आईआरएस ऑफिसर कैसे बने?

अगर आप स्टूडेंट है और आईआरएस ऑफिसर बनना चाहते है लेकिन आपको इसके बारे में जानकारी नहीं है तो आपके लिए हमारा आज का यह आर्टिकल बहुत महत्वपूर्ण होने वाला है बैसे भी आगरा इस आर्टिकल को पढ़ रहे है तो इसका मतलब आप या फिर आईआरएस (IRS) अधिकारी बनना चाहते है या फिर इसके बारे में जानकारी लेना चाहते है.

तो अब आपको इसकी बिल्कुल भी चिंता करने की जरूरत नहीं है क्योंकि यहाँ इस आर्टिकल में आपको  इस पद से जुड़ी हुई सभी जानकारी मिलेगी कि कैसे आप एक इससे जुड़े एग्जाम को पास कर सकते और किस प्रकार आप एक अधिकारी बन सकते है.

और आप कैसे इसके एग्जाम की तैयारी कर सकते है, इसके अलावा एग्जाम का सिलेबस क्या होता है इस पोस्ट के लिए तय आयु सीमा और इसकी शैक्षिक योग्यता क्या होती है, साथ ही आपको पद पर चयनित होने  के बाद मासिक वेतन की जानकरी मिलेगी की उसका एक महीने का वेतन कितना होता है. अगर आप ये जानकरी चाहते है तो कृपया इस आर्टिकल को अंत तक ज़रुर पढ़े.

आईआरएस ऑफिसर कैसे बने?

आईआरएस (IRS) का फुल फॉर्म इंडियन रेवेनु सर्विस (Indian Revenue Service) होता है ये एक सरकारी विभाग होता है जिसके अंतर्गत राजस्व विभाग के सभी काम किये जाते है इसका दूसरा नाम राजस्व विभाग है. ये विभाग वित्त मंत्रालय राजस्व विभाग के अंतर्गत अपना सभी काम करती है इस विभाग का मुख्य काम केंद्र सरकार को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष करो को उपलब्ध कराना है.

अगर आप जानना चाहते है कि IRS किस प्रकार की पोस्ट होती है तो  बस इतना जान लो कि ये आईएएस और पीएस की तरह ही एक पोस्ट होती है जो सिविल सेवा के अंतर्गत चुने जाते है. जिसके एग्जाम पास करने के लिए काफी मेहनत करनी होती है, क्योकि इसमें पद को पाने के लिए आपको मुख्य तीन चरणों की अलग – अलग परीक्षाओ से गुजरना पड़ता है जिसके बारे में हमने नीचे विस्तार से बताया है सो आप अपनी अधिक जानकारी के लिए हमारे इस लेख को पढ़ते हुए फॉलो करते जाये –

Most Read

आईआरएस ऑफिसर बनने के लिए योग्यता

जैसा की आप जानते है कि किसी भी सरकारी नौकरी के लिए सरकार द्वारा कुछ माप दंड तय किये जाते है जिनके पुरे होने के बाद ही आप उस पोस्ट के लिए आवेदन कर सकते है. इस  पद के लिए भी सरकार ने कुछ नियम तय किये है. अगर आप भी आईआरएस ऑफिसर की पोस्ट के लिए फॉर्म अप्लाई करना चाहते है तो आपको ये नियम और मापदंड पता होने चाहिए.

शैक्षिक योग्यता

इस पद के लिए फॉर्म अप्लाई करने के लिए आपकी मिनिमम क्वालिफिकेशन ग्रेजुएशन होनी चाहिए और इसके लिए आप किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से अपनी ग्रेजुएशन की डिग्री ले सकते है. अगर आप अपनी ग्रेजुएशन के अंतिम वर्ष में है तब भी आप इस पोस्ट के लिए फॉर्म अप्लाई कर सकते है.

नागरिकता योग्यता

इस  पोस्ट के लिए आपको भारत का नागरिक होना अनिवार्य है अगर आप भारत के नागरिक नही है और भारत में आईआरएस की पोस्ट के लिए फॉर्म अप्लाई कर रहे है तो उसके लिए तय किये गये मापदंड नीचे दिये गए है.

1. अगर आप तिव्वती शरणार्थी है जो 1 जनवरी 1962 से पहले भारत में स्थायी रूप से रहने आये है तो आप इस पोस्ट के लिए फॉर्म अप्लाई कर सकते है
2. अगर आप भारतीय मूल के पाकिस्तान/ वर्मा/ श्रीलंका/तंजानिया/जाम्बिया/ युगांडा/ मालवी/ और वियतनाम से भारत में बसने के लिए आये हुए शरणार्थी भी इस पोस्ट के लिए आवेदन कर सकते है.

इस  ऑफिसर बनने के लिए तय आयु सीमा

ऑफिसर की पोस्ट के लिए आवेदन करने के लिए आवेदक की आयु 21 वर्ष से कम ना हो और 30 वर्ष से अधिक नही होनी चाहिए. लेकिन इस सीमा में कुछ जाति वर्गों के उम्मीदवारों के लिए आयु सीमा में छूट दी जाती है जैसे कि अगर कोई आवेदक पिछड़ा वर्ग के जाति वर्ग से आता है तो उसे 3 साल की छुट दी जाती है.

मतलब वह आवेदक 33 वर्ष की आयु तक इस पोस्ट के लिए फॉर्म अप्लाई कर सकता है. इसके अलवा अगर कोई आवेदक अनुसूचित जाति या अनुसूचित जनजाति के वर्ग से आता है तो उसको इस आयु सीमा में 5 वर्ष की छूट प्रदान की जाती है जिससे वह 35 वर्ष की आयु तक इस पोस्ट के लिए फॉर्म अप्लाई कर सकता है.

आईआरएस की परीक्षा की तैयारी कैसे करे?

जैसा की आप सभी जानते है कि आज किसी भी एग्जाम की तैयारी करने या फिर किसी और काम को करने के लिए काफी मेहनत और लगन से उसके लिए तैयारी करनी चाहिए और इसके अलावा आपको एक अच्छे मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है। अगर आप में ये सभी चीज़े है फिर आप किसी भी क्षेत्र में अपना भविष्य बना सकते है।

फिर चाहे वह कोई बिज़नेस प्लान हो या फिर किसी एग्जाम की तैयारी, आप उसमे ज़रुर सफल होगें। ये आईआरएस (IRS) एक ऐसी परीक्षा है जिसमे आपको काफी मेहनत करनी होती है। इसी बात को ध्यान में रखकर आज का ये आर्टिकल उन स्टूडेंट के लिए है जो आईआरएस (IRS) की तैयारी कर रहे है.

और आईआरएस (IRS) अधिकारी बनकर अपने देश की सेवा करना चाहते है। इस आर्टिकल में आपको एग्जाम से सम्बंधित सभी जानकारी दी गई है जिससे आप अपने एग्जाम की अच्छे से तैयारी कर सकते है.

आपको बता दे कि आईआरएस (IRS) की परीक्षा संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) के द्वारा कराई जाती है इस एग्जाम में पास होने के लिए आपको तीन स्टेप्स पास करनी होती है। पहली स्टेप में आपको आईएएस का प्री एग्जाम पास करना होता है,

ये एग्जाम आपकी क्वालिफिकेशन को जांचने के लिए कराया जाता है आईआरएस के एग्जाम के दूसरे स्टेप में आपको एक और एग्जाम देना होता है इसका नाम “मेन एग्जाम” होता है, अगर आप ये एग्जाम पास कर लेते है, तो आप आईएएस की परीक्षा में पास हो जाते है।

इस एग्जाम में आपको कुछ पेपर देने पड़ते है जिसमे 2 पेपर में सब्जेक्ट ऑप्शनल होते है ये सब्जेक्ट आप अपने मन से चुन सकते है। और आईएएस के एग्जाम का तीसरा और लास्ट स्टेप इंटरव्यू होता है,

इस इंटरव्यू में आपसे आपकी सब्जेक्ट्स और जनरल नॉलेज से सम्बंधित कई तरह के प्रश्न पूछे जाते है, इसमें आपके पर्सनालिटी टेस्ट भी होते है अगर आप ये इंटरव्यू पास कर लेते है तो आप आईआरएस (IRS) के पद के लिए क्वालीफाई हो जाते है। इसके बाद आपकी ट्रेनिग होती है और उसके बाद आपको आईआरएस (IRS) का पद दे दिया जाता है।

आईआरएस की परीक्षा का पैटर्न

अगर आप भी किसी भी परीक्षा में पास होकर अपने सपने को पूरा करना चाहते है तो आपको अपने उस एग्जाम और आने वाले पेपर के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी पता होनी चाहिए जैसे कि आपका पेपर कैसा आता है और आपके कितने एग्जाम होगे और आपके एग्जाम पेपर का पैटर्न क्या है. ऐसी तमाम जानकारी आपके एग्जाम के लिए बहुत महत्वपूर्ण होती है. यहाँ इस आर्टिकल में आपको सभी ज़रुरी जानकारी मिलेगी.

आईआरएस का एग्जाम तीन चरणों में होता है?

पहला चरण

पहले चरण में आपको प्री एग्जाम देना होता है जिसमे आपके दो पेपर होते है। इन दोनों पेपरो में ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्न आते है और दोनों पेपरो का पूर्णाक 200-200 नंबर का होता है और इसमें आपको 2-2 घंटे का समय दिया जाता है। इस परीक्षा का मुख्य उद्देश्य इस एग्जाम में उपस्थित स्टूडेंट्स को अगली परीक्षा के लिए छटना होता है.

मतलब ये हि निश्चित करता है की आप अगले चरण के एग्जाम के लिए क्वालीफाई है या नही है. इस एग्जाम में candidates के जितने भी नंबर आते है उन अंको की कटऑफ मैरिट लागई जाती है, इस मैरिट से ही अगली परीक्षा के उम्मीदवारों का चयन किया जाता है। लेकिन इस परीक्षा में मिलने वाले अंतिम एग्जाम रिजल्ट की मेरिट में नही जुड़ते है.

पहले चरण की परीक्षा का सिलेबस

पहले चरण में होने वाली परीक्षा में दो पेपर होते है जिसका पहला पेपर सामान्य ज्ञान का होता है जिसका पूर्णाक 200 नंबर का होता है और इसमें आपसे जनरल नॉलेज के प्रश्न आते है और दूसरा पेपर आपका रीजनिंग का होता है जिसका पूर्णाक भी 200 नंबर का होता है, और इसमें आपसे रीजनिंग एवम तार्किक तर्क जैसे सवाल पूछे जाते है.

इस एग्जाम में सफल होने के लिए आपको काफी ज्यादा मेहनत करने की जरूरत पड़ती है जिससे आपका रीजनिंग के सवालो को हल करने का समय कम हो जाये क्यूंकि रीजनिंग के सवालो में ज्यादा समय लगता है. पहले चरण की परीक्षा मई या जून के महीने में होती है. इसलिए अगर आप इस एग्जाम की अच्छे से तैयारी करते है तो आप निश्चित ही इस एग्जाम में सफल हो जायेगे.

दूसरा चरण

जब कोई उम्मीदवार पहले चरण की परीक्षा में पास हो जाता है तो उसको दुसरे चरण की परीक्षा की परीक्षा में शामिल किया जाता है. इस चरण की परीक्षा में 5 एग्जाम कराये जाते है इस चरण की परीक्षा में आपको एक निबन्ध लिखना होता है इस निबन्ध का पूर्णाक 300 नंबर का होता है.

ये निबन्ध आपको अपनी मर्ज़ी के किसी भी टॉपिक पर लिखना होता है. इस पेपर से आपके पसंदीदा टॉपिक के बारे में जानकारी ली जाती है और आपकी एबिलिटी को चेक किया जाता है कि आप अपने पसंदीदा टॉपिक में बारे में आप कितना जानते है और आप उस को किस प्रकार लिख सकते है. इसका दूसरा पेपर English Ability को चेक करने के लिए कराया जाता है.जिसमे आपको अंग्रजी भाषा के कई प्रश्न आते है इसका पूर्णाक भी 300 नंबर का होता है.

आईआरएस की परीक्षा का तीसरा  एक सामान्य निबन्ध का होता है जिसमे आपको एक सामान्य निबन्ध लिखना होता है और इसका पूर्णाक 200 नंबर का होता है. इसके बाद दो पेपर सामान्य अध्यन के होते है जिसमे प्रत्येक पेपर का पूर्णाक 300 नंबर का होता है और सबसे लास्ट में आपके 4 पेपर होते है और आपके प्रत्येक 300 नंबर का होता है.

साक्षात्कार

जब आप सभी चरण की परीक्षा में पास हो जाते है तो आपको साक्षात्कार के लिए बुलाया जाता है. इस साक्षात्कार में आवेदक के व्यक्तिगत और मानसिक क्षमता का परिक्षण होता है. अगर उम्मीदवार इस साक्षात्कार में पास हो जाता है. तो उसके फिर अंतिम एग्जाम और साक्षात्कार में मिले हुए सभी अंको की एक मेरिट लगाई जाती है. और इस मेरिट के अंको के हिसाब से आईआरएस ऑफिसर का चुनाव किया जाता है.

एक आईआरएस का वेतन कितना होता है?

भारत सरकार द्वारा इस पद पर चयनित होने वाले व्यक्ति का वेतन 90,000 रुपये प्रतिमाह दिया जाता है. इसके अलावा इनका वेतन इनकी पे ग्रेड पर भी निर्भर करता है जिससे इनका वेतन कम ज्यादा होता रहता है.

निष्कर्ष

बैसे तो कोई भी एग्जाम हो सभी बहुत कठिन होते है क्योंकि दुनिया भर में आज हर क्षेत्र में कम्पटीशन बहुत बढ़ता जा रहा है जिस कारण आज लोगो को जॉब मिलना काफी मुश्किल होता जा रहा है.

इसलिए स्टूडेंट किसी भी एग्जाम की तैयारी करते है तो उस एग्जाम के पर्याप्त जानकारी होना बहुत ही महत्वपूर्ण हो जाता है अब जैसे की काफी ऐसे स्टूडेंट है जो आईआरएस ऑफिसर बनना तो चाहते है लेकिन उनके पास इसके ऐसा सिलेबस, चयन प्रक्रिया, परीक्षा पैटर्न के बारे में जानकारी नहीं होती है.

इसलिए आज हमने इस पोस्ट में आईआरएस ऑफिसर के बारे सम्पूर्ण जानकारी को शेयर किया। ताकि आगरा आप इस सरकारी नौकरी के लिए तैयारी कर रहे है तो आप आसानी से अपनी तैयारी कर सके.

मुझे उम्मीद है की ऊपर दी गयी जानकारी आपको उपयोगी साबित हुई होगी आपको हमारी आज की पोस्ट कैसी लगी हमे कमेंट करके जरूर बताये है. साथ ही अगर आपको इस आर्टिकल जुडी या अन्य किसी सरकारी नौकरी के बारे विशेष जानकारी चाहियेतो आप हमे कमेंट करके पूछ सकते है हम जल्द आपके साथ जुड़कर आपकी पूरी सहायता करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here