मोबाइल का आविष्कार किसने किया?

मोबाइल उपकरण का आविष्कार अमेरिकन इंजीनियर Martin cooper ने किया.

3 अप्रैल 1973 मोबाइल का बर्थडे दर्ज किया गया. यही वह तारीख है जब ये सबसे पहली बार उपयोग किया गया यानी दुनिया का पहला मोबाइल फोन lलांच हुआ.

मोबाइल एक ऐसा उपकरण बन गया है की इसका हर क्षेत्र में किसी न किसी रूप में इस्तेमाल होता ही है क्योकि ये हमारी लाइफस्टाइल का एक भाग बन सुका है. इससे हमारी बहुत सी जरूरतों की पूर्ति होती है. इसीलिए इसकी जानकारी होना भी काफी जरूरी है की आखिर मोबाइल का अविष्कार किसने किया?

मोबाइल के जरिये आज देश का हर नागरिक लगभग इंटरनेट से जुड़ा हुआ है. साथ ही अपने परिजनों से दूर होते हुए भी कॉल पर बात होती रहती है. ये सब मोबाइल की वजह से ही संभव हो सका है.

ये उपकरण हमारी लगभग 60 प्रतिशत लाइफ का हिस्सा है जो की एक बहुत बड़ी बात है. जिसके पास मोबाइल की सुविधा नहीं है वो आज के दौर में पीछे है.

मोबाइल क्या है – What is Mobile in Hindi?

यह एक वायरलेस हैंडहेल्ड डिवाइस है जो उपयोगकर्ताओं को call करने और message भेजने साथ ही अनेक प्रकार की सुविधाएं हमें इस डिवाइस में देखने को मिलती है.

इस मोबाइल की शुरुआती पीढ़ी केवल call करना और Call received (कॉल प्राप्त करना) करने तक ही सीमित थी.

हालाँकि, आज के स्मार्टफोन में कई प्रकार की सुविधाओं से भरे हुए है. जैसे कैमरा, वीडियो प्लेयर, वेब ब्राउज़र, गेम और यहां तक कि दिशानिर्देशन प्रणाली मोबाइल फोन की प्रमुख सुविधाओं मे से है. मोबाइल को सेल्युलर फोन या सेल फ़ोन के नाम से भी जाना जाता है.

जब सबसे पहला फ़ोन पेश किया गया उसका एकमात्र कार्य Call करना और Call received करना था और उस समय के मोबाइल वजन में काफी ज्यादा होने की वजह से अपनी जेब में रखना मानो मुश्किल था बाद में मोबाइल संप्रेषण के लिए विश्वव्यापी व्यवस्था (GSM) नेटवर्क से संबंधित मोबाइल फ़ोन Text message भेजने और प्राप्त करने में सक्षम हो गए.

जैसे-जैसे ये विकसित होते गए तो इनके आकार में भी फर्क देखने मिला छोटे होते गए और अधिक सुविधाएँ इन device से जोड़ी गईं. जैसे Multimedia Messaging Service (MMS), जिसने उपयोगकर्ताओं को mobile से photo भेजने और photo प्राप्त करने की सुविधा को सक्षम किया.

इनमें से अधिकांश MMS-सक्षम device भी कैमरों से लैस थे. मोबाइल के बारे में पूरी विस्तृत जानकारी के लिए हमारे द्वारा लिखा आर्टिकल मोबाइल क्या है और इसके फायदे इतिहास जरूर पढ़े.

मोबाइल का फुल फॉर्म क्या है?

मोबाइल की फुल फॉर्म है:

Modified Operation Byte Integration Limited Energy.

इसको हिंदी में मॉडिफाइड ऑपरेशन बाइट इंटीग्रेशन लिमिटेड एनर्जी भी कह सकते हैं जिसका हिंदी अर्थ हम एक “दूरभाष यंत्र” कहते है.

मोबाइल का इतिहास

मोबाइल पहले इतना काम का नहीं हुआ करता था जैसा की हम जानते है वो सिर्फ कॉल ले और लगा सकता था पर अभी के मोबाइल में हमें बहुत सारी विशेषताएं देखने को मिलती है.

फोन में ऐसे काफी बदलाव आये जो की इसे एक सूचना और संचार केंद्र के तोर पर बनाकर तैयार किया, जो की काफी बुनियादी है आज के आधुनिक रहन सहन के ऊपर नजर डाली जाये तो.

लेकिन कैसे ये स्मार्टफोन इतने ज्यादा आधुनिक बने इसके लिए आपको यह आर्टिकल बड़े ही ध्यान से पढ़ना करना होगा जिससे आप ये जान सकते हैं की टाइम के साथ इसमें क्या क्या परिवर्तन देखने को मिले है.

मोबाइल का इस्तेमाल तो हम सभी करते हैं पर ये अब मोबाइल, सिर्फ एक मोबाइल न रहकर एक स्मार्टफोन बन गया है. यह अब 4G की मदद से और एडवांस हो गया है और बहुत ही जल्द 5G आने वाला है.

क्या आप इस बात से अवगत है की इस संसार का पहला मोबाइल किस इंजीनियर ने बनाया होगा?

मोबाइल का आविष्कार कब हुआ, दुनिया का पहला मोबाइल किस कंपनी ने लांच किया, इसकी कीमत कितनी थी, भारत में मोबाइल फोन कब आया?

हमारे देश भारत के अंदर मोबाइल फोन लाने वाले कारोबारी और कंपनी का नाम क्या है. इन सभी सवालों के जवाब पढ़ते हैं: साथ ही स्टूडेंट लाइफ में पड़ने वाले प्रभाव के बारे में जानेंगे और इस उपकरण से होने वाले लाभ और नुकसान से भी आपको अवगत करवाएंगे.

यह तो आप जानते ही हैं कि दुनिया का पहला मोबाइल फोन Motorola कंपनी ने लांच किया था. इंजीनियर Martin cooper ने 1970 में मोटरोला कंपनी में काम करना शुरु किया था.

उनके शामिल होने के साथ ही वह Wireless काम करने लगे थे और 1973 यानी मात्र 3 वर्ष में वो करके दिखा जिस पर किसी का विश्वास कर पाना बहुत ही मुश्किल था. इसके बारे में पहले किसने भी सपने में भी महसूस नहीं किया होगा.

पहला फ़ोन कंपनी मोटोरोला

संसार का सबसे पहला फ़ोन था “Motorola DynaTAC 800x” और इसे सन 1983 में लांच किया गया था.

इसकी कीमत उस समय $4,000 थी. वहीँ इसमें केवल आप सिर्फ 30 minutes तक की बात कर सकते थे. इसकी माप की बात करें तब ये लगभग 1 Foot तक की थी.

दुनिया का पहला Portable Mobile

सन 1983 में संसार को अपना पहला पोर्टेबल फ़ोन प्राप्त हुआ जिसका नाम दिया गया Motorola DynaTAC 8000X. इसकी कीमत थी लगभग $4000 USD और उस वक्त इसे एक प्रतिष्ठा का प्रतीक के तोर पर माना जाता था.

जब पुरे संसार में 4G का ग्लोबल एडॉप्शन होने लगा, तब इससे वीडियो स्ट्रीमिंग और वीडियो कालिंग क्षमताओं में भी काफी उन्नति होने लगी.

Screen sizes धीरे धीरे बढ़ने लगा जिससे की सभी features के अनुभव को अधिकतम किया उपयोग किया जाने लगा.

इसके मूल iPhone 2007 की तुलना में iPhone 7 Plus की स्क्रीन में लगभग 58% बढ़ोतरी देखने को मिली. फिर मोबाइल बैंकिंग भी सामने आया Apple Pay और Android Pay के साथ जो की उपयोगकर्ता को offer करने लगे.

मोबाइल के उपयोग से ऑनलाइन खरीदारी में भी बढ़ोतरी आने लगी.

आज के जामने के मोबाइल बहुत फीसर्च ले रखे है जिनका सब बहुत ही आसानी से उपयोग भी कर रहे है और आज फीसर्च के बारे में हम पहले ही चर्चा कर सके है .

मोबाइल फ़ोन के फायदे – Advantage of Mobile Phone in Hindi

आज का मोबाइल बीते कुछ वर्षो के फ़ोन से बहुत बदल गया है. यह बहुत हद तक इंटरनेट का डिवाइस बन गया है. आज के इस उपकरण का प्रयोग करके हम ऑनलाइन बैंकिंग यानी बैंक का काम पैसा भेजना और प्राप्त करना मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से प्राप्त होना प्रारंभ हो गया है.

इसके साथ दवा, भोजन ,फास्टफूड, रेलवे की टिकट बुकिंग ,होटल बुक्किंग आदि सभी अपने स्मार्टफोन द्वारा घर बैठे बड़ी आसानी के साथ कर सकते है. मोबाइल में इंटरनेट की सस्ती दरों के कारण मनोरजन की दुनिया में भी बदलाव आ गया है.

अब TV के बिना भी फिल्म, गेम, और पसंदीदा धारावाहिक आदि को बिना शुल्क डाउनलोड किया जा सकता है. यूट्यूब पर हम मूवीज, वीडियोस देखना पसंद करते हैं जो कि शौक़ीन लोगों के लिए भी पसंदीदा होती है बिना अतिरिक्त शुल्क के देख सकते हैं.

इसके साथ ही सोशल मीडिया फेसबुक और व्हाट्सएप्प आदि के आ जाने से हम अपने मित्रो और सगे सम्बन्धियों से जुड़ सकते हैं.

अब वीडियो कालिंग की सुविधा भी आ गयी है, जिससे हम दूर बैठे परिजनों को सामने बैठे देख सकते हैं. अतः इससे आज Business की गतिविधियों में तेज़ी आई है.

छोटे-छोटे व्यापारी सेलर बन कर अमेज़न, फ्लिपकार्ट आदि ऑनलइन शॉपिंग वेबसाइट से जुड़ कर अपने व्यापार को बढ़ा सकते हैं इससे ग्राहकों को भी उचित दर पर समान उपलब्ध हो जाता है.

आज के समय में सरकारी नौकरी प्राप्त करने के लिए भी ऑनलाइन एप्लीकेशन माँगे जाने लगे हैं, जिससे स्मार्टफोन इंटरनेट की उपयोगिता बढ़ाने के लिए वरदान साबित हुआ है.

मोबाइल फोन के नुकसान – Disadvantage of Mobile Phone in Hindi

दोस्तों जैसा स्मार्टफोन हमारी जिंदगी से जुड़कर हमें एक आसान जिंदगी दे रहा है वैसे ही वह हमारी जिंदगी को भी हानि पंहुचा रहा है. जिन्हें कि हम नजरअंदाज कर देते है तो आइए अब smartphone के नुकसान पर चर्चा करते हैं .

दोस्तों हम में से कई सारे लोग ऐसे हैं जो कि इस उपकरण को कुछ हद से ज्यादा इस्तेमाल करते हैं यानी कि वह दिन-रात social media पर और गेम खेलने पर अपना समय व्यतीत करते हैं जिससे कि वे आगे की लाइफ पर फोकस नहीं कर पाते है. और फिर यह दोष देते है कि उनके पास वक्त नहीं था. जोकि बहुत गलत बात है.

दोस्तों phone को लगातार और ज्यादा उपयोग करने से रेडिएशन होता है. इस बात से तो आप अवगत जरूर होंगे तो आपको यह भी पता होगा कि Radiation(हानि कारक लेजर) हमारे शरीर और हमारे स्वास्थ्य के लिए सही नहीं होता. यह heart attack का कारण हो सकता है.

कई लोग ऐसे होते हैं जो कि कार Driving करते वक्त अपने फ़ोन से बाते करते रहते हैं ऐसा नहीं करना चाहिए. क्योकि हम सब जानते है की अगर सावधानी हटी तो दुर्घटना घटी यानी कि मोबाइल कई बार कार दुर्घटना का भी एक कारण होता है.

इस उपकरण से हमारी पैसे बर्बाद करने के पीछे भी कारण बन सकता है यानी कि हम लगभग इसमें अपनी कमाई का 40% भाग Call और इंटरनेट रिचार्ज डालने में समाप्त कर देते हैं.

स्मार्टफोन का अधिक मात्रा में उपयोग करने से कई लोगों को आधी नींद की भी बीमारी हो जाती है कहने का तात्पर्य कि पूरी नींद का 50% ही नींद लेना हमारे स्वास्थय के लिए हानिकारक है. जिससे कई बीमारियां हो सकती है.

Digital marketing के इस दौर में अगर आप Online transaction करने के लिए अपने डिवाइस का यूज करते हैं और कई सारे Passport अपने फोन में सुरक्षित रखते हैं.

अगर आपका कभी डिवाइस अगर चोरी हो जाए तो ऐसा लगता है मानो शरीर से जान ही निकल गई हो. यानी कि आपके bank account की सुरक्षा के लिए आपका स्मार्टफोन ही जिम्मेदार हो सकता है.

मोबाइल का स्टूडेंट लाइफ में योगदान

मोबाइल आज हर जगह फेमस है. हर क्षेत्र में मोबाइल का बहुत ज्यादा उपयोग किया जा रहा है साथ ही ये डिजिटल इंडिया को भी सपोर्ट कर रहा है.

आज कोरोना के काल में सब अपने घर बैठे है और घर से सारे काम कर रहे है. आज हर कम्पनी ऑनलाइन जा रही है वही अगर हम बात करे स्टूडेंट लाइफ की तो इस फिल्ड में भी मोबाइल का उपयोग बढ़ता जा रहा है.

आज सरकारी नोकरियो के लिए ऑनलाइन कोर्स उपलब्ध है जिनके माँध्यम से स्टूडेंट पढाई कर रहे है और आज इस कोरोना महामारी के चलते सब कुछ ऑनलाइन होने की वजह से बहुत से शिक्षण सस्थान अपने आप को ऑनलाइन शिफ्ट कर रहे है.

साथ ही अपने स्टूडेंट को ऑनलाइन शिक्षा दे रहे है.

मोबाइल से स्टूडेंट अपनी हर समस्या का हल जान सकता है साथ ही वह अपने शिक्षकों से प्रश्न भी कर सकता है साथ ही वह उन कोर्स के माध्यम से एक अच्छी शिक्षा भी प्राप्त कर रहा है.

मोबाइल फ़ोन से डिजिटल इंडिया को बहुत सपोर्ट मिल रहा है क्युकी मोबाइल से आज बहुत सरे काम किये जा रहे है और इसमें शिक्षा भी शामिल हो जाने की वजह से ये एक बहुत बड़ी पहल हो सकती है.

मोबाइल नेटवर्क कैसे काम करता है?

जब हम अपने स्मार्टफोन या फिर कंप्यूटर पर इंटरनेट इस्तेमाल करते है तब हमरे दिमाग में एक बात जरूर आती होगी की ये इंटरनेट कैसे चलता है तो चलिए आज आज के आर्टिकल के में हम आपके सवालों पर गौर करते है.

इंटरनेट केबल के जरिए ही चलता है जब हम कोई भी डाटा को इंटरनेट पर खोजते करते है तो वो डाटा हमारे यंत्र से निकल कर उस सर्वर तक जाती है जहां पर वह डाटा स्टोर है और तब हमे उसका रिजल्ट दिखाई देता है.

इस पूरी प्रक्रिया में जब हम अपने फ़ोन से कुछ सर्च करते है तो वह डाटा सबसे पहले डिवाइस से निकलकर फ़ोन की टावर के पास जाती है और उसके बाद टावर से निकल कर केबल के जरिए उस सर्वर तक जाती है जिस सर्वर में वह डाटा स्टोर होता है. जहा से इंटरनेट संचालित होता है.

निष्कर्ष

आज के इस आर्टिकल में हमने सीखा की मोबाइल क्या है वो किस तरह से काम करता है और उसके फायदे और नुकसान साथ ही विद्यार्धी जीवन में मोबाइल के महत्त्व पर प्रकाश डालते हुए हमें मोबाइल से सम्बंधित लगभग सारी जानकारी इस आर्टिकल में देने की कोशिश की है. यहां आपने ये भी जाना की मोबाइल का आविष्कार किसने किया?

हम आशा करते है की आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा और आप अपने परिवार जनो और अपने मित्रो के साथ जरूर साझा करेंगे. आप हमारी वेबसाइट पर और भी इससे सम्बंधित आर्टिकल पढ़ सकते है जो आज के तकनीकी युग के ऊपर हर चीज के बारे में पूरा डिटेल में समझने की कोसिस करि है.

हमारी वेबसाइट पर ऐसे ही विजिट करते रहे.

About Wasim Akram

वसीम अकरम WTechni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है. लोगों को उनके जीवन में कैरियर बनाने में सही निर्देश देना और हर प्रकार के नौकरी के बारे में जानकारी देना काफी पसंद है ताकि उनका भविष्य बन सके.

Leave a Comment