आईएएस कैसे बने और आईएएस का क्या काम होता है?

एक IAS ऑफिसर बनने का सपना हर युवा का होता है, हर युवा चाहता है कि वो एक आईएएस ऑफिसर बनकर अपने देश की सेवा करे।  जैसा की आप जानते है कि आईएएस पुरे देश में सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है. इसके लिए बहुत से युवा पुरे साल भर इसके पेपर की तैयारी करते रहते है और इसके लिए फॉर्म अप्लाई करते है. इसके लिए आज की इस पोस्ट में जानेंगे एक आईएएस ऑफिसर कैसे बने और एक आईएएस ऑफिसर का क्या काम होता है?

अच्छी तैयारी करने के बाद बहुत से युवा आईएएस का एग्जाम पास कर लेते है। ये काफी कठिन एग्जाम होता है इसमें बहुत से पेपर देने होते है और एक इंटरव्यू भी होता है जिसमे पास होने के बाद ही आप एक आईएएस ऑफिसर बन सकते है।

तो अगर आप इस पद के लिए आवेदन करना चाहते है और इसके एग्जाम को पास करना चाहते है तो आपके लिए हमारा आज आर्टिकल काफी महत्वपूर्ण हो सकता है क्योंकि आज इस आर्टिकल में आपको आईएएस से संबंधित सभी जानकरी दी जाएगी। आईएएस के बारे में समस्त जानकारी लेने के लिए इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े।

IAS क्या होता है?

आईएएस क्या है इसके बारे में हमने विस्तार में आर्टिकल लिखा है जिसे आप पढ़ सकते हैं वैसे ये एक प्रशासनिक अधिकारी होता है जो UPSC की परीक्षा को पास करने के बाद बनता है ये सरकार के कामों  में महत्वपूर्ण स्थान रखता है।

आईएएस का फुल फॉर्म इंडियन एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस होता है. एक आईएएस ऑफिसर  संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा आयोजित परीक्षा में टॉप रैंक से पास करने वाले वो उम्मीदवार होते है।

ये सरकारी नियमों और कानून को अपनी सेवा के क्षेत्र में लागू करने में सरकार की मदद करते  है। अगर आप एक आईएएस ऑफिसर बनना चाहते है तो आपको संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) द्वारा 24 तरह की आयोजित परिक्षाओ में अच्छी रैंक से पास होता है ऐसे लोग आईएएस ऑफिसर बनते है।

आईएएस कैसे बने?

अगर आप एक IAS Officer बनना चाहते है तो आपको सबसे पहले अपनी ग्रेजुएशन तक की पढाई पूरी करनी होगी। आप अपनी ग्रेजुएशन किसी भी सब्जेक्ट से कर सकते है। जब आप अपनी ग्रेजुएशन शुरू करे तभी आपको आईएएस की तैयारी शुरू कर देनी चाहिए।

इसकी तैयारी करने के लिए आपको इसके सिलेबस की पूरी जानकारी होनी चाहिए और साथ ही आपको तैयारी करने की टिप्स भी पता होनी चाहिए जिससे आप अपने एग्जाम में सफल हो सके।

IAS की तैयारी कैसे करे?

जैसा की आप सभी जानते है कि आज किसी भी एग्जाम की तैयारी करने या फिर किसी और काम को करने के लिए काफी मेहनत और लगन से उसके लिए तैयारी करनी चाहिए और इसके अलावा आपको एक अच्छे मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है।

अगर आप में ये सभी चीज़े है फिर आप किसी भी क्षेत्र में अपना भविष्य बना सकते है। फिर चाहे वह कोई बिज़नेस प्लान हो या फिर किसी एग्जाम की तैयारी, आप उसमे ज़रुर सफल होगें। 

आईएएस एक ऐसी परीक्षा है जिसमे आपको बहुत मेहनत करनी होती है। इसी बात को ध्यान में रखकर आज का ये आर्टिकल उन स्टूडेंट के लिए है जो आईएएस की तैयारी कर रहे है और आईएएस अधिकारी बनकर अपने देश की सेवा करना चाहते है।

इस आर्टिकल में आपको आईएएस के एग्जाम से संबंधित सभी जानकारी सी गई है जैसे की आप आईएएस की तैयारी कैसे करे और इस का सिलेबस क्या है उसमे कौन कौन से विषय से प्रश्न पूछे जाते है और कितनी परीक्षाये होती है साथ ही आईएएस की योग्यता जैसी सभी जानकारी इस आर्टिकल में शेयर की गई है।

 इस पोस्ट की परीक्षा संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) के  द्वारा कराई जाती है इस एग्जाम में पास होने के लिए आपको तीन स्टेप्स पास करनी होती है।

पहली स्टेप में आपको आईएएस का प्री एग्जाम पास करना होता है, ये एग्जाम आपकी क्वालिफिकेशन को जांचने के लिए कराया जाता है प्री एग्जाम में आपके एक दिन में दो पेपर होते है ताकि अगले एग्जाम के लिए सिर्फ ऐसे स्टूडेंट्स आ सके जो क्वालिफिकेशन में और नॉलेज में अच्छे हो।

इस एग्जाम में मिलने वाले नंबर आपकी फाइनल मेरिट में नही जोड़े जाते है, ये मेरिट सिर्फ दुसरे चरण के लिए स्टूडेंट्स को शोर्ट करने के लिए ही होती है। 

आईएएस के एग्जाम के दूसरे स्टेप में आपको एक और एग्जाम देना होता है इसका नाम “मेन एग्जाम” होता है, अगर आप ये एग्जाम पास कर लेते है, तो आप आईएएस की परीक्षा में पास हो जाते है।

इस एग्जाम में आपको 7 पेपर देने पड़ते है जिसमे लास्ट के 2 पेपर में सब्जेक्ट ऑप्शनल होते है ये सब्जेक्ट आप अपने मन से चुन सकते है। और आईएएस के एग्जाम का तीसरा और लास्ट स्टेप इंटरव्यू होता है, इस इंटरव्यू में आपसे आपकी सब्जेक्ट्स और जनरल नॉलेज से सम्बंधित कई तरह के प्रश्न पूछे जाते है.

इसमें आपके पर्सनालिटी टेस्ट भी होते है अगर आप ये इंटरव्यू पास कर लेते है तो आप आईएएस के पद के लिए क्वालीफाई हो जाते है। इसके बाद आपकी ट्रेनिग होती है और उसके बाद आपको आईएएस का पद दे दिया जाता है।

UPSC द्वारा हर साल 24 तरह की परीक्षाये आयोजित कराई जाती है और जो भी कैंडिडेट इन परीक्षाओ में अच्छे अंको से पास होता है उसे ही आईएएस के पद के लिए चयनित  किया जाता है। हर साल इस पद के लिए लगभग 10 लाख फॉर्म भरे जाते है जिसमे से प्री एग्जाम के लिए लगभग 5 लाख स्टूडेंट्स एग्जाम देते है।

आईएएस बनने के लिए जरूरी क्वालिफिकेशन (शैक्षणिक योग्यता)

आईएएस की परीक्षा में शामिल होने के लिए उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से ग्रजुएट होना अनिवार्य है.

अगर आप अपनी ग्रेजुएशन के फाइनल ईयर में है तब भी आप इस परीक्षा में शामिल हो सकते है । लेकिन मुख्य परीक्षा में भाग लेने के लिए आपको आवेदन पत्र के साथ डिग्री देनी आवश्यक होगी । 

.

आईएएस बनने के लिए जरूरी नागरिकता

इस पद के लिए UPSC के द्वारा एग्जाम कराया जाता है जो लगभग सबसे कठिन एग्जाम माना जाता है तो अगर आप इसके लिए अप्लाई करना चाहते है तो इसके लिए आपके पास भारत की नागरिकता होना अनिवार्य है, भारत का नागरिक होने  अपना आवेदन कर सकेंगे।

जो भी उम्मीदवार इस पद के लिए अप्लाई करना चाहते हैं उसे भारतीय नागरिक होना जरूरी है.  इसके अलावा अगर कोई रिफ्यूजी नेपाल, भूटान और तिब्बत के रिफ्यूजी है जो 1 जनवरी 1962 के पहले भारत में आया था और वह परमानेंटली भारत में रह रहा है वह भी इसके लिए अप्लाई कर सकता है.

कोई भारतीय मूल का इंसान जो बर्मा, श्रीलंका, पाकिस्तान, केन्या, युगांडा, रिपब्लिक ऑफ तंजानिया, जांबिया, मलावी, इथोपिया, जाएरे, इत्यादि देशों से माइग्रेट होकर भारत में आया है और यहां पर अस्थाई रूप से बस चुका है या बसना चाहता है तो फिर वह भी अप्लाई कर सकते हैं.

आईएएस बनने के लिए आयु सीमा

इस पद की परीक्षा में बैठने के लिए या आवेदन करने के लिए आपकी आयु कम से कम 21 बर्ष होनी चाहिए । लेकिन आरक्षण की बजह से कुछ वर्गों  में छूट भी दी जाती है जैसे

  • सामान्य वर्ग  के उम्मीदवार के लिए तय उम्र सीमा – 32 वर्ष  
  • पिछड़ा वर्ग वर्ग  के उम्मीदवार के लिए तय उम्र सीमा – 35 वर्ष (3 वर्ष की छूट) ।
  • अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वर्ग  के उम्मीदवार के लिए तय उम्र सीमा – 37 वर्ष  (5 वर्ष की छूट) ।
  • विकलांग उम्मीदवार के लिए तय उम्र सीमा – 42 वर्ष  (10 वर्ष की छूट) ।

आईएएस  की परीक्षा के लिए कितने प्रयास कर सकते हैं?

अगर आप आईएएस की परीक्षा देना चाहते है तो इसका भी एक सीमित नंबर है की आप कितनी बार एग्जाम में बैठ सकते है, अगर आप उतनी बार में परीक्षा पास नही कर पाते है तो आप उसके बाद परीक्षा में नही बैठ सकते है । परीक्षा में बैठने का नंबर सभी वर्गों  में आरक्षण की वजह से अलग अलग है जो की नीचे दिया गया है-

  • जनरल कैटेगरी के उम्मीदवार 21 से 32 साल के उम्र के बीच में ज्यादा से ज्यादा 6 बार इसकी परीक्षा में बैठ सकते हैं.
  • वहीं अगर बात करें तो ओबीसी के उम्मीदवार 9 बार इसके लिए प्रयास कर सकते हैं.
  • जो उम्मीदवार एससी और एसटी (अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वर्ग) से बिलॉन्ग करते हैं उनके लिए कोई सीमा नहीं रखी गई है यानी कि वह 21 से 35 साल के बीच में हर साल यह एकदम लिख सकते हैं. यानी कि अपनी जो एज लिमिट है उस दरमियान इनके लिए कोई सीमा नहीं रखी गई है.
  • जो शारीरिक रूप से विकलांग है उनके लिए 9 प्रयास की सीमा रखी गई है.

आईएएस परीक्षा की सिलेबस

Category अधिकतम  आयु

(Age Limit) 

अधिकतम प्रयासों की संख्या

(No. of Attempts)

General 32 6
OBC (Other Backward Caste) 35 9
SC/ST 37 (अनगिनत प्रयास) अधिकतम आयु की सीमा तक
Defence Services Personnel 35 9
Physically Disabled (विकलांग उम्मीदवारों के लिए) 35 9


अगर आप भी इस पद के लिए आवेदन कर चुके और इसके एग्जाम को पास करना चाहते है तो आप आईएएस की परीक्षा में होने वाले पेपर और पेपर का सिलेबस जानना चाहते है।

ये परीक्षा तीन चरणों में होती है और इसकी विस्तार से जानकरी दी जा रही है  तो अगर आप इस एग्जाम की तैयारी कर रहे है तो नीचे दी गयी जानकारी को अच्छे से पढ़ ले ताकि आप एग्जाम को काफी हद तक आसान बना सके –

प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary Exam)

इस पद की प्रारंभिक परीक्षा के एक दिन में दो  पेपर होते है। ये दोनों पेपर में ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्न आते है। इस दोनों पेपरो का पूर्णाक 200-200 नंबर का होता है और 2-2 घंटे का टाइम दिया जाता है।

इसमें होने वाले दो पेपर हैं:

1. General Studies

2. CSAT (Civil Services Aptitude Test)

पेपर (Paper) विषय (Subjects) कुल मार्क

(Total Marks)

समय अवधि (Duration)
I General Studies (GS) 200 2 hours (9:30 AM to 11:30 AM)
II CSAT (Civil Services Aptitude Test) 200 2 hours (2:30 PM to 4:30 PM)

इस परीक्षा का मुख्य उद्देश्य इस एग्जाम में स्टूडेंट्स की संख्या को कम करने और अच्छे स्टूडेंट्स को शोर्ट होता है इसीलिए ये परीक्षा आयोजित की जाती है। इस एग्जाम में candidate के जो भी नंबर आते है उन अंको की कटऑफ मैरिट लागई जाती है, इस मैरिट से ही अगली परीक्षा के  उम्मीदवारों का चयन किया जाता है ।

आईएएस की प्रारंभिक परीक्षा के पहले पेपर (General Studies Paper-1) का सिलेबस

  • Current affairs
  • General Science
  • Biodiversity & Climate change
  • Geography
  • India & World History
  • Indian Politics
  • Economic & Social Development
  • Issues on Environmental Ecology

आईएएस की प्रारंभिक परीक्षा के दूसरे पेपर (CSAT Paper -2) का सिलेबस 

  • Logical reasoning
  • General Mental ability
  • Analytical ability
  • Problem Solving & Decision Making ability
  • Interpersonal Skills
  • Communication Skill
  • Comprehension
  • Data Interpretation

मुख्य एग्जाम (Mains Examination) (1750 Marks)

ये परीक्षा आईएएस के एग्जाम की मुख्य परीक्षा होती है। इस  परीक्षा में पास होने के लिए उम्मीदवार को सात पेपर देने होते है और इन सात पेपर में से दो पेपर उम्मीदवार द्वारा चुने हुए किसी विशेष पेपर के होते है।

इस दो पेपर में उम्मीदवार की उस विषय की नॉलेज को टेस्ट करने के लिए कराया जाता है जिससे पता चलता है की उम्मीदवार उस विषय में कितना एक्सपर्ट है, इस पेपर का उद्देश्य उम्मीदवार की क्षमता का आकलन करना और उसकी मानसिक क्षमता को जाँचना होता है ।

आईएएस की मुख्य परीक्षा के पहले पेपर का सिलेबस

  • भारत का इतिहास 
  • विश्व इतिहास की उल्लेखनीय घटनाएं
  • भौगोलिक महत्व
  • विविधता
  • वास्तुकला, साहित्य 
  • वैश्वीकरण

आईएएस की मुख्य परीक्षा के तीसरे पेपर का सिलेबस

  • भारत का संविधान
  • सरकार द्वारा कल्याणकारी योजनाएँ
  • सरकार में विभाग और संरचनाएं
  • दुनिया का संवैधानिक विश्लेषण
  • संसद और विधानसभाएं
  • राष्ट्र और समाधान के प्रमुख मुद्दे

आईएएस की मुख्य परीक्षा के चौथे पेपर का सिलेबस 

  • Economics Development
  • Management Security
  • Technology
  • Environment
  • Disaster & Bio Diversity

आईएएस की मुख्य परीक्षा के पांचवे पेपर का सिलेबस 

  • Aptitude 
  • Integrity
  • Ethics 

आईएएस की मुख्य परीक्षा के छठे पेपर का सिलेबस 

ऑप्शनल विषय 1

इसे पेपर आप्शनल सब्जेक्ट का होता है जिसे उम्मीदवार द्वारा सेलेक्ट किया गया होता  है.

आईएएस की मुख्य परीक्षा के सातवाँ पेपर का सिलेबस

ऑप्शनल विषय 2

इसे पेपर आप्शनल सब्जेक्ट का होता है जिसे उम्मीदवार द्वारा सेलेक्ट किया गया होता  है.

मुख्य परीक्षा का सिलेबस – UPSC Mains Syllabus

Paper Subject Marks
Paper -1 Essay (इसे कैंडिडेट अपनी पसंद की भाषा में लिख सकते हैं) 250
Paper-2 General Studies – 1 (History & Geography of the World & Society, Indian Heritage & Culture) 250
Paper-3 General Studies – 2 (Constitution, Polity, Social Justice, Governance & International Relations) 250
Paper-4 General Studies – 3 ( Biodiversity, Security & Disaster Management, Technology & Economic Development) 250
Paper-5 General Studies – 4 (Aptitude,  Integrity & Ethics) 250
Paper-6 Optional Subject – Paper 1 250
Paper-7 Optional Subject – Paper 2 250

इंटरव्यू (साक्षात्कार)

आईएएस का इंटरव्यू दुनिया में सबसे कठिन इंटरव्यू होता है इस इंटरव्यू में उम्मीदवार से विभिन्न विषयों पर और पर्सनालिटी टेस्ट होते है सामान्य रूचि के आधार पर भी सवाल किये जाते है । 

आपको सबसे ज्यादा अच्छी तैयारी करनी होती है क्योंकि यह आपके इस परीक्षा का अंतिम एग्जाम होता है अगर आप इसे क्लियर कर लेते है तो फाइनल आपको इस पद के लिए चयनित कर लिया जाता है.

जो कैंडिडेट यूपीएससी के मुख्य परीक्षा को पास कर लेते हैं उन्हें पर्सनल इंटरव्यू के लिए बुलाया जाता है. इंटरव्यू लेने के लिए यूपीएससी एक टीम संगठित करती है जो इन से सवाल पूछते हैं. वह उम्मीदवार के मेंटल क्वालिटी और एनालिटिकल क्वालिटी को चेक करते हैं.

इंटर में 275 मार्क्स का होता है अरे मुख्य परीक्षा 1750 मार्क्स के होते हैं. इस तरह कुल मिलाकर 2025 मां के समान होते हैं और इसी के आधार पर फाइनल मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है.

आईएएस की सैलरी कितनी होती है?

इस पद पर चयनित उम्मीदवार को सरकार की तरफ से 56000 से 2.5 तक प्रतिमाह सैलरी दी जाती है इसके अलावा सरकार के द्वारा कई सुविधाएं प्रदान की जाती है जैसे गाड़ी, आवास आदि.

आईएएस की सैलरी मुख्य रूप से उसके अनुभव पर निर्भर करती है कि वह कितना अनुभवी है और कितने समय से काम कर रहे हैं.

  • सब डिविजनल मजिस्ट्रेट, अंडर सेक्रेट्री और असिस्टेंट सेक्रेटरी पद पर काम करने वाले आईएएस ऑफिसर कि अनुभव अगर 1 साल से 4 साल के बीच में है तो उन्हें ₹56100 की सैलरी मिलती है.
  • इसी प्रकार एडिशनल डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट, डेप्युटी सेक्रेट्री और अंडर सेक्रेट्री पद पर काम करने वाले ऑफिस सर्च कि अगर अनुभव 5 से 8 साल के हैं तो उन्हें ₹67700 की सैलरी मिलती है,
  • 9-12 साल के अनुभवी ऑफिसर को ₹78800 की सैलरी मिलती है.
  • इस प्रकार अधिकतम मिलने वाली सैलरी ₹250000 हैं जिन का अनुभव 37 साल से अधिक है.
  • इस प्रकार देखा जाए तो कम से कम ₹56100 से लेकर अधिक से अधिक ₹250000 तक की सैलरी आईएएस ऑफिसर को मिलती है.

आईएएस ऑफिसर का क्या काम होता है?

  • हमारे देश में हर जिले में एक आईएएस ऑफिसर को नियुक्त किया जाता है जिसके कई प्रकार के कर्तव्य होते हैं और वहीं कर्तव्यों को निभाकर अपनी ड्यूटी को पूरा करता है.
  • एक आईएएस ऑफिसर का कर्तव्य होता है कि वह कानून और व्यवस्था को बनाए रखें.
  • उसे जिले के अंतर्गत चीफ डेवलपमेंट ऑफीसर या डिस्टिक डेवलपमेंट कमिश्नर के रूप में काम करना होता है.
  • राजस्व मामलों में न्यायालय के रूप में राजस्व और कार्य का संग्रह करना होता है.
  • अपने क्षेत्र के जगहों की यात्रा करना और देखना की नीतियों को लागू किया गया है या नहीं.
  • financial propriety के अनुसार पब्लिक फंड का सही उपयोग का सुपरविजन करना
  • नीतियों को बनाने और डिसीजन मेकिंग के प्रोसेस के दौरान आईएएस ऑफिसर के विभिन्न पदों द्वारा इसमें कॉन्ट्रिब्यूशन दिया जाता है और नीतियों को अंतिम रूप देकर इसे लागू भी किया जाता है.
  • सरकार के दैनिक मामलों को संभालने की भी जिम्मेवारी इनकी होती है.

निष्कर्ष

इसमें कोई शक नहीं है इस एग्जाम को पास करना कोई आसान काम नहीं होता है इसके  लिए व्यक्ति में रुचि होने के साथ – साथ सभी विषयों पर अच्छा ज्ञान होना काफी जरूरी है क्योंकि इसमें सभी सब्जेट से जुड़े सवाल पूछे जाते है जो काफी कठिन  होते है. सबसे ज्यादा कठिन इस परीक्षा के अंतर्गत होने वाला इंटरव्यू एग्जाम होता है जिसे क्लियर कर पाना काफी मुश्किल होता है.

अब क्योंकि यह काफी कठिन परीक्षा होती इसलिए हमने परीक्षा को कुछ हद तक आसान करने और आपकी बेहतर तैयारी के लिए इस पोस्ट में आईएएस से जुडी सम्पूर्ण जानकारी के बारे बताया जिसके अनुसार आप इस परीक्षा की अपनी अच्छी तैयारी कर सकते है.

हर किसी को नौकरी के रूप में एक अच्छे पोस्ट की कामना होती है और इसीलिए आज के पोस्ट में हमने आपको बताया कि आईएएस कैसे बने और इसकी तैयारी के लिए क्वालिफिकेशन क्या होनी चाहिए?

इसके अलावा इस पोस्ट में हमने बहुत सारी बातों पर भी चर्चा की जैसे आईएएस बनने के लिए क्या पढ़ाई करनी पड़ती है और एक ऑफिसर का क्या काम होता है. हमने इस पोस्ट के माध्यम से यह भी बताया कि आई एस का क्या काम होता है. हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी. बाकि अगर आपको इसके अलावा इसके बारे में कोई और जानकारी चाहिए तो हमसे कमेंट करके पूछ सकते है.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here