पैसे कैसे बचाएं?

पैसे कमाने के अनेक तरीके होते हैं कोई नौकरी करता है तो कोई बिजनेस करता है लेकिन ऐसे लोग भी हैं जो कितना भी पैसा कमा ले लेकिन उनके पास पैसे नहीं बचते. अगर आप उन लोगों में से एक हैं जो यह जानना चाहते हैं कि कम सैलरी में पैसे कैसे बचाएं इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ें.

इस लेख के माध्यम से हम आपको सही तरीके से पैसे का मैनेजमेंट कैसे करे इसके सभी तरीके बताएंगे जिससे आप कम आय होते हुए भी बचत खता में पैसे बढ़ा सकते हैं. अक्सर लोगों को इसी बात की टेंशन होती है कि भविष्य में पता नहीं क्या मुसीबत आ जाये और धन की जरूरत पड़ जाए.

वैसे समय में अगर आपके पास पैसे ना हो तो फिर आप बड़ी मुसीबत में फंस सकते हैं. अगर आपके पास बचत राशि है और आपको अचानक से जरूरत पड़ जाती है ऐसी स्थिति में आपको किसी से मदद नहीं मांगनी पड़ेगी.

तो चलिए जानते हैं पैसे बचाने के तरीके ऐजो बहुत ही कारगर है और जिस से आप कम सैलरी होते हुए भी अच्छे पैसे जोड़ सकते हैं.

कम सैलरी में पैसे कैसे बचाएं?

पैसे कैसे बचाएं

हर इंसान की ज़िन्दगी में पैसे की बहुत अहमियत होती है. पैसे के कई उपयोग हैं और ये ज़िन्दगी के कई जरूरतों को पूरा करती है. एक आरामदायक ज़िन्दगी जीने के लिए हम अधिक से अधिक पैसे कमाना चाहते हैं.

अगर आप पैसे कमाने के तरीके के बारे में जानना चाहते हैं तो हमारा आर्टिकल पैसे कैसे कमाए जरूर पढ़ें।

लेकिन सिर्फ हमारी जरुरत रोटी, कपडा कर मकान ही नहीं होता बल्कि और भी कई जरूरतें होती हैं.

कभी-कभी हमारे जिंदगी में कई बड़ी परेशानियां हो जाते हैं जो सेहत से जुड़ी हुई होती हैं. घर या परिवार में कभी भी किसी सदस्य को स्वास्थ्य संबंधी समस्या हो सकती है जिसके लिए हमें उन्हें हॉस्पिटल में भर्ती करना पड़ जाता है.

इस तरह इलाज का खर्च जो होता है वह अलग प्रकार का खर्च है और यह तभी संभव है जब हमारे पास पैसे बचत के रूप में उपलब्ध हो. इलाज में कितने पैसे लगेंगे इसका कोई अंदाजा नहीं होता यह उस बीमारियां समस्या के ऊपर निर्भर करता है.

तो चलिए जान लेते हैं कि वह कौन से तरीके हैं जिसे अपनाकर हम भी अपनी कमाई में से कैसे बचा सकते हैं?

5 बेहतरीन पैसे बचाने के तरीके:

  1. मासिक बजट बनाएं
  2. पैसों का निवेश करें
  3. एक अलग सेविंग अकाउंट रखें
  4. फिजूलखर्ची ना करें
  5. ऑनलाइन शॉपिंग से दूर रहें

1. मासिक बजट बनाएं

एक घर चलाना कोई आसान काम नहीं होता. एक घर चलाने के लिए कई प्रकार के खर्चे होते हैं जिन्हें ध्यान से करने होते हैं.

कमाने वाले इंसान की सैलरी जैसी होती है उसी प्रकार से खर्चे भी होते हैं.

घर का बजट बनाने के लिए कई बातों का ध्यान रखना होता है. आपको भी जरूर पता होना चाहिए कि घर का मासिक बजट कैसे बनाएं.

हम यहां पर आपको एक साधारण सा तरीका बता रहे हैं जिसके जरिए आप अपनी आय के अनुसार अपना मासिक बजट बना सकते हैं.

अपने जो भी खर्च करते हैं उससे एक डायरी में हमेशा नोट करें. जब भी कुछ बाहर खरीदने जाए तो एक चेक लिस्ट तैयार कर ले और उसी के अनुसार खरीदारी करें.
साधारण तौर पर राशन की चीजों पर दामों में बढ़ोतरी कभी कभी वक्त सब्जियों के दामों में ऊंच-नीच हमेशा देखने को मिलेगी.

  • परिवार के सदस्यों के अनुसार 1 महीने का राशन लाएं
  • सब्जियों का खर्च
  • बिजली का सही इस्तेमाल करें
  • पढ़ने वाले बच्चों की फीस
  • एलपीजी सिलेंडर का खर्च
  • किराए के मकान में रहते हैं तो उसका रेंट

यह हमारी मूलभूत आवश्यकताएं हैं जो हर घर में हर किसी की जरूरत होती है और इसके बिना जिंदगी का गुजारा नहीं हो सकता.

आपको कुछ बातों से बचना है तभी आप अपने बजट को कम रख सकते हैं.

उधार की चीजें खरीदने से बचें:

पैसे बचाने के लिए सबसे जरूरी बात यह है कि कहीं भी उधार में चीजें ना खरीदें. पैसे हो तभी खरीदारी करें.

ऑनलाइन शॉपिंग से दूर ही रहे:

क्योंकि यह एक ऐसा तरीका है जिससे आपकी कभी बचत नहीं हो सकती. जब जब किसी ऑनलाइन शॉप शॉपिंग वेबसाइट पर जाते हैं तो आपको कई ऐसी चीजें मिलती हैं जो देखकर आपको लगता है कि आपको जरूरत है लेकिन आप उसके बिना भी रह सकते हैं.

डिस्काउंट होने पर कपड़े की खरीदारी करें:

कपड़े हर महीने नहीं खरीदते बल्कि त्यौहार पार्टी और कपड़े पुराने होने पर भी खरीदते हैं. इस बात का ध्यान रखें कि मार्केट में जब भी कोई डिस्काउंट आए उस वक्त कपड़े खरीदने और उसे बाद में आने वाले त्योहारों या फिर दूसरे अवसरों पर इस्तेमाल करें.

2. पैसों का निवेश करें

पैसों की सेविंग करने का सबसे अच्छा तरीका और सुविधाजनक उपाय यही है कि आप अपने पैसों का निवेश हर महीने करें.

आप अपने पास स्थित किसी बैंक से संपर्क कर सकते हैं और फिक्स्ड डिपॉजिट के रूप में पैसे जमा कर सकते है. कई इंश्योरेंस कंपनियां आपको अनेक तरह की निवेश की प्लानिंग का तरीका बताते हैं जो आपको एक अवधि के लिए करना होता है.

मेरे ख्याल से ऐसा कोई परिवार नहीं है जो बीमा नहीं करवाते. बच्चों के अच्छे भविष्य के लिए अभिभावक शुरू से भी पैसों को उनके पढ़ाई पूरी के लिए इंश्योरेंस कंपनी में किसी प्लान के तहत जमा करते हैं.

यह 5 साल 7 साल 10 साल इस प्रकार के अवधि में होते हैं. जिसे लोग ठीक किसी खास अवसर के समय पूरा करके पैसे बाहर निकाल लेते हैं और उसका इस्तेमाल करते हैं जैसे शादी, इत्यादि.

इस क्षेत्र में काम करने वाले कई बड़े नाम हैं जैसे एलआईसी (लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन लिमिटेड), बजाज आलियांज या फिर कोई भी बैंक.

3. एक अलग सेविंग अकाउंट रखें

आप विश्वास नहीं करेंगे लेकिन एक बेहतरीन उपाय है जो मैंने खुद भी अपनाया है और मेरे दोस्तों ने भी इसे अपनाकर इसको कारगर पाया है.

आपके पास अगर एक ऐसा अकाउंट है जिसका उपयोग नहीं करते हैं या फिर सबके पास सिर्फ एक ही अकाउंट है एक नया अकाउंट किसी दूसरे बैंक में खुलवा ले.

यह अकाउंट सेविंग अकाउंट होना चाहिए. आपको तो पता ही है कि सेविंग अकाउंट का मतलब ही होता है बचत खाता तो क्यों ना हम उसको इसी नाम से उपयोग करें.

अपना परिवार का मासिक बजट बना ले और यह निर्णय लेकर आपकी महीने में अधिक से अधिक कितनी खर्च होगी और कितनी राशि बचेगी.

जितनी राशि आपको खर्च करनी होगी बस उस राशि को अपने अकाउंट में रखें और बाकी सारे पैसे को अपने बचत खाते में डाल दे.

सबसे जरूरी बात यह है कि जो आपने नया सेविंग अकाउंट रखा है और इस पर आप अपना बचत रखना चाहते हैं उस अकाउंट से कभी भी एक रुपए ना निकाले.

यह दृढ़ निश्चय के साथ करें.

यही होगा कि आप उस अकाउंट का इंटरनेट बैंकिंग, एटीएम इत्यादि ना रखें जिससे कि आपको उस से पैसा निकालने में आसानी ना हो.

4. फिजूलखर्ची ना करें

आपने यह जरूर अनुभव किया होगा कि जब भी आपके वॉलेट में पैसा होता है वह बचता नहीं है.

यह समस्या आपके साथ नहीं बल्कि हर किसी के साथ होता है. अब बाहर भी घूमने जाते होंगे पर पॉकेट में पैसे रहते होंगे तो जहां पर जरूरत ना हो वहां भी पैसे खर्च हो जाते हैं.

जो खर्चे जरूरी ना हो और आपको लगता है कि जिस काम के लिए अपने पैसे खर्च किए हैं उससे आपको कोई फायदा नहीं है तो इस प्रकार के कामों से बचें.

उदाहरण के तौर पर मान लीजिए कि आपने अपनी फिटनेस के लिए किसी जिम को ज्वाइन किया है. लेकिन आप वहां हर रोज नहीं जा पाते.

यहां तक कि आप हफ्ते में 6 दिन में 2 या 3 दिन ही जा पाते हैं पर उससे आपके फिटनेस पर किसी प्रकार का बदलाव भी देखने को नहीं मिल रहा. अगर आप इसमें पैसा खर्च कर रहे हैं तो यह आपके लिए फिजूलखर्ची साबित होगी.

खासतौर पर ऐसे जिम जो सालाना फीस एक ही बार में जमा कर लेते हैं उनमें ना ही जाए तो बेहतर है. इससे बेहतर तो यह है कि आप मासिक फीस लेने वाले जिम को ज्वाइन करें.

कपड़े हमारे लिए जरूरी है लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि हर महीने कपड़े खरीदे जाएं. इसी प्रकार जूते भी जब पुराने फट जाए तभी खरीदें.

फास्ट फूड खाने से बचें. इससे सेहत तो खराब होता ही है आपके बचत कोई भी काफी प्रभावित करता है.

5. ऑनलाइन शॉपिंग से दूर रहे

आज लोगों को घर बैठे ही हर प्रकार की सुविधा मिल जाती हैं. ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट की वजह से ही संभव हो सका है.

लेकिन आपने यह जरूर गौर किया होगा कि जब हम किसी ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट जैसे अमेज़न, फ्लिपकार्ट इत्यादि में जाते हैं तो चीजों को देखकर काफी आकर्षित होते हैं और जो नहीं खरीदना चाहिए वह भी खरीद लेते हैं.

मैंने इस बात को काफी अनुभव किया है और इसीलिए इसको मैंने यहां पर शामिल किया है क्योंकि ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट जाने वाले लोगों के पास बचत हो यह बहुत मुश्किल है.

ज्यादातर तो आजकल के युवा इससे काफी प्रभावित हैं. अगर आप ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट का इस्तेमाल नहीं करते हैं तो फिर तो बहुत अच्छा है. अगर आप पैसे बचाने को लेकर काफी गंभीर हैं तो फिर ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट से दूर रहें.

निष्कर्ष

इंसान की प्रॉपर्टी उसकी बचत राशि की होती है. लेकिन इंसान अपनी अच्छी प्रॉपर्टी तभी बना पाता है जब वह अच्छी कमाई करता हो और साथ ही साथ उसकी बचत भी अच्छी हो.

जॉब करने वाले अधिकांश लोगों के साथ यही समस्या है कि जैसे ही सैलरी मिलती है वैसे ही सारे पैसे खत्म हो जाते हैं. बचत करना उनके लिए काफी मुश्किल काम है.

हमने इस आर्टिकल के माध्यम से ऐसे ही लोगों की मदद करने के लिए बचाने के तरीके अच्छे से समझाया है जिससे आप भी अपनी सेविंग बढ़ा सकते हैं. हम आशा करते हैं कि कम सैलरी में पैसे कैसे बचाएं यह आपको अच्छे से समझ में आ गया होगा.

अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here