मेरा जन्मदिन कब है? जाने अपने जन्मदिन जानने के तरीके

क्या आप को आपका जन्म की तारिक पता है लेकिन इसकी गणना कर पाना आसान नहीं लग रहा है तो आप गूगल में जरूर सर्च करते हैं की मेरा जन्म दिन कब है?

इस धरती पर रहने वाले हर एक व्यक्ति का अपना जन्मदिन होता है जिस दिन वह इस धरती पर आते हैं, वही दिन उनका जन्मदिन कहलाता है. यह दिन उन लोगों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है. हम जन्मदिन को पता लगाने के विभिन्न प्रकार के तरीकों को विस्तार पूर्वक बताने जा रहे हैं.

विषय दिखाएँ

जन्मदिन कैसे पता करें? 

हर एक व्यक्ति के जिंदगी में एक साल में एक दिन बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है क्योंकि वह दिन उनका जन्मदिन होता है जो उसकी जिंदगी के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण होता है. हर व्यक्ति अपना अपना जन्मदिन बहुत ही खास पूर्वक मनाते हैं और अपने जन्मदिन पर ढेर सारी खुशियां बांटते हैं.

कुछ लोगों को अपने जन्मदिन का डेट पता होता है तथा कुछ लोगों को अपने जन्मदिन का डेट नहीं पता होता इसलिए वे अपने अनुसार कोई भी तिथि को अपना जन्मदिन मान लेते हैं और वही तिथि को हर जगह जरूरत पड़ने पर जन्मदिन के डेट के रूप में दे देते हैं.

जैसे आधार कार्ड में, पैन कार्ड में, वोटर आईडी कार्ड में, इत्यादि. बहुत से ऐसे व्यक्ति हैं जिन्हें अपने जन्म तिथि पता होती है इसके बावजूद भी वे अपना जन्मदिन पता करने के लिए बहुत से तरीके का इस्तेमाल करते हैं जैसे गूगल से पूछते हैं गूगल मेरा जन्मदिन कब है.

कुछ ऐसे व्यक्ति होते हैं जिन्हें अपना जन्मदिन की तिथि मालूम नहीं  रहती है जिससे वे अपने जन्मदिन की तिथि अपने अनुसार रख लेते हैं.

जैसे कई लोग अपने आधार कार्ड पैन कार्ड इत्यादि में जन्मदिन की डेट 1 जनवरी को रखते हैं इन लोगों का जन्मदिन इस दिन नहीं होता, इन्हें अपनी जन्मतिथि नहीं मालूम होती जिस कारण यह अपने अनुसार डेट डाल देते हैं.

Date of Birth से अपनी उम्र का पता लगाएं

अपनी जन्म तिथि डालें :



आधार कार्ड से जन्मदिन कैसे पता करें ?

आधार कार्ड हर लोगों के जीवन में बहुत ही महत्वपूर्ण होता है क्योंकि आधार कार्ड से हमारी पहचान की जाती है तथा जनगणना में आधार कार्ड के द्वारा ही लोगों की गणना की जाती है.

इसलिए आधार कार्ड हमारे जीवन में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. इन सभी के साथ साथ हर एक कार्य में आधार कार्ड का डिमांड होता है चाहे वह पढ़ाई से संबंधित कोई कार्य हो या समाज से संबंधित कोई कार्य हो.

सभी तरह के कार्यों में आधार कार्ड का जरूरत होता है इसलिए हर एक लोग अपना आधार कार्ड अपने पास रखते है.

पहले की जनरेशन में आधार कार्ड बहुत लोगों का लेट से बनता था लेकिन अब के जन्म लिए बच्चे का भी आधार कार्ड तुरंत बन जाता है, आधार कार्ड ऐसा कार्ड होता है जिसमें आपका पूरा एड्रेस माता पिता का नाम आपका नाम तथा आपका जन्मतिथि भी शामिल होता है.

इसलिए जिन लोगों को अपने जन्मदिन की तिथि पता करनी होती है वह अपने आधार कार्ड से जन्म की तिथि पता कर सकते हैं क्योंकि आधार कार्ड में उनकी जन्मतिथि लिखी हुई रहती है.

कई लोग अपनी जन्मतिथि आधार कार्ड में सही डालते हैं और कई ऐसे लोग होते हैं जिन्हें उनकी जन्म के दिन तथा तारीख पता नहीं होती जिस कारण वे अपने अनुसार कोई भी तारीख को आधार कार्ड में डाल देते हैं और वही तिथि उनके लिए उनका जन्मदिन बन जाता है और वह अपना जन्मदिन उसी तिथि के अनुसार हर साल मनाते है.

जन्म प्रमाण पत्र से जाने अपना जन्मदिन की तारीख 

जन्म प्रमाण पत्र एक ऐसा प्रमाणपत्र होता है जो बच्चे के जन्म लेने के पश्चात बनाया जाता है जिसमें उस बच्चे के जन्म लिए गए दिन ,महीना, साल के साथ-साथ माता पिता के नाम भी शामिल किया जाता है.

आजकल की जनरेशन में लगभग सभी बच्चे का जन्म प्रमाण पत्र बनाया जाता है क्योंकि जन्म प्रमाण पत्र के मदद से ही आधार कार्ड में सुधार की जाती है तथा खाता खुलवाने में भी इस पत्र का आवश्यकता होता है इसके साथ साथ अन्य कई कार्यों में जन्म प्रमाण पत्र की आवश्यकता होती है.

जिन लोगों को अपना जन्मदिन की तारीख पता करनी होती है वे अपने जन्म प्रमाण पत्र की मदद से पता करने में सक्षम हो सकते हैं क्योंकि उनकी जन्म की तारीख उनके इस प्रमाण पत्र पर लिखी हुई रहती है.

इस तरह आप अपने जन्म की तारीख अपने जन्म प्रमाण पत्र से पता करने के पश्चात अपने जन्मदिन मना सकते हैं.

वोटर आईडी कार्ड से अपने जन्मदिन पता करें 

वोटर आईडी कार्ड 18 साल के बाद उम्र वाले व्यक्ति का बनता है जिसमें उनका नाम, उनके माता-पिता का नाम, तथा उनके एड्रेस के साथ साथ उनके जन्म की तारीख में उस कार्ड पर लिखी जाती है.

यह कार्ड लोगों के बहुत से कार्य में आवश्यक होता है जिसकी मदद से कोई भी कार्य पूरा हो सकता है. इस कार्ड का उपयोग वोट देने के लिए भी की जाती है.

जिन लोगों को अपने जन्म की तारीख ज्ञात करनी होती है वह अपने वोटर आईडी कार्ड से भी जन्म की तारीख पता कर सकते हैं क्योंकि इस कार्ड में हर एक व्यक्ति का जन्म तिथि लिखा हुआ होता है जिससे आप अपने जन्म की तारीख पता करने में सक्षम हो पाते हो.

मैट्रिक सर्टिफिकेट से पता करें अपनी जन्मतिथि

बहुत से ऐसे लोग होते हैं जिन्हें अपनी जन्म की तारीख याद नहीं रहती, वह अक्सर भूल जाते हैं, भूलने के दौरान कई प्रकार के तरीकों से अपने जन्म तिथि को पता करने का प्रयास करते हैं ताकि वे अपने जन्मदिन पर जन्मदिन को मना कर उस दिन सेलिब्रेट कर सके.

जिन्हें अपनी जन्म की तारीख ज्ञात करनी होती है वे अपने मैट्रिक सर्टिफिकेट से अपना जन्मदिन का तारीख जान सकते हैं क्योंकि मैट्रिक सर्टिफिकेट में स्टूडेंट का सारा इंफॉर्मेशन लिखा हुआ रहता है जिसमें उनकी जन्मतिथि भी शामिल होती है.

इसलिए जिन लोगों को अपनी जन्मतिथि पता नहीं रहती, तो वे अपने मैट्रिक सर्टिफिकेट की मदद से अपनी जन्म की तारीख पता कर सकते हैं.

कॉलेज के पहचान पत्र से जाने अपनी जन्मतिथि 

हर एक विद्यार्थी अपने स्कूली शिक्षा के पश्चात कॉलेज में नामांकन करवाते हैं ताकि वे उच्च स्तर की शिक्षा प्राप्त कर सकें. कॉलेज के दौरान हर एक विद्यार्थी को पहचान पत्र दी जाती है जिससे उसकी पहचान हो सके कि वह इस कॉलेज के विद्यार्थी हैं.

कॉलेज के द्वारा दी गई पहचान पत्र में उस विद्यार्थी का सारा इंफॉर्मेशन लिखा हुआ रहता है जिसमें उनके माता-पिता का नाम, उनका नाम तथा उनके एड्रेस के साथ साथ उनकी जन्म की तारीख भी लिखी हुई रहती है.

इसलिए जिस व्यक्ति को अपने जन्म की तारीख पता नहीं होती वह अपने कॉलेज के द्वारा दिए गए पहचान पत्र की मदद से अपनी जन्म की तारीख जान सकते हैं.

इंस्टाग्राम से जाने हर किसी का जन्मदिन

यदि आपको किसी की जन्म की तिथि जननी हो तो आप बिना उनसे पूछे उनकी जन्मतिथि जन्म में सक्षम हो सकेंगे.

आप जिस भी व्यक्ति की जन्म तारीख जानना चाहते हैं और यदि वे इंस्टाग्राम यूज कर रहे हैं तो आप उसके इंस्टाग्राम के प्रोफाइल से उनकी जन्म की तारीख पता करने में सफल हो पाएंगे क्योंकि इंस्टाग्राम के प्रोफाइल में लोगों द्वारा उनका बर्थडे डेट डाला जाता है.

फेसबुक प्रोफाइल की मदद से जाने किसी का भी जन्मदिन 

यदि आप किसी व्यक्ति का जन्मदिन जानना चाहते हैं और वह व्यक्ति फेसबुक यूज करता है तो आप आसानी से उस व्यक्ति का जन्मदिन जान सकते हो.

जिस व्यक्ति का जन्मदिन आपको पता करना है आप उस व्यक्ति के फेसबुक प्रोफाइल में जाकर पता कर सकते हो क्योंकि फेसबुक प्रोफाइल में हर एक यूजर अपना डेट ऑफ बर्थ डालते हैं.

इस तरह अपने किसी रिलेटिव दोस्त या अन्य व्यक्तियों का भी जन्मदिन पता कर सकते.

गूगल से जाने अपना जन्मदिन की तारीख

बहुत से ऐसे लोग होते हैं जो अपने जन्म तिथि भूल जाते हैं और वह गूगल से प्रश्न करते हैं कि गूगल मेरा जन्मदिन कब है? इससे आपको गूगल आपका बर्थ डेट बताता है.

गूगल असिस्टेंट से भी आप अपना बर्थडे पता कर सकते हैं. इसके लिए आपको प्ले स्टोर से गूगल असिस्टेंट को डाउनलोड करना होगा उसके पश्चात गूगल असिस्टेंट को ओपन करने की सारी प्रक्रिया को करनी होगी.

जब गूगल असिस्टेंट खुल जाएगा तो आप बोले जाने वाले वॉइस को दबाकर बोले कि गूगल मेरा जन्मदिन कब है? इसके पश्चात गूगल असिस्टेंट आपको आपका जन्म की तारीख आपके द्वारा ईमेल आईडी में डाले गए डेट ऑफ बर्थ के अनुसार बताएगा. इस तरह गूगल असिस्टेंट के द्वारा आपको आपका जन्मदिन ज्ञात होगा.

अपने माता-पिता से जाने अपना जन्मदिन की तारीख 

बहुत से लोग ऐसे होते हैं जो अपना रियल डेट ऑफ बर्थ नहीं डालते क्योंकि उन्हें अपना रियल डेट ऑफ बर्थ पता नहीं रहता जिस तरह ने अपने अनुसार डेट ऑफ बर्थ डालते हैं इस तरह से आपको आपका सही डेट ऑफ बर्थ नहीं पता चलेगा.

यदि आप गूगल से भी प्रश्न करते हो तो गूगल आपको आपके ईमेल आईडी में लिखे गए डेट ऑफ बर्थ के अनुसार आपका जन्म तारीख को बताएगा.

यदि आपको अपनी सही जन्म की तारीख पता करनी है तो सही जानकारी आपके माता पिता दे सकते हैं क्योंकि हर मां बाप को अपने संतान का जन्म तारीख पता होता है. इसलिए आप अपने माता पिता से अपने जन्म की तारीख पता कर सकते हैं.

हमारे जन्मदिन का क्या महत्व है? 

जन्मदिन हर व्यक्ति के लिए एक खास दिन माना जाता है क्योंकि इस दिन वह अपने जन्म दिन को सेलिब्रेट करते हैं और उन्हें  उनके जन्मदिन पर बहुत सारी बधाइयां तथा गिफ्ट दिया जाता है.

इन सभी बधाइयों के साथ-साथ उन्हें अपने माता-पिता और अपने बड़े बुजुर्गों का भी आशीर्वाद मिलता है जिससे वे अपने आगे की जिंदगी में उन्नति कर सके.

जन्मदिन पर चॉकलेट क्यों बाटा जाता है? 

लोगों के जन्मदिन पर पहले के जमाने में मिठाइयां बांटी जाती थी और उनका जन्मदिन मनाया जाता था लेकिन अब के जनरेसन में बर्थडे के दिन में लोग चॉकलेट को बांट कर जन्मदिन मनाते हैं.

जन्मदिन पर चॉकलेट बात कर खुशियां मनाने का मतलब यह है कि उस व्यक्ति के जीवन का एक साल और बीत चुका है. पहले की परंपरा में थोड़ा बदलाव लाकर मिठाइयों के जगह चॉकलेट बैठकर जन्मदिन मनाई जाती है.

जन्मदिन पर केक क्यों काटा जाता है? 

जन्मदिन पर केक काटने की परंपरा जर्मनी से शुरू हुई है. जर्मनी में  एक व्यक्ति का कहना था कि वह अपने बच्चों के जन्मदिन पर केक काटकर खुशियां मनाएंगे.

उसी समय से जन्मदिन पर केक काटना उस जगह से लेकर सारे जगह पर प्रसिद्ध हो गया. हर जगह केक काटकर बच्चों के साथ साथ बड़े का भी जन्मदिन मनाया जाता है.

बर्थडे केक में मोमबत्ती क्यों जलाई जाती है? 

बर्थडे के दिन केक काटना जर्मनी से आरंभ हुआ था लेकिन बर्थडे केक में मोमबत्ती जलाकर उस दिन को सेलिब्रेट करना ग्रीस द्वारा प्रारंभ हुआ था.

यूनानी लोग केक को गोलाकार संरचना में बनाते थे क्योंकि वह केक को चंद्रमा के आकार का बनाकर चंद्रमा के जैसा प्रतीत करना चाहते थे.

इसमें मोमबत्ती में जलते हुए प्रकाश चंद्रमा के प्रकाश को नियुक्त करती है तथा मोमबत्ती से निकले हुए धुएं सभी लोगों की इच्छाओं को अपने साथ आसमान में उपस्थित देवी देवताओं तक लेकर जाते हैं जिससे सब की कामना पूरी होती है.

जन्मदिन हर लोगों के लिए साल का सबसे खास दिन माना जाता है क्योंकि उस दिन लोगों की जन्म हुई होती है इस खुशी में लोग उस दिन को मनाते हैं और एक साल जीने की खुशी को भी प्रकट करते हैं.

निष्कर्ष

जन्मदिन हर लोगों के लिए एक महत्वपूर्ण दिन माना जाता है क्योंकि वह जन्मदिन मना कर यह खुशी प्रकट करते हैं कि वे एक साल और अपने जीवन का जी लिए है.

आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से मेरा जन्मदिन कब है? इसे जानने के विभिन्न प्रकार के तरीकों को विस्तार पूर्वक बताएं हैं.

यदि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो आप अपने दोस्तों को शेयर करें.

Wasim Akram

वसीम अकरम WTechni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है.

Leave a Comment