IIT क्या है – What is IIT in Hindi?

IIT का फुल फॉर्म Indian Institute of Technology है और ये एक इंजीनियरिंग शिक्षण संस्थान है. यह संस्थान भारत सरकार के अंतर्गत काम करती है जहाँ से हर साल इसके सभी शाखाओं से स्नातक की डिग्री हासिल करके कई योग्य इंजीनियर बनते हैं. 

सबसे पहला IIT संस्थान 1951 में बनाया गया था जिसकी स्थापना खड़गपुर में की गई थी.

भारत में इंजीनियरिंग पढ़ने वाले छात्रों के बीच में ये चर्चा काफी आम है की कौन सा इंजीनियरिंग इंस्टिट्यूट सबसे बेस्ट है और इसीलिए आज की पोस्ट में हम आपको बताएंगे की IIT क्या है (What is IIT in Hindi) और इसकी फीस कितनी हैं. 

जो बच्चे पढ़ने में मन लगाते हैं वही इस तरह के संस्थान में पढ़ने का खवाब देखते हैं. मेहनत करते हैं और इसे हासिल भी करते हैं.

आखिर लोगों के बीच में ये संस्थान इतना लोकप्रिय क्यों है, आईआईटी क्या होता है और इसके बाद कौन सा जॉब करते हैं.

ये सभी जानकारी के साथ साथ ये भी जानेंगे IIT के लिए 12th में कितने मार्क्स चाहिए?

इस तरह के हर सवाल का जवाब आपको ये पोस्ट पूरा पढ़ते पढ़ते मिल जायेगा.

हाई स्कूल (12th इंटरमीडिएट) pass करने के बाद भी कई स्टूडेंट ऐसे होते हैं जिन्हे ये मालूम ही नहीं होता की आखिर इसका हिंदी में पूरा नाम क्या होता है और इसके बाद जॉब कौन से प्राप्त होते हैं.

विषय दिखाएँ

आईआईट का परिचय

IIT एजुकेशनल इंस्टिट्यूट का एक ग्रुप है जो भारतीय सरकार द्वारा अच्छे और योग्य वैज्ञानिक, इंजीनियर और टेक्नोलॉजिस्ट्स बनाने के लिए शुरू किया था और ये अपने उद्देश्य को तब से पूरा करता आया है.

इसे भारतीय सरकार द्वारा विशेष मान्यता प्राप्त है. भारत में इंजीनियरिंग प्रतिभा को आगे बढाकर औद्योगिक विकास और मैन्युफैक्चरिंग को बेहतर बनाने के लिए शुरू किया गया था.

इस में ग्रेजुएशन लेवल के पढाई के लिए एडमिशन ली जाती है जिसके बाद छात्र बैचलर डिग्री की पढाई पूरी करते हैं. हालांकि इसकी प्रवेश परीक्षा बहुत ही ज्यादा कठिन होती है.

IIT Act 1961 के अधिनियम के अनुसार IIT’s ऑटोनोमस संसथान हैं जिसमे इसके खुद के बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर होते हैं.

भारत का पहला संसथान खड़गपुर था जिसे 1951 में शुरू किया गया था जिसके बाद दूसरा संसथान 1958 में बॉम्बे में बनाया गया था.

पुरे भारत में कई जगह में इसके संस्थान हैं और टोटल 23 आईआईटी के संस्थान हैं.

आज जब इंजीनियर बनने की बात आती है वहां सबसे पहला नाम इसी का सुनाई देता है. सालों से इंस्टीटूशन भारत को अनेकों talented इंजीनियर देता आ रहा है.

हर स्टूडेंट की दिली ख्वाहिश होती है की अगर वो पढाई करे तो आई आई टी से ही करे वरना ना करे.

वहां जो पढाई कर लेता है उसके लिए भी कंपनियों की लाइन खड़ी रहती है ताकि उन्हें जॉब पर ले सके.

आज जहाँ कई बच्चे पढाई-लिखे में मेहनत करने की बजाय गेम खेलकर समय बिताते हैं या फिर दोस्तों के साथ Yowhatsapp एप्प जैसे सोशल मीडिया एप्लीकेशन के द्वारा चैटिंग करते हैं.

वहां जब कोई लायक स्टूडेंट उसके एंट्रेंस एग्जाम को निकाल कर एडमिशन लेकर पढता है तो ये संस्थान एक हीरे की ही तरह तराशकर उस स्टूडेंट को ऐसा बना देती है जिसे हर कोई पसंद करता है.

IIT Full Form in English

Indian Institute of Technology 

आईआईटी का पूरा नाम

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान  

IIT परीक्षा के लिए आवश्यक योग्यता?

आई आई टी की परीक्षा देने के लिए वो कौन सी बातें हैं जीका होना जरुरी है और जिसके बिना आप इसके एग्जाम में नहीं बैठ सकते हैं.

इस की परीक्षा में बैठने के लिए स्टूडेंट को 12th में पास होना जरुरी है. जिस साल 12th की परीक्षा हो वो उसी साल इसके एग्जाम के लिए फॉर्म फॉर्म भर कर बैठ सकते हैं.

IIT के लिए 12वीं में कितने मार्क्स चाहिए?

अगर इसका एंट्रेंस निकाल लेने के बाद भी अगर स्टूडेंट 12th के परीक्षा में fail हो जाएँ या फिर उनका 12th में 60% मार्क्स से कम हो तो भी उसे प्रवेश नहीं मिल सकता है.

इसमें प्रवेश लेने के लिए 10th के एग्जाम में minimum 60% marks का होना compulsory है और 10+2 में इन 3 subject का पढ़ना जरुरी है और इस में भी 60% से अधिक नंबर का होना अनिवार्य है.

  • Mathematics (गणित)
  • Physics (भौतिकी)
  • Chemistry (रसायन विज्ञान)

इन तीनों में से अगर किसी भी विषय को पढाई के दौरान नहीं चुनते हैं और छोड़ देते हैं तो आपको इस प्रवेश परीक्षा में बैठने की अनुमति नहीं दिया जायेगा. इस एग्जाम में इन्ही तीनों विषय से प्रश्न आते हैं.

IIT कैसे करें?

आप चाहे तो बिना कोचिंग के भी IIT की तैससरी कर सकते हैँ लेकिन आपका कांसेप्ट क्लियर होना चाहिए.

वैसे अभी यूट्यूब मे आपको हर टॉपिक से जुड़े वीडियो मिल जायेंगे.

इस प्रकार आप चाहे तो बिना किसी JEE कोचिंग के इस एग्जाम को crack कर सकते है.

बस जरुरत है तो थोड़ी स्मार्ट तरीके से पढ़ाई करने की.

अगर आप ने अपने मेट्रिक का एग्जाम पास कर लिया है तो अब ये बिलकुल आप का ही समय है IIT की तैयारी करने का और आप पुरे तरीके से इस पर ध्यान भी दे सकते हैं.

मैं आपको वो सभी तरीके बताऊंगा जिससे आप इस एग्जाम को निकाल सकते हैं.

वैसे कई ऐसे बच्चे हैं जिन्हे पढ़ने की बजाय खेलने में ज्यादा मज़ा आता है और खेलकूद में ही अपना करियर बनाना चाहते हैं.

भारत में आईपीएल देखने वालों को कमी नहीं है जिसे हर साल आयोजित किया जाता है.

कई लोग आईपीएल देखने के लिए smartphone का इस्तेमाल कर सकते हैं.

इसमें कई नए लड़को ने अपना करियर बनाया है. लेकिन जो बच्चे पढाई में ध्यान देते हैं और IIT करना चाहते हैं उनके लिए भी कई प्रेरणा श्रोत हैं जहाँ से उनको इस पढाई की तयारी करने में मदद मिलती है.

अगर आप इस परीक्षा की तयारी करने के बारे में विस्तार से जानना चाहते हैं ततो हमारे लिखे आर्टिकल IIT कैसे करे जरूर पढ़ें.

बिना कोचिंग के IIT की तैयारी कैसे करें?

1. सबसे पहले एग्जाम के पैटर्न को समझिये:

परीक्षा 2 लेवल में होती है एक तो होता है IIT Mains और दूसर दूसरा IIT Advance होता है.

JEE Main

विषय पूछे जाने वाले सवालों की संख्या
फिजिक्स 30
केमिस्ट्री 30
गणित 30

इस का एग्जाम 3 घंटे का होता है जिसमे 90 multiple choice questions (सवाल) पूछे जाते हैं.

इस परीक्षा को 3 सेक्शन में लिया जाता है. Physics, chemistry और math.

इसमें से हर सेक्शन से 30 question पूछे जाते हैं. सभी सेक्शन में अलग अलग pass marks लाना अनिवार्य है.

  • हर सही जवाब देने पर 4 मार्क्स दिए जाते हैं.
  • गलत जवाब देने पर 1 मार्क कम कर दिया जाता है जिसे हम नेगेटिव मार्किंग के नाम से जानते हैं.
  • किसी सवाल को छोड़ देने पर न तो उसके कोई नंबर जुड़ते हैं और ना ही काटते हैं.

JEE Advance 

Advanced का एग्जाम Main exam से बिलकुल ही अलग तरह से लिया जाता है.

इस में भी वही 3 विषयों से सवाल पूछे जाते हैं यानि की PCM बस अंतर ये हैं की इस में एग्जाम के लिए हर टॉपिक के लिए एक एक घंटा अलग अलग दिया जाता है और पूरा एग्जाम 3 घंटे का होता है जो 2 बार होता है.

पहला पेपर

इस में हर सेक्शन में 10 Multiple choice questions पूछे जाते हैं जिसमे सिर्फ एक answer correct होता है.

इस में 5 multiple choice questions होते हैं जिसमे एक या उससे अधिक answer correct होते हैं और 5 ऐसे question होते हैं जिनके जवाब single digitanswer होते हैं.

दूसरा पेपर

इस में हर सेक्शन से 8 multiple choice questions आते हैं जिसमे से एक answer correct होता है. इसमें 8 question एक passage पर आधारित होता है.

2. हर विषय की तैयारी अच्छे से करें 

जब आप समझ जाते हैं की इस परीक्षा में सवाल किस तरह से पूछ जाता है और मार्किंग कैसे की जाती है तो बारी आती है पढाई करने की.

पढाई किस विषय की करें ये तो हम पहले ही बता चुके हैं की किस किस टॉपिक से सवाल पूछे जाते हैं.

आपको हर विषय के टॉपिक को ध्यान पूर्वक पढ़ना है. सवाल किस किस टॉपिक से पूछे जायेंगे चलिए ये भी जान लेते हैं.

Chemistry: Basic Principles of Organic Chemistry, Environmental Chemistry, Status of matter, Redox Reaction Chemical kinetics

Mathematics: Integral Calculus, Differential Equation, Sequences, and series, Co-ordinate Geometry, Matrices, Application of Derivatives,  Mathematical induction.

Physics: Electric devices, Law of Gravity, Laws of Motion, Thermodynamics, Optics, Sound Waves, electromagnetism, Kinematics.

3. Question बैंक बनायें 

आप जब JEE की ऑफिसियल वेबसाइट को खोलेंगे तो आपको पीछे पूछे गए हर साल के सवाल मिल जाएंगे.

आप पिछले के 4-5 सालों को इकठ्ठा करें और सभी सवालों का प्रयास करें साथ ही उसके पैटर्न के अनुसार अपनी टाइमिंग को भोई चेक करें.

इससे आपको पैटर्न को समझने में आसानी होगी और आप खुद के तैयारी को भी test कर सकेंगे.

4. ग्रुप स्टडी करें

अगर आपके दोस्त भी इस परीक्षा की तैयारी कर रहे हैँ तो हर रोज़ कुछ घंटों के लिए ग्रुप स्टडी करें इससे आपको बहुत फायदा मिलेगा.

ग्रुप स्टडी के दौरान आप कठिन सवालों को डिसकस कर सकते हैँ और अपने दोस्तों की मदद ले सकते है.

5. इंटरनेट से प्रश्नों का हाल देखें

इंटरनेट मे हर टॉपिक के नोट्स आपको मिल जायेंगे. अगर आपको जटिल सवालों को हाल करने मे परेशानी आ रही है तो आप इन नोट्स की मदद ले सकते हैँ.

6. यूट्यूब मे टॉपिक से जुड़े लेक्चर के वीडियोस देखें

यूट्यूब प्लेटफार्म का भी उपयोग आप अपने एग्जाम की तैयारी मे कर सकते हैँ.

वो कैसे?

वो ऐसे की यूट्यूब मे बहुत सारे ऐसे चैनल हैँ जो बिलकुल फ्री मे IIT की तैयारी बच्चों को करते हैँ.

आपको हर टॉपिक से जुड़े वीडियो मिल जायेंगे जिससे आप आसानी से किसी भी टॉपिक को समझ सकते हैँ.

सबसे अच्छी बात ये है की आप वीडियो को बार बार देख सकते हैँ जिससे टॉपिक को समझना आसान हो जाता है.

दूसरा फायदा ये है की आपको कोचिंग मे लगने वाला खर्च भी बच जाता है.

IIT की फीस कितनी है?

  • भारत के सभी IIT में बीटेक करने के लिए हर साल 90000 (जेनेरेल केटेगरी) रु लगता था.
  • लेकिन पिछले साल केंद्रीय सरकार ने ट्यूशन फीस को 90000रु से बढ़ाकर 200000 रु (General+OBC) कर दिया गया है.
  • SC/ST और PWD यानि दिव्यांगों के लिए फीस पर उनके घर के आय के आधार पर छूट दी जायेगी लेकिन मेस और होस्टल फीस उन्हें भी देना होगा.
  • जिन छात्रों के परिवार की सालाना आय एक लाख (100000 रु) से कम है उनके लिए फीस माफ़ है उन्हें फीस देने की जरुरत नहीं है.
  • वही जिनके पारिवारिक सालाना आय 1 लाख से 5 लाख के बीच है उन्हें फीस का एक-तिहाई हिस्सा देना पड़ेगा. इस में जनरल, ओबीसी सभी शामिल हैं यानि इसका लाभ सभी को मिलेगा.
  • अतिरिक्त फीस जैसे हॉस्टल फीस, मेस फीस, मेडिकल फीस सभी को चुकाना पड़ता है.

IIT कितने साल का कोर्स है?

आम तौर पर अधिकतर इंजीनियरिंग कोर्स चार साल का होता है.

आईआईटी कितने साल की पढाई कराती है ये हम यहाँ पर आपको बताने जा रहे हैं.

  • B. Tech (Bachelor degree) – 4 साल
  • B. Tech + M. Tech – 5 साल
  • M. Tech – 2 साल

IIT करने के फायदे  – Advantages of IIT in Hindi

आखिर क्या वजह है की हर इंजीनियरिंग करने वाला स्टूडेंट चाहता है की वो आई आई टी से ही इंजीनियरिंग करे.

क्यों हर अभिभावक अपने बच्चे को इस अनोखे institute में शिक्षा लेने के लिए पढाई करने की इच्छा रखता है.

तो चलिए जान लेते हैं इस संस्थान में पढ़ने के फायदे.

ब्रांड की तरह नाम:

आप जब इसमें पढाई करते है और पूरा करने के बाद बाहर निकलते हैं तो आपके नाम को हमेशा Indian Institute of Technology के साथ जोड़ा जाता है यानी हर IITian अपने नाम के बाद ये शब्द जरूर जोड़ता है.

एक तरह से नाम के साथ एक विशेष टाइटल ही जुड़ जाता है.

सुनकर लोग समझ जाते हैं की कहाँ से पढाई किया है और कितने geniuess हैं.

सभी लोगों से आदर का मिलना:

हर छात्र जो यहाँ से पढता है उसकी इज़्ज़त हर कोई करता है भले जानने वाला हो या कोई भी अनजान इंसान हो.

ये संस्थान देश का सबसे प्रतिष्ठित संस्थान है और यहाँ के लिए क्वालीफाई करना और पढाई करना बहुत ही सम्मानजनक बात है.

आसानी से जॉब मिलना:

दोस्तों पढाई करने के मकसद अपना करियर को संवारना और बेहतर से बेहतर बनाना साथ ही सामाजिक और आर्थिक विकास के साथ देश का विकास करना भी है.

इस संस्थान में पढ़ने वाले हर छात्र बेहतरीन शिक्षा पाते हैं और अपने दिमाग का इस्तेमाल कर के उसी ज्ञान के वजह से अच्छा जॉब पाते हैं.

उन्हें कंपनियों के पास जाने की जरुरत नहीं पड़ती बल्कि कंपनियां खुद ही इस संस्थान के स्टूडेंट्स को जॉब देती हैं.

आपने कई बार सुना होगा की इस संस्थान से पढ़ने वाले स्टूडेंट्स को बहुत ही अच्छी सैलरी के साथ प्लेसमेंट होता है.

भारत में स्थित IIT के कॉलेजों की लिस्ट:

हमारे देश की विभिन्न हिस्सों में इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी के संसथान हैं जिन्हे हम लिस्ट के रूप में आपकी जानकारी के लिए लेकर आये हैं.

  1. आई आई टी खड़गपुर
  2. बॉम्बे
  3. मद्रास
  4. गुवाहाटी
  5. दिल्ली
  6. कानपुर
  7. रूरकी
  8. धारवाड़
  9. धनबाद
  10. हैदराबाद
  11. गांधीनगर
  12. जोधपुर
  13. तिरुपति
  14. पलक्कड़
  15. जम्मू
  16. गोवा
  17. रोपड़
  18. मंडी
  19. इंदौर
  20. वाराणसी
  21. भिलाई
  22. भुवनेश्वर
  23. पटना

IIT के बाद जॉब?

इस संस्थान में पढ़ने वाले छात्रों ने कई बड़े रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं.

मल्टीनेशनल कम्पनियां अधिकतर अपनी एंप्लोई का चुनाव इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी संस्थान जाकर ही करती है.

भारत की कंपनियों से कहीं ज्यादा विदेशी कंपनियां इन छात्रों को अपने यहां पर नौकरी देती है.

हर साल प्लेसमेंट के दौरान कई बड़ी बड़ी कंपनी आईआईटी के विभिन्न शाखाओं में जाकर छात्रों को अच्छी सैलरी ऑफर करती हैं एवं उन्हें जॉब देती हैं.

इनमें अधिकतम सैलरी पाने वाले छात्रों को 1 करोड़ रुपए सालाना सैलरी का भी ऑफर मिल चुका है.

दुनिया की सबसे बड़ी कंपनियां जैसे माइक्रोसॉफ्ट इत्यादि भी कई बार इस संस्थान में पढ़ने वाले छात्रों को अपने यहां जॉब दे चुकी हैं.

किसी में फ्रेशर के लिए इस प्रकार का जॉब मिलना सपने से कम नहीं हो सकता.

IIT की सैलरी

जैसे कि हमने ऊपर आपको बताया कि एक करोड़ सालाना भी सैलरी ऑफर की जा चुकी है.

यही वजह है कि कोई भी इंजीनियरिंग का छात्र यही चाहता है कि सबसे बड़े इंजीनियरिंग संस्थान से ही पढ़ाई करें.

चलिए हम आपको बता देते हैं कि अभी तक प्रत्येक इस संस्थान के सपनों में ऑफर की गई अधिकतम सैलरी कितनी है.

IIT संस्थान अधिकतम ऑफर की गई सैलरीऔसत सैलरी प्रति वर्ष
मद्रास 95.87 लाख 12-20 लाख
दिल्ली 1.4 करोड़ 16 लाख
इंदौर 36.5 लाख 16.6 लाख
मुंबई1.5 करोड़ 18 लाख
रूरकी 1.5 करोड़ 20 लाख
पटना 49.80 लाख 11.47 लाख
धनबाद 41.89 लाख 11 लाख
भुवनेश्वर 39 लाख 11.15 लाख
कानपूर 1.42 करोड़ 15.8 लाख
गुवाहाटी 1.5 करोड़ 15.57 लाख
हैदराबाद 40 लाख 11.5 लाख
बीएचयू 1.38 करोड़ 8.19 लाख
जोधपुर  32.5 लाख 11 लाख

IIT की तैयारी के लिए बुक

किसी भी परीक्षा की तैयारी करने के लिए एक अच्छे प्लानिंग की जरुरत होती है जिसमे सबसे अहम होती है सिलेबस के लिए सबसे अच्छी किताबें.

हम आपको यहाँ पर ऐसी ही बेहतरीन किताबों की जानकारी दे रहे हैं जो आपकी तैयारी करने में काफी मददगार साबित होंगी.

Physical Chemistry

Name of BooksAuthors /PublisherCheck on Amazon
Physical ChemistryP.W.AtkinsBuy on Amazon
Physical ChemistryO.P. TandonBuy on Amazon
Numerical ChemistryR.C. MukharjeeBuy on Amazon
Numerical ChemistryP. Bahadur(G.R.Bathla & Sons)Buy on Amazon
Chemistry XI, XIINCERTBuy on Amazon

Organic Chemistry

Name of BooksAuthors /PublisherCheck on Amazon
Organic ChemistryJ.D MarchBuy on Amazon
Organic ChemistryO.P. TandonBuy on Amazon
Concept of Organic ChemistryM. S. ChauhanBuy on Amazon
Organic ChemistryArihant PrakashanBuy on Amazon
Organic ChemistrySolomonsBuy on Amazon

Inorganic Chemistry

Name of BooksAuthors /PublisherCheck on Amazon
NCERTChemistry XI & XIIBuy on Amazon
J.D. LeeInorganic ChemistryBuy on Amazon
O.P. TandonInorganic ChemistryBuy on Amazon

Physics Books

Name of BooksAuthors /PublisherCheck on Amazon
Concepts of Physics Vol I and IIH.C.VermaBuy on Amazon
Problems in General PhysicsI.E. IrodovBuy on Amazon
Arihant PublicationsObjective questions on physics by D.C. PandeyBuy on Amazon
L. A. SenaA collection of questions and Problems in PhysicsBuy on Amazon
Halliday, Resnick & WalkerFundamentals of PhysicsBuy on Amazon

Mathematics Books

Name of BooksAuthors /Publisher
Complete Mathematics for JEE MainTata McGraw Hill (TMH).
Maths XI & XIIR.D. Sharma
ArihantIntegral Calculus, Algebra, Differential Calculus
S. L. LoneyCo-ordinate Geometry
S. L. LoneyTrigonometry

संक्षेप में

इस शिक्षण संस्थान की पढाई और तयारी कैसे करे इस पोस्ट में हमने विस्तार से बताया है साथ ही आपने इस पोस्ट के माध्यम से ये भी जाना की इस संस्थान में पढ़ने के फायदे क्या है और इसके कॉलेज कितने और कहाँ कहाँ हैं.

हम उम्मीद करते हैं की आईआईटी क्या होता है बहुत अच्छे ढंग से समझ गए होंगे.

IIT की फीस कितनी है और इसके लिए 12th में कितने मार्क्स चाहिए? ये लगभग हर कोई जानना चाहता है और ये कितने साल का कोर्स है, साथ ही इसे करने के लिए क्या करना चाहिए.

बहुत सारे लोगों को ये भी जानना जरुरी है की इसके बाद जॉब कहाँ मिलती है और इनकी सैलरी कितनी होती है जो की हमने सरल शब्दों में बता दिया है.

हर पढाई करने वाला छात्र चाहता है की वो सबसे बेस्ट कॉलेज में पढाई करे और इंजीनियरिंग की पढाई करनी है तो फिर IIT क्या है (What is IIT in Hindi) की पूरी जानकारी होनी जरुरी है क्यूंकि ये भारत के बेस्ट इंजीनियरिंग कॉलेज है.

इस पोस्ट के बारे में अपने दोस्तों और आसपास पढाई करने वाले सभी लोगों को बताएं क्यों की इस पोस्ट को पढ़ के शायद उन्हें भी वो जानकारी मिल जाये जिनकी उन्हें तलाश हो.

इसीलिए आप इस पोस्ट को जरूर फेसबुक, व्हाट्सएप्प, इंस्टाग्राम और ट्विटर में शेयर करें.

IIT से जुड़े अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

1. IIT एग्जाम क्या है?

इस इंजीनियरिंग संस्थान में एडमिशन लेने के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया जाता है उसे ही IIT एग्जाम कहा जाता है.

2. आईआईटी कितने साल का कोर्स है?

यह कोर्स चार वर्ष का होता है.

3. IIT के लिए योग्यता क्या चाहिए?

इस संस्थान में एडमिशन लेने के लिए पहली बात तो आपको 12वीं साइंस लेकर पढ़ना है जिसके अंतर्गत आपको फिजिक्स केमिस्ट्री और मैथ की पढ़ाई करनी है.
10वीं और 12वीं में आपके 60 प्रतिशत से अधिक अंक होने चाहिए. आईआईटी के एग्जाम के लिए दो चांस मिलते हैं इसीलिए दसवीं के बाद से गैप नहीं होना चाहिए.

4. आईआईटी के बाद सैलेरी कितनी होती है?

आईआईटी के बाद इसे पढ़े हुए छात्रों को काफी अच्छी सैलरी मिलती है अभी तक 1 करोड़ रुपए सालाना पैकेज के रूप में दी जा चुकी है.

5. आईआईटी में एडमिशन के लिए 12वीं में कितने प्रतिशत अंक चाहिए?

एडमिशन के लिए 12वीं में 60% प्रतिशत अंक चाहिए.

6. आईआईटी में एडमिशन के लिए 10वीं में कितने प्रतिशत अंक चाहिए?

दसवीं में आपके 60% प्रतिशत अंक होने चाहिए.

7. 12वीं के बाद आईआईटी की तैयारी कितने दिनों तक करें?

12वीं कंप्लीट कर लेने के बाद में आपके पास एक और साल का मौका होता है तो आप एक पूरा साल इसकी तैयारी करके इस के एग्जाम को लिख सकते हैं.

8. क्या पॉलिटेक्निक के साथ-साथ कोई आईआईटी जेईई की तैयारी कर सकते हैं?

अगर आप पॉलिटेक्निक कर रहे हैं तो फिर आपको JEE की तैयारी उस वक्त नहीं करनी चाहिए.
अगर इस की तैयारी करना चाहते हैं तो आप आईएससी ले और 2 सालों का जो इंटरमीडिएट साइंस का कोर्स होता है उसे करें।

9. अगर कोई कक्षा दसवीं में बायोलॉजी लेता है तो क्या हुआ आईआईटी कर सकता हैं?

दसवीं कक्षा में अब चाहे जो भी विषय लो. अनिवार्य रूप से जो जरूरी विषय होते हैं जिनमें गणित, फिजिक्स केमिस्ट्री सारे शामिल होते हैं.
तो जी हां बिल्कुल आप दसवीं में बायोलॉजी पढ़ने के बावजूद भी जेईई की परीक्षा में बैठ सकते हैं.

Wasim Akram

वसीम अकरम WTechni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है.