House Construction Materials : नया घर बनाने वालो की बल्ले बल्ले! सरिया के दाम में आई ₹6000 तक की गिरावट, जानें क्या है नयी रेट

House Construction Materials : नया घर बनाने वालो की बल्ले बल्ले क्यूंकि उनके लिए खुशखबरी है. सरिया के दाम काफी घट चुके हैं इसमें ₹6000 तक की गिरावट आयी है. यहाँ हम आपको इसके नए रेट की जानकरी देने वाले हैं. इससे पहले इस आर्टिकल में हम आप सभी पाठकों का तहे दिल से स्वागत करते हैं। हम उम्मीद करते हैं कि आप, आपका परिवार, सगे संबंधी तथा मित्र सकुशल , प्रसन्न तथा स्वस्थ होंगे। 

स्वयं का घर बनाना  सपना के समान होता है। क्योंकि स्वयं का घर बनाना कोई मामूली बात नहीं होती है। न जाने ऐसे कितने सारे लोग हैं जो स्वयं का घर बनाने के इच्छुक होते हैं किंतु पैसों की कमी के कारण यह स्वप्न स्वप्ना ही रह गया।

किंतु यदि आपका सपना अपना खुद का घर बनाने का है। तो उस सपने को पूरा करने का अवसर आ चुका है। यदि आप इससे से संबंधित जानकारियां प्राप्त करना चाहते हैं। तो इसके लिए आवश्यक है कि आप इस आर्टिकल को आखिर तक जरूर पढ़ें। 

घर बनाना सपने के सामान क्यों :-

हम में से सभी लोगों ने यह बात सुन रखी होगी , शकि उस व्यक्ति का सपना स्वयं का घर बनाने का है। अक्सर घर बनाने की इच्छा को सपने के सामान माना जाता है। यदि आप सोच रहे होंगे कि आप यह केवल ऐसे ही कहा जाता होगा तो ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। 

व्यक्तियों के द्वारा घर को बनाने की इच्छा को सपने का दर्जा दिया जाता है , क्योंकि खुद का घर बना पाना कोई मामूली बात नहीं है। कहने का तात्पर्य है कि प्रत्येक व्यक्ति की इच्छा शक्ति अलग-अलग होती है और सब की जरूरत भी विभिन्न होती है। 

ऐसे में सभी लोगों को अपनी इच्छा के अनुरूप घर बनाने की आवश्यकता होती है। कोई चाहता है कि उसके घर में चार कमरे हो , तो कोई चाहता है कि उसके घर में एक बड़ा सा किचन हो , कोई चाहता है कि उसका घर सबसे सुंदर दिखे , तो वही कोई चाहता है कि उसे घर में सुविधा की हर एक वस्तु उपस्थित हो।

व्यक्ति विशेष के द्वारा यह सभी चीजें सोच ली जाती है तथा करने की इच्छा शक्ति जागृत कर ली जाती है किंतु पैसों की कमी के कारण उन्हें हमेशा निराश होना पड़ता है। यही कारण है कि लोगों के द्वारा खुद के घर को बनाने की इच्छा को सपने का दर्जा प्रदान किया जाता है।

ये भी अवश्य पढ़ें:

लोगों के मन की बात हुई सच :-

अब जब घर को बनाने की इच्छा को लोगों के द्वारा सपने का दर्जा दिया जाता है । तब जाहिर सी बात है कि और भी बहुत सी आशा तथा इच्छाएं लोगों के मन में आई हुई। कहने का तात्पर्य है कि लोगों ने कभी ना कभी मन ही मन में यह इच्छा जरूर जताई होगी कि काश घर बनाने में लगने वाली वस्तुओं के दाम झट से गिर जाए। 

जिसके परिणाम स्वरुप वह अपने घर बनाने के सपने को पूर्ण कर सके। उदाहरण के तौर पर हम बताते हैं कि मान लेते आपका कोई मित्र है और उसके पास एक ऐसी वस्तु उपस्थित है जो आप नहीं प्राप्त कर सकते हैं। ऐसे में आप यह बात कि अवश्य कल्पना करेंगे कि काश वह वस्तु आपके पास उपस्थित होती। 

इसी प्रकार से घर बनाने का सपना देखने वाले लोगों के मन में भी ख्याल अवश्य आया हुआ वहीं यदि घर बनाने में लगने वाली आवश्यक वस्तुओं के दाम कम हो जाते। तो उन सभी लोगों के लिए हमेशा आर्टिकल के माध्यम से खुशखबरी लेकर आए हैं। 

कहने का तात्पर्य यह है कि घर बनाने की कुछ महत्वपूर्ण वस्तुओं की कीमत इन दिनों कम कर दी गई है। यदि आप चाहें तो उन्हें खरीद कर अपने इस अधूरे सपने को पूरा कर सकते हैं। 

जाने कितने की कमी हुई :-

जैसा कि सभी जानते हैं कि यह बरसात के दिन चल रहे हैं तो ऐसे में देश के बहुत से क्षेत्र जलजमाव तथा बाढ़ की परिस्थितियों से जूझ रहे हैं। ऐसे में घर बनाने की वस्तुओं जैसे कि सीमेंट तथा सरिया की कीमतों में बहुत ही तेज गिरावट देखने को मिल रही है। 

आपको बता दें कि इसमें सरकारी दखल के कारण भाव कम देखने को मिल रहा है। इन सभी कारणों के परिणाम स्वरूप कीमतों में लगभग ₹6000 की कमी देखने को मिल रही है। आपको बता दें कि सरिया का मूल्य ₹50000 प्रति टन के हिसाब से मार्केट में वर्तमान में मिल रहा है। 

अप्रैल महीने की शुरुआत में इस्पात मंत्रालय के आंकड़े :-

इस्पात मंत्रालय के आंकड़ों पर यदि ध्यान केंद्रित किया जाए तो यह समक्ष आता है कि अप्रैल की शुरुआत में ही टीएमटी बार की खुदरा कीमत लगभग ₹75000 प्रति टन थी। किंतु जून 15 को घटकर लगभग ₹65000 प्रति टन पर आ गिरी थी। आपको बता दें कि अप्रैल में बार की कीमत ₹80000 प्रति टन तक पहुंच गई थी। जो कि अब घटकर₹50000 से लेकर ₹55000 प्रति टन तक आ पहुंची है। 

सरकार भी हुई सहायक सिद्ध :-

आपकी जानकारी के लिए आप को इस बात से अवगत करा दे कि अभी हाल फिलहाल में ही स्टील पर एक्सपोर्ट ड्यूटी बढ़ा दी गई थी। इसके परिणाम स्वरूप घरेलू बाजार में स्टील की कीमतों में बहुत अधिक गिरावट देखने को मिली है। बार के मूल्य में गिरावट होने का प्रमुख कारण है। 

यदि बात करे इसके अतिरिक्त तो देश के कई क्षेत्रों में भारी बारिश होने के कारण निर्माण गतिविधियों में बहुत ही अधिक कमी आई है। जिससे कि इन वस्तुओं की मांग भी प्रभावित हो चुकी हैं। मार्च-अप्रैल के दौरान बार के मूल रिकॉर्ड की ऊंचाइयों पर चढ़े हुए थे। किंतु उसके पश्चात बार के मूल्य में तेजी से गिरावट देखने को मिली है। किंतु जून में इसकी कीमतें फिर से रफ्तार पकड़ ली थी। लेकिन अभी कुछ डेढ़ महीना से छड़ से सस्ता हो चुका है। 

निष्कर्ष :-

इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको सरिया तथा सीमेंट के घटते मूल्यों के विषय में विवरण प्रदान किया है। हम आशा करते हैं कि हमारे द्वारा प्रदान की गई ये सभी जानकारियां आपको बहुत ही अधिक पसंद आएगी। यदि आप हमसे कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं अथवा हमें कोई सुझाव देना चाहते हैं तो यह कार्य आप कमेंट के जरिए आसानी से कर सकते हैं।

आप सभी पाठकों ने हमारे इस आर्टिकल को आखिर तक पड़ा उसके लिए आप सभी पाठकों का आभार।

लाभदायक पोस्ट पढ़ें


Important Links

WTechni HomeClick Here
Other postsClick Here
Join Telegram ChannelClick Here

Wasim Akram

वसीम अकरम WTechni के मुख्य लेखक और संस्थापक हैं. इन्होंने इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है लेकिन इन्हें ब्लॉगिंग और कैरियर एवं जॉब से जुड़े लेख लिखना काफी पसंद है.

Leave a Comment

×