पीसीएस क्वालीफाई कैसे करे?

क्या आप सरकारी परीक्षा लिखकर सरकारी पद पर काम करना चाहते हैं आज की पोस्ट पीसीएस कैसे क्वालीफाई करे जरूर पढ़ें. इस परीक्षा का आयोजन राज्य के लोक सेवा आयोग द्वारा किया जाता है. इसका पूरा नाम प्रांतीय सिविल सेवा है और इसकी परीक्षा हर साल राज्य द्वारा कराई जाती है.

जो अभ्यर्थी इस परीक्षा में सफल होते हैं उन्हें उनकी रैंक के आधार पर विभिन्न पदों पर नियुक्त किया जाता है.

जैसे कि एसडीएम, बीडीओ, डीएसपी, जिला अल्पसंख्यक अधिकारी, जिला खाद्य विपणन अधिकारी असिस्टेंट कमिशनर, असिस्टेंट लेबर कमिशनर, कमर्शियल टैक्स ऑफ़िसर, असिस्टेंट रीजनल ट्रांसपोर्ट ऑफिसर आदि ऐसे बहुत सारे पद इसके अंतर्गत आते हैं.

लेकिन इस परीक्षा को पास करने का सफर काँटों से भरा होता है क्योंकि यह परीक्षा भारत में सबसे कठिन परीक्षाओं में से प्रथम स्थान पर आती है इसलिए इस परीक्षा को पास करना युवाओं के लिए गौरव की बात होती है.

आज का युग प्रतिस्पर्धा का युग है क्योंकि जैसे -जैसे हमारे देश की जनसंख्या बढ़ती जा रही है प्रतिस्पर्धा भी बढ़ती जा रही है.

इसलिए इस एग्जाम को पास करने के लिए कड़ी मेहनत, लगन, स्मार्ट स्टडी के साथ-साथ सही मार्गदर्शन का होना भी आवयश्क होता है.

इसलिए आज के इस पोस्ट में हम आपको बताने जा रहे है कि कैसे आप स्टेप बाई स्टेप स्टडी करके कैसे इस कठिन एग्जाम को आसानी से निकाल सकते है.

तो दोस्तों अगर आपका सपना एक पीसीएस अधिकारी बनने का है तो इस पोस्ट को अंत ज़रूर पढिये यह पोस्ट आपके एग्जाम को आसान करने और परीक्षा को क्रैक करने में काफी मदद कर सकती है.

पीसीएस क्वालीफाई करने के लिए योग्यता?

पीसीएस जो की काफी हार्ड एग्जाम होता है इसे पास करना आसान काम नहीं होता है इसके लिए किसी भी छात्र के लिए शुरू से तैयारी करते चलना होता है जैसे की शुरू में आप जब 10वी या 12वी में होते है.

तब आपको ऐसे सब्जेक्ट का चयन करना होता है जो आपके इस एग्जाम की तैयारी करने में मदद कर सके. लेकिन अब छात्रों को इसकी पर्याप्त जानकारी तो होती नहीं जिस कारण छात्रों को यह एग्जाम पास करना मुश्किल हो जाता है.

लेकिन आज हमने इस बात को ध्यान में रखते हुए.  हमने नीचे पीसीएस परीक्षा को क्वालीफाई करने के सभी टिप्स बताये है जैसे की इसके लिए योग्यता क्या होनी चाहिए, आयु सीमा जैसी कई जानकारियां जो सीधे इस एग्जाम से जुडी है.

जिनके बारे में आप नीचे पढ़कर इस परीक्षा को क्वालीफाई कर सकते है. तो चलिए इसे जानते है.

शैक्षणिक योग्यता

जैसे की हम जानते है कि किसी भी एग्जाम में बैठने के लिए कुछ शैक्षिक योग्यता होनी चाहिए ठीक इसी प्रकार इस एग्जाम के लिए भी राज्य सरकार द्वारा कुछ शैक्षिक योग्यता निर्धारित की गयी है जो इस प्रकार से है

  • अभ्यर्थी किसी मान्यता प्राप्त स्कूल से 10 और 12वी एग्जाम  की परीक्षा उत्तीर्ण होना चाहिए
  • किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से किसी भी स्ट्रीम में स्नातक की डिग्री होनी चाहिए

ये भी पढ़े:

आयु सीमा

इस में सम्मिलित होने के लिए अभ्यर्थी की आयु 21 से 40 वर्ष के बीच होना जरूरी होता है तथा आरक्षित वर्ग की जातियों के लिए कुछ छूट प्रदान की जाती है.

इस परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए कुछ शारीरिक मापदंड भी निर्धारित किया गया है लेकिन यह कुछ विशेष पदों के लिए है जो इस प्रकार है पुलिस अधीक्षक, अधीक्षक कारागार आदि के लिए शारीरिक मापदण्ड 165 से 167 सेमी होनी चाहिए.

नागरिकता

इस परीक्षा में सम्मिलित होने के लिए अभ्यर्थी का भारत का नागरिक होना जरूरी होता है.

पीसीएस की तैयारी कैसे करे?

आज के इस आधुनिक युग में इस पेपर की तैयारी करने के लिए अनेक सोर्स है.

आप कोचिंग ज्वाइन कर सकते है, सेल्फ स्टडी कर सकते है और इसके साथ-साथ इंटरनेट की सहायता भी ले सकते है.

हमारे द्वारा दिए गए ऊपर दिए पॉइंट्स को अगर फॉलो करते है तो निश्चय ही आप इस पेपर को निकाल सकते है. इसका एग्जाम निकालना एक गौरव की बात होती है.

बाकि इस परीक्षा को पास करने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी होता है समय का सही मैनेजमेंट करना.

क्योंकि मेहनत तो फ्रेंडस सभी करते हैं लेकिन फिर भी उनका सिलेक्शन नहीं हो पाता है.

इसलिए इस पोस्ट में हम आपको ऐसे पॉइंट्स बताने वाले जिन्हे अगर आप फॉलो कर लेते हो तो निश्चित ही आपका सिलेक्शन कोई नहीं रोक सकता चाहे कितनी भी प्रतिस्पर्धा क्यों न हो इस पेपर में सफलता पाने में.

तो चलिए देखते है वो कौन कौन से पॉइंट्स है जिनके द्वारा आपका सिलेक्शन हो जायेगा.

पीसीएस की परीक्षा विशेष नागरिक सेवा पदों के लिए की जाती है.

इसलिए अभ्यर्थी को उच्च स्तरीय मेहनत करना बेहद जरूरी होता है.

इस परीक्षा का सिलेबस अत्यन्त विस्तृत होता है. इसलिए आप जितनी ज्यादा मेहनत एक सही मार्गदर्शन में करेंगे परीक्षा आपके लिए उतनी ही आसान हो जायेगा.

क्योंकि कहा जाता है न कठिन परिश्रम सफलता की कुंजी होती है.

अभ्यर्थी जिस विशेष राज्य का पेपर देने जा रहा है उसे उस राज्य की इतिहास तथा भूगोल की बहुत अच्छे से जानकारी होनी चाहिए.

इसलिए अभ्यर्थी को अध्ययन के लिए स्टैंडर्ड किताबों को ही पढ़ना चाहिए। अभ्यर्थी को सामान्य ज्ञान के लिए प्रमाणिक पुस्तक का ही इस्तेंमाल करना चाहिए.

इस परीक्षा में देश और विदेश में होने वाले दैनिक घटनाक्रम से बहुत ज्यादा प्रश्न पूछे जाते है.

अभ्यर्थी को पेपर देने से पहले कम से कम पिछले 6 महीने में होने वाले घटनाक्रम की जानकारी होनी ही चाहिए.

इसके लिए अभ्यर्थी को डेली बेसिस पर अख़बार पढ़ने की आदत डालनी ही पड़ेगी और साथ ही साथ टीवी पर न्यूज़ चैनल देखना भी अत्यंत आवश्यक होता है.

इस परीक्षा को पास करने के लिए अभ्यर्थी को एनसीएआरटी की किताबों को पढ़ना चाहिए. इस एग्जाम को पास करने के लिए उसका बेसिक पता होना बेहद आवश्यक होता है जो इन किताबों को पढ़ने से बेसिक क्लियर हो जाता है.

क्लास 6 से क्लास 12 तक की एनसीआरटी की किताबें इस एग्जाम के लिए बहुत फ़ायदेमंद साबित होती है.

किसी भी परीक्षा में पास होने के लिए समय का प्रबंधन होना अत्यधिक महत्वपूर्ण होता है इसलिए जरूरी होता है कि हम चीजों को बार बार पढ़े और उन्हें अच्छे तरीके से याद करें.

इस परीक्षा में गणित के प्रश्न भी पूछे जाते है और जैसे की हम जानते है कि गणित के प्रश्नों को हल करने के लिए सूत्रों का याद होना महत्वपूर्ण होता है.

इसलिए गणित के सूत्रों को अच्छे से कंठस्थ करना चाहिए ताकि एग्जाम में समय को और प्रश्नों को हल करने में लगाया जा सके.

सभी राज्यों की इस परीक्षा में एक हिंदी का पेपर अवश्य होता है जिसमे व्याकरण के प्रश्न अत्यधिक पूछे जाते है जो कि उच्च स्तरीय प्रश्न होते है.

इसलिए अभ्यर्थी को मुहावरे, पर्यावाची, विलोम शव्द, समास आदि का गहन अध्धयन करना चाहिए.

इस परीक्षा में सफलता पाने के लिए अभ्यर्थी को पिछले कुछ वर्षो के प्रश्न पत्र अवश्य हल करने चाहिए.

इससे छात्र को पेपर में पूछे जाने वाले प्रश्नों का स्तर और पेपर पैटर्न के वारे में जानकारी प्राप्त होती है.

अभ्यर्थी को यह प्रश्न पत्र कुछ समय के पश्चात् हल करते रहना चाहिए इससे उम्मीदवार को प्रत्येक खण्ड में लगने वाले समय का  कैसे सही इस्तेमाल करना होता है यह आ जाता है और इसका सीधा फ़ायदा मुख्य एग्जाम में अवश्य होता है।

इस परीक्षा में सफलता पाने के लिए अभ्यर्थी को अपनी सही क्षमता का आंकलन होना अत्यधिक महत्पूर्ण होता है.

इसलिए आपको कभी भी ओवर कॉन्फिडेंस नहीं करना चाहिए.

इसलिए अभ्यर्थी को अपने ऊपर विश्वास रखना चाहिए और साथ ही साथ धैर्य का होना भी जरूरी होता है.

आज के आधुनिक युग में आप इंटरनेट का उपयोग करके भी समय सदुपयोग कर सकते है.

पीसीएस एग्जाम पैटर्न?

इस परीक्षा को तीन चरणों में आयोजित किया जाता है जो इस तरह से है

  • प्रारम्भिक परीक्षा
  • मुख्य परीक्षा
  • साक्षात्कार

प्रारम्भिक परीक्षा

प्रारंभिक परीक्षा में दो पेपर होते है:

  • पेपर 1- जनरल स्टडीज़
  • पेपर 2 – सीसैट

जनरल स्टडीज़

इस पेपर में 150 प्रश्न पूछे जाते है जो की 200 मार्क्स के होते है. इस परीक्षा के आधार पर ही मुख्य परीक्षा में सम्मिलित होते है.

इस पेपर में जिस विषय से प्रश्न आते है वो इस प्रकार है:

  • हिस्ट्री
  • पॉलिटी
  • साइंस
  • करंट अफेयर्स
  • इकोनॉमिक्स
  • एनवायरनमेंट

सीसैट

इस पेपर में 100 प्रश्न पूछे जाते है जो कि 200 मार्क्स के होते है. यह पेपर क्वालीफाई पेपर होता है मतलब आपको सिर्फ 33 % लेकर आने होते है.

प्रारंभिक परीक्षा के दोनों पेपरों के लिए 2 घंटे का समय निर्धारित किया गया है. इस पेपर में आने वाले सब्जेक्ट निम्न है:

  • मैथ्स
  • रीजनिंग
  • इंग्लिश
  • हिंदी
  • कम्युनिकेशन

मुख्य परीक्षा

इस परीक्षा के मुख्य पेपर में कुल 8 पेपर होते है. जिसमे से दो पेपर ऑप्शनल होते है यानि कि अभ्यर्थी अपनी इच्छानुसार दो विषय सिलेक्ट कर सकता है.

मुख्य परीक्षा में संशोधन के उपरान्त नया पैटर्न कुछ इस प्रकार से है:

सामान्य अध्ययन 1 :

यह पेपर 200 मार्क्स का होता है जिसके लिए 2 घण्टे का समय होता है। इस पेपर में हिस्ट्री, भूगोल आदि सब्जेक्ट से प्रश्न पूछे जाते है.

सामान्य अध्ययन 2 :

यह पेपर भी 200 मार्क्स का होता है इसके लिए भी 2 घंटे का समय निर्धारित होता है. इस परीक्षा में पॉलिटी से सम्बंधित प्रश्न आते है.

सामान्य अध्ययन 3 :

इस पेपर में इकोनॉमिक्स ,साइंस आदि से प्रश्न पूछे जाते है. यह पेपर 200 मार्क्स का होता है और 2 घंटे का समय निर्धारित होता है.

सामान्य अध्ययन 4 :

इस पेपर में एथिक्स से प्रश्न पूछे जाते है. इसलिए अभ्यर्थिओं को इसका गहन अध्धयन करना चाहिए.

यह पेपर 200 मार्क्स का होता है और इसके लिए 2 घंटे का समय मिलता है.

पेपर 5 – हिंदी :

यह पेपर 150 मार्क्स का होता है. जिसके लिए 3 घंटे का समय निर्धारित है.

इस पेपर में सामान्य हिंदी से प्रश्न पूछे जाते है. इस पेपर के लिए अभ्यर्थी की व्याकरण अत्यधिक मजबूत होनी चाहिए.

पेपर 6 – निबन्ध :

यह पेपर 150 मार्क्स का होता है जिसके लिए 3 घंटे का समय निर्धारित किया गया है। इस पेपर को करने का उददेश्य यह होता है कि अभ्यर्थी की किसी भी विषय में क्या विचार है। यह पेपर महत्वपूर्ण होता है.

इसमें सफलता पाने के लिए अभ्यर्थी को निरन्तर अभ्यास करने की आवश्यकता होती है.

ऑप्शनल पेपर

इस एग्जाम में दो पेपर ऑप्शनल होते है जिसमे प्रत्येक पेपर 200 मार्क्स का होता है। यह दो पेपर कैंडिडेट द्वारा स्वयं कुछ सब्जेक्ट में से सेलेक्ट किये जाते है.

निष्कर्ष

इस बढ़ते कम्पटीशन के युग में चाहे वह कोई छोटी परीक्षा हो या फिर बड़ी परीक्षा हो उसे पास करने के लिए कड़ी मेहनत करनी होती है. तब जाकर आप एग्जाम को पास कर सकते है.

जब बात आती है पीसीएस एग्जाम की तो यह तो काफी हार्ड एग्जाम होता है. जिसकी तैयारी हार साल लाखो छात्र करते है.

लेकिन इस एग्जाम को पास करने के लिए 3 बड़ी परीक्षाओ से गुजरना होता है जिस कारण बहुत ही ऐसे कम छात्र होते है जो इस परीक्षा को पास कर पाते है.

इस परीक्षा को पास करने और इसे क्रैक करने के लिए पर्याप्त जानकारी होना बहुत जरूरी होता है.

अगर आपके पास इस एग्जाम से जुडी जैसे सिलेबस, परीक्षा पैटर्न आदि के बारे में उचित जानकारी है तो आप काफी हद तक इस एग्जाम को सरल बना सकते है.

इसलिए आज हमने अपने इस लेख में पीसीएस की तैयारी कैसे करे? इसकी सम्पूर्ण जानकारी शेयर की है ताकि आप पीसीएस आसानी से क्वालीफाई कर सके.

मुझे उम्मीद है की आपको दी गयी जानकारी उपयोगी साबित हुई होगी.

आपको जानकारी किस प्रकार साबित हुई हमे कमेंट करके जरूर बताये.

अगर आपको अन्य किसी एग्जाम से जुडी कोई जानकारी या फिर किसी सहायता की आवश्यकता हो तो आप हमे कमेंट कर सकते है. हम जल्द आपके साथ जुड़कर आपकी पूरी सहायता करेंगे.

About Wasim Akram

वसीम अकरम WTechni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है. लोगों को उनके जीवन में कैरियर बनाने में सही निर्देश देना और हर प्रकार के नौकरी के बारे में जानकारी देना काफी पसंद है ताकि उनका भविष्य बन सके.

Leave a Comment