिक्कत ना हो.

राशन कार्ड धारकों को अगर राशन डीलरों के द्वारा कम राशन या उसके बदले ज्यादा पैसा लिया जा रहा है तो सरकार ने राशन कार्ड धारकों की राशन में सुरक्षा के लिए सख्त कानून बनाए हैं जिसके बारे में जानकारी साझा की गई है. इसे जानने के लिए आर्टिकल को पढ़े.

केंद्र तथा राज्य सरकार देती हैं 5-5 किलो अनाज:

भारत के 1 राज्य मध्य प्रदेश के सभी उपभोक्ताओं को सरकार की तरफ से 5 किलो तथा प्रधानमंत्री योजना के अंतर्गत 5 किलो राशन प्रदान किया जाता है.

इसका वितरण राशन दुकान से किया जाता है उपभोक्ताओं को एक बार अंगूठा लगाने की आवश्यकता होती है उसके पश्चात उन्हें राशन प्रदान कर दिया जाता है.

लेकिन एक आवश्यक बात वह यह है कि अब ऐसा नहीं होने वाला है उन्हें दो बार अंगूठा लगवाना होगा अन्यथा उन्हें राशन नहीं मिलेगी. 

परेशानी को भी देखना पड़ेगा मुख्य रूप से:

अब जाहिर सी बात है कि सरकार के द्वारा यदि कोई भी परिवर्तन किया जाता है तो परेशानी तो होगी ही होगी फिर वह चाहे आधी जनसंख्या को हो या फिर चंद लोगों को ही क्यों न हो.

अब देखना यह है कि सरकार के द्वारा लाए गए इस परिवर्तन से आखिर परेशानी किस-किस को होगी.

हम आपको बता दें कि उपभोक्ताओं तथा दुकानदारों के वास्ते एक बार अंगूठा लगाना ही परेशानी का कारण होता है.

सर्वर डाउन होने या फिर सॉफ्टवेयर में परिवर्तन के चलते अब परेशानियां तो और भी ज्यादा बढ़ चुकी है.

बुरहानपुर में राशन दुकान संचालित करने वाले दुकानदार साजिद खान ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा है कि सॉफ्टवेयर में परिवर्तन के परिणाम स्वरुप उपभोक्ताओं को दो बार अंगूठा लगाना पड़ेगा.

इसमें 10 से 15 मिनट तक का समय लगेगा जिसका समाधान अभी तक नहीं हो पा रहा है.

राशन कार्ड बनवाते समय किसी ना किसी परिवार के सदस्य का नाम छूट जाता है, जिसके कारण उन्हें बहुत कम मात्रा में राशन मिलता है ऐसे में राशन कार्ड में परिवार के छूटे हुए सदस्य को जोड़ना चाहते हैं तो यहाँ से प्रक्रिया पढ़ लें, ताकि घर बैठे ही राशन कार्ड में सदस्य का नाम जोड़ सके और ज्यादा राशन प्राप्त कर सके.

राशन कार्ड योजना आखिर है क्या?

सरकार के द्वारा लाए गए राशन कार्ड योजना हमारे देश में प्रारंभ की गई एक बहुत ही ज्यादा लाभकारी योजना हैं.

जिसका मुख्य उद्देश्य देश में रहने वाले निम्न वर्गीय तथा मध्यवर्गीय परिवारों को मुफ्त में अनाज उपलब्ध कराना है.

वैसे तो इस योजना के चर्चे हर क्षेत्र में है फिर भी हम आपको बता दें कि इस योजना के तहत लोगों की आय के अनुसार उन्हें राशन कार्ड उपलब्ध कराया जाता है.

जिसका उल्लेख भी हम आपको इसी आर्टिकल में नीचे उपलब्ध करा देंगे.

राशन कार्ड योजना के तहत आने वाले सभी लाभार्थियों को सरकार बाजार में उपस्थित मूल्य दरों की तुलना में बेहद ही कम मूल्य दर में राशन हर महीने प्रदान की जाती हैं.

कई बार तो उन्हें राशन मुक्ति प्रदान किए जाते हैं उत्तर प्रदेश अथवा अन्य राज्यों में तो बहुत बार लाभार्थियों को मुफ्त में अनाज भी बांटे जा चुके हैं. 

उत्तर प्रदेश के लोगों के लिए एक अच्छी खबर सामने आई है कि जिन लोगों ने राशन कार्ड के लिए अप्लाई किए हुए है तो सरकार की तरफ से यूपी के लोगों के लिए राशन कार्ड दिए जा रहे हैं. राशन कार्ड सूची में आपका नाम है कि नहीं उसके लिए यहां अपना नाम जरूर देखें.

राशन कार्ड के प्रकार:

वैसे तो इस योजना के तहत मध्यवर्गीय तथा निम्न वर्ग यह दोनों ही परिवारों को सम्मिलित किया जा चुका है.

किंतु उन्हें अलग-अलग राशन कार्ड भी उपलब्ध कराए जाते हैं जो कि आय के आधार पर वितरित किए जाते हैं इसका उल्लेख कुछ इस प्रकार से है.

बीपीएल राशन कार्ड:

हमारे देश में बीपीएल राशन कार्ड उन लोगों को प्रदान किए जाते हैं जो अपना जीवन यापन गरीबी रेखा के नीचे करते हैं और उनकी वार्षिक आय ₹1000 से अधिक नहीं होती है.

एपीएल राशन कार्ड:

हमारे देश में एपीएल राशन कार्ड उन लोगों को प्रदान किए जाते हैं जो अपना जीवन यापन गरीबी रेखा के ऊपर करते हैं और उनकी वार्षिक आय ₹10000 से अधिक होती है.

अंत्योदय राशन कार्ड:

हमारे देश में अंत्योदय राशन कार्ड उन लोगों को प्रदान किया जाता है जो इतने अधिक गरीब होते हैं कि उनके पास आय का कोई स्रोत ही नहीं होता है.

उन्हें अंत्योदय राशन कार्ड के तहत 35 किलो तक का अनाज बेहद ही कम मूल्य दरों में प्राप्त करने का अवसर मिलता है.

अतः आप अपने आय के अनुरूप ही इस बात की जानकारी आसानी से प्राप्त कर सकते हैं कि आपको जो राशन कार्ड उपलब्ध कराया गया है वह किस प्रकार का है.

राशन कार्ड का लाभ लेना चाहते हैं तो आप जल्द से जल्द राशन कार्ड के लिए कुछ आवश्यक दस्तावेज बनवा ले, जिसकी जानकारी यहां दी गई है यदि ऐसा नहीं करते हैं तो सस्ता राशन लेने से वंचित रह सकते हैं.

निष्कर्ष:

आज के आर्टिकल में हमने आप सभी लोगों के साथ राशन कार्ड योजना से संबंधित आवश्यक जानकारियों पर विचार विमर्श किया है हमें उम्मीद है कि हमारे आर्टिकल आपके लिए लाभकारी सिद्ध होगा.

इसके साथ ही यदि आप हमसे कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं या फिर हमारे इस आर्टिकल को पढ़ने के पश्चात हमें कोई सुझाव देने की इच्छुक है तो आप यह कार्य कमेंट के जरिए आसानी से कर सकते हैं.

Ahmed Ruhul Amin

हिंदी भाषा के माध्यम से सरकारी योजना, परीक्षा, नौकरी, तकनीक और ट्रेंडिंग जानकारी लिखना मुझे बहुत पसंद है.

Leave a Comment